Monday, 17 June 2024

 

 

खास खबरें पंजाबी लड़कियों ने छुई बुलंदियां- दो बेटियाँ भारतीय हवाई फ़ौज में अधिकारी बनी डबल इंजन सरकार गरीब के साथ-साथ हर वर्ग के उत्थान के लिए कर रही कामः सीएम नायब सिंह भारत की 30 मिलियन वयस्क आबादी या तो अधिक वजन वाली या मोटापे से ग्रस्त: डॉ. अमित गर्ग प्रदेश विश्वविद्यालय में एससीए चुनाव करवाने के लिए संभावनाएं तलाशेगी सरकार पंजाब के महाराजा रणजीत सिंह प्रिपरेटरी इंस्टीट्यूट के दो कैडिटों ने छूआ आसमान सीआईआई जालंधर जोन ने एलपीयू में एआई और चैटजीपीटी पर कार्यशाला आयोजित की स्वैच्छिक रक्तदान के लिए ज्यादा से ज्यादा संख्या में आगे आएं युवा : राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय तकनीक और कौशल देश के विकास के लिए जरूरी - राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय मुख्यमंत्री नायब सिंह ने पद्मश्री अवार्डियों को किया सम्मानित बाल संरक्षण आयोग बच्चों के अधिकारों की रक्षा करने और उनके सपनों को उड़ान भरवाने का कर रहा कार्य - असीम गोयल अगामी मानसून से पहले पूरे किए जाएं बाढ़ रोकथाम के कार्य : डॉ अभय सिंह यादव हरियाणा सरकार का फ़िल्म प्रोमोशन पर विशेष फोकस, सब्सिडी के लिए 17 फिल्मों की स्क्रीनिंग हुई केन्द्र में हरियाणा से तीन मंत्री बनने से हरियाणा के विकास को मिलेगी तेजी -केन्द्रीय मंत्री मनोहर लाल हरियाणा 1 जुलाई से नए आपराधिक कानून लागू करने को तैयार : टी.वी.एस.एन. प्रसाद संभावित बाढ़ से निपटने के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह से तैयार : कोमल मित्तल मुख्य सचिव अनुराग वर्मा का राजस्व बढ़ाने और व्यय के प्रभावी प्रबंधन पर जोर जीएमएसएच-16 की उत्साहपूर्ण भागीदारी और 101 रक्तदान के साथ 20वां विश्व रक्तदाता दिवस मनाया ज़मीन के इंतकाल के लिए 3000 रुपए की रिश्वत लेता पटवारी विजीलैंस ब्यूरो द्वारा रंगे हाथों काबू सांसद बनने के बाद एक्शन में सांसद गुरजीत सिंह औजला प्रदेश के सभी जिलों में 85 स्थलों पर मेगा मॉकड्रिल का आयोजन पुलिस के ख़िलाफ़ लग रहे आरोपों पर बोले नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर

 

महबूबा मुफ्ती ने प्रेस काउंसिल से जम्मू-कश्मीर के पत्रकारों के उत्पीड़न की जांच करने का आग्रह किया

Mehbooba Mufti, Peoples Democratic Party, PDP, Srinagar, Kashmir, Jammu And Kashmir, Jammu & Kashmir
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

श्रीनगर , 27 Sep 2021

पीडीपी अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने सोमवार को भारतीय प्रेस परिषद से केंद्र शासित प्रदेश में पत्रकारों की धमकी, जासूसी और उत्पीड़न की जांच करने का आग्रह किया। परिषद के सचिव को लिखे एक पत्र में, उन्होंने लिखा, मुझे यकीन है कि आप जानते हैं कि इस महीने की शुरूआत में कश्मीर में कई पत्रकारों के घरों पर पुलिस द्वारा छापेमारी की गई थी। व्यक्तिगत सामान जैसे फोन और लैपटॉप सहित इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स, एटीएम कार्ड और उनके परिजनों के पासपोर्ट अवैध रूप से जब्त किए गए। यह उन कष्टदायक अनुभवों के बाद सामने आया है, जो जम्मू एवं कश्मीर में पत्रकार समुदाय को भारत सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के अधीन किया गया है। उन्होंने कहा, एक लोकतांत्रिक व्यवस्था में, एक स्वतंत्र और स्वतंत्र प्रेस सरकारी संस्थानों के लिए अपने नागरिकों के प्रति उचित जवाबदेही के साथ पारदर्शी तरीके से कार्य करने के लिए महत्वपूर्ण और आवश्यक है। 

हमने उस तरीके को देखा है, जिसमें भाषण और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता जैसे मौलिक अधिकार निहित हैं। भारतीय संविधान पर विशेष रूप से पिछले दो वर्षों में शत्रुतापूर्ण और असुरक्षित व्यवस्था द्वारा तेजी से हमले किए गए हैं। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि बड़े पैमाने पर लोग और विशेष रूप से जम्मू-कश्मीर में मीडिया इस नीति का शिकार हो रहा है। पत्र में कहा गया है, पत्रकारों का अनुचित उत्पीड़न एक आदर्श बन गया है और इस नीति को उनके घरों पर छापा मारकर, निर्दोष ट्वीट्स जैसे तुच्छ आधारों पर बुलाकर पूछताछ की जाती है। सीआईडी द्वारा पत्रकारों और उनके परिवार के सदस्यों की पृष्ठभूमि की जांच करने, आवास सहित लाभों को वापस लेने जैसे कार्य किए जाते हैं। कुछ वरिष्ठ पत्रकारों के मोबाइल फोन, लैपटॉप, पासपोर्ट, एटीएम कार्ड आदि जब्त किए गए हैं। उन्होंने पत्र में आगे कहा, कथित तौर पर 23 पत्रकारों को ईसीएल (एक्जिट कंट्रोल लिस्ट) में रखा गया है। यहां तक कि दुनिया के शीर्ष विश्वविद्यालयों के प्रतिष्ठित कॉलेजों में छात्रवृत्ति प्राप्त करने वाले छात्रों को भी वहां अध्ययन करने की अनुमति नहीं है। हाल ही में एक छात्र को विमान से उतारा गया, गिरफ्तार किया गया और बाद में रिहा कर दिया गया।

 मुफ्ती ने कहा, इसके अलावा, पत्रकारों की एक बड़ी संख्या को या तो धमकी दी जाती है या उन पर यूएपीए या देशद्रोह कानून के तहत धाराएं लगाई जाती हैं, सिर्फ इसलिए कि जम्मू-कश्मीर पर उनकी रिपोर्ट सत्ताधारी सरकार के पीआर स्टंट को पूरा नहीं करती है। पीडीपी प्रमुख ने कहा, मैं ²ढ़ता से मानती हूं कि जम्मू-कश्मीर में काम करने वाले और रिपोटिर्ंग करने वाले पत्रकार दुनिया में सबसे बहादुर हैं, खासकर ऐसे समय में, जब भारतीय मीडिया का एक बड़ा वर्ग केंद्र सरकार का प्रचार प्रसार बन गया है। जिस शत्रुतापूर्ण माहौल में वे काम करते हैं। बार-बार कर्फ्यू, मुठभेड़ों, हड़तालों और अन्य प्रतिकूल सुरक्षा स्थितियों ने यह सुनिश्चित करने के उनके ²ढ़ संकल्प को कमजोर नहीं किया है कि सच्चाई हताहत न हो। राज्य और मीडिया के बीच हमेशा मुद्दे और असहमति रही है। महबूबा मुफ्ती ने इस पत्र के साथ एक प्रश्नावली की प्रति भी संलग्न की है।

 

Tags: Mehbooba Mufti , Peoples Democratic Party , PDP , Srinagar , Kashmir , Jammu And Kashmir , Jammu & Kashmir

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD