Saturday, 13 July 2024

 

 

खास खबरें मंत्रिमंडलीय उप-समिति ने हिमाचल प्रदेश होमस्टे नियम-2024 के प्रारूप की समीक्षा की खेलों को प्रोत्साहित कर पंजाब सरकार ने प्रदेश के नौजवानों को दी है नई दिशाः ब्रम शंकर जिंपा सीएसई, पीईसी द्वारा आयोजित एआई पर एक सप्ताह का एसटीसी उच्च स्तर पर समाप्त हुआ मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने डीडीयू के समीप भू-स्खलन प्रभावित क्षेत्र का निरीक्षण किया नवनिर्मित हो रहा चहुं मार्गी हाईवे फाजिल्का की प्रगति को देगा नई गति स्वतंत्रता दिवस-2024 समारोह की व्यवस्थाओं की समीक्षा के लिए बैठक आयोजित पंजाब विश्वविद्यालय के आउटसोर्स कर्मियों ने की संजय टंडन से मुलाकात एलपीयू के छात्रों को एलपीयू में डिग्री शुरू करने और यूएसए, कनाडा में खत्म करने का मौका मिलता है हरचंद सिंह बरसट ने किसान भवन में झेलम हॉल का किया उद्घाटन स्वास्थ्य एवं मेडिकल एजुकेशन से जुड़े मुद्दों पर चर्चा: सांसद अरोड़ा ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण कैबिनेट मंत्री जेपी नड्डा से की मुलाकात मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने अत्याधुनिक मत्स्य पालन प्रशिक्षण केन्द्र दियोली और भंजाल में 5 मेगावाट सौर ऊर्जा परियोजना की आधारशिला रखी खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में हिमाचल सर्वश्रेष्ठ राज्य पुरस्कार से सम्मानित : हर्षवर्धन चौहान स्वास्थ्य मंत्री डॉ. (कर्नल) धनी राम शांडिल ने चिकित्सा मशीनरी और उपकरण खरीद प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश दिए राजेश धर्माणी ने नवोन्मेषी प्रयासों के साथ प्रतिस्पर्धात्मक कार्य प्रणाली अपनाने पर बल दिया भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण द्वारा आधार पर कार्यशाला आयोजित विक्रमादित्य सिंह ने क्षतिग्रस्त एनएच की शीघ्र मुरम्मत के निर्देश दिए भारत में होंगे हृदय रोग के सबसे ज्यादा मामले : डॉ. पंकज गोयल चेक प्रतिनिधिमंडल और यूटी चंडीगढ़ के बीच उच्च स्तरीय बैठक में वास्तुकला सहयोग और सिस्टर-सिटी समझौते पर चर्चा की गई इंडियन ऑयल पंजाब सब जूनियर बैडमिंटन रैंकिंग टूर्नामेंट संपन्न आज से आप किराएदार नहीं अपनी सम्पत्तियों के बने मालिक : नायब सिंह कांग्रेस के पास बताने को कुछ नहीं, हमारे पास अनगिनत उपलब्धियां: सीएम नायब सिंह सैनी

 

सीडीएस जनरल अनिल चौहान ने साइबरस्पेस संचालन के लिए ‘ज्‍वाइंट डॉक्ट्रिन’ जारी किया

Military, Gen Anil Chauhan, Chief of Defence Staff, Chiefs of Staff Committee, COSC
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

नई दिल्ली , 18 Jun 2024

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल अनिल चौहान ने नई दिल्ली में 18 जून, 2024 को आयोजित चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी (सीओएससी) की बैठक के दौरान साइबरस्पेस संचालन के लिए ‘ज्‍वाइंट डॉक्ट्रिन’ जारी किया। ‘ज्‍वाइंट डॉक्ट्रिन’ एक प्रमुख प्रकाशन है, जो आज के जटिल सैन्य संचालन वातावरण में साइबरस्पेस संचालन में कमांडरों का मार्गदर्शन करेगा।

‘ज्‍वाइंट डॉक्ट्रिन’ का विकास संयुक्तता और एकीकरण का एक महत्वपूर्ण पहलू है, एक ऐसा कदम जिसे भारतीय सशस्त्र बलों द्वारा सक्रिय रूप से आगे बढ़ाया जा रहा है। साइबरस्पेस संचालन के लिए ‘ज्‍वाइंट डॉक्ट्रिन’ जारी प्रक्रिया को गति देने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। भूमि, समुद्र और वायु सहित युद्ध के पारंपरिक क्षेत्रों के अलावा, साइबरस्पेस आधुनिक युद्ध में एक महत्वपूर्ण और चुनौतीपूर्ण क्षेत्र के रूप में उभरा है। 

भूमि, समुद्र और वायु के क्षेत्रों में सरहदों से परे साइबरस्पेस पूरे विश्‍व में प्रचलित है और इसीलिए पूरे विश्‍व में इसकी महत्‍ता है। साइबरस्पेस में हमले किसी राष्ट्र की अर्थव्यवस्था, सामंजस्य, राजनीतिक निर्णय लेने और राष्ट्र की अपनी रक्षा करने की क्षमता को प्रभावित कर सकते हैं। साइबरस्पेस में संचालन को राष्ट्रीय सुरक्षा ताने-बाने में जोड़ा जाना चाहिए, ताकि अन्य सभी परिचालन माहौल तथा शक्ति के सभी आयामों  में लाभ और गतिविधियों को प्रभावित करने के लिए 'एंड्स', 'वेज़' और 'मीन्‍स' विकसित किए जा सकें।

यह सिद्धांत साइबरस्पेस संचालन के सैन्य पहलुओं को समझने पर जोर देता है और साइबरस्पेस में संचालन की योजना बनाने तथा संचालन में कमांडरों, स्‍टॉफ और कर्मियों को वैचारिक मार्गदर्शन प्रदान करता है। इसके अलावा यह सभी स्तरों पर हमारे सैनिकों में जागरूकता बढ़ाने के लिए भी कारगर है।


CDS Gen Anil Chauhan releases Joint Doctrine for Cyberspace Operations

New Delhi 

Chief of Defence Staff Gen Anil Chauhan released the Joint Doctrine for Cyberspace Operations during the Chiefs of Staff Committee (COSC) meeting held on June 18, 2024, in New Delhi. The Joint Doctrine is a keystone publication that will guide Commanders in conducting Cyberspace Operations in today’s complex military operating environment.

Development of Joint Doctrines is an important aspect of Jointness and Integration, a step which is being actively pursued by the Indian Armed Forces. The Joint Doctrine for Cyberspace Operations is a significant step to give impetus to the ongoing process. 

In addition to the traditional domains of warfare including Land, Sea, and Air, Cyberspace has emerged as a crucial and challenging domain in modern warfare. Unlike territorial limits in the domains of land, sea, and air, cyberspace is a global common and hence has shared sovereignty. Hostile actions in cyberspace can impact the Nation’s economy, cohesion, political decision making, and the Nation’s ability to defend itself. 

Operations in cyberspace need to be dovetailed into the National Security fabric, to evolve the ‘Ends,’ ‘Ways’ and ‘Means’ to create advantage and influence events in all other operational environments and across all instruments of power.

This doctrine lays emphasis on understanding military aspects of cyberspace operations and provides conceptual guidance to commanders, staff and practitioners in the planning, and conduct of operations in cyberspace, as also to raise awareness in our warfighters at all levels.

 

Tags: Military , Gen Anil Chauhan , Chief of Defence Staff , Chiefs of Staff Committee , COSC

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD