Saturday, 20 July 2024

 

 

खास खबरें मनजिंदर सिंह सिरसा के नेतृत्व में एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल ने हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी का सन्मान श्री गुरु साहिबान द्वारा सद्भाव और भाईचारे के दिखाए मार्ग पर चलना ही गुरुओं के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धा का प्रतीक : नायब सिंह सैनी अग्निवीरों के कल्याण के लिए हरियाणा सरकार द्वारा चलाई योजना पर प्रधानमंत्री ने दिखाई विशेष रूचि मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी ने फिर किसान हितैषी होने का दिया परिचय नवनिर्वाचित विधायक हरदीप सिंह बावा ने मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू से की भेंट सरकार की जन हितैषी नीतियों का आम जनता तक पहुंचाया जाए लाभः ब्रम शंकर जिंपा परिवहन निगम में 357 कंडक्टरों को जल्द मिलेगी नियुक्ति: मुकेश अग्निहोत्री मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने अम्रुत योजना में पहाड़ी राज्यों के लिए मापदंडों में ढील देने का आग्रह किया केंद्र के फंड होने के बावजूद प्रोजेक्ट को पूरा नहीं करवा रहे मुख्यमंत्री मान एलपीयू एनसीसी कैडेट नवनीत सिंह ने यू.के. में वायईपी 2024 प्रोग्राम में भारत का प्रतिनिधित्व किया PEC में 'एक पेड़ मां के नाम' अभियान के तहत वन महोत्सव 2024 धूम-धाम से मनाया गया माता चिंतपूर्णी मेले को सुचारु बनाने में लंगर कमेटियां व सामाजिक संगठन करे जिला प्रशासन को सहयोग : ब्रम शंकर जिंपा सार्वजनिक शिकायत निवारण कैंप के दौरान विधायक कर्मबीर सिंह घुम्मण व ए.डी.सी ने सुनी लोगों की शिकायतें हलवारा एयरपोर्ट का सिविल साइड पर 100% काम पूरा, वायुसेना की तरफ 20 दिन और लगेंगे: सांसद अरोड़ा ने एयरपोर्ट का दौरा किया बेला फार्मेसी कॉलेज ने वृक्षारोपण अभियान के साथ मिशन हरियाली की शुरुआत की हरियाणा सरकार किसानों पर गोलियां चलवाने वाले पुलिस अफसरों को सम्मानित कर रही, यह फैसला बेहद निंदनीय - आम आदमी पार्टी आईआईटी रोपड़ और आईसीईएस ने कृत्रिम बुद्धिमत्ता प्रशिक्षण और प्रमाणन कार्यक्रम के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए फल और सब्जियां हमारे जीवन का अहम हिस्सा – हरचंद सिंह बरसट जिला एवं सत्र न्यायधीश की ओर से जिला कानूनी सेवाएं अथारटीज के सदस्यों के साथ बैठक डीजीपी हरियाणा की पुस्तक ‘वायर्ड फॉर सक्सेस‘ का केन्द्रीय मंत्री श्री मनोहर लाल ने किया लोकार्पण पारदर्शी तरीके से युवाओं को मिल रही हैं सरकारी नौकरियां : नायब सिंह सैनी

 

केंद्रीय मंत्री जी. कृष्ण रेड्डी ने कोयला खदानों के तेज परिचालन पर बल दिया

Gangapuram Kishan Reddy, G. Kishan Reddy, BJP, Bharatiya Janata Party
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

नई दिल्ली , 20 Jun 2024

केंद्रीय कोयला और खान मंत्री जी. कृष्ण रेड्डी ने कंपनी के अपने उपयोग (कैप्टिव) और वाणिज्यिक कोयला ब्लॉकों के प्रबंधन की समीक्षा करने के लिए कोयला मंत्रालय के अधिकारियों के साथ एक बैठक की। मंत्री महोदय ने राज्य सरकार तथा पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय सहित सभी हितधारकों के बीच सघन समन्वय पर जोर दिया है, ताकि मुद्दों के शीघ्र समाधान को सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने कहा कि मुद्दों के शीघ्र समाधान से आवंटित कोयला ब्लॉकों को कम से कम समय में चालू किया जा सकेगा।

आयात को कम करने के लिए कोयले के अधिक उत्पादन की आवश्यकता पर प्रकाश डालते हुए मंत्री महोदय ने निर्देश दिया कि राज्य स्तर पर आवश्यक संस्थागत सुदृढ़ीकरण का समर्थन किया जा सकता है। सभी कोयला ब्लॉक आबंटनों को नियमित आधार पर सुविधा प्रदान की जानी चाहिए, ताकि कोयला खदानों को जल्द से जल्द चालू किया जा सके।

कोयला मंत्रालय ने अब तक 575 एमटी की शीर्ष रेटेड क्षमता वाली 161 कोयला खदानों का आबंटन/नीलामी की है। इनमें से 58 खदानों को खदान खोलने की अनुमति मिल गई है और 54 खदानें परिचालन में हैं। पिछले वर्ष इन खदानों ने कुल 147 मीट्रिक टन कोयले का उत्पादन किया है, जो देश के कुल कोयला उत्पादन का 15 प्रतिशत है।

मुख्य रूप से कैप्टिव/वाणिज्यिक कोयला के खनन में संलग्न बड़े आकार के उपभोक्ता हैं, जिनमें एनटीपीसी, पश्चिम बंगाल बिजली विकास निगम लिमिटेड (डब्ल्यूबीपीडीसीएल), पंजाब राज्य विद्युत निगम लिमिटेड (पीएसपीसीएल), कर्नाटक विद्युत निगम लिमिटेड (के. पी. सी. एल.), वेदांता, हिंडाल्को, अडानी आदि शामिल हैं। इसलिए, इन कंपनियों द्वारा अधिक उत्पादन से सी. आई. एल. से कोयले की मांग पर दबाव कम होगा, जिसका कोयले की नीलामी की कीमतों पर व्यापक प्रभाव पड़ेगा। 

कैप्टिव/वाणिज्यिक कोयला ब्लॉकों से अधिक उत्पादन के साथ, नीलामी पर प्रीमियम कम हो जाएगा। इसलिए देश के विभिन्न उपभोक्ताओं को सस्ती दरों पर कोयला उपलब्ध कराया जाएगा। इससे कोयले के महंगा होने पर लगाम लगेगी, क्योंकि कोयला न केवल बिजली के लिए बल्कि इस्पात, उर्वरक, एल्यूमीनियम, सीमेंट, कागज, स्पंज आयरन आदि सहित अन्य सभी क्षेत्रों के लिए ऊर्जा का प्राथमिक स्रोत है।

श्री रेड्डी ने आगे निर्देश दिया कि विस्तृत अन्वेषण तेज गति से किया जाना चाहिए, नीलामी के बाद के दौर में अधिक से अधिक ब्लॉकों की पेशकश की जानी चाहिए, ताकि अधिक से अधिक निवेशक भाग ले सकें। यह स्पष्ट किया जाता है कि कोयला ब्लॉक नीलामी में तकनीकी पात्रता के लिए कोयला खनन के किसी भी पूर्व अनुभव की आवश्यकता नहीं होती है। 

कोई भी कंपनी जिसके पास वित्तीय क्षमता है, वह भाग ले सकती है, क्योंकि कोयला खदानों की नीलामी अब कोयले की बिक्री के उद्देश्य से की जा रही है, जो बिना किसी अंतिम उपयोग प्रतिबंध के है। कोई भी निवेशक कोयला खदान नीलामी में भाग ले सकता है और इस तरह के खनन में उत्पादित कोयले को निर्यात सहित किसी भी उद्देश्य के लिए खुले बाजार में बेचा जा सकता है।

2047 तक ऊर्जा स्वतंत्रता और कोयले में आत्मनिर्भरता प्राप्त करने के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के विजन के अनुरूप मंत्री महोदय ने सभी हितधारकों को कड़ी मेहनत करने और 19 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाते हुए कैप्टिव/वाणिज्यिक कोयला ब्लॉकों से इस वर्ष के दौरान कम से कम 175 एम. टी. कोयला उत्पादन प्राप्त करने की सलाह दी।

केंद्रीय मंत्री श्री जी. किशन रेड्डी कल 21 जून, 2024 को कोयला खदानों की वाणिज्यिक नीलामी के 10वें दौर का शुभारंभ करेंगे, जिससे कोयला ब्लॉकों की नीलामी और परिचालन में तेजी आएगी।

Union Minister G. Kishan Reddy stresses on faster operationalization of Coal Mines

New Delhi

G. Kishan Reddy, Union Minister for Coal and Mines held a meeting with the officials of Coal Ministry to review the management of captive and commercial coal blocks. The Minister has stressed upon close coordination with all the stakeholders including State Government and Ministry of Environment, Forest and Climate Change for early resolution of the issues to ensure faster clearance so as to operationalize the allotted coal blocks in least possible time.

Highlighting the need for higher production of coal to reduce imports so as to achieve ‘Aatmanirbharta in coal’ Minister directed that necessary institutional strengthening may be supported at state level. All coal block allocattees should be facilitated on regular basis so that coal mines can be operationalized at the earliest.

So far, Ministry of Coal has allocated/ auctioned 161 coal mines with peak rated capacity of 575 MT.  Out of which 58 mines have received mine opening permission and 54 mines are into operation. Last year these mines have produced total of 147 MT of coal, which constitutes 15% of the total coal production of the country.

The captive/commercial coal miners are primarily large sized consumers including NTPC, West Bengal Power Development Corporation Limited (WBPDCL), Punjab State Power Corporation Limited (PSPCL), Karnataka Power Corporation Limited (KPCL), Vedanta, Hindalco, Adani, etc. 

Therefore, higher production by these companies would ease out pressure on the demand of coal from CIL which will have cascading effect on the Auction prices of coal. With higher production from captive/commercial coal blocks, the premium on auction will come down. 

Therefore, coal would be made available at cheaper rates to the different consumers in the country. This will help in checking the inflation as coal is the primary source of energy not only for power but all other sectors including steel, fertilizers, aluminum, cement, paper, sponge iron etc.

Shri Reddy further directed that the detailed exploration should be carried out on the faster pace, more and more blocks should be offered in the subsequent rounds of auctions, so that more and more investors participate. It is highlighted that in coal block auctions the technical eligibility does not require any prior experience of coal mining. 

Any company who has financial strength can participate, as the coal mines are now being auctioned for the purpose of sale of coal, which is without end use restriction. Any investor can participate in the coal mine auctions and coal produced in such mining is free to be sold in the open market for any purpose including for export.

Aligning with the vision of the Prime Minister Shri Narendra Modi to achieve energy independence by 2047 and Aatmanirbharta in coal, the Minister has advised all stakeholders to work hard and to achieve at least 175 Mt coal production during this year from the captive/commercial coal blocks showing a growth of 19 %.

Union Minister Shri G Kishan Reddy will launch the 10th round of commercial auction of coal mines tomorrow, 21st June 2024, setting tone for faster pace for coal block auction and operationalization.  

 

Tags: Gangapuram Kishan Reddy , G. Kishan Reddy , BJP , Bharatiya Janata Party

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD