Tuesday, 21 May 2024

 

 

खास खबरें मुख्यमंत्री भगवंत मान ने फतेहगढ़ साहिब से उम्मीदवार गुरप्रीत सिंह जीपी के लिए किया प्रचार मुख्यमंत्री भगवंत मान प्रसिद्ध पंजाबी कवि सुरजीत पातर जी के भोग रस्म में हुए शामिल रवनीत सिंह बिट्टू के बेबुनियाद आरोपों पर वड़िंग ने किया पलटवार पंजाब में बेहतर कानून व्यवस्था बहाल करना पहली प्राथमिकता : विजय इंदर सिंगला पंजाब में लगातार मजबूत हो रही आम आदमी पार्टी, विपक्षी पार्टियों के कई बड़े नेता आप में हुए शामिल महिलाओँ के सम्मान से कोई समझौता नहीं करती भाजपा : जय इंद्र कौर आम आदमी पार्टी ढाई सालों में एक भी वायदे को नहीं कर सकी पूरा : परनीत कौर यूटी के लिए कांग्रेस-आप के घोषणा पत्र ने दोनों पार्टियों के पंजाब विरोधी चेहरे को बेनकाब कर दिया: सुखबीर सिंह बादल शिरोमणी अकाली दल की अगली सरकार नदियों के किनारे की जमीन पर खेती करने वाले सभी बार्डर वाले किसानों को जमीन का अधिकार देगी: सरदार सुखबीर सिंह बादल किसानों को धान उगाने के लिए नहीं जलाना पड़ेगा डीजल: मीत हेयर कांग्रेस सरकार आने पर पुरानी पेंशन स्कीम होगी बहाल : गुरजीत सिंह औजला राजा वड़िंग को गिल और आत्म नगर में मिला जोरदार समर्थन; कांग्रेस की उपलब्धियों को गिनाया पत्रकारों, युवाओं और महिलाओं के लिए कांग्रेस का बड़ा वादा : सप्पल की भारत के लिए साहसी योजना मैं प्रभु श्रीराम की जन्मभूमि से आया हूं,चंडीगढ़ को जय श्रीराम मजीठा में कांग्रेस को मिला जबरदस्त प्यार पंजाब में कानून व्यवस्था जीरो,योगी से ट्रेनिंग लें भगवंत मान : डा. सुभाष शर्मा नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में ही भारत विकसित हो सकता है:अरविंद खन्ना सी-विजिल ऐप पर प्राप्त 27 शिकायतों का सौ मिनट के भीतर निपटारा: डी.सी कांगड़ा हेमराज बैरवा अमृतसर से छीने एम्स को लाया जाएगा वापिस एलपीयू के फैशन स्टूडेंट ने गुड़गांव में लाइफस्टाइल वीक में अपना कलेक्शन प्रदर्शित किया जनता की ताकत को चुनौती दे रहे जय रामः सीएम सुखविन्दर सिंह सुक्खू

 

त्रि-सेवा सम्मेलन 'परिवर्तन चिंतन' का नई दिल्ली में आयोजन हुआ

Military, Chief of Defence Staff, Gen Anil Chauhan, Parivartan Chintan, Tri-Service Conference, Lt Gen JP Mathew
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

नई दिल्ली , 08 Apr 2024

त्रि-सेवा सम्‍मेलन 'परिवर्तन चिंतन' का आज (08 अप्रैल 2024) नई दिल्ली में आयोजन किया गया। सशस्‍त्र बलों में संयुक्तता और एकीकरण को आगे बढ़ाने तथा नए एवं ताजा विचारों, पहलों और सुधारों का सृजन करने के लिए 'चिंतन' को एक विचार-मंथन और इंक्‍यूबेशन चर्चा के रूप में आयोजित किया गया है। संयुक्तता और एकीकरण संयुक्त ढांचे में बदलाव की आधारशिला हैं, जिन्‍हें भारतीय सशस्त्र बल "भविष्य के लिए तैयार" होने के आशय से आगे बढ़ा रहे हैं।

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल अनिल चौहान ने सशस्त्र बलों के लिए एक संयुक्त संस्कृति विकसित करने की आवश्यकता पर प्रकाश डालते हुए 'चिंतन' की शुरुआत की। यह प्रत्‍येक सेना की विशिष्टता का सम्मान करते हुए पारंपरिक अवधारणाओं को नया दृष्टिकोण देने के लिए तीनों सेनाओं का सर्वोत्तम उपयोग करता है। उन्होंने ऐसी संरचनाओं का निर्माण करके प्रत्येक सेवा की क्षमताओं को एकीकृत करने की आवश्यकता पर भी जोर देते हुए कहा, जो हमारी दक्षता को बढ़ाती हों और हमारी युद्ध लड़ने की क्षमता व अंतरसंचालनीयता में भी वृद्धि करती हों।

इस त्रि-सेवा सम्मेलन में अंडमान और निकोबार कमान एवं सामरिक बल कमान के प्रमुखों, राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के कमांडेंट, रक्षा सेवा स्टाफ कॉलेज, रक्षा प्रबंधन कॉलेज और सैन्य प्रौद्योगिकी संस्थान के साथ-साथ सशस्त्र बल विशेष संचालन प्रभाग, रक्षा अंतरिक्ष एजेंसी, रक्षा साइबर एजेंसी और रक्षा संचार एजेंसी के प्रमुखों ने भी भाग लिया। इस विचार-मंथन का आयोजन मुख्यालय इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ द्वारा किया गया था।

विविध सेवा अनुभव रखने वाले तीनों सेनाओं और मुख्यालय आईडीएस के अधिकारियों ने भी इस चर्चा में भाग लिया तथा उभरती और नवचारी प्रौद्योगिकियों को अपनाते हुए आधुनिकीकरण, खरीद, प्रशिक्षण, अनुकूलन और सहयोग से संबंधित अगली पीढ़ी के सुधारों को शुरू करने की दिशा में विचारों का आदान-प्रदान किया। सिविल और सैन्य दोनों क्षेत्रों में राष्ट्रीय सुरक्षा पर प्रभाव डालने वाले राष्ट्रीय सामरिक मुद्दों पर जानकारी के बारे में भी विचार-विमर्श किया गया।

चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी (सीआईएससी) के अध्यक्ष के इंटिग्रेटिव डिफेंस स्टाफ के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल जेपी मैथ्यू ने अपने समापन संबोधन में यह विश्वास व्यक्त किया कि ऐसे विचार-विमर्श भविष्‍य के लिए तैयार भारतीय सशस्त्र बलों में बदलाव के लिए संयुक्त परिचालन संरचनाओं के रूप में आवश्‍यक दिशानिर्देश उपलब्‍ध कराएंगे।

Tri-service Conference ‘Parivartan Chintan’ held in New Delhi

CDS Gen Anil Chauhan stresses on need for developing Joint Culture for Armed Forces

New Delhi : The Tri-service Conference, ‘Parivartan Chintan’, was held in New Delhi on 08 April 2024. The ‘Chintan’ was curated as a brainstorming and idea incubation discussion to generate new and fresh ideas, initiatives and reforms to further propel Jointness and Integration in the Armed Forces. Jointness and Integration are the cornerstones of the transformation to Joint Structures which the Indian Armed forces are progressing towards with the intention of being “Future Ready”. 

Chief of Defence Staff Gen Anil Chauhan initiated the ‘Chintan’ by highlighting the need for developing a Joint Culture for the Armed Forces, which while respecting the uniqueness of each service, distils the best of each service to give a de-novo approach to traditional concepts. He also stressed upon the need to integrate the capabilities of each service by creating structures that increase our efficiency and enhance our war fighting ability and interoperability. 

The Tri-Service Conference was attended by Heads of the Andaman and Nicobar Command and Strategic Forces Command, Commandants of National Defence Academy, Defence Services Staff College, College of Defence Management and Military Institute of Technology as well as Heads of the Armed Forces Special Operations Division, Defence Space Agency, Defence Cyber Agency and the Defence Communication Agency. The brainstorming was orchestrated by the  Headquarters Integrated Defence Staff.

Officers from all the three Services and Headquarters IDS, with diverse service experience also attended the discussion and contributed ideas towards initiating the next generation of reforms related to modernization, procurement, training, adaptation and collaboration while embracing emerging and innovative technologies. Inputs on National Strategic Issues impacting National Security in both the civil and military domains were also deliberated upon.

Chief of Integrated Defence Staff to the Chairman, Chiefs of Staff Committee (CISC) Lt Gen JP Mathew in his closing remarks expressed confidence that such interactions will provide the necessary guidelines as Joint Operational Structures evolve to transform to a Future Ready Indian Armed Forces.

 

Tags: Military , Chief of Defence Staff , Gen Anil Chauhan , Parivartan Chintan , Tri-Service Conference , Lt Gen JP Mathew

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD