Tuesday, 21 May 2024

 

 

LATEST NEWS Chief Minister Bhagwant Mann campaigns for Gurmeet Khuddian Can Clean-Shaven CM Bhagwant Mann Uphold Sikh Values? SAD Asks 8 Popular Shiny Dixit Web Series List 2024 | 5 Dariya News Chief Minister Bhagwant Mann recites Kikkli-2 in Bathinda - Kikkli Kaleer Di Buri Halat Sukhbir Di SAD will terminate all water sharing agreements with Rajasthan and Haryana once it comes to power in the State- Sukhbir Singh Badal Amarinder Singh Raja Warring Takes On BJP And AAP In Ludhiana, Promised Real Solutions For Punjab On Bittu’s CBI threat, Warring says, BJP candidate feels demoralised, defeated already Gurjeet Singh Aujla met the shopkeepers in the hot afternoon AAP government did not pay the dues of employees and 12% DA - Gurjeet Aujla Keep Check on Intermittent growth of wild Cannabis Plants, Whether in and around populated areas, DC Aashika Jain to officials ORS Packets, Sweet and Cold drinking water, Shades and Tents apart from Coolers and fans will be the tools of the Mohali Admin to save polling staff and voters from Heatwave on Poll Day Kang and Singla should tell whether Rahul and Kejriwal are friends or enemies : Dr. Subhash Sharma Gujarat MLA campaigned for BJP candidate in Mohali Mouni Roy Net Worth 2024 | Know the Actress Mouni Roy Financial Empire DEO Sakshi Sawhney conducts inspection at 9 critical polling stations of Atam Nagar and Ludhiana South David Angu: Ready to Elevate India's Musical Heritage on the Global Stage Former Home Minister Anil Vij stepped out of his car to meet farmers AAP dealt major setbacks to the BJP and SAD in Bathinda and Ferozepur California Miramar University & Chandigarh Group of Colleges Jhanjeri signed strategic academic partnership Ahead Of June 1 Polls, Dc Dr. Senu Duggal Alongwith SSP Make Surprise Night Inspection Of BSF And Police Joint Nakas Governor Shiv Pratap Shukla releases book authored by Dr. Bharat Barowalia

 

Will frame stringent laws to eliminate corruption: Chief Minister Sukhvinder Singh Sukhu

Announces Civil Court and Martyrs Memorial at Fatehpur

Sukhvinder Singh Sukhu, Himachal Pradesh, Himachal, Congress, Indian National Congress, Himachal Congress, Shimla, Chief Minister of Himachal Pradesh
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

Kangara , 12 Mar 2024

The state government was committed to curb corruption and would frame strict laws in future to eradicate it completely. This was stated by Chief Minister Thakur Sukhvinder Singh Sukhu while addressing a public meeting at Fatehpur in Kangra district today where he dedicated 14 developmental projects worth Rs. 232 crore to the people of Fatehpur.

Chief Minister announced opening of Civil Court in Fatehpur, erecting memorial for Martyrs in Fatehpur, sewerage system for Fatehpur and Raja Ka Talab, re-naming Rey College after Late Shri Sujan Singh Pathania. He also announced re-opening of Nangal Patwar Circle, construction of 33 KV sub-station at Talara-Dak-Guriyal-Chakbari and opening of Progeny-cum Demonstration Orchard (PCDO) of Horticulture Department at Fatehpur.

He announced a sum of Rs. 75 lakh for maintenance of a pond at Raja Ka Talab.

The Chief Minister performed the foundation stone laying ceremony of the up-gradation of Gholi bridge and Paplah Khas Banaal to Jakhara Khas road to be completed at a cost of Rs. 5.28 crore, up-gradation work of Chhabar to Kohalri road to be completed at a cost of Rs. 8 crore, up-gradation work of Bhogrwan to Samlata Khas road to be completed at a cost of Rs. 10.38 crore, construction work of Dini-Kumbh-Dhanara road to be completed at a cost of Rs. 6.95 crore, Rajiv Gandhi Government Day-Boarding School Manjhaar to be built at a cost of Rs. 5 crore, construction of a bridge on Bharal rivulet on Dehri-Kandrori road to be completed at a cost of Rs. 10.21 crore, sewerage scheme and drinking water scheme, development works for Rehan-1 and Rehan-2 panchayats at a cost of Rs. 19.36 crore and construction of 800 mtrs bridge on Beas river from Terrace to Sthana at a cost of Rs. 103.65 crore.

The Chief Minister laid the foundation stone of indoor stadium Rehan at a cost of Rs. 10 crore, foundation stone of bus stand complex at Fatehpur to cost Rs. 15 crore, police station building Rehan to cost Rs. 8 crore, public library Rehan at a cost of Rs. 5 crore. He laid the foundation stone of Rs. 15 crore industrial area Jakhbar (Fatehpur) and a cow sanctuary Tatwali at a cost of Rs. 9 crore.

"I have never compromised with principles in my life and have always raised the voice of poor and downtrodden. I am well aware of the sufferings of the common man, the farmers and the employees as well," he said.

After becoming the Chief Minister, the first challenge was to bring out the state of economic crisis. The Government's can't function properly under the debris of debt and keeping this in mind we took several measures to improve the economy of the state from the existing resources. 

We feel proud that within a year we have succeeded in bringing 20 percent of the state's economy back on track, he remarked, adding that an additional revenue of Rs. 2200 crore has been achieved due to persistent and earnest efforts of the government for tapping the existing resources.

The Chief Minister said that just as when the state was recovering from the financial crises, another jolt was in the form of natural disaster, and thereafter the political upheaval the state was presently witnessing. Even Fatehpur was badly affected by the disaster and on the call of local MLA Bhawani Singh Pathania, rescue operations were conducted on war footing here as well.

During the disaster, I visited every district and every affected village of the state to personally to monitor the relief and rescue operations. The Government enhanced the relief package by amending the rules and the norms. Despite financial crunch the government provide a special relief package of Rs. 4500 crore for the affected families.

The government recently fulfilled its fifth guarantee by announcing Rs. 1500 per month to the women folks of the state between 18 to 59 years. Similarly, the government restored the OPS, it launched the Rs. 680 crore Rajiv Gandhi Start-up Yojana for providing self-employment opportunities to the youth, started English medium in all of the government schools and increased the procurement price of cow and buffalo milk to Rs. 45 and Rs. 55, respectively. He said that in order to economically empower the farmers, the government has announced enhancing the support price for organically produced wheat and maize at the rate of Rs. 40 and to Rs. 30 per kg respectively.

It was for the first time that the government organised Revenue Lok Adalats in which till now more than 90 thousand mutation and seven thousand partition cases were resolved.

Earlier, on reaching Fatehpur, the locals accorded warm welcome to the Chief Minister.

MLA Fatehpur and State Planning Board Vice-Chairman Bhawani Singh Pathania welcomed the Chief Minister on his arrival in Fatehpur. He expressed gratitude for fulfilling the announcements made by the Chief Minister. He said that for the progress and prosperity of any area, it was most important to develop means and resources. He said that with the completion of the development works that the Chief Minister has gifted to the area residents today, the local people will get better opportunities for employment and self-employment near their doorsteps.

MLA Sudarshan Bablu, former MLA Ajay Mahajan, Member, (BoD) HPTDC Amber Mahajan, District Congress Committee President, Karan Singh Pathania and Block Congress President Jeet Ram Sharma were also present on the occasion amongst others.

भ्रष्टाचार को रोकने के लिए बनाएंगे और सख्त कानून मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू

कहा जनता जनार्दन ही हमारी सबसे बड़ी ताकत

कांगड़ा

मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार को रोकने के लिए पूरी सतर्कता और सावधानी से कार्य कर रही है तथा इसे पूरी तरह से रोकने के लिए और सख्त कानून बनाए जाएंगे। यह बात उन्होंने आज कांगड़ा जिला के फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र में जनसभा को सम्बोधित करते हुए कही।

 मुख्यमंत्री ने फतेहपुर में सिविल कोर्ट खोलने, फतेहपुर में शहीद स्मारक बनाने, फतेहपुर और राजा का तालाब में सीवरेज सिस्टम का निर्माण करने, रे कालेज का नामकरण स्वर्गीय सुजान सिंह पठानिया के नाम पर करने, राजा का तालाब में ऐतिहासिक तालाब के जीर्णोद्धार के लिए 75 लाख रुपए,नंगल पटवार सर्कल को पुनः खोलने, तलाड़ा-डक-गुरियाल-चकबाड़ी में 33 केवी सब स्टेशन स्टेशन बनाने और बागवानी विभाग का पीसीडीओ फार्म खोलने की घोषणा की।

इससे पूर्व, ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र के लिए 232 करोड़ रुपये लागत की 14 विकासात्मक परियोजनाओं की सौगात दी।

मुख्यमंत्री ने 5.28 करोड़ रुपये की लागत से घोली पुल पप्लाह खास बनाल से जखाड़ा खास सड़क के उन्नयन कार्य, 8 करोड़ रूपये की लागत से छब्बड़ से कोहलड़ी सड़क के उन्नयन कार्य,10.38 करोड़ रुपये की लागत से भोग्रवां से समलेट खास सड़क के उन्नयन कार्य,नाबार्ड के तहत 6.95 करोड़ रुपये की लागत से दीणी-कुम्भ-धनाड़ा सड़क के निर्माण कार्य का शिलान्यास, 5 करोड़ रुपये की लागत से राजीव गांधी राजकीय डे-बोर्डिंग विद्यालय मंझार का शिलान्यास,10.21 करोड़ रुपये की लागत से देहरी-कंदोर सड़क पर भराल खड्ड पुल का शिलान्यास, 19.36 करोड़ रुपये की लागत से रैहन-1 व रैहन-2 पंचायतों के लिए मल निकासी योजना एवं पेयजल योजना के संवर्धन कार्य, 03.65 करोड़ रुपये की लागत से टैरेस से स्थाना तक व्यास नदी पर 800 मीटर पुल का शिलान्यास,10 करोड़ रुपये की लागत से इंडोर स्टेडियम रैहन का शिलान्यास, 15 करोड़ रुपये की लागत से बस स्टैंड परिसर फतेहपुर का शिलान्यास,8 करोड़ रुपये की लागत से पुलिस थाना भवन रैहन का शिलान्यास,5 करोड़ रुपये की लागत से सार्वजनिक पुस्तकालय रैहन का शिलान्यास, 15 करोड़ रुपये की लागत से औद्योगिक क्षेत्र जखबड़ (फतेहपुर) का शिलान्यास तथा 9 करोड़ रुपये की लागत से गौ अभ्यारण टटवाली का शिलान्यास किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने जीवन में कभी सिद्धान्तों से समझौता नहीं किया और हमेशा आम लोगों की आवाज को उठाया है। मैं एक आम परिवार से संबंध रखत हूं और आम लोगों के दुःख, किसानों की पीड़ा और कर्मचारियों की समस्या को भी जानता हूं।

ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद उनके सामने जो चुनौतियां थीं उनमें सबसे पहली चुनौती प्रदेश को आर्थिक बदहाली से बाहर लाने की थी। लेकिन मैंने आर्थिक चुनौतियों का सामना डटकर किया क्योंकि कर्ज के सहारे व्यवस्था नहीं चल सकती। उन्होंने कहा कि आज प्रत्येक हिमाचली पर एक लाख रुपए से अधिक का कर्ज है। सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के एक माह बाद  मैंने अधिकारियों से पूछा कि प्रदेश कैसे चलेगा तो उनसे जबाब मिला कि पिछली भाजपा सरकार ने राजस्व की तरफ ध्यान ही नहीं दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने आर्थिक चुनौती का सामना युद्ध की तरह किया और बेहतर वित्तीय प्रबन्धन से आर्थिक मोर्चे पर आगे बढ़ रहे हैं । हमें गर्व महसूस होता है कि एक साल के भीतर प्रदेश की 20 प्रतिशत अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने में सफल हुए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहली चुनौती का सामना कर अभी संभल ही रहे थे कि आपदा के रूप में दूसरी चुनौती सामने आ गई। इतिहास की सबसे बड़ी त्रासदी का मंजर इससे पहले कभी नहीं देखा जिसमें हजारों घर तबाह हो गए, हजारों पशुशालाएं बह गईं। इस तबाही के मंजर में 550 लोग हमें छोड़ कर चले गए। फतेहपुर क्षेत्र भी इस त्रास्दी से अछूता नहीं रहा। विधायक भवानी सिंह पठानिया का भी रात को फोन आया और कहा कि पौंग बांध से अचानक पानी छोड़ने से बाढ़ के हालत बने हैं और लोगों की जान को बचाने के लिए उन्हें जल्दी सुरक्षित बाहर निकालने का आग्रह किया। 

हमनें तुरन्त कार्रवाई करते हुए वायुसेना के हेलीकॉप्टर तथा एनडीआरफ की सहायता लेकर 3000 लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने के साथ उनके रहन-सहन की व्यवस्था सुनिश्चित की। इससे पहले भी इस क्षेत्र में बाढ़ जैसे हालात उत्पन्न हुए थे लेकिन कभी वायुसेना का हेलीकॉप्टर नहीं आया। यह स्थानीय विधायक भवानी सिंह पठानिया की कर्तव्य निष्ठा थी जिन्होंने बार-बार मुझे इन लोगों की मदद के लिए आग्रह किया। लोगों को बाढ़ से निकालने के लिए वायु सेना के हेलीकॉप्टर का 9 करोड़ रुपये का व्यय केंद्र सरकार से नहीं बल्कि प्रदेश सरकार ने वहन किया है।

 मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा के दौरान उन्होंने प्रदेश के प्रत्येक जिले और गांव का दौरा किया। प्रदेश में आपदा से भारी तबाही के बावजूद केंद्र सरकार से कोई आर्थिक मदद नहीं मिली, लेकिन राज्य सरकार ने प्रभावित परिवारों के लिए अपने स्तर पर संसाधन जुटाकर 4500 करोड़ रुपए का विशेष आर्थिक पैकेज प्रदान करने के लिए कानून और नियमों को बदल दिया, क्योंकि उन्हें आम आदमी की पीड़ा का अहसास है।

ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि सत्ता में रहते हुए उन्होंने लूट के रास्ते को बंद किया और सरकार के ईमानदार प्रयासों से 2200 करोड़ रुपए का अतिरिक्त राजस्व प्राप्त हुआ है। इस राजस्व से महिलाओं को 1500 रुपए प्रति माह देने की घोषणा की गई है। बजट में भी आम लोगों के लिए अनेक योजनाओं को प्रावधान किया गया है, मनरेगा मजदूरी में 60 रुपए की बढ़ौतरी, किसान से गाय के दूध का क्रय मूल्य 32 रुपए से बढ़ाकर 45 रुपए किया गया है और भैंस के दूध को 55 रुपए में खरीदा जाएगा। 

उन्होंने कहा कि किसानों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए राज्य सरकार ने पहली बार प्राकृतिक खेती से उत्पादित मक्की के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य रुपए 30 रुपए प्रति किलो जबकि गेंहू को 40 रुपए प्रति किलो की दर से खरीदने का निर्णय लिया है। ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि राजस्थान में भाजपा की सरकार ने सत्ता में आते ही सबसे पहले कांग्रेस सरकार द्वारा शुरू की गई पुरानी पेंशन योजना को रद्द किया लेकिन हिमाचल में कांग्रेस की सरकार बनते ही हमने  पहली कैबिनेट में पुरानी पेंशन योजना को बहाल किया, ताकि सेवानिवृति के उपरांत सरकारी कर्मचारी व अधिकारी सम्मानजनक जीवन यापन कर सकें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आम लोगों को राहत प्रदान करने के लिए राज्य सरकार द्वारा राजस्व लोक अदालतों का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें अब तक 90 हजार से अधिक इंतकाल तथा सात हजार तकसीम के मामलों का निपटारा किया जा चुका है। इसके साथ ही कानून बनाकर अनाथ बच्चों की देखभाल के लिए मुख्यमंत्री सुखाश्रय योजना आरंभ की गई है। यही नहीं, विधवा एवं एकल नारी के बच्चों की शिक्षा का खर्च राज्य सरकार वहन कर रही है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता ही हमारी सबसे बड़ी ताकत है जिनके कल्याण के लिए प्रदेश सरकार अनेक योजनाएं कार्यान्वित कर उनके जीवन को सरल बनाने के लिये प्रयास कर रही है। इससे पूर्व, फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र में पहुंचने पर स्थानीय लोगों ने मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू का गर्मजोशी से स्वागत किया।

फतेहपुर के विधायक एवं राज्य योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष (कैबिनेट रैंक) भवानी सिंह पठानिया ने मुख्यमंत्री का फतेहपुर में पहुंचने पर स्वागत किया। उन्होंने मुख्यमंत्री द्वारा कुछ माह पूर्व फतेहपुर के लिए की गई घोषणाओं को पूरा करने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि किसी भी क्षेत्र की तरक्की और खुशहाली के लिए साधन और संसाधन विकसित करना सबसे जरूरी होता है। जिसके लिए प्रदेश सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध और संवेदनशील है। 

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने जिन विकास कार्यों की सौगात आज क्षेत्रवासियों को दी है उनके पूरा होने से स्थानीय लोगों को घरद्वार के नजदीक रोजगार-स्वरोजगार के बेहतर अवसर प्राप्त होंगे वहीं लोगों की आय के साधन भी बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि आपदा के दौरान मुख्यमंत्री ने प्रदेश के हर कोने में जाकर प्रभावितों की सहायता की। इस क्षेत्र में भी उन्होंने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए एनडीआरएफ के साथ वायुसेना का हेलीकॉप्टर भेज कर तीन हजार लोगों को सुरक्षित निकाल कर उनके रहन सहन की व्यवस्था सुनिश्चित करवाई।

भवानी सिंह पठानिया ने कहा कि ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू एक आम परिवार से संबंध रखते हैं इसलिए आम आदमी की पीड़ा को भलीभांति समझते हैं। इस अवसर पर विधायक सुदर्शन बबलू, पूर्व विधायक अजय महाजन, एचपीटीडीसी बीओडी के निदेशक अम्बर महाजन, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष करण पठानिया, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष जीत राम शर्मा, उपायुक्त हेम राज बैरवा, पुलिस अधीक्षक अशोक रतन और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

 

Tags: Sukhvinder Singh Sukhu , Himachal Pradesh , Himachal , Congress , Indian National Congress , Himachal Congress , Shimla , Chief Minister of Himachal Pradesh

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD