Thursday, 23 May 2024

 

 

खास खबरें केंद्रीय मंत्री होने के बावजूद अनुराग ठाकुर में काम करवाने की क्षमता नहीं : सुखविंदर सिंह सुक्खू बठिंडा मिशन पर मान- हलके के मुद्दों पर लोगों से की बात, गिनाए अपने दो साल के काम, बादलों पर बोला तीखा सियासी हमला ऐसा पंजाब बनाएंगे कि नौकरी के लिए बाहर न जाना पड़े : विजय इंदर सिंगला मोती महल वालों को मोदी भी नहीं लगा पाएंगे बेड़ा पार:एन.के.शर्मा पंजाब और सिखों के सम्मान के लिए मोदी सरकार वचनबद्ध : तरुण चुघ बीजेपी का 400 पार का लक्ष्य पूरा होगा : डा सुभाष शर्मा कांग्रेस की राज्य इकाई ने देश के 60 साल बर्बाद कर दिए : डा. सुभाष शर्मा मीत हेयर ने युवाओं को भड़काने वाले विरोधियों को आड़े हाथों लिया राजा वड़िंग ने चुनाव में भाजपा से बदला लेने का आह्वान किया; अहम कृषि सुधारों का वादा किया लोकसभा चुनाव हिंदुस्तान के भविष्य का चुनाव है क्योंकि पहली बार किसी प्रधानमंत्री ने 2047 तक विकसित भारत बनाने की बात की है - पूर्व गृह मंत्री अनिल विज एमएसपी और बाढ़ प्रभावित फसलों के मुआवजे पर मान सरकार ने वादाखिलाफी की : डॉ. सुभाष शर्मा देश में दस साल से चल रहा कार्पोरेट घराने का राज : गुरजीत सिंह औजला अमृतसर का बहादुर, मेहनती, ईमानदार और किसान का बेटा है औजला : सचिन पायलट मुख्यमंत्री भगवंत मान ने बठिंडा से आप उम्मीदवार गुरमीत खुड्डियां के लिए किया प्रचार, बुढलाडा में की जनसभा, कहा - यहां से मेरा काफी पुराना रिश्ता है खनन माफिया ने शुक्र व पुंग खड्ड में क्रशर लगाकर डकार ली खनिज संपदा : मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू सांप्रदायिक,घोर जातिवादी व परिवारवादी है कांग्रेस : कंगना रनौत जिला निर्वाचन अधिकारी कुलवंत सिंह ने मतदाता जागरूकता वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया मतदान केंद्रों पर हो व्हील चेयर की व्यवस्था - मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुराग अग्रवाल सीजीसी लांडरां की आईक्यूएसी ने एक्रेडिटेशन के लिए आउटकम-बेस्ड एजुकेशन प्रोग्राम पर शार्ट टर्म कोर्स का आयोजन किया भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में गांव संभालकी में भाजपा ने मांगे वोट मतदाता संकल्प हस्ताक्षर अभियान के अंतर्गत जिले के मतदाताओं को वोटिंग के लिए किया जागरुक

 

'यह MoU संस्थान का झंडा ऊंचा रखने में मील का पत्थर साबित होगा': प्रोफेसर (डॉ.) बलदेव सेतिया, निदेशक पीईसी

Punjab Engineering College,Punjab Engineering College Chandigarh,PEC Chandigarh
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

चंडीगढ़ , 10 Apr 2024

पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज (मानित विश्वविद्यालय), चंडीगढ़ ने आज 10 अप्रैल, 2024 को 10-13 अप्रैल, 2024 तक विशेष तकनीकी कार्यक्रम "टेकड्रोइट: इनोवेशन इन टेक" का उद्घाटन किया। यह आईईईई, एसएमई और रोबोटिक्स सोसाइटी का सहयोगात्मक कार्यक्रम संस्थान के छात्रों के भीतर इनोवेशन और तकनीकी उत्कृष्टता को प्रज्वलित करने का काम करेगा। 

इस समारोह के मुख्य अतिथि डॉ. सत्या गुप्ता (अध्यक्ष, वीएलएसआई सोसाइटी ऑफ इंडिया), साथ में पीईसी के निदेशक प्रो. (डॉ.) बलदेव सेतिया जी, डॉ. डी. आर. प्रजापति (डीएसए), प्रो. अरुण कुमार सिंह (प्रमुख, SRIC) और डॉ. ज्योति केडिया (प्रभारी प्रोफेसर, तकनीकी सोसायटी) ने अपनी गरिमामयी उपस्थिति से इस अवसर की शोभा बढ़ाई। वीएलएसआई सोसाइटी ऑफ इंडिया (वीएसआई) और पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज (पीईसी) के बीच एक MoU पर भी आज हस्ताक्षर किए गए।

संस्थान के विद्यार्थियों द्वारा बनाये गये इन्नोवेटिव शमा प्रज्ज्वलित करने के बाद पीईसी के गौरवशाली इतिहास और विरासत को प्रदर्शित करने वाली एक एवी डॉक्यूमेंट्री भी दिखाई गई। इस अवसर पर सभी संकाय सदस्य एवं विद्यार्थी उपस्थित थे। प्रारंभ में, डॉ. ज्योति केडिया ने कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी और इस टेकड्रोइट के तहत आयोजित होने वाले विभिन्न सत्रों और कार्यक्रमों पर प्रकाश डाला। उन्होंने इस आयोजन के लिए सम्मानित अतिथियों, प्रतिभागियों और छात्रों के प्रति भी आभार व्यक्त किया।

प्रो अरुण कुमार सिंह ने इलेक्ट्रॉनिक्स एवं संचार इंजीनियरिंग के कार्यक्रमों एवं गतिविधियों पर प्रकाश डाला. उन्होंने विभिन्न प्रकार की अनुसंधान सुविधाओं, सेमीकंडक्टर अनुसंधान केंद्र, अनुसंधान उपकरण, 5जी लैब और भारत के सेमीकंडक्टर मिशन में भाग लेने पर प्रकाश डाला। उन्होंने संस्थान के भीतर होने वाली शोध गतिविधियों के बारे में भी बात की।

आधिकारिक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर करने के बाद, पीईसी के सम्मानित निदेशक, प्रोफेसर (डॉ.) बलदेव सेतिया जी ने मुख्य अतिथि डॉ. गुप्ता और पीईसी के प्रांगण में आने के लिए सभी प्रतिभागियों के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने कार्यक्रम के आयोजकों की भी सराहना की और एक अलग तरह के लैंप के आविष्कार के लिए छात्रों की प्रशंसा की। 

उन्होंने कहा कि ईसीई विभाग अनुसंधान के क्षेत्र में हमेशा आगे रहा है और देश के विभिन्न रिसर्च मिशनों के अनुपालन में काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि, 'यह एमओयू संस्थान के ध्वज को ऊंचा रखने में मील का पत्थर साबित होगा।' अंत में, उन्होंने प्रयुक्त चिप्स के रूप में ट्रांजिस्टर के काम के बारे में भी जानकारी दी, जो वीएलएसआई प्रयोगशालाओं के तहत बनाए जाते हैं।

मुख्य अतिथि डॉ. सत्या गुप्ता ने इस एमओयू और साझेदारी के लिए आभार और उत्साह व्यक्त किया। उन्होंने वीएलएसआई, चिप्स और ट्रांजिस्टर की लोकप्रियता और बढ़ते हुए ज्ञान के बारे में भी बात की। उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक्स और वीएलएसआई की गतिशीलता और भविष्य पर भी प्रकाश डाला। 

अंत में, उन्होंने इस तथ्य पर जोर दिया कि ये आयोजन दोनों संगठनों के लिए अनुसंधान गतिविधियों को बढ़ावा देंगे। इसके बाद, डॉ गुप्ता ने ''मेकिंग इंडिया एलेक्ट्रोनिक्स एंड सेमीकंडक्टर प्रोडक्ट नेशन'' विषय पर एक विशेष एक्सपर्ट टॉक एंड इंटरैक्टिव सेशन भी दिया। कार्यक्रम धन्यवाद ज्ञापन के साथ समाप्त हुआ।

'This MoU will become a milestone in keeping the flag of the institute high'': Prof. (Dr.) Baldev Setia, Director PEC

Chandigarh

Punjab Engineering College (Deemed to be University), Chandigarh today on 10th April, 2024 inaugurated the special technical event "Techadroit : Innovation in Tech" from 10th-13th April, 2024 . This collaborative Event by IEEE, SME and Robotics Society promises to ignite the innovation and technical excellence within students of the institute.

The chief guest of this ceremony Dr. Satya Gupta (President, VLSI Society of India), along with Director of PEC, Prof. (Dr.) Baldev Setia, Dr. D. R. Prajapati (DSA), Prof. Arun Kumar Singh (Head, SRIC) and Dr. Jyoti Kedia (Professor-in-Charge, Technical Societies) graced the occasion with their esteemed presence. An MoU between the VLSI Society of India (VSI) and Punjab Engineering College (PEC) was also signed today.   

After enlightening an innovative auspicious lamp made by the students of the institute, an AV Documentary showcasing the glorious history and legacy of PEC was also shown. All the members of faculty and students were present at this occasion. Initially, Dr. Jyoti Kedia, briefed about the event and shed light on the various sessions & programs to be held under this Techadroit. 

She also expressed her gratitude towards esteemed guests, participants and students for this event. Prof. Arun Kumar Singh, shed light on the programs and activities of Electronics and Communication Engineering. 

He shed light on the various kinds of Research Facilities, Semiconductor Research Centre, research equipment, 5G lab, and participating in India's Semiconductor Mission. He also talked about the research activities happening within the institute. 

After signing the Official MoU, esteemed Director of PEC, Prof. (Dr.) Baldev Setia, expressed his gratitude towards the chief guest Dr. Gupta and all the participants at the portals of PEC. He also complimented the organisers of the events and praised the students for their innovative a different kind of lamp. 

He said that the ECE department has always been ahead in the field of research and working in compliance with the various missions of the country. He said that, 'This MoU will become a milestone in keeping the flag of the institute high'. Lastly, he also briefed about the working of transistors in the form of chips used which are made under the VLSI labs.

Chief Guest, Dr. Satya Gupta, expressed his gratitude and excitement for this MoU and partnership. He also talked about the popularity and increased knowledge of VLSI, Chips and Transistors. He also shed light on the dynamics and future of electronics and VLSI. Lastly, he emphasized on the fact that these events would foster research activities for both the organisations. 

An Interactive Expert session was also organized on "Making India electronics and Semiconductor Product Nation". The event ended with a vote of thanks. 

ਇਹ ਸਮਝੌਤਾ ਸੰਸਥਾ ਦੇ ਝੰਡੇ ਨੂੰ ਬੁਲੰਦ ਰੱਖਣ ਲਈ ਮੀਲ ਦਾ ਪੱਥਰ ਬਣੇਗਾ': ਪ੍ਰੋ.(ਡਾ.) ਬਲਦੇਵ ਸੇਤੀਆ, ਡਾਇਰੈਕਟਰ ਪੀ.ਈ.ਸੀ.

ਚੰਡੀਗੜ੍ਹ

ਪੰਜਾਬ ਇੰਜਨੀਅਰਿੰਗ ਕਾਲਜ (ਡੀਮਡ ਟੂ ਬੀ ਯੂਨੀਵਰਸਿਟੀ), ਚੰਡੀਗੜ੍ਹ ਨੇ ਅੱਜ 10 ਅਪ੍ਰੈਲ, 2024 ਨੂੰ 10 ਤੋਂ 13 ਅਪ੍ਰੈਲ, 2024 ਤੱਕ ਵਿਸ਼ੇਸ਼ ਤਕਨੀਕੀ ਈਵੈਂਟ "Techadroit: Innovation in Tech" ਦਾ ਉਦਘਾਟਨ ਕੀਤਾ। ਇਹ IEEE, SME ਅਤੇ ਰੋਬੋਟਿਕਸ ਸੁਸਾਇਟੀ ਦੁਆਰਾ ਸਹਿਯੋਗੀ ਸਮਾਗਮ ਸੰਸਥਾ ਦੇ ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ ਵਿੱਚ ਨਵੀਨਤਾ ਅਤੇ ਤਕਨੀਕੀ ਉੱਤਮਤਾ ਨੂੰ ਜਗਾਉਣ ਦਾ ਵਾਅਦਾ ਕਰਦਾ ਹੈ। 

ਇਸ ਸਮਾਰੋਹ ਦੇ ਮੁੱਖ ਮਹਿਮਾਨ ਡਾ: ਸੱਤਿਆ ਗੁਪਤਾ (ਪ੍ਰਧਾਨ, ਵੀ.ਐਲ.ਐਸ.ਆਈ. ਸੋਸਾਇਟੀ ਆਫ਼ ਇੰਡੀਆ) ਦੇ ਨਾਲ ਪੀ.ਈ.ਸੀ ਦੇ ਡਾਇਰੈਕਟਰ ਪ੍ਰੋ.(ਡਾ.) ਬਲਦੇਵ ਸੇਤੀਆ, ਡਾ.ਡੀ.ਆਰ.ਪ੍ਰਜਾਪਤੀ (ਡੀ.ਐਸ.ਏ.), ਪ੍ਰੋ: ਅਰੁਣ ਕੁਮਾਰ ਸਿੰਘ (ਮੁਖੀ, ਐਸ.ਆਰ.ਆਈ.ਸੀ.) ਅਤੇ ਡਾ. ਜੋਤੀ ਕੇਡੀਆ (ਪ੍ਰੋਫ਼ੈਸਰ-ਇਨ-ਚਾਰਜ, ਟੈਕਨੀਕਲ ਸੋਸਾਇਟੀਜ਼) ਨੇ ਆਪਣੀ ਸਨਮਾਨਯੋਗ ਹਾਜ਼ਰੀ ਨਾਲ ਇਸ ਮੌਕੇ ਦੀ ਸ਼ੋਭਾ ਵਧਾਈ। ਵੀਐਲਐਸਆਈ ਸੋਸਾਇਟੀ ਆਫ਼ ਇੰਡੀਆ (ਵੀਐਸਆਈ) ਅਤੇ ਪੰਜਾਬ ਇੰਜਨੀਅਰਿੰਗ ਕਾਲਜ (ਪੀਈਸੀ) ਦਰਮਿਆਨ ਅੱਜ ਇੱਕ ਸਮਝੌਤਾ ਵੀ ਸਾਈਨ ਕੀਤਾ ਗਿਆ।

ਸੰਸਥਾ ਦੇ ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ ਦੁਆਰਾ ਬਣਾਏ ਗਏ ਇੱਕ ਨਵੀਨਤਾਕਾਰੀ ਸ਼ੁਭ ਦੀਪ ਨੂੰ ਰੌਸ਼ਨ ਕਰਨ ਤੋਂ ਬਾਅਦ, ਪੀਈਸੀ ਦੇ ਸ਼ਾਨਦਾਰ ਇਤਿਹਾਸ ਅਤੇ ਵਿਰਾਸਤ ਨੂੰ ਦਰਸਾਉਂਦੀ ਇੱਕ ਏਵੀ ਡਾਕੂਮੈਂਟਰੀ ਵੀ ਦਿਖਾਈ ਗਈ। ਇਸ ਮੌਕੇ ਸਮੂਹ ਫੈਕਲਟੀ ਮੈਂਬਰ ਅਤੇ ਵਿਦਿਆਰਥੀ ਹਾਜ਼ਰ ਸਨ। ਸ਼ੁਰੂ ਵਿੱਚ, ਡਾ. ਜੋਤੀ ਕੇਡੀਆ ਨੇ ਇਸ ਸਮਾਗਮ ਬਾਰੇ ਜਾਣਕਾਰੀ ਦਿੱਤੀ ਅਤੇ ਇਸ ਟੈਕਨਾਡ੍ਰਾਇਟ ਅਧੀਨ ਹੋਣ ਵਾਲੇ ਵੱਖ-ਵੱਖ ਸੈਸ਼ਨਾਂ ਅਤੇ ਪ੍ਰੋਗਰਾਮਾਂ ਬਾਰੇ ਚਾਨਣਾ ਪਾਇਆ। 

ਉਨ੍ਹਾਂ ਇਸ ਸਮਾਗਮ ਲਈ ਆਏ ਮਹਿਮਾਨਾਂ, ਭਾਗੀਦਾਰਾਂ ਅਤੇ ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ ਦਾ ਧੰਨਵਾਦ ਵੀ ਕੀਤਾ। ਪ੍ਰੋ: ਅਰੁਣ ਕੁਮਾਰ ਸਿੰਘ ਨੇ ਇਲੈਕਟ੍ਰੋਨਿਕਸ ਅਤੇ ਕਮਿਊਨੀਕੇਸ਼ਨ ਇੰਜੀਨੀਅਰਿੰਗ ਦੇ ਪ੍ਰੋਗਰਾਮਾਂ ਅਤੇ ਗਤੀਵਿਧੀਆਂ 'ਤੇ ਚਾਨਣਾ ਪਾਇਆ। ਉਸਨੇ ਵੱਖ-ਵੱਖ ਕਿਸਮਾਂ ਦੀਆਂ ਖੋਜ ਸਹੂਲਤਾਂ, ਸੈਮੀਕੰਡਕਟਰ ਖੋਜ ਕੇਂਦਰ, ਖੋਜ ਉਪਕਰਨ, 5ਜੀ ਲੈਬ, ਅਤੇ ਭਾਰਤ ਦੇ ਸੈਮੀਕੰਡਕਟਰ ਮਿਸ਼ਨ ਵਿੱਚ ਭਾਗ ਲੈਣ ਬਾਰੇ ਚਾਨਣਾ ਪਾਇਆ। 

ਉਨ੍ਹਾਂ ਸੰਸਥਾ ਅੰਦਰ ਹੋ ਰਹੀਆਂ ਖੋਜ ਗਤੀਵਿਧੀਆਂ ਬਾਰੇ ਵੀ ਦੱਸਿਆ। ਅਧਿਕਾਰਤ ਸਹਿਮਤੀ ਪੱਤਰ 'ਤੇ ਦਸਤਖਤ ਕਰਨ ਤੋਂ ਬਾਅਦ, ਪੀਈਸੀ ਦੇ ਮਾਣਯੋਗ ਡਾਇਰੈਕਟਰ, ਪ੍ਰੋ. (ਡਾ.) ਬਲਦੇਵ ਸੇਤੀਆ ਨੇ ਪੀਈਸੀ ਦੇ ਪੋਰਟਲ 'ਤੇ ਮੁੱਖ ਮਹਿਮਾਨ ਡਾ. ਗੁਪਤਾ ਅਤੇ ਸਾਰੇ ਭਾਗੀਦਾਰਾਂ ਦਾ ਧੰਨਵਾਦ ਕੀਤਾ। ਉਨ੍ਹਾਂ ਨੇ ਸਮਾਗਮਾਂ ਦੇ ਪ੍ਰਬੰਧਕਾਂ ਦੀ ਵੀ ਸ਼ਲਾਘਾ ਕੀਤੀ ਅਤੇ ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ ਦੀ ਇੱਕ ਵੱਖਰੀ ਕਿਸਮ ਦੇ ਲੈਂਪ ਲਈ ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੀ ਪ੍ਰਸ਼ੰਸਾ ਕੀਤੀ। 

ਉਨ੍ਹਾਂ ਕਿਹਾ ਕਿ ਈਸੀਈ ਵਿਭਾਗ ਖੋਜ ਦੇ ਖੇਤਰ ਵਿੱਚ ਹਮੇਸ਼ਾ ਅੱਗੇ ਰਿਹਾ ਹੈ ਅਤੇ ਦੇਸ਼ ਦੇ ਵੱਖ-ਵੱਖ ਮਿਸ਼ਨਾਂ ਦੀ ਪਾਲਣਾ ਵਿੱਚ ਕੰਮ ਕਰਦਾ ਰਿਹਾ ਹੈ। 'ਇਹ ਸਮਝੌਤਾ ਸੰਸਥਾ ਦੇ ਝੰਡੇ ਨੂੰ ਬੁਲੰਦ ਰੱਖਣ ਲਈ ਮੀਲ ਦਾ ਪੱਥਰ ਬਣੇਗਾ'। ਅੰਤ ਵਿੱਚ, ਉਨ੍ਹਾਂ ਨੇ ਵਰਤੇ ਜਾਂਦੇ ਚਿਪਸ ਦੇ ਰੂਪ ਵਿੱਚ ਟਰਾਂਜਿਸਟਰਾਂ ਦੇ ਕੰਮ ਬਾਰੇ ਵੀ ਜਾਣਕਾਰੀ ਦਿੱਤੀ ਜੋ VLSI ਲੈਬਾਂ ਦੇ ਅਧੀਨ ਬਣਦੇ ਹਨ।

ਮੁੱਖ ਮਹਿਮਾਨ ਡਾ: ਸੱਤਿਆ ਗੁਪਤਾ ਨੇ ਇਸ ਸਹਿਮਤੀ ਪੱਤਰ ਅਤੇ ਭਾਈਵਾਲੀ ਲਈ ਧੰਨਵਾਦ ਅਤੇ ਉਤਸ਼ਾਹ ਪ੍ਰਗਟ ਕੀਤਾ। ਉਸਨੇ VLSI, ਚਿਪਸ ਅਤੇ ਟਰਾਂਜ਼ਿਸਟਰਾਂ ਦੀ ਪ੍ਰਸਿੱਧੀ ਅਤੇ ਵਧੇ ਹੋਏ ਗਿਆਨ ਬਾਰੇ ਵੀ ਗੱਲ ਕੀਤੀ। ਉਸਨੇ ਇਲੈਕਟ੍ਰੋਨਿਕਸ ਅਤੇ VLSI ਦੀ ਗਤੀਸ਼ੀਲਤਾ ਅਤੇ ਭਵਿੱਖ 'ਤੇ ਵੀ ਚਾਨਣਾ ਪਾਇਆ। ਅੰਤ ਵਿੱਚ, ਉਸਨੇ ਇਸ ਤੱਥ 'ਤੇ ਜ਼ੋਰ ਦਿੱਤਾ ਕਿ ਇਹ ਸਮਾਗਮ ਦੋਵਾਂ ਸੰਸਥਾਵਾਂ ਲਈ ਖੋਜ ਗਤੀਵਿਧੀਆਂ ਨੂੰ ਉਤਸ਼ਾਹਤ ਕਰਨਗੇ। ਸਮਾਗਮ ਦੀ ਸਮਾਪਤੀ ਧੰਨਵਾਦ ਦੇ ਮਤੇ ਨਾਲ ਹੋਈ।

 

Tags: Punjab Engineering College , Punjab Engineering College Chandigarh , PEC Chandigarh

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD