Friday, 23 February 2024

 

 

खास खबरें एस बी एस पब्लिक स्कूल में हुआ पैनासॉनिक “हरित उमंग- जॉय ऑफ़ ग्रीन” का सफल आयोजन PEC त्रिदिवसीय वर्कशॉप का सफलतापूर्वक समापन किया PEC स्टूडेंट निशिता ने स्वरचित रचना से जीता IGNUS 24 फेस्ट में दूसरा स्थान IIT रोपड़ के टेक्निकल फेस्ट में PEC छात्रों ने अपने नाम किये कई ईनाम 'PEC में दोबारा आना एक यादगारी अनुभव है' : कपिलेश्वर सिंह बीजेपी हम पर इंडिया गठबंधन छोड़ने का दबाव बना रही है, वे जल्द अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने की योजना बना रहें : आप पंजाब द्वारा दुबई में ‘गल्फ-फूड 2024’ के दौरान फूड प्रोसेसिंग की उपलब्धियाँ और संभावनाओं का प्रदर्शन, निवेश के लिए न्योता कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने 27 फार्मासिस्टों व 28 को क्लीनिक असिस्टेंटों को सौंपे नियुक्ति पत्र 1900 रुपए मानदेय बढ़ाने के लिए कंप्यूटर अध्यापकों ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू का आभार व्यक्त किया ब्रिटिश उच्चायोग और हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू से भेंट की 'क़ैद - नो वे आउट' - प्यार, दुर्व्यवहार और उस से बाहर निकलने की एक मनोरंजक कहानी चितकारा यूनिवर्सिटी में "चितकारा लिट फेस्ट 2024"' विद्युत जामवाल की ''क्रैक- जीतेगा तो जियेगा' एक्शन फिल्मों की सूची में सबसे ऊपर मुख्यमंत्री के नेतृत्व में पंजाब मंत्रिमंडल द्वारा एक मार्च से 15 मार्च तक बजट सत्र बुलाने की मंजूरी पंजाब में स्वास्थ्य सेवाओं में आया क्रांतिकारी बदलावः ब्रम शंकर जिंपा डाइट मनी में पांच गुणा बढ़ोतरी पर मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू का आभार व्यक्त किया PEC के विद्यार्थियों ने IGNUS 2024 में दिखाए अपने जौहर मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने ‘हिमाचल प्रदेश लैंड कोड’ के नवीन संस्करण का अनावरण किया पीईसी चंडीगढ़ के गणित विभाग ने हालिया प्रगति पर दो दिवसीय कार्यशाला आयोजित की गई ऑनलाइन जॉब फ्रॉड रैकेट: पंजाब पुलिस की साईबर क्राइम डिवीजऩ ने असम से चार साईबर धोखेबाज़ों को किया गिरफ़्तार एलपीयू, आईआईटी और अन्य विश्वविद्यालयों को पछाड़ते हुए भारत में अग्रणी पेटेंट फाइलर के रूप में उभरा

 

बाहा एस.ए.ई इंडिया 2024 के वर्चुअल राउंड की चितकारा यूनिवर्सिटी में भव्य शुरुआत

इस बार प्रतियोगिता का थीम "मल्टीवर्स ऑफ मोबिलिटी", देश विदेश से 164 टीमें ले रही है हिस्सा

Chitkara University, Banur, Rajpura, Dr. Ashok K Chitkara,Chitkara Business School, Dr. Madhu Chitkara, BAJA SAEINDIA 2024, BAJA SAEINDIA, SAEINDIA, aBAJA, Autonomous BAJA, hBAJA, Hydrogen BAJA
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

चंडीगढ़ , 01 Dec 2023

ऑटोमोटिव इंजीनियर्स की पेशेवर सोसाइटी एस.ए.ई इंडिया ने बहुप्रतीक्षित फ्लैगशिप कार्यक्रम बाहा एस.ए.ई इंडिया 2024 के आगाज की आज घोषणा की गई । बाहा एस.ए.ई इंडिया 2024 के वर्चुअल राउंड की मेजबान चितकारा यूनिवर्सिटी द्वारा चंडीगढ़ में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में एस.ए.ई इंडिया ई.ई.बी के चेयरमैन व टी.ई.आर.आई के प्रतिष्ठित फेलो श्री आई.वी राव ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि प्रतियोगिता इस बार तीन चरणों में आयोजित की जाएगी और हर चरण पहले के चरण से ज्यादा चुनौतीपूर्ण होगा। इस वर्ष इसमें 164 टीमें हिस्सा लेने जा रही हैं।

वर्चुअल राउंड बाहा एस.ए.ई इंडिया का दूसरा चरण है, यह आयोजन एक से तीन दिसंबर 2023 तक तीन दिन चलेगा। इसमें वर्चुअल सेल्स इवेंट, गो ग्रीन इवेंट और वर्चुअल डायनेमिक इवेंट ऑफ मैन्युवेरेबिलिटी इवेंट शामिल हैं जो कि प्रतियोगिता के पहले दिन आयोजित किये जायेंगे। इसके बाद वर्चुअल डिज़ाइन इवैल्यूएशन इवेंट, कॉस्ट इवेंट और वर्चुअल डायनेमिक ऑल टैरेन परफॉर्मेंस इवेंट आयोजित किये जायेंगे ।

बाहा एस.ए.ई इंडिया कालेज के स्तर पर इंजीनियरिंग डिजाइन प्रतियोगिताओं में आज शिखर पर है। इस कार्यक्रम में इच्छुक इंजीनियरों की प्रतिभा को तलाशा जाता है। प्रतियोगिता में सिंगल-सीटर ऑल-टेरेन व्हीकल (एटीवी) की अवधारणा, डिजाइन, मॉडलिंग, विश्लेषण, निर्माण, सत्यापन करना और इस ऑल टरेन व्हीकल के साथ प्रतिस्पर्धा करना शामिल हैं।

प्रत्येक वर्ष, बाहा एस.ए.ई इंडिया में 5,000 से 10,000 इंजीनियरिंग विद्यार्थियों का बड़ा समूह एक साथ जुड़ता है। वर्चुअल इवेंट्स की निरंतरता के कारण अंतरराष्ट्रीय टीमों की भागीदारी को भी सुनिश्चित कराया जा सका है जो इस आयोजन के विशाल दायरे को प्रदर्शित करती है। इस बार प्रतियोगिता का थीम "मल्टीवर्स ऑफ मोबिलिटी" रखा गया है।

मोबिलिटी के क्षेत्र में, बाहा एस.ए.ई इंडिया का लक्ष्य प्रतिस्पर्धा के दायरे में विविधता लाना और उसका विस्तार करना है। प्रतियोगिता उभरते ऑटोमोबाइल इंजीनियरों को विविध चुनौतियों और बाधाओं को पार करने, आवश्यक कौशल से लैस करने और तकनीकी विशेषज्ञता हासिल करने के लिए मदद करती है जिससे वे अपने गतिशील कार्यस्थल परिदृश्य के लिए पेशेवर के रूप में तैयार हो सकें। आज बाहा एस.ए.ई इंडिया के पूर्व छात्र दुनिया भर के अधिकांश वाहन निर्माता कंपनियों में सफलतापूर्वक काम कर रहे हैं।

अधिक स्मार्ट, सुरक्षित और टिकाऊ भविष्य की दृष्टि के साथ, बाहा एस.ए.ई इंडिया ने हाइड्रोजन-आधारित इंटरनल कंबशन इंजन के विकल्प पर भी अपना ध्यान केंद्रित किया है। वर्तमान में छात्र टीमों पर दबाव कम करने के लिए, बाहा एस.ए.ई इंडिया ने 2024 सीज़न के लिए सीएनजी आधारित बाई फ्यूल इंजेक्टेड इंजन पेश किया है जो आगे चल कर हाइड्रोजन की तरफ जायेगा।

एच-बाहा कैटेगरी को प्रतियोगिता को शामिल करना निश्चित रूप से सही दिशा में एक कदम है। इसी तरह, विकसित हो रही प्रौद्योगिकी और एडवांस्ड ड्राइवर असिस्टेंस सिस्टम ए.डी..ए.एस. (ADAS) व आर्टिफिशियली इंटेलिजेंस के बढते प्रभाव के चलते और छात्रों को इस विकास में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए बाहा एस.ए.ई इंडिया ने उद्योग जगत के विभिन्न संगठनों के समर्थन से ऑटोनॉमस बाहा (ऐ-बाहा) को भी एक बार नई कैटेगरी के तौर पर शुरू किया है।

एस.ए.ई इंडिया ई.ई.बी के चेयरमैन व टी.ई.आर.आई के प्रतिष्ठित फेलो श्री आई वी राव ने इस मौके पर अपने स्वागत भाषण में बताया कि कैसे बाहा एस.ए.ई इंडिया अगली पीढ़ी के मोबिलिटी इंजीनियरों को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है ।बाहा एस.ए.ई इंडिया के सलाहकार व चितकारा यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर ऑफ प्रेक्टिस डॉ. के.सी. वोरा, ने कहा कि बाहा इंडिया उद्योग और शिक्षा जगत के बीच की दूरी को पाटने के लिए समर्पित हैं।

यह प्रतियोगिता इंजीनियरिंग के उऩ स्नातक और स्नातकोत्तर छात्रों के लिए जो कि सिंगल सीटर एटीवी के निर्माण की प्रक्रिया में लगे हुए हैं उऩको महत्वपूर्ण तकनीकी गैर-तकनीकी कौशल को सिखाने के लिए जमीन तैयार करता है ताकि उन्हें सही वातावरण देकर इंडस्ट्रीज के लिए तैयार किया जा सके। उन्होंने आगे कहा, “इस साल, कार्यक्रम की थीम मल्टीवर्स ऑफ मोबिलिटी है, जहां एम बाहा और ई बाहा के साथ ऐ-बाहा (ऑटोनॉमस बाहा ) और एच-बाहा (हाइड्रोजन) पेश की हैं।

प्रतियोगिता के प्रायोजकों को बाहा एस.ए.ई इंडिया - एच आर (HR) मीट के दौरान भाग ले रही सर्वश्रेष्ठ टीमों और उनके सदस्यों को ऑन-द-स्पॉट प्लेसमेंट ऑफर देने का भी अवसर मिलेगा ।बाहा इंडिया अपने समर्थकों और साझेदारों के बिना कुछ भी नहीं है और चितकारा यूनिवर्सिटी पिछले कई वर्षों से बाहा इंडिया के साथ जुड़ी हुई है।

 चितकारा यूनिवर्सिटी की प्रो-चांसलर डॉ. मधु चितकारा ने कहा कि “एक कुशल समाज को बढ़ावा देने और उद्योग और शैक्षणिक संस्थानों के साथ सहयोग के माध्यम से अनुसंधान और नवाचार को आगे बढ़ाने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं और चितकारा विश्वविद्यालय बाहा एस.ए.ई इंडिया के दृष्टिकोण के साथ सहजता से जोड़ता आया है। 2015 में शुरू हुई हमारी साझेदारी हमारे सांझे समर्पण को दर्शाती है।

पिछले छह वर्षों से वर्चुअल बाहा के लिए मेजबान संस्थान के रूप में काम करते हुए, हम इस कार्यक्रम के लिए अपने निरंतर समर्थन पर बहुत गर्व महसूस करते हैं। हम उभरते इंजीनियरों को सशक्त बनाने, नवाचार को बढ़ावा देने और भारत में ऑटोमोटिव परिदृश्य के विकास में योगदान देने के अपने संकल्प पर दृढ़ विश्वास रखते हैं और उत्कृष्टता को आगे बढ़ाने और गतिशीलता के भविष्य को आकार देने के लिए बाहा का अभिन्न अंग बनकर सम्मानित महसूस करते हैं ।“

यह आयोजन दुनिया भर के विभिन्न इंजीनियरिंग के छात्रों को एक साथ लाता है जिसमें वे सीखने, नए अनुभवों को अपनाने और खेल भावना को अपनाने के अपने साझा जुनून में एकजुट होते हैं। बाहा एस.ए.ई इंडिया और मोबिलिटी इंडस्ट्री के बीच विविधता के महत्व पर जोर डालते हुए रेनॉल्ट निसान टेक्नोलॉजी एंड बिजनेस सेंटर इंडिया की वाइस प्रेसीडेंट सॉफ्टवेयर और ए.डी.ए.एस. सुश्री आर्मेल गुएरिन ने कहा कि, “प्रत्येक बाहा एस.ए.ई इंडिया युवाओं के बीच कड़ी मेहनत, रचनात्मकता और तकनीकी प्रतिभा के अभिसरण का प्रतीक है। यह इनोवेशन और कल के ऑटोमोटिव लीडरों को तैयार करने के लिए एक सफल मंच है।

इस मौके पर उन्होंने बताया कि उनकी कंपनी रेनॉल्ट निसान टेक इस वर्ष पहली बार शीर्ष लड़कियों की टीम को एक विशेष पुरस्कार देने के साथ साथ रेनॉल्ट निसान टेक तकनीकी केंद्र में इंटर्नशिप करने का अवसर भी प्रदान करेगी । यह पहल समान अवसरों के प्रति कंपनी की प्रतिबद्धता को दर्शाती है, जिसका लक्ष्य महिला इंजीनियरों की अगली पीढ़ी को प्रेरित और सशक्त बनाना है।''

बाहा एस.ए.ई इंडिया 2024 का तीसरा चरण प्रतिस्पर्धा को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए तैयार है, जिसमें जनवरी 2024 में पीथमपुर, इंदौर में नाट्रैक्स एम बाहा और एच बाहा इवेंट होंगे, इसके बाद मार्च 2024 में बी वी राजू इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, हैदराबाद में ई बाहा इवेंट होगा और जून 2024 में ऑटोमोटिव रिसर्च एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एआरएआई) पुणे, महाराष्ट्र के टाकवे में ऐ-बाहा प्रतियोगिता के साथ इस इवेंट का भव्य समापन कार्यक्रम होगा। रणनीतिक रूप से चुने गए ये स्थान तकनीकी उत्कृष्टता और उत्साही प्रतिस्पर्धा की पराकाष्ठा का वादा करते हैं, जो गतिशीलता के भविष्य को आकार देने में इस आयोजन के महत्व को और रेखांकित करते हैं।

 

Tags: Chitkara University , Banur , Rajpura , Dr. Ashok K Chitkara , Chitkara Business School , Dr. Madhu Chitkara , BAJA SAEINDIA 2024 , BAJA SAEINDIA , SAEINDIA , aBAJA , Autonomous BAJA , hBAJA , Hydrogen BAJA

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD