Thursday, 29 February 2024

 

 

खास खबरें पंजाब के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने सांसद विक्रम साहनी को डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्रदान की एलपीयू द्वारा दो दिवसीय भारतीय उद्यमिता कॉन्क्लेव '24 की मेजबानी बेला कॉलेज ऑफ फार्मेसी में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस समारोह 6 लाख रुपए की रिश्वत लेने वाला ए.एस.आई विजीलैंस ब्यूरो ने किया गिरफ्तार सदन में भाजपा सरकार जितने बिल लाती है उतने ही घोटाले साथ लेकर आते हैं: अभय सिंह चौटाला भगवंत सिंह मान ने जालंधर वासियों को 283 करोड़ के विकास प्रोजैक्टों का दिया तोहफा लोगों के लिए जवाबदेह और असरदार व्यवस्था कायम करने के लिए पंजाब पुलिस को आधुनिक राह पर लाया गया : भगवंत सिंह मान पल्लेदार राज्य के आर्थिक ढांचे का एक अहम हिस्सा: लाल चंद कटारूचक्क खेलों में पंजाब की खो चुकी शान बहाल करने के लिए राज्य सरकार की कोशिशें रंग लाईं मान सरकार पंजाब की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और पर्यटन को प्रफुल्लित करने के लिए यत्नशील: चेतन सिंह जौड़ामाजरा चेतन सिंह जौड़ामाजरा द्वारा 12 सार्वजनिक रेत खदानें लोगों को समर्पित; कुल संख्या हुई 72 अनमोल गगन मान द्वारा सबसे बड़ा परौंठा बनाने का रिकॉर्ड गिन्नीज़ बुक ऑफ वल्र्ड होने पर बधाई 1981 के बैच ने अपने अल्मा-मेटर पीईसी का दौरा किया सीजीसी लांडरां में नेशनल साइंस डे मनाया गया विजीलेंस ब्यूरो ने राजस्व विभाग के तकनीकी सहायक को 35,000 रुपये रिश्वत लेते हुए पकड़ा पंजाब मंडी बोर्ड का 1146 करोड़ रुपये का वार्षिक बजट पास कुलदीप कुमार ने संभाला चंडीगढ़ मेयर पद शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस द्वारा पंजाब के 69 स्कूलों को ने 5.17 करोड़ की ‘बैस्ट स्कूल अवॉर्ड’ राशि बाँटी पंजाब सरकार द्वारा हंस फाउंडेशन के साथ समझौता सहीबद्ध: 10 सरकारी अस्पतालों में मिलेंगी मुफ़्त डायलिसिस सुविधाएं मुख्य सचिव द्वारा मुल्लांपुर क्रिकेट स्टेडियम के नजदीक निर्माण कार्यों को तुरंत मुकम्मल करने के आदेश दो किश्तों में 4000 रुपये रिश्वत लेते राजस्व पटवारी विजीलैंस ब्यूरो ने किया काबू

 

कोर्ट ने सुरक्षा देने से इनकार किया तो सरकार विरोधी मार्च सभी बाधाएं लांघ जाएंगे : इमरान खान

Imran Khan, Former Prime Minister Of Pakistan, Islamabad
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

इस्लामाबाद , 31 May 2022

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष और पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि अगर सुप्रीम कोर्ट सुरक्षा देने से इनकार करता है तो उनका सरकार विरोधी लंबा मार्च हर कीमत पर निकाला जाएगा। अपनी अगली रैली के लिए वह एक अलग रणनीति बनाएंगे और सरकार द्वारा उनके सामने रखे गए किसी भी प्रतिरोध से निपटने के लिए तैयार रहेंगे। इमरान खान ने पेशावर में वकीलों के सम्मेलन के दौरान कहा कि उनकी पार्टी पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट से मार्गदर्शन मांग रही है कि क्या उन्हें शांतिपूर्ण विरोध मार्च निकालने की अनुमति है या नहीं। इमरान खान ने कहा कि शांतिपूर्ण सभा, रैली और विरोध करना देश के हर नागरिक और पार्टी का मौलिक अधिकार है। 

उन्होंने कहा, "अपने पिछले लंबे मार्च के दौरान हम शांतिपूर्ण रहे। लेकिन इस सरकार ने महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गो पर खुलेआम अत्याचार, मारपीट और आंसूगैस का इस्तेमाल करते हुए क्रूरता का विकल्प चुना।"उन्होंने कहा, "मैं सुप्रीम कोर्ट से पूछना चाहता हूं कि क्या हमें पाकिस्तान के नागरिकों के रूप में शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति है या नहीं। अगर सुप्रीम कोर्ट अगले लंबे मार्च के लिए मेरी पार्टी को सुरक्षा मुहैया नहीं कराएगा, तो हम इससे निपटने के लिए एक योजना बनाएंगे।"पेशावर से इस्लामाबाद तक अपने पहले के लंबे मार्च के बारे में बात करते हुए खान ने कहा, "उस बार हम तैयार नहीं थे और बिना तैयारी के फंस गए। इस बार, हम पूरी तरह तैयार होकर आएंगे।

"इमरान खान ने कहा कि वह अपने संघर्ष को जिहाद (धार्मिक स्वतंत्रता की लड़ाई) के रूप में लेते हैं। उन्होंने दोहराया कि वह किसी भी कीमत पर 'आयातित' सरकार को स्वीकार नहीं करेंगे। वह शहबाज शरीफ की सरकार को अवैध आयातित सरकार कहते हैं। उनका मानना है पाकिस्तान में शासन परिवर्तन की साजिश संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) के नेतृत्व में रची गई। इमरान खान ने देशभर के प्रमुख शहरों में दर्जनों बड़े पैमाने पर सार्वजनिक सभाएं करने के एक महीने के लंबे अभियान के बाद 25 मई को लंबा मार्च निकाला था, जिसे सरकार ने धारा 144 लागू कर विफल कर दिया था। प्रदर्शनकारियों को राजधानी इस्लामाबाद तक पहुंचने से रोकने के लिए पुलिस और रेंजर्स सुरक्षा कर्मियों सहित कंटेनरों, ट्रकों व सैनिकों की भारी तैनाती की गई थी।

हालांकि, इमरान खान और उनके समर्थक बाधाओं को पार करते हुए राजधानी पहुंचे, लेकिन धरना नहीं दिया। इमरान खान ने कहा था कि वह कम से कम 20 लाख लोगों के साथ इस्लामाबाद की ओर मार्च करेंगे। जब तक देश में जल्द चुनाव कराने की तारीख की घोषणा नहीं की जाती, तब तक वह राजधानी नहीं छोड़ेंगे। इमरान खान ने अपनी मांगों को पूरा करने के लिए सरकार को छह दिनों का अल्टीमेटम दिया है और फिर एक लंबा मार्च निकालने की धमकी दी है। उनका कहना है कि बाधाओं को दूर करने और देश के अन्य प्रमुख शहरों के साथ राजधानी इस्लामाबाद को जाम करने के लिए वे अच्छी तरह तैयार होकर आएंगे।

 

Tags: Imran Khan , Former Prime Minister Of Pakistan , Islamabad

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD