Sunday, 21 July 2024

 

 

खास खबरें हरियाणा में कचरे के निस्तारण की दिशा में अहम कदम, राज्य में स्थापित होंगे वेस्ट-टू-चारकोल के दो प्लांट मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी ने हिसार में महाराजा दक्ष प्रजापति जयंती राज्य स्तरीय समारोह में लगाई घोषणाओं की झड़ी राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय से पैरा क्रिकेटर आमिर हुसैन लोन ने राजभवन में की मुलाकात मुख्यमंत्री नायब सिंह ने हिसार से मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत बस को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना मुख्यमंत्री सुख-आश्रय कोष में 1.5 करोड़ रुपये का अंशदान कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने जनता दरबार में सुनी लोगों की शिकायतें हर घर तक पीने वाला स्वच्छ पानी मुहैया करवाना सरकार की मुख्य प्राथमिकता : ब्रम शंकर जिंपा होशियारपुर वासियों की हर समस्या का समयबद्ध तरीके से किया जा रहा है समाधान : ब्रम शंकर जिंपा मनजिंदर सिंह सिरसा के नेतृत्व में एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल ने हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी का सन्मान श्री गुरु साहिबान द्वारा सद्भाव और भाईचारे के दिखाए मार्ग पर चलना ही गुरुओं के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धा का प्रतीक : नायब सिंह सैनी अग्निवीरों के कल्याण के लिए हरियाणा सरकार द्वारा चलाई योजना पर प्रधानमंत्री ने दिखाई विशेष रूचि मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी ने फिर किसान हितैषी होने का दिया परिचय नवनिर्वाचित विधायक हरदीप सिंह बावा ने मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू से की भेंट सरकार की जन हितैषी नीतियों का आम जनता तक पहुंचाया जाए लाभः ब्रम शंकर जिंपा परिवहन निगम में 357 कंडक्टरों को जल्द मिलेगी नियुक्ति: मुकेश अग्निहोत्री मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने अम्रुत योजना में पहाड़ी राज्यों के लिए मापदंडों में ढील देने का आग्रह किया केंद्र के फंड होने के बावजूद प्रोजेक्ट को पूरा नहीं करवा रहे मुख्यमंत्री मान एलपीयू एनसीसी कैडेट नवनीत सिंह ने यू.के. में वायईपी 2024 प्रोग्राम में भारत का प्रतिनिधित्व किया PEC में 'एक पेड़ मां के नाम' अभियान के तहत वन महोत्सव 2024 धूम-धाम से मनाया गया माता चिंतपूर्णी मेले को सुचारु बनाने में लंगर कमेटियां व सामाजिक संगठन करे जिला प्रशासन को सहयोग : ब्रम शंकर जिंपा सार्वजनिक शिकायत निवारण कैंप के दौरान विधायक कर्मबीर सिंह घुम्मण व ए.डी.सी ने सुनी लोगों की शिकायतें

 

मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वारा राज्य में जल और पर्यावरण संरक्षण के लिए व्यापक लोक लहर शुरु करने का न्योता

विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर राज्य स्तरीय समागम की अध्यक्षता की

Bhagwant Mann, AAP, Aam Aadmi Party, Aam Aadmi Party Punjab, AAP Punjab, Government of Punjab, Punjab Government, Punjab, Chief Minister Of Punjab,Gurmeet Singh Meet Hayer, Meet Hayer, Sant Balbir Singh Seechewal
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

एस. ए. एस नगर (मोहाली) , 05 Jun 2023

राज्य में आने वाली नस्लों को चिरस्थायी और स्वच्छ पर्यावरण मुहैया करवाने की ज़रूरत पर ज़ोर देते हुये पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सोमवार को राज्य में जल और पर्यावरण की संरक्षण के लिए लोक लहर शुरु करने का न्योता दिया।मुख्यमंत्री ने विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर राज्य स्तरीय समागम की अध्यक्षता करते हुये राज्य में भूजल के घट रहे स्तर और दूषित हो रहे पर्यावरण पर गहरी चिंता ज़ाहिर की।

उन्होंने कहा कि राज्य में पर्यावरण प्रदूषण को रोकने के साथ-साथ जल जैसे अनमोल और दुर्लभ कुदरती स्त्रोत को बचाने के लिए तत्काल और उचित कदम उठाना पंजाब की प्राथमिकता है। भगवंत मान ने कहा कि यह कार्य केवल सरकार के यत्नों से संभव नहीं हो सकता, बल्कि लोगों को इसके बारे जागरूक करने के लिए एक सशक्त जन जागरूकता मुहिम चला कर लोगों की भागीदारी भी अनिर्वाय है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब महान गुरूओं और संतों की पवित्र धरती है, जिन्होंने पर्यावरण के संरक्षण के लिए हमारा मार्गदर्शन किया है। उन्होंने गुरबानी का हवाला देते हुए कहा कि ‘पवन गुरू, पानी पिता, माता धरती महतु’ की तुक बताती है कि कैसे हमारे महान गुरूओं ने हवा ( पवन) को गुरू के साथ, जल को पिता के साथ और धरती को माता के साथ उदाहरण दी है। उन्होंने कहा कि बहुत दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि हमने महान गुरूओं की वाणी का सम्मान नहीं किया क्योंकि हमने इन तीनों अनमोल बख्शीशों को दूषित कर दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब समय आ गया है जब हमें राज्य की शान बहाल करने के लिए गुरबानी की शिक्षाओं को यथावत अपनाना चाहिए। पर्यावरण के मसलों को अनदेखा करने के लिए विरोधी पार्टियों की निंदा करते हुये उन्होंने कहा कि जल, वायु और धरती की कोई वोट नहीं है, इसलिए इन नेताओं ने इनको नजरअन्दाज किया है। भगवंत मान ने कहा कि इस कारण इन कुदरती स्त्रोतों का बड़े स्तर पर प्रदूषण हो रहा है, जिससे समाज को अपूर्णीय क्षति हो रही है। उन्होंने आगे कहा कि राज्य में ‘ आप’ की सरकार बनने के बाद पर्यावरण को बचाने के लिए कई कदम उठाए गए हैं।

तेज़ी से घटते जा रहे जल के स्तर के बाद जल की गंभीर स्थिति पर गहरी चिंता प्रकट करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जहाँ तक भूजल का सम्बन्ध है, राज्य के लगभग सभी ब्लाक डार्क जोन में हैं। भगवंत मान ने कहा कि ऐसी स्थिति तभी पैदा हुई क्योंकि हमने भूजल को खेतों में सिंचाई के लिए बड़े ग़ैर-जिम्मेदारान ढंग से इस्तेमाल किया है। भगवंत मान ने कहा कि लापरवाही के इस रुझान को तुरंत रोकने की ज़रूरत है जिससे हमारी आने वाली पीढ़ियों को जल के लिए जूझना न पड़े।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार भूजल को बचाने के लिए नहरी जल के अधिकतम और सुयोग्य प्रयोग के लिए बड़े कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि इस समय पर पंजाब अपने नहरी जल का सिर्फ़ 33-34 प्रतिशत ही इस्तेमाल कर रहा है और आने वाले दिनों में इसमें और विस्तार किया जायेगा। भगवंत मान ने आशा अभिव्यक्त की कि यदि पंजाब पहले पड़ाव में नहरी जल के प्रयोग को 60 फीसद तक बढ़ा लेता है तो कुल 14 लाख ट्यूबवैलों में से लगभग चार लाख ट्यूबवैल बंद हो सकते हैं, जिससे बड़ी मात्रा में जल की बचत करने में मदद मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने जल संरक्षण के लिए तेलंगाना की उदाहरण देते हुये कहा कि यह एक क्रांतिकारी माडल है जिसका मंतव्य भूजल को संपूर्ण रूप में रिचार्ज़ करना है। उन्होंने कहा कि तेलंगाना सरकार ने राज्य भर में भूजल के उचित संरक्षण के लिए गाँवों में छोटे-छोटे डैम बनाऐ हैं। भगवंत मान ने कहा कि इसके नतीजे के तौर पर गाँवों में भूजल का स्तर चार मीटर तक बढ़ गया है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने नॉलेज सिटी में पंजाब बायोटैक्नालोजी इनक्यूबेटर (पी. बी. टी. आई.) को विश्व स्तरीय उपकरणों वाली नयी बनी अत्याधुनिक इमारत लोगों को समर्पित की। उन्होंने बताया कि इस विलक्षण सुविधा का प्रयोग भोजन, खेती, जल, पर्यावरण और सेहत क्षेत्रों में कीटनाशकों के अवशेष, भारी धातुओं, खाद्य पदार्थों/ मिलावट आदि की जांच के लिए की जायेगी। इसके साथ ही भगवंत मान ने मिशन तंदुरुस्त पंजाब के अंतर्गत पी. बी. टी. आई. द्वारा तैयार किये भोजन और जल के नमूनों की जांच करने वाली मोबाइल वैन को हरी झंडी देकर रवाना भी किया।

इसके इलावा, मुख्यमंत्री द्वारा पर्यावरण संरक्षण के अलग-अलग कामों के लिए 50 करोड़ रुपए की राशि भी अलॉट की गई है जिसके अंतर्गत स्थानीय निकाय विभाग (45.45 करोड़ रुपए), ग्रामीण विकास एवं पंचायत विभाग (3. 92 करोड़ रुपए) और पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड विभाग ( 63 लाख रुपए) को यह राशि दी गई है। उन्होंने पुष्पा गुजराल साईंस सिटी, कपूरथला में इलेक्ट्रानिक गैलरी और पंजाब स्टेट कौंसिल फार साईंस एंड टैक्नोलोजी (पीएससीएसटी) की तकनीकी और वित्तीय सहायता के साथ तैयार किये धान की पराली आधारित पैलेटाईज़ेशन यूनिट (पटियाला) का भी उद्घाटन किया।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने आज शहीद भगत सिंह पंजाब राज्य सालाना पर्यावरण पुरुस्कार के पहले ऐडीशन में चार संस्थाओं को सम्मानित किया, जिसके अंतर्गत “ग्राम पंचायत“ की श्रेणी में ग्राम पंचायत, गाँव बल्लो, ज़िला बठिंडा, “संस्था“ की श्रेणी में गुरू नानक देव यूनिवर्सिटी, अमृतसर, “उद्योग“ की श्रेणी में आई. टी. सी. लिमटिड (फूड डिवीज़न), कपूरथला और “एन. जी. ओ. / सामाजिक संगठन“ की श्रेणी में खेत विरासत मिशन, जैतो, ज़िला फरीदकोट शामिल हैं।इस पुरस्कार में हर विजेता संस्था को एक लाख रुपए का नकद इनाम, प्रशंसा पत्र और सिलवर प्लेट मोमैंटो दिया गया है। भगवंत मान ने कम लागत वाली स्वदेशी तकनीकें और प्रक्रियाओं के विकास में शामिल छह ज़मीनी स्तर के इनोवेटरों को भी उनकी रचनात्मक सोच और तकनीकी जानकारी के लिए सम्मानित किया।

मुख्यमंत्री ने पीबीटीआइ की इंटरनशिप स्कीम के अंतर्गत नवीनतम उच्च तकनीकों और उपकरण सहूलतों में लाईफ़ साईंस स्ट्रीम के विद्यार्थियों को हुनरमंद बनाने के लिए और पीबीटीआइ की इनक्यूबेशन स्कीम के अंतर्गत लाईफ़ साईंस, बायोटैक्नोलोजी और सहायक क्षेत्रों में स्टारटअप ईकोसिस्टम को बढ़ावा देने के लिए अलाटमैंट पत्र भी बाँटे जिससे उनके विचारों को व्यापारिक तौर पर व्यावहारिक हलों में तबदील किया जा सके।इस मौके पर कैबिनेट मंत्री गुरमीत सिंह मीत हेयर, राज्य सभा मैंबर बाबा बलबीर सिंह सीचेवाल और अन्य भी उपस्थित थे।

 

Tags: Bhagwant Mann , AAP , Aam Aadmi Party , Aam Aadmi Party Punjab , AAP Punjab , Government of Punjab , Punjab Government , Punjab , Chief Minister Of Punjab , Gurmeet Singh Meet Hayer , Meet Hayer , Sant Balbir Singh Seechewal

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD