Saturday, 13 April 2024

 

 

खास खबरें राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल ने प्रदेश की प्रगति में योगदान देने वाले हाई फ्लायर्स को सम्मानित किया मलायका और नारीफर्स्ट की एकता ने डॉ. रूपिंदर और ईशा को प्रदान की ज्वेल ऑफ इंडिया ट्रॉफी ज़ी पंजाबी सितारे केपी सिंह और ईशा कलोआ टाइम्स फूड एंड नाइटलाइफ़ अवार्ड्स 2024 में अतिथि के रूप में शामिल हुए एलपीयू ने क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग-2024 में शीर्ष स्थान हासिल किये इंडस पब्लिक स्कूल में वैसाखी पर लगी रौनकें, छात्रों ने पेश किए रंगारंग प्रोग्राम किड्जी बेला ने बैसाखी का त्योहार पारंपरिक हर्षोल्लास के साथ मनाया इलेक्ट्रिक व्हीकल होंगे सस्ते, पॉवरफुल और अधिक सुरक्षित PEC स्टूडेंट्स ने सास उद्योग का जश्न मनाते हुए, भारत सास यात्रा में लिया हिस्सा डोल्से गब्बाना ड्रेस और रोलेक्स घड़ी में नजर आईं उर्वशी रौतेला ने लोगों का दिल जीता केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले की मौजूदगी में फ़िल्म "गौरैया लाइव" का शानदार प्रीमियर एआई की दुनिया मे आयी एक क्रांति! रोबॉटिक मशीन चंद मिनटों में खाना बनाकर कर देगा आपको हैरान असम में आप उम्मीदवारों के लिए मुख्यमंत्री भगवंत मान ने जनसभा करते की अपील ,1 नंबर वाला झाड़ू का बटन दबा कर असम में लाएं बदलाव बोली टप्पों के साथ मलोया में महिलाओं के जत्थे ने किया भाजपा प्रत्याशी संजय टंडन का प्रचार प्रसार बढ़ रहा है भाजपा परिवार- यह देखकर खुशी हो रही है कि पूरे पटियाला जिले से सैकड़ों लोग रोजाना हमारे साथ जुड़ रहे हैं: परनीत कौर सीजीसी लांडरां में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई बैसाखी विजीलैंस ब्यूरो ने बीडीपीओ को 30 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए किया गिरफ्तार पारंपरिक मेलों की तरह लोकतंत्र के पर्व में भी जरूर लें हिस्सा: डी.सी. हेमराज बैरवा किसानों के लिए किसी ने गारंटी दी और उस गारंटी को पूरा किया वो चौधरी देवीलाल ने किया: अभय सिंह चौटाला भाजपा को अरविंद केजरीवाल से डर लगता है, वे राष्ट्रपति शासन के जरिए दिल्ली में पिछले दरवाजे से प्रवेश चाहते हैं: आप हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने दिल्ली में श्री लाल कृष्ण आडवाणी से की मुलाकात पात्र व्यक्ति 26 अप्रैल तक बनवा सकते हैं वोट : जिला निर्वाचन अधिकारी राहुल हुड्डा

 

पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय में आयोजित स्प्रिंट कार्यक्रम के दौरान पांच स्टार्टअप उद्यमियों को 23 लाख की फंडिंग प्रदान की गई

पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय में नवीन स्टार्ट-अप आइडियाज को वित्त पोषण प्रदान करने हेतु ‘स्प्रिंट कार्यक्रम’ का आयोजन

Central University of Punjab, CUPB, Bathinda, Prof. Raghvendra P Tiwari
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

बठिंडा , 03 Mar 2024

नवाचार को बढ़ावा देने और अनुसंधान आधारित स्टार्टअप को प्रोत्साहित करने के अपने ध्येय को साकार करने की दिशा में पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय में सीयू पंजाब रिसर्च एंड डेवलपमेंट फाउंडेशन (सीयूपीआरडीएफ) द्वारा आईआईटी रोपड़ के आईहब अवध के सहयोग से’स्प्रिंट (स्ट्रेटेजिक प्रोग्राम फॉर स्टार्टअप इनोवेशन एंड नेस्टजेन टेक कोमर्सिएलाईज़ेशन कार्यक्रम) नॉर्थ एडिशन स्टार्ट-अप इवेंट’ का आयोजन किया गया। 

इस कार्यक्रम में नवीन स्टार्टअप्स आइडियाज में कुल 35 लाख रुपये निवेश करने की योजना बनाई गई थी। पंजीकरण प्रक्रिया 06 फरवरी से आरंभ हुए और 22 फरवरी को समाप्त हुई, जिसके परिणामस्वरूप 91 आवेदन प्राप्त हुए। दो राउंड की शॉर्टलिस्टिंग के बाद, पूरे भारत में 22 स्टार्टअप्स को फंडिंग प्रदान करने हेतु अंतिम राउंड की चयन प्रक्रिया में अपना आइडिया प्रस्तुत करने हेतु डेमो डे में भाग लेने के लिए चुना गया।

यह कार्यक्रम कुलपति प्रोफेसर राघवेन्द्र प्रसाद तिवारी के संरक्षण में आयोजित किया गया। उद्घाटन सत्र के दौरान कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्रालय के सचिव श्री अतुल कुमार तिवारी, आईएएस, मुख्य अतिथि के रूप में आभासी पटल के माध्यम से सम्मिलित हुए। वहीं, एम्स बठिंडा के यूरोलॉजी विभाग के अध्यक्ष डॉ. कवलजीत सिंह कौरा ने पैनल विशेषज्ञ के रूप में भाग लिया। 

उनके साथ ही, आईहब अवध, आईआईटी रोपड़ से श्री आतिफ जमाल (वरिष्ठ प्रबंधक) और श्री वर्धमान जैन (एसोसिएट मैनेजर) विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल हुए। अपने संबोधन में मुख्य अतिथि श्री अतुल कुमार तिवारी ने सीयूपीआरडीएफ के प्रयासों की सराहना करते हुए यह आशा व्यक्त की कि स्प्रिंट जैसी पहल हमारे स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र को मजबूत करेगी तथा माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी के विकसित भारत@2047 के दृष्टिकोण को साकार करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। 

उन्होंने युवा व्यक्तियों के कौशल सेट और उद्यमशीलता क्षमताओं को बढ़ाने में कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्रालय के प्रयासों को रेखांकित किया। उन्होंने हमारी स्टार्टअप अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने हेतु उच्च शिक्षण संस्थानों (एचईआई) को छात्रों के बीच उद्यमशीलता कौशल विकसित करने तथा अनुसंधान-आधारित स्टार्टअप के लिए अनुकूल संस्कृति को बढ़ावा देने हेतु सक्रिय भूमिका निभाने का आह्वान किया।

अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कुलपति प्रोफेसर राघवेन्द्र प्रसाद तिवारी ने देश भर में स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ावा देने तथा उच्च शैक्षणिक संस्थानों (एचईआई) में स्टार्टअप इनक्यूबेटर और एक्सेलेरेटर की स्थापना के माध्यम से नवीन स्टार्टअप विचारों को प्रोत्साहित करने हेतु किए जा रहे निरंतर प्रयासों के लिए उद्यमिता और कौशल विकास मंत्रालय एवं शिक्षा मंत्रालय के प्रति आभार व्यक्त किया। प्रोफेसर तिवारी ने एक विकसित राष्ट्र की मजबूत आधारशिला के निर्माण में एक मजबूत स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र से युक्त विकासशील सेवा क्षेत्र के महत्व को रेखांकित किया। 

उन्होंने कहा कि भारत देश एक सफल स्टार्टअप  पारिस्थितिकी तंत्र के निर्माण के माध्यम से ही अपने 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था लक्ष्य को प्राप्त कर सकता है। सीयू पंजाब द्वारा आयोजित स्प्रिंट कार्यक्रम इसी दिशा में युवा उद्यमियों को नवाचार करने और देश के सामाजिक-आर्थिक विकास में योगदान करते हुए भारत को एक वैश्विक शक्ति के रूप में स्थापित करने का एक मूल्यवान अवसर प्रदान करता है।

इस कार्यक्रम में कुल 20 स्टार्टअप उद्यमियों ने अपने संबंधित स्टार्टअप के लिए धन जुटाने के लिए अपनी पिच प्रस्तुतु की। विचार-विमर्श के बाद, निर्णायक मंडल द्वारा 5 स्टार्टअप्स को अनुदान और ऋण के संयोजन के रूप में कुल 23 लाख रुपये की धनराशि प्रदान की गई। फंडिंग हासिल करने वाले युवा स्टार्टअप उद्यमियों के इनके नाम इस प्रकार हैं:

• सस्पैक टेक्नोलॉजीज से मृगार्का साहा (7 लाख की फंडिंग)

• एएमटी से लवप्रीत सिंह (4 लाख की फंडिंग)

• ऐरोबर से शिवम त्रिपाठी (4 लाख की फंडिंग)

• सैंडबर्ड से अजीत कानन (4 लाख रुपये की फंडिंग)

• रूट्स से सुशील (4 लाख रुपये की फंडिंग)

कार्यक्रम की शुरुआत आर एंड डी सेल के निदेशक और सीयूपीआरडीएफ के परियोजना निदेशक प्रोफेसर अंजना मुंशी के स्वागत भाषण के साथ हुई। इसके बाद मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. अक्षय नाग ने कार्यक्रम विषय पर प्रकाश डाला। आईहब अवध के वरिष्ठ प्रबंधक श्री आतिफ जमाल ने संभावित स्टार्टअप के मूल्यांकन के लिए स्प्रिंट पहल और चयन प्रक्रिया का विवरण साझा किया। अंत में, आयोजकों ने कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सभी प्रतिभागियों का आभार व्यक्त किया। इस कार्यक्रम में मालवा क्षेत्र के विभिन्न संस्थानों के छात्रों, शोध विद्वानों और शिक्षकों ने भाग लिया।

Five Startup Entrepreneurs secured 23 Lakh Funding during SPRINT Programme held at Central University of Punjab

Central University of Punjab hosted SPRIT Programme to provide funding to innovative start-up ideas

Bathinda

In its endeavour to foster innovation and support research-driven startups, the Central University of Punjab Research & Development Foundation (CUPRDF) at CU Punjab, a DST NIDHI iTBI; in collaboration with iHUB AWaDH, IIT Ropar organized a startup event SPRINT (Strategic Programme for Research Innovation and Next-gen Tech commercialization) North Edition start-up event. 

A total of INR 35 Lakh was at stake to be invested in the potential startups during this event. The call for the event opened on Feb 06 and closed on Feb 22, resulting in 91 applications. After two rounds of shortlisting, 22 startups across the India were selected for the demo day to present their pitch in the final selection round of getting funding.

The event was conducted under the patronage of Vice-Chancellor Prof. Raghvendra Tiwari, with Chief Guest Shri Atul Kumar Tiwari, IAS, Secretary, Ministry of Skill Development & Entrepreneurship, participating online to encourage the participants. Dr. Kawaljit Singh Kaura, Associate Professor & Head, Department of Urology, AIIMS Bathinda, served as the panel expert, while Mr. Atif Jamal – Senior Manager and Mr. Vardhaman Jain - Associate Manager represented iHUB AWaDH, IIT Ropar as distinguished guests and experts.

During his inaugural address, Chief Guest Shri Atul Kumar Tiwari commended the efforts of CUPRDF and expressed optimism that initiatives like SPRINT would fortify our startup ecosystem, aligning with Prime Minister Shri Narendra Modi’s vision of Viksit Bharat@2047. He underscored the Ministry of Skill Development & Entrepreneurship's endeavors in enhancing the skill sets and entrepreneurial capacities of young individuals. 

He emphasized the imperative for Higher Educational Institutions (HEIs) to play a proactive role in cultivating entrepreneurial skills among students and fostering a culture conducive to research-based startups, thereby invigorating our startup economy. In his presidential address, Vice-Chancellor Prof. Raghavendra P. Tiwari conveyed his gratitude to the Ministry of Entrepreneurship and Skill Development and the Ministry of Education for their efforts in fostering a startup ecosystem nationwide. 

He acknowledged their role in providing opportunities to Higher Educational Institutions (HEIs) to cultivate innovative ideas into startups and support them in their journey towards achieving unicorn status, facilitated by the establishment of startup incubators and accelerators. Prof. Tiwari stressed the significance of a robust startup ecosystem in developing the service sector, a cornerstone of any developed nation, and highlighted India's potential to reach its 5 trillion economy target through the creation of successful startups. 

He emphasized that the SPRINT Programme presents a valuable opportunity for young individuals to innovate and contribute to the socio-economic development of the country, fostering self-reliance (AtmaNirbhar Bharat) and positioning India as a global power. In this programme a total of 20 startups delivered their pitch deck to raise funds for their respective startup. After careful consideration and deliberation, 5 startups secured a total funding of Rs 23 L granted as a combination of grant & loan.

• Mrigarka Saha from Suspack Technologies secured funding of 7 lakh.

• Lovpreet Singh from AMT secured funding of 4 lakh.

• Shivam Tripathi from Airober secured funding of 4 lakh.

• Ajit Kanan from Sandbird secured funding of Rs 4 Lakh

• Susheel from Roots secured funding of Rs 4 Lakh

The event commenced with introductory remarks from Prof. Anjana Munshi, Director of the R&D Cell, HoD of the Department of Human Genetics and Applied Health, and Project Director of CUPRDF, followed by an introductory note by Dr. Akshay Nag, Chief Executive Officer of CUPRDF. Mr. Atif Jamal, Senior Manager iHUB AWaDH, introduced the SPRINT initiative and the process to evaluate potential startups. 

The organizers concluded the event by expressing gratitude to all participants for making the program a success. Students, research scholars, and faculty from various institutions in the Malwa region attended the event.

ਪੰਜਾਬ ਕੇਂਦਰੀ ਯੂਨੀਵਰਸਿਟੀ ਵਿਖੇ ਆਯੋਜਿਤ ਸਪ੍ਰਿੰਟ ਪ੍ਰੋਗਰਾਮ ਦੌਰਾਨ ਪੰਜ ਸਟਾਰਟਅਪ ਉੱਦਮੀਆਂ ਨੂੰ 23 ਲੱਖ ਦੀ ਫੰਡਿੰਗ ਪ੍ਰਦਾਨ ਕੀਤੀ ਗਈ

ਪੰਜਾਬ ਕੇਂਦਰੀ ਯੂਨੀਵਰਸਿਟੀ ਵਿਖੇ ਨਵੀਨਤਾਕਾਰੀ ਸਟਾਰਟ-ਅੱਪ ਆਈਡੀਆਜ਼ ਨੂੰ ਫੰਡ ਪ੍ਰਦਾਨ ਕਰਨ ਲਈ 'ਸਪ੍ਰਿੰਟ ਪ੍ਰੋਗਰਾਮ' ਕਰਵਾਇਆ ਗਿਆ

ਬਠਿੰਡਾ

ਇਨੋਵੇਸ਼ਨ ਅਤੇ ਖੋਜ ਅਧਾਰਤ ਸਟਾਰਟਅੱਪ ਨੂੰ ਉਤਸ਼ਾਹਿਤ ਕਰਨ ਦੇ ਆਪਣੇ ਮਿਸ਼ਨ ਨੂੰ ਸਾਕਾਰ ਕਰਨ ਲਈ ਪੰਜਾਬ ਕੇਂਦਰੀ ਯੂਨੀਵਰਸਿਟੀ ਵਿਖੇ ਸੀਯੂ ਪੰਜਾਬ ਰਿਸਰਚ ਐਂਡ ਡਿਵੈਲਪਮੈਂਟ ਫਾਊਂਡੇਸ਼ਨ (ਸੀਯੂਪੀਆਰਡੀਐਫ) ਨੇ ਆਈਆਈਟੀ ਰੋਪੜ ਦੇ ਆਈਹਬ ਅਵਧ ਦੇ ਸਹਿਯੋਗ ਨਾਲ 'ਸਪ੍ਰਿੰਟ ਨੌਰਥ ਐਡੀਸ਼ਨ ਸਟਾਰਟ-ਅੱਪ ਈਵੈਂਟ ਆਯੋਜਿਤ ਕੀਤਾ। ਇਸ ਪ੍ਰੋਗਰਾਮ ਵਿੱਚ, ਨਵੇਂ ਸਟਾਰਟਅੱਪ ਆਈਡੀਆਜ਼ ਵਿੱਚਕੁੱਲ 35 ਲੱਖ ਰੁਪਏ ਦੇ ਨਿਵੇਸ਼ ਦੀ ਯੋਜਨਾ ਬਣਾਈ ਗਈ ਸੀ। 

ਰਜਿਸਟ੍ਰੇਸ਼ਨ ਪ੍ਰਕਿਰਿਆ  ਵਿੱਚ 91 ਅਰਜ਼ੀਆਂ ਪ੍ਰਾਪਤ ਹੋਈਆਂ। ਸ਼ਾਰਟਲਿਸਟਿੰਗ ਦੇ ਦੋ ਗੇੜਾਂ ਤੋਂ ਬਾਅਦ, ਫੰਡਿੰਗ ਲਈ ਅੰਤਿਮ ਦੌਰ ਦੀ ਚੋਣ ਪ੍ਰਕਿਰਿਆ ਵਿੱਚ ਆਪਣੇ ਸਟਾਰਟਅਪ ਆਈਡੀਆ ਨੂੰ ਪੇਸ਼ ਕਰਨ ਲਈ ਡੈਮੋ ਡੇ ਵਿੱਚ ਹਿੱਸਾ ਲੈਣ ਲਈ ਪੂਰੇ ਭਾਰਤ ਵਿੱਚੋਂ 22 ਸਟਾਰਟਅੱਪ ਨੂੰ ਚੁਣਿਆ ਗਿਆ। ਇਹ ਪ੍ਰੋਗਰਾਮ ਵਾਈਸ ਚਾਂਸਲਰ ਪ੍ਰੋਫੈਸਰ ਰਾਘਵੇਂਦਰ ਪ੍ਰਸਾਦ ਤਿਵਾਰੀ ਦੀ ਸਰਪ੍ਰਸਤੀ ਹੇਠ ਕਰਵਾਇਆ ਗਿਆ। ਉਦਘਾਟਨੀ ਸੈਸ਼ਨ ਦੌਰਾਨ, ਹੁਨਰ ਵਿਕਾਸ ਅਤੇ ਉੱਦਮਤਾ ਮੰਤਰਾਲੇ ਦੇ ਸਕੱਤਰ ਸ਼੍ਰੀ ਅਤੁਲ ਕੁਮਾਰ ਤਿਵਾਰੀ (ਆਈ.ਏ.ਐਸ.) ਨੇ ਮੁੱਖ ਮਹਿਮਾਨ ਵਜੋਂ ਵਰਚੁਅਲ ਪਲੇਟਫਾਰਮ ਰਾਹੀਂ ਹਿੱਸਾ ਲਿਆ। 

ਇਸ ਦੌਰਾਨ ਏਮਜ਼ ਬਠਿੰਡਾ ਦੇ ਯੂਰੋਲੋਜੀ ਵਿਭਾਗ ਦੇ ਮੁਖੀ ਡਾ. ਕਵਲਜੀਤ ਸਿੰਘ ਕੌੜਾ ਨੇ ਪੈਨਲ ਮਾਹਿਰ ਵਜੋਂ ਸ਼ਿਰਕਤ ਕੀਤੀ। ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੇ ਨਾਲ ਆਈਹਬ ਅਵਧ, ਆਈਆਈਟੀ ਰੋਪੜ ਤੋਂ ਸ੍ਰੀ ਆਤਿਫ ਜਮਾਲ (ਸੀਨੀਅਰ ਮੈਨੇਜਰ) ਅਤੇ ਸ੍ਰੀ ਵਰਧਮਾਨ ਜੈਨ (ਐਸੋਸੀਏਟ ਮੈਨੇਜਰ) ਵਿਸ਼ੇਸ਼ ਮਹਿਮਾਨ ਵਜੋਂ ਸ਼ਾਮਲ ਹੋਏ। ਆਪਣੇ ਸੰਬੋਧਨ ਵਿੱਚ ਮੁੱਖ ਮਹਿਮਾਨ ਸ਼੍ਰੀ ਅਤੁਲ ਕੁਮਾਰ ਤਿਵਾਰੀ ਨੇ ਸੀਯੂਪੀਆਰਡੀਐਫ ਦੇ ਯਤਨਾਂ ਦੀ ਸ਼ਲਾਘਾ ਕੀਤੀ ਅਤੇ ਆਸ ਪ੍ਰਗਟਾਈ ਕਿ ਸਪ੍ਰਿੰਟ ਪ੍ਰੋਗ੍ਰਾਮ ਵਰਗੀਆਂ ਪਹਿਲਕਦਮੀਆਂ ਸਾਡੇ ਸਟਾਰਟਅੱਪ ਈਕੋਸਿਸਟਮ ਨੂੰ ਮਜ਼ਬੂਤ ਕਰਨਗੀਆਂ ਅਤੇ ਮਾਣਯੋਗ ਪ੍ਰਧਾਨ ਮੰਤਰੀ ਸ਼੍ਰੀ ਨਰੇਂਦਰ ਮੋਦੀ ਦੇ ਵਿਕਸਿਤ ਭਾਰਤ@2047 ਦੇ ਵਿਜ਼ਨ ਨੂੰ ਸਾਕਾਰ ਕਰਨ ਵਿੱਚ ਮਦਦ ਕਰਨਗੀਆਂ। 

ਉਹਨਾਂ ਨੇ ਨੌਜਵਾਨਾਂ ਦੇ ਉੱਦਮੀ ਸਮਰੱਥਾਵਾਂ ਨੂੰ ਵਧਾਉਣ ਲਈ ਹੁਨਰ ਵਿਕਾਸ ਅਤੇ ਉੱਦਮਤਾ ਮੰਤਰਾਲੇ ਦੇ ਯਤਨਾਂ ਨੂੰ ਰੇਖਾਂਕਿਤ ਕੀਤਾ। ਉਹਨਾਂ ਉੱਚ ਵਿਦਿਅਕ ਸੰਸਥਾਵਾਂ ਨੂੰ ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ ਵਿੱਚ ਉੱਦਮੀ ਹੁਨਰ ਵਿਕਸਤ ਕਰਨ ਅਤੇ ਦੇਸ਼ ਦੀ ਸਟਾਰਟਅਪ ਆਰਥਿਕਤਾ ਨੂੰ ਹੁਲਾਰਾ ਦੇਣ ਲਈ ਖੋਜ-ਅਧਾਰਤ ਸਟਾਰਟਅਪਸ ਲਈ ਅਨੁਕੂਲ ਸਭਿਆਚਾਰ ਨੂੰ ਉਤਸ਼ਾਹਤ ਕਰਨ ਵਿੱਚ ਸਰਗਰਮ ਭੂਮਿਕਾ ਨਿਭਾਉਣ ਦਾ ਸੱਦਾ ਦਿੱਤਾ।

ਆਪਣੇ ਪ੍ਰਧਾਨਗੀ ਭਾਸ਼ਣ ਵਿੱਚ, ਵਾਈਸ-ਚਾਂਸਲਰ ਪ੍ਰੋਫੈਸਰ ਰਾਘਵੇਂਦਰ ਪ੍ਰਸਾਦ ਤਿਵਾਰੀ ਨੇ ਦੇਸ਼ ਭਰ ਵਿੱਚ ਸਟਾਰਟਅੱਪ ਈਕੋਸਿਸਟਮ ਨੂੰ ਉਤਸ਼ਾਹਿਤ ਕਰਨ ਲਈ ਕੀਤੇ ਜਾ ਰਹੇ ਲਗਾਤਾਰ ਯਤਨਾਂ ਅਤੇ ਉੱਚ ਵਿਦਿਅਕ ਸੰਸਥਾਵਾਂ ਵਿੱਚ ਸਟਾਰਟਅੱਪ ਇਨਕਿਊਬੇਟਰਾਂ ਅਤੇ ਐਕਸੀਲੇਟਰਾਂ ਦੀ ਸਥਾਪਨਾ ਰਾਹੀਂ ਨਵੀਨਤਾਕਾਰੀ ਸਟਾਰਟਅੱਪ ਆਈਡੀਆਜ਼ ਨੂੰ ਉਤਸ਼ਾਹਿਤ ਕਰਨ ਲਈ  ਭਾਰਤ ਸਰਕਾਰ ਦਾ ਧੰਨਵਾਦ ਕੀਤਾ।

ਇਸ ਈਵੈਂਟ ਵਿੱਚ, ਕੁੱਲ 20 ਸਟਾਰਟਅੱਪ ਉੱਦਮੀਆਂ ਨੇ ਆਪਣੇ-ਆਪਣੇ ਸਟਾਰਟਅਪ ਲਈ ਫੰਡ ਇਕੱਠਾ ਕਰਨ ਲਈ ਆਪਣੇ ਸਟਾਰਟਅਪ ਆਈਡੀਆ ਨੂੰ ਪੇਸ਼ ਕੀਤਾ। ਵਿਚਾਰ-ਵਟਾਂਦਰੇ ਤੋਂ ਬਾਅਦ, ਜਿਊਰੀ ਦੁਆਰਾ ਗ੍ਰਾਂਟਾਂ ਅਤੇ ਕਰਜ਼ਿਆਂ ਦੇ ਸੁਮੇਲ ਦੇ ਰੂਪ ਵਿੱਚ 5 ਸਟਾਰਟਅਪ ਉੱਦਮੀਆਂ  ਨੂੰ ਕੁੱਲ 23 ਲੱਖ ਰੁਪਏ ਦੀ ਰਾਸ਼ੀ ਪ੍ਰਦਾਨ ਕੀਤੀ ਗਈ। ਫੰਡਿੰਗ ਪ੍ਰਾਪਤ ਕਰਨ ਵਾਲੇ ਨੌਜਵਾਨ ਸਟਾਰਟਅੱਪ ਉੱਦਮੀਆਂ ਦੇ ਨਾਮ ਹੇਠ ਲਿਖੇ ਅਨੁਸਾਰ ਹਨ:

• ਸੁਸਪੈਕ ਟੈਕਨਾਲੋਜੀ ਤੋਂ ਮ੍ਰਿਗਾਰਕਾ ਸਾਹਾ (7 ਲੱਖ ਰੁਪਏ ਦੀ ਫੰਡਿੰਗ)

• ਏਐਮਟੀ ਤੋਂ ਲਵਪ੍ਰੀਤ ਸਿੰਘ (4 ਲੱਖ ਰੁਪਏ ਦੀ ਫੰਡਿੰਗ)

• ਐਰੋਬਾਰ ਤੋਂ ਸ਼ਿਵਮ ਤ੍ਰਿਪਾਠੀ (4 ਲੱਖ ਰੁਪਏ ਦੀ ਫੰਡਿੰਗ)

• ਸੈਂਡਬਰਡ ਤੋਂ ਅਜੀਤ ਕਾਨਨ (4 ਲੱਖ ਰੁਪਏ ਦੀ ਫੰਡਿੰਗ)

• ਰੂਟਸ ਤੋਂ ਸੁਸ਼ੀਲ (4 ਲੱਖ ਰੁਪਏ ਦੀ ਫੰਡਿੰਗ)

ਪ੍ਰੋਗਰਾਮ ਦੀ ਸ਼ੁਰੂਆਤ ਸੀਯੂਪੀਆਰਡੀਐਫ ਦੇ ਪ੍ਰੋਜੈਕਟ ਡਾਇਰੈਕਟਰ ਪ੍ਰੋਫੈਸਰ ਅੰਜਨਾ ਮੁਨਸ਼ੀ ਦੇ ਸੁਆਗਤੀ ਭਾਸ਼ਣ ਨਾਲ ਹੋਈ। ਇਸ ਤੋਂ ਬਾਅਦ ਮੁੱਖ ਕਾਰਜਕਾਰੀ ਅਧਿਕਾਰੀ ਡਾ. ਅਕਸ਼ੈ ਨਾਗ ਨੇ ਪ੍ਰੋਗਰਾਮ ਵਿਸ਼ੇ 'ਤੇ ਚਾਨਣਾ ਪਾਇਆ। ਸ਼੍ਰੀ ਆਤਿਫ ਜਮਾਲ, ਸੀਨੀਅਰ ਮੈਨੇਜਰ, ਆਈਹੱਬ ਅਵਧ, ਨੇ ਸੰਭਾਵੀ ਸਟਾਰਟਅੱਪ ਦਾ ਮੁਲਾਂਕਣ ਕਰਨ ਲਈ ਚੋਣ ਪ੍ਰਕਿਰਿਆ ਦੇ ਵੇਰਵੇ ਸਾਂਝੇ ਕੀਤੇ। ਅੰਤ ਵਿੱਚ ਪ੍ਰਬੰਧਕਾਂ ਨੇ ਸਮਾਗਮ ਨੂੰ ਸਫਲ ਬਣਾਉਣ ਲਈ ਸਮੂਹ ਹਾਜ਼ਰੀਨ ਦਾ ਧੰਨਵਾਦ ਕੀਤਾ। ਇਸ ਪ੍ਰੋਗਰਾਮ ਵਿੱਚ ਮਾਲਵਾ ਖੇਤਰ ਦੀਆਂ ਵੱਖ-ਵੱਖ ਸੰਸਥਾਵਾਂ ਦੇ ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ, ਖੋਜਾਰਥੀਆਂ ਅਤੇ ਅਧਿਆਪਕਾਂ ਨੇ ਭਾਗ ਲਿਆ।

 

Tags: Central University of Punjab , CUPB , Bathinda , Prof. Raghvendra P Tiwari

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD