Wednesday, 08 February 2023

 

 

खास खबरें बोरिवली खेल महोत्सव २०२३ की का शानदार शुरूवात खेल मंत्री मीत हेयर द्वारा भारतीय हॉकी टीम के खिलाडिय़ों को किया गया सम्मानित कुलतार सिंह संधवां द्वारा मातृभाषा दिवस सम्बन्धी विधायकों और चिंतकों के साथ विचार-चर्चा सबके सहयोग से होशियारपुर को किया जाएगा भारत के खूबसूरत शहरों में शुमार : ब्रम शंकर जिम्पा जम्मू-कश्मीर में नार्को-आतंकवाद चिंता का विषय : सेना घाना फुटबॉल खिलाड़ी क्रिश्चियन अत्सु को मलबे से बाहर निकाला गया गूगल ने पेश किया चैटजीपीटी प्रतिस्पर्धी 'बार्ड' आईएलटी20 : डेजर्ट वाइपर्स के कप्तान कॉलिन मुनरो ने कहा, एलेक्स हेल्स हमारे लिए शानदार खिलाड़ी माइक बंद करने को लेकर राहुल गांधी और लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला के बीच सदन में हुई बहस राहुल गांधी ने अडानी मसले पर लोक सभा में पीएम मोदी पर साधा निशाना- भाजपा ने बिना सबूत के हवा में आरोप लगाने पर की माफी मांगने की मांग मूल्य और आपूर्ति में अस्थिरता : वैश्विक ऊर्जा सुरक्षा के समाधान की जरूरत टेनिस : अबु धाबी के पहले मैच में जेलेना ओस्टापेंको ने डेनिएल कोलिन्स को दी मात पेरू में भूस्खलन में आठ लोगों की मौत, पांच लापता आरोन फिंच ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को कहा अलविदा कर्नाटक वोट के बदले रिश्वत मामले में चुनाव आयोग बीजेपी नेताओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे : रणदीप सिंह सुरजेवाला स्मृति मंधाना टॉप तीन में बरकरार; दीप्ति शर्मा आईसीसी टी20 रैंकिंग में तीसरे स्थान पर सानिया मिर्जा अबु धाबी ओपन के पहले दौर में बाहर गुजरात में सड़क हादसे में एक ही परिवार के चार सदस्यों की मौत सैमसंग गैलेक्सी एस23 अल्ट्रा जूम देखकर चकित रह गए एलन मस्क झारखंड के खूंटी में घर में आग लगने से मां-बेटी की मौत गरीबों के हित का बजट जिसमें सभी वर्गों का रखा गया ध्यान : नरेंद्र मोदी

 

राष्ट्रपति ने वर्ष 2021 और 2022 के लिये राष्ट्रीय दिव्यांगजन सशक्तिकरण पुरस्कार प्रदान किये

दिव्यांगजनों में आत्मविश्वास का संचार करना उनके सशक्तिकरण के लिये अत्यंत महत्त्वपूर्ण

Droupadi Murmu, President of India, President, Indian President, Rashtrapati,Pratima Bhowmik, Dr. Virendra Kumar, Dr Virendra Kumar, Dr. Virendra Kumar Khatik, Ramdas Athawale

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

नई दिल्ली , 03 Dec 2022

राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु ने अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस के अवसर पर आज (तीन दिसंबर, 2022) नई दिल्ली में वर्ष 2021 और 2022 के लिये राष्ट्रीय दिव्यांगजन सशक्तिकरण पुरस्कार प्रदान किये।उपस्थितजनों को सम्बोधित करते हुये राष्ट्रपति ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के एक अनुमान के अनुसार पूरे विश्व में एक अरब से भी अधिक दिव्यांगजन हैं। 

इसका अर्थ यह हुआ कि विश्व में हर आठवां व्यक्ति किसी न किसी तरह की दिव्यांगता में है। भारत की दो प्रतिशत से अधिक की आबादी दिव्यांग है। इसलिये, यह हम सब की जिम्मेदारी बनती है कि हम यह सुनिश्चित करें कि दिव्यांगजन सम्मानपूर्वक मुक्त जीवन जी सकें। हमारा यह भी कर्तव्य है कि हम सुनिश्चित करें कि दिव्यांगजनों को अच्छी शिक्षा मिले, वे अपने घरों व समाज में सुरक्षित रहें, अपना करियर चुनने की आजादी हो और उन्हें रोजगार के समान अवसर मिलें।

राष्ट्रपति ने कहा कि भारतीय संस्कृति और परंपरा में, दिव्यांगता को कभी भी ज्ञान तथा उत्कृष्टता प्राप्त करने के मार्ग में अवरोध नहीं समझा गया है। प्रायः देखा गया है कि दिव्यांगजनों में नैसर्गिक रूप से उत्कृष्ट गुण होते हैं। ऐसे अनेक उदाहरण है, जहां हमारे दिव्यांग भाइयों और बहनों ने अपने अदम्य साहस, प्रतिभा और संकल्प के बल पर अनेक क्षेत्रों में प्रभावशाली उपलब्धियां अर्जित की हैं। यदि उन्हें सही माहौल में पर्याप्त अवसर दिये जायें, तो वे हर क्षेत्र में निखरेंगे।

राष्ट्रपति ने कहा कि शिक्षा ही हर व्यक्ति के सशक्तिकरण की कुंजी है। इनमें दिव्यांगजन भी शामिल हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि शिक्षा में भाषाई अवरोधों को हटाने के लिये प्रौद्योगिकी का अधिकतम उपयोग किया जाना चाहिये तथा शिक्षा को दिव्यांग बच्चों के लिये अधिक सुगम बनाना चाहिये। 

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में भीदिव्यांग बच्चों को बेहतर शिक्षा प्रदान करने के समान अवसर प्राप्त होने के महत्त्व को रेखांकित किया गया है। राष्ट्रपति को यह जानकर खुशी हुई कि पहली से छठवीं कक्षा के श्रवण-बाधित दिव्यांग बच्चोंके लिये एनसीईआरटी की पाठ्यपुस्तकों को भारतीय सांकेतिक भाषा में बदला गया है। 

उन्होंने कहा कि श्रवण-बाधित छात्रों को शिक्षा की मुख्यधारा में लाने के लिये यह महत्त्वपूर्ण पहल है।राष्ट्रपति ने कहा कि दिव्यांगजनों के सशक्तिकरण के लिये सरकार अनेक कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि दिव्यांगजनों में आत्मविश्वास का संचार करना उन्हें अधिकार-सम्पन्न बनाने के लिये बहुत महत्त्वपूर्ण है। दिव्यांगजों के पास भी उतनी ही प्रतिभा और क्षमता होती है, जितनी सामान्य लोगों के पास तथा कभी-कभी तो उनसे ज्यादा प्रतिभा होती है। 

उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिये, जरूरी है कि उनके भीतर आत्मविश्वास का संचार किया जाये। राष्ट्रपति ने समाज के सभी वर्गों से आग्रह किया कि वे आत्मनिर्भर बनने तथा जीवन में आगे बढ़ने के लिये दिव्यांगजनों को प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि हमारे दिव्यांग भाई और बहन मुख्यधारा में शामिल होकर प्रभावशाली योगदान करेंगे। 

ऐसी स्थिति में हमारा देश प्रगति-पथ पर और तेजी से अग्रसर होगा।सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्रालय के अधीन दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग हर वर्ष व्यक्तियों, संस्थानों, संगठनों, राज्यों/जिलों आदि को दिव्यांगजनों के सशक्तिकरण के क्षेत्र में किये गये शानदार कामों के लिये राष्ट्रीय दिव्यांगजन सशक्तिकरण पुरस्कार देता है।

 

 

Tags: Droupadi Murmu , President of India , President , Indian President , Rashtrapati , Pratima Bhowmik , Dr. Virendra Kumar , Dr Virendra Kumar , Dr. Virendra Kumar Khatik , Ramdas Athawale

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2023 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD