Saturday, 20 July 2024

 

 

LATEST NEWS Significant step towards Waste Management in Haryana: Two Waste-to-Charcoal Plants to be set up in the State State-Level ceremony held to celebrate Maharaja Daksha Prajapati Jayanti in Hisar Para cricketer Aamir Hussain Lone meets Governor at Raj Bhavan DLSA plants saplings in jail complex "Punjab government fully prepared to deal with floods - Kuldeep Singh Dhaliwal S.A.S Nagar Location of the Help Desk Changed from Sub Registrar Office Entry to SDM Office Ved Vihar Public School Educational Society donates over Rs. 1.5 Crore towards Mukhya Mantri Sukh Aashray Kosh Cricketer Hardik Pandya Net Worth, Bio, Career, Lifestyle, And Family 2024 | 5 Dariya News Brig. Saket Singh Call on Lt Governor Manoj Sinha Maushumi Chakravarty Call Lt Governor Manoj Sinha SANJY-2024: Nukkad Natak Show raises awareness about Safe Sanitation practices, Stop Diarrhea Campaign at Nunwan Basecamp Cong and allies systematically denigrating security forces : Devender Singh Rana DC Rajouri Om Prakash Bhagat reviews functioning of Social Welfare & ICDS Department Muharram-2024: DC Bandipora Shakeel-ul-Rehman Rather participates in Mourning Procession at Sumbal DC Srinagar Dr Bilal Mohi-Ud-Din Bhat chairs meeting on Swachta Green Leaf Rating DC Srinagar Dr. Bilal Mohi-Ud-Din Bhat chairs Annual General Body meeting of Zila Sanik Welfare Board Union Joint Secretary Rajender Kumar reviews Jal Shakti Abhiyan: Catch the Rain in Jammu Chief Secretary Atal Dulloo reviews progress J&K EPFO transition to Central EPFO DC Srinagar Dr Bilal Mohi-Ud-Din Bhat conducts extensive tour of City; inspects progress on various developmental projects Director Agriculture reviews Physical/ Financial achievements under HADP, CAPEX & CSS implementation DC Bandipora Shakeel-ul-Rehman Rather visits Ziyarat Sharief Hazrat Nanga Baji Sahib, Malangam

 

Thousands of dauntless Kashmiris celebrate 10th International Day of Yoga with PM

Enthusiasm of local youth for Yoga won over the morning spell of rain

Narendra Modi, Modi, BJP, Bharatiya Janata Party, Prime Minister of India, Prime Minister, Narendra Damodardas Modi, Srinagar, Kashmir, Jammu And Kashmir, Jammu & Kashmir, 10th International Yoga Day, International Yoga Day, Yoga Day
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

Srinagar , 21 Jun 2024

Negotiating valiantly the odds of weather, thousands of spirited Kashmiris, motivated by the energising words of Prime Minister Shri Narendra Modi, celebrated the 10th International Day of Yoga, on the rain drenched ground of Sher-i-Kashmir International Convention Centre (SKICC) in Srinagar today. 

Applauding the spirit of Kashmiris, Prime Minister emphasised, “I also saw scores of girls covering themselves with the Yoga mat and they remained on the ground. This undaunted spirit of theirs and the love for Yoga is quite appreciable.”

Prime Minister expressed his gratitude for being present in Jammu & Kashmir, the land of Yog and Sadhna. He stated that the atmosphere, energy, and experience from Yoga could be felt in Jammu & Kashmir today. “Participation of 50-60 thousand people of Jammu and Kashmir with Yoga today on this occasion is a remarkable feat in itself,” he said. 

The PM reminded that the theme for this year, "Yoga for Self and Society," highlights the significant contribution of Yoga in enhancing personal wellness and fostering social cohesion. He conveyed his best wishes on the International Day of Yoga to all citizens and those practising Yoga worldwide. 

PM took part in the Common Yoga Protocol (CYP) session, emphasising the significance of yoga in fostering physical, mental, and spiritual growth. In commemoration of the 10th anniversary of International Yoga Day, Prime Minister highlighted that a remarkable 177 countries supported India's proposal in the UN. 

He also mentioned notable achievements in previous International Day of Yoga events, such as 35,000 individuals practising yoga on Kartavya Path (earlier known as Rajpath in Delhi) in 2015, and over 130 countries participating in the yoga event led by the Prime Minister at the UN Headquarters last year. 

Additionally, he expressed his delight that more than 100 institutes in India and 10 major foreign institutes have been recognized by the Yoga Certification Board established by the Ministry of Ayush. The celebration led by the Prime Minister was also attended by Lieutenant Governor of the Union Territory of Jammu and Kashmir Shri Manoj Sinha, Union Minister of State for Ayush (Independent Charge) and Minister of State in the Ministry of Health and Family Welfare Shri Prataprao Jadhav, along with other dignitaries. 

Lieutenant Governor Shri Manoj Sinha expressed his gratitude to the Prime Minister for selecting Jammu and Kashmir, particularly Srinagar, as the venue for the 10th International Yoga Day main event. He mentioned that this event has brought a new perspective to the development journey of the Union Territory.

The Lieutenant Governor commended PM’s efforts in promoting Yoga on an international level, stating that Yoga embodies the spirit of Vasudhaiva Kutumbakam. He emphasised the significance of this year's theme, highlighting the importance of individuals protecting and supporting each other. He quoted 'Puman Pumansam Paripatu Vishwatah' and 'Vyashem Devahitam Yadayu' to stress the importance of charity and unity among humanity. 

Referring to Maharishi Patanjali's teachings, he emphasised on the unity of body and mind in Yoga practice. He concluded by acknowledging the global impact of PM’s vision of 'One Earth One Health' and expressed his appreciation for the Prime Minister's efforts in restoring the ancient glory of Jammu and Kashmir over the past decade.

In his welcome address, Union Ayush Minister Shri Prataprao Jadhav extended his congratulations to the citizens on International Yoga Day and expressed his delight in addressing the Yoga enthusiasts in Srinagar. “The Yoga Yatra, initiated in 2015 under the leadership of the Prime Minister, has been progressing with ever increasing enthusiasm without any interruptions,” he observed. 

He said that the theme for this year, "Yoga for Self and Society," effectively showcases the transformative influence of Yoga. Yoga serves as a unifying force across all segments of society, injecting vitality into the community. Not only does Yoga contribute to our physical, mental, and spiritual well-being, but also it fosters unity and welfare within society. 

Furthermore, Yoga aids in boosting our confidence and morale. The Minister expressed his joy regarding the new initiatives launched on Yoga Day 2024, labelling it as a distinctive global occasion. He encouraged everyone to incorporate yoga into their daily routines, emphasising the importance of integrating yoga into our lives for personal and societal benefits.

The entire nation celebrated this year's ceremony with immense joy and enthusiasm. This year, the International Day of Yoga (IDY) is hosting various events, including the "Yoga for Space" initiative, which is being supported by the Indian Space Research Organization (ISRO). 

The program, which focuses on the practice of Common Yoga Protocol (CYP), was conducted simultaneously at all ISRO centres and units. Additionally, the team involved in the Gaganyaan project actively took part in the program. Various embassies and Indian missions around the world also celebrated IDY, highlighting the extensive reach of yoga.

The CCRYN, under the Ministry of Ayush, in collaboration with PGIMER, Chandigarh, has been recognized by the Asia Book of Records for involving the highest number of healthcare professionals performing Common Yoga Protocol in IDY 2024.

The Ministry of Ayush in Delhi has collaborated with NDMC, ASI, and DDA to organise large-scale yoga events. In order to engage a wider audience, the Ministry of Ayush has introduced various competitions and activities, such as the "Yoga with Family" Video Contest in partnership with the Indian Council for Cultural Relations (ICCR) on the MyGov and MyBharat platforms. This contest aims to inspire families worldwide to demonstrate the joy of yoga and strengthen familial bonds. Submissions for this contest must be made by June 30, 2024.

Participants in the #YogaWithFamily Video Contest have the opportunity to win exciting prizes while promoting the message of health and unity through yoga. Notable hashtags for the event include #InternationalDayofYoga2024, #YogaForSelfAndSociety, #YogaWithFamily, and #IDY2024. Individuals from all corners of the globe are encouraged to utilise these hashtags and join in this global celebration of yoga.

PM himself clicked selfie with Kashmiri Yoga Enthusiasts

After finishing his address, the PM straightaway went off the stage to meet the rain drenched Yoga enthused Kashmiris. Block after block, he interacted with young boys and girls and cheered them up, taking selfies himself, chatting with them thus making their day!

The event at SKICC began with a mixed mood of weather and human spirit today. Moments before the start of the programme, rain poured down on SKICC ground, trying to dampen the spirits of the Yoga enthusiasts of Srinagar. The crowd declined to move away and stuck to its ground. The Yoga mats were used as head cover and the long green stretches of floor mats were used as mass-umbrellas. 

हजारों निर्भीक कश्मीर वासियों ने श्रीनगर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ 10वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया

सुबह की बारिश पर योग के लिए स्थानीय युवाओं का उत्साह भारी पड़ा

श्रीनगर 

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के उत्साहवर्धक शब्दों से प्रेरित होकर मौसम की प्रतिकूल परिस्थितियों का निर्भीकता से सामना करते हुए हजारों उत्साही कश्मीर वासियों ने आज श्रीनगर में शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर (एसकेआईसीसी) के बारिश से भीगे मैदान पर 10वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया। कश्मीर वासियों के उत्साह की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा, "मैंने देखा कि बहुत सी लड़कियां योग मैट से खुद को ढक रही थीं और वे ज़मीन पर ही रहीं। उनका यह निडर उत्साह और योग के प्रति प्रेम प्रशंसनीय है।"

प्रधानमंत्री ने योग और साधना की भूमि जम्मू-कश्मीर में उपस्थित होने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि आज जम्मू-कश्मीर में योग के माहौल, ऊर्जा और अनुभव को महसूस किया जा सकता है। उन्होंने कहा, "आज इस अवसर पर जम्मू-कश्मीर के 50-60 हजार लोगों का योग में भाग लेना अपने आप में एक उल्लेखनीय उपलब्धि है।" 

प्रधानमंत्री ने याद दिलाया कि इस वर्ष की थीम, "स्वयं और समाज के लिए योग" है, जो  व्यक्तिगत स्वास्थ्य को बढ़ाने और सामाजिक सामंजस्य को प्रोत्साहित करने में योग के महत्वपूर्ण योगदान पर प्रकाश डालती है। उन्होंने सभी नागरिकों और विश्व भर में योगाभ्यास करने वालों को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं दीं। प्रधानमंत्री ने कॉमन योग प्रोटोकॉल (सीवाईपी) सत्र में भाग लिया, जिसमें शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक विकास को बढ़ावा देने में योग के महत्व पर जोर दिया गया।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की 10वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री ने इस बात पर प्रकाश डाला कि संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रस्ताव का 177 देशों ने समर्थन किया था। उन्होंने पिछले अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रमों में उल्लेखनीय उपलब्धियों का भी जिक्र किया, जैसे 2015 में कर्तव्य पथ (जिसे पहले दिल्ली में राजपथ के नाम से जाना जाता था) पर 35,000 लोगों ने योग का अभ्यास किया था, और पिछले साल संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में प्रधानमंत्री के नेतृत्व में योग कार्यक्रम में 130 से अधिक देशों ने भाग लिया था। 

इसके अतिरिक्त, उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि आयुष मंत्रालय द्वारा स्थापित योग प्रमाणन बोर्ड द्वारा भारत में 100 से अधिक संस्थानों और 10 प्रमुख विदेशी संस्थानों को मान्यता दी गई है। प्रधानमंत्री की अगुआई में आयोजित इस समारोह में केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल श्री मनोज सिन्हा, केंद्रीय आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री श्री प्रतापराव जाधव सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी शामिल हुए। 

उपराज्यपाल श्री मनोज सिन्हा ने 10वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मुख्य कार्यक्रम के लिए जम्मू-कश्मीर, विशेष रूप से श्रीनगर को चुनने के लिए प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि इस आयोजन ने केंद्र शासित प्रदेश की विकास यात्रा को एक नया आयाम दिया है। उपराज्यपाल ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर योग को बढ़ावा देने में प्रधानमंत्री के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि योग वसुधैव कुटुम्बकम की भावना का प्रतीक है। 

उन्होंने इस वर्ष की थीम के महत्व पर जोर दिया, जिसमें व्यक्तियों द्वारा एक-दूसरे की रक्षा और सहायता करने के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने 'पुमान् पुमांसं परिपातु विश्वतः' और 'व्याशेम देवहितं यदायु:' का उद्धरण दिया। महर्षि पतंजलि की शिक्षाओं का उल्लेख करते हुए उन्होंने योगाभ्यास में तन और मन की एकता पर जोर दिया। उन्होंने प्रधानमंत्री के 'एक पृथ्वी एक स्वास्थ्य' के दृष्टिकोण के वैश्विक प्रभाव का उल्लेख करते हुए अपने वक्तव्य पूरा किया और पिछले एक दशक में जम्मू-कश्मीर के प्राचीन गौरव को बहाल करने में प्रधानमंत्री के प्रयासों की सराहना की।

अपने स्वागत भाषण में केंद्रीय आयुष मंत्री श्री प्रतापराव जाधव ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर नागरिकों को बधाई दी और श्रीनगर में योग के प्रति उत्साही लोगों को संबोधित करते हुए प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री के नेतृत्व में 2015 में शुरू की गई योग यात्रा बिना किसी रुकावट के उत्तरोत्तर उत्साह के साथ आगे बढ़ रही है।" उन्होंने कहा कि इस वर्ष की थीम, "स्वयं और समाज के लिए योग" योग के परिवर्तनकारी प्रभाव को प्रभावी ढंग से प्रदर्शित करती है। 

योग समाज के सभी वर्गों को एकजुट करने वाली शक्ति के रूप में कार्य करता है, जो समुदाय में जीवन शक्ति का संचार करता है। योग न केवल हमारे शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक कल्याण में योगदान देता है, बल्कि यह समाज के भीतर एकता और कल्याण को भी बढ़ावा देता है। इसके अलावा, योग हमारे आत्मविश्वास और मनोबल को बढ़ाने में सहायता करता है। 

मंत्री महोदय ने योग दिवस 2024 पर शुरू की गई नई पहलों के बारे में अपनी प्रसन्नता व्यक्त की और इसे एक विशिष्ट वैश्विक अवसर बताया। उन्होंने सभी को योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करने के लिए प्रोत्साहित किया और व्यक्तिगत व सामाजिक लाभों के लिए योग को अपने जीवन में शामिल करने के महत्व पर जोर दिया।

पूरे देश ने इस वर्ष के समारोह को अपार हर्ष और उत्साह के साथ मनाया। इस वर्ष, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (आईडीवाई) पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं, जिनमें "अंतरिक्ष के लिए योग" पहल भी शामिल है, जिसे भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) समर्थन दे रहा है। कॉमन योग प्रोटोकॉल (सीवाईपी) के अभ्यास पर केंद्रित यह कार्यक्रम सभी इसरो केंद्रों और इकाइयों में एक साथ आयोजित किया गया। इसके अतिरिक्त, गगनयान परियोजना में शामिल टीम ने भी कार्यक्रम में सक्रिय रूप से भाग लिया।

विश्व भर में विभिन्न दूतावासों और भारतीय मिशनों ने भी अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया और योग की व्यापक पहुंच पर प्रकाश डाला। आयुष मंत्रालय के तत्वावधान में सीसीआरवाईएन को पीजीआईएमईआर, चंडीगढ़ के सहयोग से अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2024 में कॉमन योग प्रोटोकॉल का प्रदर्शन करने वाले सबसे अधिक स्वास्थ्य प्रोफेशनलों को शामिल करने के लिए एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स द्वारा मान्यता दी गई है।

दिल्ली में आयुष मंत्रालय ने बड़े पैमाने पर योग कार्यक्रम आयोजित करने के लिए एनडीएमसी, एएसआई और डीडीए के साथ मिलकर काम किया है। अधिक से अधिक लोगों को जोड़ने के लिए, आयुष मंत्रालय ने ‘माय-गव’ और ‘माय-भारत’ प्लेटफ़ॉर्म पर भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (आईसीसीआर) के साथ साझेदारी में "परिवार के साथ योग" वीडियो प्रतियोगिता जैसी विभिन्न प्रतियोगिताएं और गतिविधियां शुरू की हैं। इस प्रतियोगिता का उद्देश्य विश्व भर के परिवारों को योग के आनंद को प्रदर्शित करने और पारिवारिक बंधनों को मजबूत करने के लिए प्रेरित करना है। इस प्रतियोगिता के लिए आवेदन 30 जून, 2024 तक किए जाने चाहिए।

#YogaWithFamily वीडियो प्रतियोगिता में भाग लेने वालों को योग के माध्यम से स्वास्थ्य और एकता के संदेश को बढ़ावा देने के साथ-साथ रोमांचक पुरस्कार जीतने का अवसर मिलता है। इस आयोजन के लिए उल्लेखनीय हैशटैग में #InternationalDayofYoga2024, #YogaForSelfAndSociety, #YogaWithFamily और #IDY2024 शामिल हैं। विश्व के कोने-कोने से लोगों को इन हैशटैग का उपयोग करने और योग के इस वैश्विक उत्सव में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

प्रधानमंत्री ने खुद कश्मीरी योग प्रेमियों के साथ सेल्फी ली

अपना संबोधन समाप्त करने के बाद प्रधानमंत्री सीधे मंच से उतरकर बारिश में भीगे योग के प्रति उत्साहित कश्मीर वासियों से मिलने चले गए। अलग-अलग समूहों में उन्होंने युवा लड़के-लड़कियों से बातचीत की और उनका उत्साहवर्धन किया, खुद सेल्फी ली, उनसे बातचीत की - इस तरह युवाओं का दिन सफल हो गया!

एसकेआईसीसी में आज कार्यक्रम की शुरुआत मौसम और उत्साह के मिले-जुले मिजाज के साथ हुई। कार्यक्रम शुरू होने से कुछ क्षण पहले, एसकेआईसीसी मैदान पर बारिश होने लगी, जिससे श्रीनगर के योग उत्साही लोगों का उत्साह ठंडा पड़ गया। भीड़ पीछे नहीं हटी और अपने स्थान पर डटी रही। योग मैट का इस्तेमाल सिर ढकने के लिए किया गया और फर्श पर बिछी लंबी हरी मैट का इस्तेमाल सामूहिक छतरियों के रूप में किया गया।

 

Tags: Narendra Modi , Modi , BJP , Bharatiya Janata Party , Prime Minister of India , Prime Minister , Narendra Damodardas Modi , Srinagar , Kashmir , Jammu And Kashmir , Jammu & Kashmir , 10th International Yoga Day , International Yoga Day , Yoga Day

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD