Saturday, 13 April 2024

 

 

खास खबरें बढ़ रहा है भाजपा परिवार- यह देखकर खुशी हो रही है कि पूरे पटियाला जिले से सैकड़ों लोग रोजाना हमारे साथ जुड़ रहे हैं: परनीत कौर सीजीसी लांडरां में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई बैसाखी विजीलैंस ब्यूरो ने बीडीपीओ को 30 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए किया गिरफ्तार पारंपरिक मेलों की तरह लोकतंत्र के पर्व में भी जरूर लें हिस्सा: डी.सी. हेमराज बैरवा किसानों के लिए किसी ने गारंटी दी और उस गारंटी को पूरा किया वो चौधरी देवीलाल ने किया: अभय सिंह चौटाला भाजपा को अरविंद केजरीवाल से डर लगता है, वे राष्ट्रपति शासन के जरिए दिल्ली में पिछले दरवाजे से प्रवेश चाहते हैं: आप हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने दिल्ली में श्री लाल कृष्ण आडवाणी से की मुलाकात पात्र व्यक्ति 26 अप्रैल तक बनवा सकते हैं वोट : जिला निर्वाचन अधिकारी राहुल हुड्डा सोशल मीडिया पर जानकारी साझा करने में पंजाब के मुख्य चुनाव अधिकारी का कार्यालय राष्ट्रीय स्तर पर दूसरे स्थान पर: सिबिन सी स्व. बाबूराम शर्मा की याद में लांच किया कैलेंडर तीन दिवसीय वार्षिक "रिकोनैसंस-2024" आज पीईसी में शुरू हुआ पंजाब की मंडियों में गेहूं की आवक, खरीद व लिफ्टिंग का काम शुरू सांसद के रूप में 2 वर्षों की उपलब्धियाँ एवं निराशाएं -संजीव अरोड़ा मेरे दिल के करीब है जयपुर-भूमि पेडनेकर "एरियल" के नए अभियान में अनिल कपूर और सोनम कपूर ने होम टीम में साझेदारी के महत्व पर जोर दिया ईद 2025 होगा सलमान खान की ‘सिकंदर’ के नाम लुब्रिज़ोल कॉर्पोरेशन ने पुणे में नया ग्लोबल कैपेबिलिटी सेंटर शुरू किया भाजपा प्रदेश कार्यालय में हुई चिकित्सा प्रकोष्ठ की नई कार्यकारिणी की पहली बैठक पंजाब में शराब नीति घोटाले और अवैध खनन की सी.बी.आई जांच की मांग की: सरदार बिक्रम सिंह मजीठिया कुरूक्षेत्र लोकसभा चुनावों में सर्वहित पार्टी एवं स्व. तेजी मान के बेटे बोनी मान ने दिया इनेलो को समर्थन अमरिंदर सिंह राजा वडिंग ने कहा, अकाली दल बादल के अंत की शुरुआत

 

बांध सुरक्षा अधिनियम की अनुपालना न करने पर प्रबन्धन पर होगी कार्रवाई : मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना

Chief Secretary Himachal Pradesh, Prabodh Saxena, Himachal Pradesh, Shimla, Chief Secretary Himachal
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

शिमला , 18 Aug 2023

मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना ने आज यहां बांधों से पानी छोड़े जाने के संबंध में सुरक्षा मुद्दों पर आयोजित बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने कहा कि प्रदेश इस वर्ष भारी वर्षा से हो रही आपदाओं से अभूतपूर्व चुनौतियों का सामना कर रहा है। हालांकि काफी हद तक यह प्राकृतिक आपदा है लेकिन बांध सुरक्षा अधिनियम-2021 (डीएसए) और केन्द्रीय जल आयोग द्वारा वर्ष 2015 में जारी दिशा-निर्देशों की अनुपालना न करने पर बांध परियोजनाओं में विफलता के लिए बांध प्रबन्धन की जिम्मेदारी भी तय की जानी चाहिए। 

केन्द्रीय जल आयोग द्वारा वर्ष 2014 में आंध्र प्रदेश राज्य के 24 छात्रों के पानी में बह जाने के बाद बांधों से पानी छोड़े जाने तथा आपदा पूर्व चेतावनी प्रणाली को मज़बूत करने को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। मुख्य सचिव ने कहा कि इस अधिनियम में सभी निर्दिष्ट बांधों की निगरानी, निरीक्षण, संचालन और रख-रखाव का प्रावधान है, लेकिन कुछेक प्राधिकरण इनकी अनुपालन में विफल रहे हैं और परिणामस्वरूप सार्वजनिक और निजी संपत्ति तथा फसल को भारी नुकसान होने के साथ-साथ सड़क नेटवर्क में भी बाधा आई है। 

उन्होंने कहा कि स्पष्ट दिशा-निर्देशों के बावजूद अनुपालना में किसी भी प्रकार की चूक को गंभीरता से लिया जाएगा और दोषियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। मुख्य सचिव ने संबंधित अधिकारियों को बांध प्रबन्धन की लापरवाही के कारण हुए नुकसान पर रिपोर्ट देने को कहा ताकि दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सके। उन्होंने कहा कि राज्य में वर्तमान परिस्थितियों से स्पष्ट इंगित होता है कि बांध सुरक्षा जांच मानकों के अनुसार नहीं की गई। 

उन्होंने कहा कि डीएसए के तहत प्रारंभिक चेतावनी प्रणाली की स्थापना, जल निकासी संबंधी दिशा-निर्देश, नियंत्रण कक्ष की स्थापना, जलाशय रख-रखाव, आपातकालीन कार्य योजना और बांध स्थलों और पावर हाउस के बीच बेहतर संचार इत्यादि का प्रावधान है। उन्होंने अधिकारियों से यह सुनिश्चित करने को कहा कि इन कड़े प्रावधानों को धरातल पर लागू किया जाए।

मुख्य सचिव ने कहा कि बांधों का जोखिम मूल्यांकन नियमित आधार पर किया जाना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हिमाचल के सभी बांधों पर सुरक्षा इकाइयां चौबीसों घंटे कार्यशील रहें। उन्होंने बांध सुरक्षा पर राज्य समिति और राज्य बांध सुरक्षा संगठन के प्रभावी कामकाज पर भी बल दिया।

बैठक में पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू, वित्त आयुक्त राजस्व ओंकार चंद शर्मा, निदेशक ऊर्जा हरिकेश मीणा, निदेशक-एवं-विशेष सचिव (एसडीएमए) डी.सी. राणा, सचिव ऊर्जा राजीव शर्मा, ऊर्जा विभाग के मुख्य अभियंता इंजीनियर डी.पी. गुप्ता, उप मुख्य अभियंता ऊर्जा, दीपक जसरोटिया तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

Tags: Chief Secretary Himachal Pradesh , Prabodh Saxena , Himachal Pradesh , Shimla , Chief Secretary Himachal

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD