Saturday, 22 June 2024

 

 

खास खबरें सरकार का ध्येय योग के जरिये हर व्यक्ति को रखना है स्वस्थ-नायब सिंह देहरा से मेरा पुश्तैनी रिश्ता, मैं देहरा का दामाद भी : सुखविंदर सिंह सुक्खू स्वस्थ जीवन शैली के लिए योग एक अचूक उपायः बलबीर सिंह विजीलैंस ब्यूरो ने गरीब परिवारों के लिए चावलों के वितरण में हुए 1.55 करोड़ रुपए के घोटाले का किया पर्दाफाश पंजाब सरकार की ओर से भक्त कबीर जी के प्रकाश पर्व के मौके पर होशियारपुर में प्रदेश स्तरीय समागम आज 'आप' उम्मीदवार मोहिंदर भगत ने जालंधर उपचुनाव के लिए भरा नामांकन प्रधानमंत्री ने श्रीनगर में ‘युवाओं को सशक्त बनाना, जम्मू-कश्मीर में बदलाव लाना’कार्यक्रम को संबोधित किया राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय राष्ट्रीय शारीरिक दिव्यांगजन संस्थान का दौरा किया सिर्फ दो वर्ष में अंतरिक्ष संबंधी स्टार्टअप में 200 गुना की वृद्धि हुई है : डॉ. जितेंद्र सिंह केंद्रीय वस्‍त्र मंत्री गिरिराज सिंह ने उद्योग प्रतिनिधियों से बातचीत की प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गई पहल से हरित अर्थव्यवस्था प्राप्त करने के लिए हरित आवरण लक्ष्य हासिल करने में मदद मिलेगी : भूपेंद्र यादव भूपेन्द्र यादव ने उत्तराखंड में आग प्रभावित वन क्षेत्रों का दौरा किया केंद्रीय मंत्री जी. कृष्ण रेड्डी ने कोयला खदानों के तेज परिचालन पर बल दिया संजय सेठ ने परिचालन तैयारियों की समीक्षा के लिए आईएनएस राजाली का दौरा किया बिजली उत्पादन करने वाला जिला बना ऊना : मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू चंडीगढ़ में धार्मिक स्थलों को तोड़कर बदला ले रहा प्रशासन : डॉ. एस.एस. आहलूवालिया बाढ़ के पानी से आमजन की प्रॉपर्टी को नुकसान न पहुंचे, इसके लिए युद्धस्तर पर प्रयास जारीः पूर्व गृह मंत्री अनिल विज पंजाब पुलिस ने सीमा पार से गैर-कानूनी हथियारों और नार्को-आतंकवाद हवाला रैकेट का किया पर्दाफाश; मुख्य साजिशकर्ता समेत 8 मुलजिम गिरफ्तार मान सरकार किसानों की आय बढ़ाने के लिए पठानकोट की लीची को विदेशों में भेजने की करेगी शुरुआतः चेतन सिंह जौड़ामाजरा मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान द्वारा प्रोबेशनर आई. ए. एस. अधिकारियों को अपनी ड्यूटी समर्पित भावना, संजीदगी और पेशेवर वचनबद्धता से निभाने का न्योता लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने में कोई कसर नहीं छोड़ी जायेगी - डॉ. बलबीर सिंह

 

चेतन सिंह जौड़ामाजरा द्वारा राज्य में बाग़बानी को प्रोत्साहित करने के लिए संशोधित नए नर्सरी नियम जारी

Chetan Singh Jauramajra AAP
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

चंडीगढ़ , 26 Dec 2023

पंजाब के बाग़बानी मंत्री स. चेतन सिंह जौड़ामाजरा द्वारा आज राज्य में बाग़बानी को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से संशोधित नए नर्सरी नियम जारी किए गए। कैबिनेट मंत्री ने पंजाब सिविल सचिवालय स्थित अपने दफ़्तर में इन नियमों को जारी करने के उपरांत बताया कि इन नियमों के अंतर्गत नर्सरियों को ट्रू-टू-टाईप पौधे तैयार करने के लिए दो साल का समय दिया गया है और इन पौधों को मदर प्लांट और बड स्टिक नर्सरियों में लगाना अनिवार्य किया गया है।

इसके अलावा इन पौधों की ट्रेसेबिलिटी करने के लिए नर्सरी मालिकों को बाध्य किया गया है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री स. भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा देश में पहल करते हुए सभी राज्यों से पहले पंजाब फ्रूट नर्सरी एक्ट, 1961 में संशोधन किया गया है। उन्होंने बताया कि इस नए नर्सरी एक्ट के अधीन नर्सरी मालिकों को वायरस मुक्त पौधे तैयार करने के लिए बाध्य किया गया है।

अन्य बिंदुओं पर प्रकाश डालते हुए कैबिनेट मंत्री ने कहा कि इस संशोधित नए नर्सरी एक्ट के अंतर्गत नर्सरी मालिकों के लिए वायरस मुक्त पौधों की खेती करना आवश्यक है। मंत्री ने कहा कि सब्जियों की नर्सरी सम्बन्धी लाइसेंस अनिवार्य है, परन्तु उपज का स्रोत और गुणवत्ता बीज एक्ट 1966 (1966 का केंद्रीय एक्ट 54) के अधीन नियंत्रित की जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि सभी रजिस्टर्ड बाग़बानी नर्सरियों के पास इन नियमों के लागू होने की तारीख़ से एक्ट के अधीन आने वाली शर्तें या ज़रूरतों को पूरा करने के लिए दो सालों की समय सीमा होगी।

इन नियमों में, नियम 6 के बाद कुछ मदों को बदला जायेगा जैसे कि लाइसेंस रद्द या निरस्त होने की सूरत में समर्थ अथॉरिटी या उसके द्वारा अधिकृत कोई व्यक्ति जिसका पद बाग़बानी विकास अधिकारी से कम न हो, द्वारा पौधों को नष्ट किया जायेगा। समर्थ अथॉरिटी द्वारा लाइसेंसधारक को पौधों, ग्राफ्ट किए गए पौधों को उखाडऩे का आदेश दिया जायेगा और ऐसा करने से इनकार करने की सूरत में, अथॉरिटी द्वारा लाइसेंसधारक के पौधों को उखाडऩे या खेत को मिलाने के लिए मज़दूरों या ट्रैक्टर का प्रयोग किया जायेगा।

कैबिनेट मंत्री ने कहा कि इसी तरह धारा 9 (संशोधित हुई) के अंतर्गत नर्सरियों को बीज प्रमाणीकरण एजेंसी (जब तक अलग बाग़बानी प्रमाणीकरण एजेंसी का गठन नहीं हो जाता) के अधीन बाग़बानी नर्सरी (क्रॉस या ओपन पॉलीनेटिड किस्मों को छोड़कर फल, सब्जियाँ, पौधे आदि के लिए) के रूप में रजिस्टर किया जाना अनिवार्य है और बीज प्रमाणीकरण एजेंसी ( जब तक अलग बाग़बानी प्रमाणीकरण एजेंसी का गठन नहीं हो जाता) के खाते में 1000 रुपए की रजिस्ट्रेशन फीस जमा करवानी होगी और नर्सरी लाइसेंस के लिए आवेदन करने या लाइसेंस रिन्यू के समय फॉर्म-10 भर कर आवेदन दिया जायेगा। 

इसके उपरांत बीज प्रमाणीकरण एजेंसी ( जब तक अलग बाग़बानी प्रमाणीकरण एजेंसी का गठन नहीं हो जाता) द्वारा नर्सरी के लाइसेंसधारक को सर्टिफिकेट जारी किया जायेगा। लाइसेंसधारक द्वारा यह सर्टिफिकेट अपनी नर्सरी में किसी प्रमुख स्थान पर प्रदर्शित किया जायेगा। फॉर्म-11, 12 और 13 के अनुसार बीज प्रमाणीकरण एजेंसी (जब तक अलग बाग़बानी प्रमाणीकरण एजेंसी का गठन नहीं हो जाता) द्वारा समय-समय पर निरीक्षण किया जायेगा और प्रति नर्सरी पाँच हज़ार रुपए सालाना की फीस ली जायेगी और यह फीस बीज प्रमाणीकरण एजेंसी ( जब तक अलग बाग़बानी प्रमाणीकरण एजेंसी का गठन नहीं हो जाता) के खाते में जमा की जायेगी। 

बीज एक्ट, 1966 की धारा 8 के अधीन बाग़बानी प्रमाणीकरण एजेंसी या तो बीज प्रमाणीकरण एजेंसी का हिस्सा होगी या एक स्वतंत्र संस्था के तौर पर काम करेगी। बाग़बानी विभाग के ज्वाइंट डायरैक्टर, एक डिप्टी डायरैक्टर, दो सहायक डायरैक्टर और बाग़बानी विभाग, पंजाब के नोडल अफ़सर ( नर्सरियों) को बाग़बानी विभाग में नामज़द या डैपूटेशन पर भेजा जा सकता है।  

 कैबिनेट मंत्री ने बताया कि नर्सरियों को ट्रेसेबिलिटी टैग (क्रॉस या ओपन पॉलीनेटिड किस्मों को छोड़कर बड या ग्राफ्ट या कटिंग के लिए) प्राप्त करना होगा और सब्जियों की नर्सरी (हाइब्रिड या सेल्फ पॉलीनेटिड किस्मों) के लिए नर्सरी के मालिक को बीज एक्ट, 1966 की सभी व्यवस्थाओं को पूरा करना होगा। इसके उपरांत बीज प्रमाणीकरण एजेंसी (जब तक अलग बाग़बानी प्रमाणीकरण एजेंसी का गठन नहीं हो जाता) या समर्थ अथॉरिटी द्वारा किए गए निरीक्षणों के आधार पर फॉर्म-14 में नर्सरी के नाम, वंश या रूटस्टॉक, किस्म के नाम को दिखाते हुए क्यूआर कोड के साथ टैग जारी किया जायेगा। 

टैग की कीमत के तौर पर प्रति पौधा पाँच रुपए या टैग की असली कीमत (जो भी अधिक हो) वसूली जायेगी। यह रकम बीज प्रमाणीकरण एजेंसी (जब तक अलग बाग़बानी प्रमाणीकरण एजेंसी का गठन नहीं हो जाता) के खाते में जमा की जायेगी। समर्थ अथॉरिटी द्वारा ज़रूरत पडऩे पर टैग की कीमत में संशोधन किया जा सकता है। इस मौके पर बाग़बानी विभाग कीं डायरैक्टर श्रीमति शैलेंदर कौर और सहायक डायरैक्टर बाग़बानी डॉ. हरप्रीत सिंह और अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

 

Tags: Chetan Singh Jauramajra , Chetan Singh Jormajra , Chetan Singh Jouramajra , AAP , Aam Aadmi Party , Aam Aadmi Party Punjab , AAP Punjab , Government of Punjab , Punjab Government

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD