Sunday, 19 May 2024

 

 

खास खबरें 2024 लोकसभा चुनाव ऐतिहासिक : पवन खेड़ा अमृतपाल को बंदी सिंह की श्रेणी में नही रखा जा सकता : सुखबीर सिंह बादल शिरोमणी अकाली दल ने चुनाव आयोग से किसानों को धमकाने के लिए हंसराज हंस के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह किया अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने लुधियाना में बदलाव के लिए विजन डॉक्यूमेंट 'ड्राइव इट' पेश किया मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कुरुक्षेत्र से 'आप' उम्मीदवार डॉ. सुशील गुप्ता के लिए किया प्रचार महिला सशक्तिकरण तो दूर महिलाओं का सम्मान तक नहीं करते "आप" नेता : जय इंद्र कौर वर्ल्ड क्लॉस की स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए वचनबद्ध : विजय इंदर सिंगला इलेक्शन लोकतंत्र है और यहां हथियारों की नहीं बल्कि विचारों की लड़ाई होनी चाहिए : गुरजीत सिंह औजला अकाली दल के घोषणा पत्र में पंथक और क्षेत्रीय मजबूती का आहवाहन परिवर्तन की सरकार ने किया पंजाब को कर्जदार - गुरजीत औजला डॉ. एस.पी. सिंह ओबेरॉय के प्रयासों से जालंधर जिले के युवक का शव पहुंचा भारत दो साल में हमारी सरकार और मेरे काम को देखें, फिर तय करें कि आपको क्या चाहिए: मीत हेयर सीपीआई एम.एल. (लिबरेशन) ने की गुरजीत औजला के पक्ष में चुनावी रैली सनौर में अकाली दल प्रत्याशी के कार्यालय का उदघाटन खरड़ में निर्माणाधीन श्री राम मंदिर का दौरा करने के लिए माननीय राज्यपाल पंजाब को अनुरोध पत्र परनीत कौर व गांधी पटियाला हलके के लिए कोई प्रोजैक्ट नहीं लाए:एन.के.शर्मा मलोया में 20 मई को योगी आदित्य नाथ की विशाल चुनावी जनसभा-प्रदेशाध्यक्ष जतिंदर पाल मल्होत्रा फिल्म 'करतम भुगतम ' को ऑडियंस का प्यार और बॉक्स ऑफिस पर मिली सफलता लोक सभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग की हिदायतों का पूरा पालन किया जाए: जनरल पर्यवेक्षक जिला निर्वाचन अधिकारी कोमल मित्तल की देखरेख में वोटिंग मशीनों का पूरक रैंडमाइजेशन किया गया फिल्म कुड़ी हरियाणे वल दी / छोरी हरियाणे आली के टीजर में जट्ट और जाटनी के रूप में चमके एमी विर्क और सोनम बाजवा

 

स्मृति ईरानी ने प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के तत्वावधान में बौद्ध विकास योजना के तहत स्वीकृत परियोजनाओं की आधारशिला रखी

225 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत वाली 38 परियोजनाओं का वर्चुअल प्लेटफॉर्म के माध्यम से शिलान्यास

Smriti Irani, Smriti Zubin Irani, BJP, Bharatiya Janata Party, Pradhan Mantri Jan Vikas Karyakram, Buddhist Development Plan
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

नई दिल्ली , 10 Mar 2024

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य और महिला एवं बाल विकास मंत्री, स्मृति इरानी ने वर्चुअल मंच के माध्यम से हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम और केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के तत्वावधान में बौद्ध विकास योजना के तहत 225 करोड़ रुपये की कुल अनुमानित लागत वाली स्वीकृत परियोजनाओं की आधारशिला रखी।

वर्तमान सरकार की 'विरासत के साथ विकास' और 'विरासत का सम्मान' की अवधारणा के अनुरूप इस अवसर पर माननीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने शैक्षणिक सहयोग, अनुसंधान को प्रोत्साहन देने, भाषा के संरक्षण, प्रतिलेखों के अनुवाद और बौद्ध समुदाय के कौशल उन्नयन के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर एडवांस्ड स्टडीज इन बौद्ध स्टडीज को मजबूती प्रदान करने के लिए 30 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता की घोषणा की। 

'विकसित भारत' के उद्देश्य के अनुरूप मंत्री ने इच्छा व्यक्त की कि केंद्रीय बौद्ध अध्ययन संस्थान (सीआईबीएस), दिल्ली विश्वविद्यालय के बौद्ध सेंटर फॉर एडवांस्ड स्टडीज इन बौद्ध स्टडीज और अन्य प्रमुख संस्थानों को एकीकृत विकास के लिए मिलकर सहयोग करना चाहिए। जिससे बौद्ध सांस्कृतिक विरासत और ज्ञान का संरक्षण किया जा सके साथ ही उन्हें आधुनिक शिक्षा दी जा सके।

आज नई दिल्ली में आयोजित इस कार्यक्रम के अलावा, यह कार्यक्रम संबंधित राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में भी सिक्किम सरकार के मुख्यमंत्री श्री प्रेम सिंग तमांग, केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्री श्री किरेन रिजिजू, भारत सरकार के अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री श्री जॉन बारला, संबंधित राज्यों के विभिन्न मंत्री, संसद सदस्य, विधान सभा के सदस्य और अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में आयोजित किया गया है।

अल्पसंख्यकों के विकास की दिशा में एक अन्य कदम उठाते हुए भारत सरकार की प्रतिबद्धता "संपूर्ण सरकार" दृष्टिकोण के अनुरूप प्राथमिक रूप से हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम और केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख और राज्यों के दूर-दराज के सीमावर्ती क्षेत्रों में बौद्ध समुदायों पर विशेष ध्यान केन्द्रित किया गया है। 

इसका मुख्य उद्देश्य इन क्षेत्रों में बौद्ध युवाओं के लिए आधुनिक शिक्षा और पेशेवर/व्यावसायिक और कौशल विकास पाठ्यक्रमों के अतिरिक्त प्रावधान के साथ पारंपरिक धार्मिक शिक्षा को धर्मनिरपेक्ष बनाना है। इनके विकास के लिए केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय एक कार्यक्रम संबंधी योजना “बौद्ध विकास योजना (बीडीपी)” लेकर आया है।

यह कार्यक्रम मंत्रालय द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं जैसे कि प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम (पीएमजेवीके), प्रधानमंत्री-विकास, छात्रवृत्ति के साथ-साथ राष्ट्रीय अल्पसंख्यक विकास और वित्त निगम (एनएमडीएफसी) द्वारा संचालित कार्यक्रमों और योजनाओं व अन्य मंत्रालयों में प्रासंगिक कार्यक्रमों को एकीकृत करके कार्यान्वित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में जागरूकता अभियानों के प्रावधान शामिल हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि यह योजनाएं और कार्यक्रम उल्लिखित पांच राज्यों में बौद्ध समुदायों की पहुंच के भीतर हैं।

Smriti Irani lays foundation stone for projects approved under Buddhist Development Plan under aegis of PMJVK 

Foundation Stone of 38 projects with estimated cost of Rs. 225 Crore laid via virtual platform

New Delhi

Union Minister of Minority Affairs and Women & Child Development, Smriti Irani, laid the foundation stone via virtual platform for 38 projects with the total estimated cost of Rs. 225 crore approved under Buddhist Development Plan under the aegis of Pradhan Mantri Jan Vikas Karyakram in the States of Himachal Pradesh, Uttarakhand, Arunachal Pradesh, Sikkim and the Union Territory of Ladakh.

Keeping in view the present Government’s concept of ‘विरासत के साथ विकास’ and ‘विरासत का संवर्धन,’ on this occasion Hon’ble Minister of Minority Affairs announced financial assistance of Rs. 30 Crores for strengthening ‘Centre for Advanced Studies in Buddhist Studies of the University of Delhi for academic collaboration, promoting research, preservation of language, translation of transcripts and skill upgradation of Buddhist population.

Aligned with the purpose of ‘Viksit Bharat’ the  Minister desired that the Institutes like Central Institute of Buddhist Studies (CIBS), Centre for Advanced Studies in Buddhist Studies of the University of Delhi and other prominent institutes should collaborate for integrated development in a circuit so as to conserve the Buddhist cultural heritage and knowledge along with providing them modern education.

In addition to the event held in New Delhi today, this event has been ceremoniously conducted in the respective States and the UT also in the presence of Shri Prem Sing Tamang,  Chief Minister, Government of Sikkim, Shri Kiren Rijiju,  Union Minister of Earth Sciences, Shri John Barla, Minister of State of Minority Affairs, Government of India, various Ministers in the respective States, Members of Parliament, Members of Legislative Assemblies and other dignitaries .

Taking another step ahead towards Government of India’s commitment for development of minorities with the "Whole of Government" approach with specific focus on  the Buddhist Communities primarily in the far flung border areas in the States of Himachal Pradesh, Uttarakhand, Arunachal Pradesh, Sikkim and the Union Territory of Ladakh and with the prime objective to secularize the traditional theological education with an additional provision of modern education and the professional/Vocational and skill development courses for the young Buddhist population in these areas, the Union Ministry of Minority Affairs has come up with a program viz. Buddhist Development Plan (BDP). 

This program would be implemented converging various ongoing schemes of the Ministry such as PMJVK, PM-Vikas, Scholarship as well as the programs and the schemes being administered by NMDFC and those relevant in other Ministries.  The program includes provisions for awareness campaigns to ensure that such schemes and programs are within reach of the Buddhist communities in the mentioned five states. 

 

Tags: Smriti Irani , Smriti Zubin Irani , BJP , Bharatiya Janata Party , Pradhan Mantri Jan Vikas Karyakram , Buddhist Development Plan

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD