Wednesday, 24 July 2024

 

 

खास खबरें यह आम बजट विकसित भारत के निर्माण में एक नया अध्याय लिखेगा : नायब सिंह सैनी कावड़ यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए किए गए पुख्ता इंतजाम, चप्पे चप्पे पर पुलिस की कड़ी नजर मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई एचपीपीसी और एचपीडब्ल्यूपीसी की बैठक रसिका दुगल और गुलशन देवैया की 'लिटिल थॉमस' का IFFM 2024 में वर्ल्ड प्रीमियर होगा विजिलेंस ब्यूरो ने पी.एस.आई.ई.सी. प्लॉट आवंटन घोटाले में शामिल उप-मंडल इंजीनियर को किया गिरफ्तार मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने केंद्रीय बजट को निराशाजनक और किसान विरोधी बताया गरीब कल्याण को समर्पित बजट से अर्थव्यवस्था को मिलेगी नई रफ्तार : संजय टंडन ‘सरकार बचाओ-महंगाई बढ़ाओ’ वाला है मोदी सरकार का बजट- आप मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने विद्यार्थियों की कम संख्या वाले स्कूलों के विलय की संभावनाएं तलाशने के निर्देश दिए राज्य एकल खिड़की स्वीकृति एवं अनुश्रवण प्राधिकरण की 29वीं बैठक में 2216.93 करोड़ रुपये के प्रस्तावित निवेश एवं 25 परियोजना प्रस्तावों को स्वीकृति प्रदान सी जी सी झंजेड़ी कैंपस में नए सत्र की शुरुआत के दौरान विद्यार्थियों के लिए एक सप्ताह का इंडक्शन प्रोग्राम आयोजित किया गया हरचंद सिंह बरसट ने पौधे लगाकर किया मिनी जंगल का उद्घाटन 'खतरों के खिलाड़ी' की कड़ी तैयारी के तहत निमृत कौर अहलूवालिया ने MMA, किक बॉक्सिंग की शुरुआत की धारकंडी क्षेत्र के विकास के लिए तत्परता से किया जाएगा कार्य : केवल सिंह पठानिया बेहतर भविष्य के लिए युवा नेता: लुधियाना के छात्र ‘यंग चैंपियंस फॉर क्लीन एयर प्रोग्राम’ के माध्यम से वायु गुणवत्ता वकालत में निभाएंगे अग्रणी भूमिका डेढ़ साल में 25 हज़ार करोड़ क़र्ज़ लेने वाले मुख्यमंत्री बताएं कहां खर्च किया पैसा : जयराम ठाकुर मलविंदर कंग ने पूर्व हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर को भारत रत्न देने की मांग की डिप्टी कमिश्नर कोमल मित्तल ने मासिक बैठक में अलग-अलग विभागों के कार्यो की समीक्षा की प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध : मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू डॉ. एसएस आहलूवालिया ने पटियाला क्षेत्र के अंतर्गत चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा की विकास कार्यों को जल्द पूरा करने के अधिकारियों को दिए निर्देश कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने नंद किशोर महामंत्र संकीर्तन मंडल को दिया 3 लाख रुपए का चैक

 

ए.आई.एफ. स्कीम के सफलतापूर्वक लागू होने से पंजाब में 3300 करोड़ रुपए के खेती प्रोजेक्टों की हुई शुरुआतः चेतन सिंह जौड़ामाजरा

ए.आई.एफ.स्कीम के अंतर्गत 5500 प्रोजेक्टों के साथ पंजाब में खेती को बड़ा प्रोत्साहन मिलाः बाग़बानी मंत्री

Chetan Singh Jauramajra, Chetan Singh Jormajra, Chetan Singh Jouramajra, AAP, Aam Aadmi Party, Aam Aadmi Party Punjab, AAP Punjab, Government of Punjab, Punjab Government, Kultar Singh Sandhwan, Gurmeet Singh Khuddian
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

चंडीगढ़ , 02 Jun 2023

पंजाब सरकार के बाग़बानी विभाग ने पिछले वित्तीय साल 2022-23 दौरान राज्य द्वारा की गई उन्नति व प्रगति को साझा करने और पंजाब में ए.आई.एफ. स्कीम के प्रचार के लिए सरकार के साथ-साथ निजी क्षेत्र के सहयोगियों द्वारा दिये गये योगदान को मान्यता देने के लिए मैग्सीपा, सैक्टर-26 चंडीगढ़ में कृषि बुनियादी ढांचा फंड (एआईएफ) सम्मेलन करवाया गया।

ज़िक्रयोग्य है कि भारत सरकार के कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा शुरू की गई यह एआईएफ स्कीम जुलाई 2020 में शुरू की गई थी। एआईएफ स्कीम का उद्देश्य कृषि और बाग़बानी वेल्यु चेन में कटाई के उपरांत प्रबंधन बुनियादी ढांचा तैयार करना है। 

राज्य में एआईएफ स्कीम को लागू करने के लिए बाग़बानी विभाग राज्य की नोडल एजेंसी है। बाग़बानी मंत्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा ने कहा कि किसानों की आय बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री भगवंत मान के सपने को आगे बढ़ाते हुए पंजाब ने ए.आई.एफ स्कीम के अंतर्गत बहुत तरक्की की है। 

पिछले वित्तीय साल 2022-23 दौरान 3480 प्रोजेक्टों से 2877 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश आकर्षित किया गया है। उन्होंने आगे बताया कि 720 करोड़ रुपए के कर्ज़े पहले ही मंज़ूर किये जा चुके हैं, जिनमें से 591 करोड़ रुपए के कर्ज़े पहले ही अलग-अलग कर्ज़ देने वाली संस्थाओं द्वारा बाँटे जा चुके हैं। 

पंजाब में इस स्कीम का लाभ लेने में अग्रणी जिले बठिंडा (326), संगरूर (326), पटियाला (315), श्री मुक्तसर साहिब (294) और फाजिल्का (283) हैं। जौड़ामाजरा ने बताया कि इस स्कीम के द्वारा राज्य में बनाए गए प्रमुख कृषि बुनियादी ढांचे में कोल्ड रूम और कोल्ड स्टोर, प्राथमिक प्रोसेसिंग सेंटर, कस्टम हायरिंग सेंटर, वेयरहाऊस, सोर्टिंग व ग्रेडिंग यूनिट और मौजूदा कृषि बुनियादी ढांचे पर सोलर पैनल शामिल हैं। 

इस स्कीम को लागू करने में हिस्सा लेने वाले 35 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में से पंजाब इस समय (31 मार्च 2023 अनुसार) 11वें स्थान पर है। मौजूदा वर्ष दौरान पंजाब में ए.आई.एफ. स्कीम के अंतर्गत हुई प्रगति बारे बात करते हुए मंत्री ने कहा कि पिछले साल से पंजाब लगातार विकास की तरफ बढ़ रहा है। 

पंजाब से ए.आई.एफ. पोर्टल पर अपलोड किए गए कुल आवेदनों की संख्या 5500 से अधिक है और 3300 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश आकर्षित किया गया है। उन्होंने आगे कहा कि इस स्कीम के द्वारा सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमियों को उत्पादन क्षेत्रों के नज़दीक प्रोजैक्ट स्थापित करने में मदद मिली है।

ए. आई. एफ. सम्मेलन दौरान, बढ़िया प्रदर्शन करने वाले जिलों और बैंकों को सम्मानित किया गया। ज़िला पटियाला को एआईएफ स्कीम अधीन प्रोजेक्टों सम्बन्धी सबसे अधिक मंज़ूरशुदा कर्ज़े प्राप्त करने के लिए सम्मानित किया गया। 

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को 60 दिनों की निर्धारित मियाद के अंदर सबसे अधिक मंज़ूरशुदा कर्ज़े देने और अधिक से अधिक आवेदनों का निपटारा करने के लिए सम्मानित किया गया है। निर्धारित समय की श्रेणी में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया और पंजाब ग्रामीण बैंक को भी सम्मानित किया गया है।

 बठिंडा और संगरूर के बाग़बानी विभाग के ज़िला इंचार्जों को जागरूकता पैदा करने और एआईएफ पोर्टल पर अधिक से अधिक आवेदन अपलोड करने के लिए किये अथक यत्नों के लिए सम्मानित किया गया है। पंजाब नेशनल बैंक को एआईएफ स्कीम अधीन प्रोजेक्टों की विभिन्नता को उत्साहित करने के लिए सम्मानित किया गया है।

मोगा ज़िला केंद्रीय सहकारी बैंक के मैनेजिंग डायरैक्टर और डीडीएम नाबार्ड को पंजाब में सबसे अधिक सहकारी सभाओं का समर्थन करने के लिए मान्यता दी गई है। उपरोक्त श्रेणियों के अलावा, अन्य स्कीमों जैसे कि पीएमएफएमई, एनएचएम, पीएमकेएसवाई और एमओएनआरई के नोडल अफसरों क्रमवार श्री रजनीश तुली, श्री एस. के. दुबे, श्रीमती शैलेंदर कौर, श्री एम. के. सिंह को उनके योगदान के लिए मान्यता दी गई है।

पंजाब सरकार द्वारा 17 मार्च 2023 को शुरू किये प्रोजैक्ट फेज़ अधीन फ़िरोज़पुर के प्रमुख किसानों को चिली कलस्टर के विकास में किये यत्नों के लिए सम्मानित किया गया। पंजाब विधानसभा के स्पीकर कुलतार सिंह संधवां ने पंजाब के किसानी और उद्यमी भाईचारे को और ज्यादा लाभ पहुँचाने के लिए मिलकर काम करने की तत्काल ज़रूरत ज़ाहिर की।

बाग़बानी मंत्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा ने सभी सहयोगियों के यत्नों की सराहना करते हुए कृषि विभिन्नता के एजंडे को आगे लेजाने और किसानों के लिए स्थायी तालमेल स्थापित करने के लिए बाग़बानी विभाग की वचनबद्धता का फिर से भरोसा दिलाया। इस अवसर पर बोलते हुए कृषि और किसान कल्याण मंत्री गुरमीत सिंह खुड्डियां ने बाग़बानी विभाग को एआईएफ स्कीम के अंतर्गत पिछले वित्तीय साल दौरान शानदार सफलता हासिल करने के लिए बधाई दी और मौजूदा वित्तीय साल में प्रगति की निकट निगरानी करने की इच्छा ज़ाहिर की।

अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस) के.ए.पी. सिन्हा (आईएएस) ने राज्य की नोडल एजेंसी बाग़बानी विभाग द्वारा किये गए यत्नों को मान्यता दी और वेल्यु चेन के अन्तर को दूर करने के लिए कलस्टर विकास पहुँच अपनाने का सुझाव दिया। प्रवक्ताओं ने अन्य स्कीमों के साथ तालमेल करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया जिससे पंजाब के लोगों के हितों के लिए केंद्रीय और राज्य स्तरीय स्कीमों का लाभ उठाया जा सके।

प्रोजैक्ट फेज़ (पंजाब हॉर्टिकल्चर एडवांसमेंट एंड सस्टेनेबल एंटरप्रीन्योरशिप) जैसी पहलकदमियों को शुरू करने के लिए राज्य सरकार द्वारा बहुत उत्साह प्राप्त हुआ जिससे पंजाब में अधिक से अधिक किसानों ने एआईएफ स्कीम का लाभ लिया और विशेष फ़सल कलस्टर बनाने में भी मदद की। 

प्रोजेक्ट फेज़ की शुरुआत नवंबर 2022 में राज्य स्तरीय एआईएफ कान्फ़्रेंस दौरान की गई थी, जहाँ कुलतार सिंह संधवां ने पंजाब के प्रगतिशील विकास में बाग़बानी क्षेत्र की अहम भूमिका की कल्पना की थी। बाग़बानी मंत्री श्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा और कृषि मंत्री श्री गुरमीत सिंह खुड्डियां के योग्य नेतृत्व में पंजाब फ़सल सम्बन्धी वेल्यु चेन में विभिन्नताओं और कृषि धंधों के क्षेत्र में नयी बुलन्दियां हासिल करने के लिए तैयार है।

इस ए.आई.एफ सम्मेलन में पंजाब विधानसभा के स्पीकर कुलतार सिंह संधवां, बाग़बानी मंत्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा, कृषि और किसान कल्याण और फूड प्रोसेसिंग मंत्री गुरमीत सिंह खुड्डियां सहित अधिकारी, के.ए.पी. सिन्हा, आई.ए.एस., अतिरिक्त मुख्य सचिव (ए.सी.एस.) कम वित्त कमिश्नर, बाग़बानी, अनुराग अग्रवाल, आई.ए.एस., अतिरिक्त मुख्य सचिव (ए.सी.एस.) कम वित्तीय कमिश्नर सहकारिता, अरशदीप सिंह थिंद, सचिव-बाग़बानी, करनैल सिंह, आई.ए.एस., एम.डी. पंजाब एग्रो इंडस्ट्रीज कार्पोरेशन, गिरीश दयालन, आई.ए.एस., एम.डी. मार्कफैड, डॉ. सुखपाल सिंह, चेयरमैन, पंजाब राज्य किसान आयोग और सेमूअल प्रवीन कुमार, संयुक्त सचिव, कृषि मंत्रालय, भारत सरकार शामिल थे। 

इसके अलावा इस समारोह दौरान बैंकिंग और अन्य कर्ज़ देने वाली संस्थाओं के राज्य स्तरीय नुमायंदे और निजी और ग़ैर-सरकारी क्षेत्र से जुड़े अधिकारी भी उपस्थित थे।

बॉक्सः

पंजाब में ए.आई.एफ. स्कीम की मुख्य झलक

61 फ़ीसदी से अधिक प्रोजैक्ट 25 लाख रुपए से कम की निवेश सीमा अधीन हैं

16 फ़ीसदी से अधिक प्रोजैक्ट 25 से 50 लाख रुपए की निवेश सीमा अधीन हैं

लगभग 5 फ़ीसदी प्रोजैक्ट 50 लाख से 1 करोड़ रुपए की निवेश सीमा अधीन हैं

लगभग 4 फ़ीसदी प्रोजैक्ट 1 करोड़ से 1.5 करोड़ रुपए की निवेश सीमा अधीन हैं

लगभग 4 फ़ीसदी प्रोजैक्ट 1.5 करोड़ से 2 करोड़ रुपए की निवेश सीमा अधीन हैं

लगभग 9 फ़ीसदी प्रोजेक्ट 2 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश हुआ है

 

Tags: Chetan Singh Jauramajra , Chetan Singh Jormajra , Chetan Singh Jouramajra , AAP , Aam Aadmi Party , Aam Aadmi Party Punjab , AAP Punjab , Government of Punjab , Punjab Government , Kultar Singh Sandhwan , Gurmeet Singh Khuddian

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD