Sunday, 14 April 2024

 

 

खास खबरें फिल्म "शायर" में सतिंदर सरताज और नीरू बाजवा अभिनीत सुपरहिट रोमांटिक जोड़ी सत्ता और सीरो को देखना न भूलें! असम के सोनितपुर लोकसभा क्षेत्र के आप उम्मीदवार के पक्ष में मान ने किया रोड शो राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल ने प्रदेश की प्रगति में योगदान देने वाले हाई फ्लायर्स को सम्मानित किया मलायका और नारीफर्स्ट की एकता ने डॉ. रूपिंदर और ईशा को प्रदान की ज्वेल ऑफ इंडिया ट्रॉफी ज़ी पंजाबी सितारे केपी सिंह और ईशा कलोआ टाइम्स फूड एंड नाइटलाइफ़ अवार्ड्स 2024 में अतिथि के रूप में शामिल हुए एलपीयू ने क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग-2024 में शीर्ष स्थान हासिल किये इंडस पब्लिक स्कूल में वैसाखी पर लगी रौनकें, छात्रों ने पेश किए रंगारंग प्रोग्राम किड्जी बेला ने बैसाखी का त्योहार पारंपरिक हर्षोल्लास के साथ मनाया इलेक्ट्रिक व्हीकल होंगे सस्ते, पॉवरफुल और अधिक सुरक्षित PEC स्टूडेंट्स ने सास उद्योग का जश्न मनाते हुए, भारत सास यात्रा में लिया हिस्सा डोल्से गब्बाना ड्रेस और रोलेक्स घड़ी में नजर आईं उर्वशी रौतेला ने लोगों का दिल जीता केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले की मौजूदगी में फ़िल्म "गौरैया लाइव" का शानदार प्रीमियर एआई की दुनिया मे आयी एक क्रांति! रोबॉटिक मशीन चंद मिनटों में खाना बनाकर कर देगा आपको हैरान असम में आप उम्मीदवारों के लिए मुख्यमंत्री भगवंत मान ने जनसभा करते की अपील ,1 नंबर वाला झाड़ू का बटन दबा कर असम में लाएं बदलाव बोली टप्पों के साथ मलोया में महिलाओं के जत्थे ने किया भाजपा प्रत्याशी संजय टंडन का प्रचार प्रसार बढ़ रहा है भाजपा परिवार- यह देखकर खुशी हो रही है कि पूरे पटियाला जिले से सैकड़ों लोग रोजाना हमारे साथ जुड़ रहे हैं: परनीत कौर सीजीसी लांडरां में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई बैसाखी विजीलैंस ब्यूरो ने बीडीपीओ को 30 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए किया गिरफ्तार पारंपरिक मेलों की तरह लोकतंत्र के पर्व में भी जरूर लें हिस्सा: डी.सी. हेमराज बैरवा किसानों के लिए किसी ने गारंटी दी और उस गारंटी को पूरा किया वो चौधरी देवीलाल ने किया: अभय सिंह चौटाला भाजपा को अरविंद केजरीवाल से डर लगता है, वे राष्ट्रपति शासन के जरिए दिल्ली में पिछले दरवाजे से प्रवेश चाहते हैं: आप

 

स्पीकर कुलतार सिंह संधवां द्वारा पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी ज़ैल सिंह जी की बरसी पर उनको गरिमापूर्ण श्रद्धांजलि भेंट

Kultar Singh Sandhwan, AAP, Aam Aadmi Party, AAP Punjab, Aam Aadmi Party Punjab, Government of Punjab, Punjab Government
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

फरीदकोट , 25 Dec 2023

देश के पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी ज़ैल सिंह जी की बरसी के मौके पर संधवां गाँव में हुए एक प्रभावशाली श्रद्धांजलि समागम के दौरान पंजाब विधान सभा के स्पीकर स. कुलतार सिंह संधवां ने उनके द्वारा मुल्क और ख़ासकर पंजाब के लिए किए कार्यों को याद करते हुए ज्ञानी जी को सजदा किया। स. कुलतार सिंह संधवां ने ज्ञानी जी की तुलना अमरीका के राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन के साथ करते हुए कहा कि आधी सदी तक सत्ता के साथ जुड़े रहने के बावजूद भी विनम्र रहते हुए उन्होंने समाज के पिछड़े वर्ग की भलाई के लिए प्रयास करते रहे। 

उन्होंने कहा कि ज्ञानी ज़ैल सिंह जी सिख धर्म के रास्ते पर चलने वाले थे और उन्होंने गुरू साहिबान की अपार कृपा स्वरूप जहाँ से गुरू गोबिन्द सिंह जी गुजऱे थे वहां गुरू गोबिन्द सिंह मार्ग बनाकर गुरू साहिब की सेवा का कार्य किया।स. संधवां जोकि ख़ुद ज्ञानी ज़ैल सिंह जी के पोते हैं, ने उनके कार्यकाल के समय को याद करते हुए उनके द्वारा फरीदकोट को जि़ला बनाने का जिक्र करते हुए कहा कि जि़ला बनाने के मौके पर उन्होंने फरीदकोट के उसी पूर्व महाराजा से इमारत हासिल की, जिन्होंने कभी आज़ादी से पहले उन पर अत्याचार किया था।

यह उनका कुशल प्रशासनिक अनुभव का ही नतीजा था कि वह हर एक को साथ लेकर चलते थे और पंजाब के मुख्यमंत्री से लेकर देश के सर्वोच्च पद राष्ट्रपति तक बने।स. संधवां ने कहा कि ज्ञानी जी बहुत ही बुद्धिमान और दूरदर्शी राजनीतिज्ञ थे। वह अपने परिवार और राजनीति को किस तरह अगल रखते थे इसकी उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि जब ज्ञानी जी मुख्यमंत्री बने तब उन्होंने अपने पुत्र को गुरुद्वारा साहिब ले जाकर प्रण करवाया कि वह उनके सरकारी कार्य से दूर रहेंगे।  

ज्ञानी जी को विकास पुरुष बताते हुए स्पीकर स. संधवां ने कहा कि पंजाब के 100 प्रतिशत गाँवों का बिजलीकरण उनके कार्यकाल के समय में ही हुआ। इसी तरह फरीदकोट में मेडिकल कॉलेज लाना भी उनकी दूरदर्शी सोच का ही नतीजा था। इसी तरह शहीद उधम सिंह जी की अस्थियां भी ज्ञानी ज़ैल सिंह जी के प्रयासों के साथ ही भारत आईं। 

उन्होंने जंग-ए-आज़ादी के पंजाब के महान शहीदों के स्मृतिचिन्ह बनवाए। प्रजामंडल लहर में शामिल होकर जहाँ उन्होंने आज़ादी की लड़ाई में शमूलियत की थी वहीं उन्होंने आज़ादी सेनानियों को ताम्र पत्रों से सम्मानित करने की योजना लागू करने में भी अहम भूमिका निभाई।  ज्ञानी जी 25 दिसंबर, 1994 को शाश्वत जुदाई दे गए थे। इस मौके पर स्पीकर श्री संधवां के अलावा अन्य आदरणीयों ने भी ज्ञानी ज़ैल सिंह जी की प्रतिमा पर फूल-मालाएं भेंट कीं और अपनी श्रद्धा प्रकट की।  

 

Tags: Kultar Singh Sandhwan , AAP , Aam Aadmi Party , AAP Punjab , Aam Aadmi Party Punjab , Government of Punjab , Punjab Government

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD