Saturday, 02 March 2024

 

 

खास खबरें सीजीसी के बायोटेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट ने एफडीपी का आयोजन किया एलपीयू ने खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स की ओवरऑल फर्स्ट रनर अप ट्रॉफी जीती PEC के फैकल्टी मेंबर को बॉम्बे आर्ट सोसाइटी द्वारा किया गया सम्मानित डा. बी. आर. अम्बेडकर स्टेट इंस्टीट्यूट आफ मैडीकल सायंसज़ मोहाली को जल्द मिलेगा 6 बैडों वाला आई. सी. यू. मुख्यमंत्री ने कसौली विधानसभा क्षेत्र में 88.78 करोड़ रुपये की 13 विकास परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए सांसद संजीव अरोड़ा ने डीसी के साथ लुधियाना के विकास कार्यों पर की चर्चा राज्यपाल का भाषण रोकने का यत्न करके कांग्रेस ने पवित्र सदन का अपमान किया : हरपाल सिंह चीमा 8 हजार रुपए रिश्वत लेता ए.एस.आई. विजीलैंस ब्यूरो ने किया गिरफ्तार हिमाचल प्रदेश मंत्रिमण्डल के निर्णय कांग्रेस की सरकार खो चुकी है बहुमत, अपने कर्मों से हुई है उसकी यह स्थिति : जयराम ठाकुर सरूप रानी महिला महाविधालय मे करवाया जिला स्तरीय पड़ोस युवा संसद कार्यक्रम का आयोजन खेल से होता है बच्चों का मानसिक एवं शारीरिक विकास : हरचंद सिंह बरसट संजीव अरोड़ा ने हरचंद सिंह बरसट, डॉ. गोसल और अन्य के साथ मातृभाषा पंजाबी पर प्रकाश डालते हुए महत्वपूर्ण कार्य किये शुरू डिप्टी स्पीकर जय कृष्ण सिंह रौढ़ी ने 11.79 करोड़ रुपए की लागत से माहिलपुर में पानी व सीवरेज के प्रोजैक्ट की करवाई शुरुआत ‘आप दी सरकार आप दे दुआर’- कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने गांव शेरगढ़ में लगे कैंप का लिया जायजा अतिरिक्त मुख्य चुनाव अधिकारी पंजाब ने लोक सभा चुनाव 2024 की तैयारियों का लिया जायजा अकाली और कांग्रेसी सरकारों ने सोची-समझी साजिश के अंतर्गत पंजाब की सरकारी संस्थाएं तबाह की : भगवंत सिंह मान बादल परिवार ने अपने निजी लाभों के लिए पंजाब के लोगों के करोड़ों रुपए लूटे : भगवंत सिंह मान स्वास्थ्य सेवा में क्रांतिकारी बदलाव लाई है आम आदमी क्लीनिकः ब्रम शंकर जिंपा एलपीयू ने खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स की ओवरऑल फर्स्ट रनर अप ट्रॉफी जीती फ़र्ज़ी विजीलैंस अधिकारी बन कर किसान के साथ धोखाधड़ी करने के मामले में भगौड़ा मुलजिम पिन्दर सोढी विजीलैंस ब्यूरो द्वारा गिरफ़्तार

 

कभी वाम का गढ़ रहे कन्याकुमारी में अब एक भी एलडीएफ उम्मीदवार नहीं

  Election Special, Kanyakumari, Chennai, Secular Progressive Alliance, SPA
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

चेन्नई , 30 Mar 2021

तमिलनाडु का कन्याकुमारी जिला, जो केरल के साथ अपनी सीमाओं को साझा करता है, कभी वाम दल का गढ़ हुआ करता था, जब जिले के विधायक और एक सांसद दोनों माकपा के थे। हालांकि, 2021 के विधानसभा चुनावों में, दोनों वाम दलों माकपा और सीपीआई का एक भी उम्मीदवार नहीं है क्योंकि द्रमुक जो 10 पार्टी सेकुलर प्रोग्रेसिव अलायंस (एसपीए) का नेतृत्व कर रहा है, उसने वाम दलों को एक भी सीट नहीं दिया है। तमिलनाडु चुनाव के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि वाम दलों के पास कन्याकुमारी जिले से चुनाव लड़ने के लिए एक भी सीट नहीं है।पार्टी के कार्यकर्ता एक भी सीट के लिए समझौता नहीं हो पाने से निराश हैं।द्रमुक नेतृत्व जानता है कि वामपंथी दलों के पास जिले में कुछ समर्पित पुराने नेताओं को छोड़कर कोई कैडर बेस नहीं है।माकपा केरल की सीमा से लगे विलवनकोड, पुराने थिरुवत्तार और पद्मनाभपुरम जैसे क्षेत्रों में एक मजबूत राजनीतिक पार्टी थी, हालांकि, हालिया समय में पार्टी धीरे-धीरे कमजोर हो गई है और कैडर की ताकत लगभग जीरो है।1977, 1980, 1996 और 2001 में और 2006 में माकपा द्वारा विलवनकोड सीट जीती गई, लेकिन 2016 में जब माकपा ने किसी भी द्रविड़ पार्टी के समर्थन के बिना सीट पर अकेले चुनाव लड़ा, तो यह तीसरे स्थान पर आ गई।कुजीथुरा म्यूनिसिपैलिटी पर माकपा का तीन कार्यकाल तक शासन रहा और वह भी द्रविड़ पार्टियों के समर्थन के बिना। पार्टी के नेता डेल्फिन यहां से लगातार तीन बार अध्यक्ष बने थे।पद्मनाभपुरम निर्वाचन क्षेत्र में जो कन्याकुमारी जिले में है, माकपा ने 1980, 1984, 1999 और 2001 में जीता था और जे. हेमचंद्रन जिन्होंने सीट जीती थी, कभी तमिलनाडु विधानसभा में विपक्ष के नेता हुआ करते थे।माकपा राज्य समिति के सदस्य एन. ए. नूर मोहम्मद पद्मानभपुरम से विधायक थे, साथ ही नगर पालिका के अध्यक्ष थे और थिरुवत्तुर और पद्मनाभपुरम विलय के बाद और एक निर्वाचन क्षेत्र बन जाने के बाद, माकपा एक भी सीट नहीं जीत पाई।नागरकोइल लोकसभा सीट पर माकपा नेता ए.वी. बेल्लारमीन ने भाजपा के पोन राधाकृष्णन को हराया था। सीट का नाम अब नगरकोइल के बजाय कन्याकुमारी रखा गया है और मुकाबला राधाकृष्णन और कांग्रेस पार्टी के विजय वसंत के बीच है।माकपा और सीपीआई को द्रमुक से 2019 के लोकसभा चुनाव में 25 करोड़ रुपये की राशि प्राप्त करने पर आलोचना का सामना भी करना पड़ रहा है, जिसे द्रमुक द्वारा चुनाव आयोग के समक्ष अपने हलफनामे में घोषित किया गया था।सुपरस्टार से राजनेता बने और मक्कल नीधि माईम (एमएनएम) के अध्यक्ष कमल हासन ने हाल ही में इस मुद्दे को उठाया था और माकपा और सीपीआई को इसका बचाव करना पड़ा था।

 

Tags: Election Special , Kanyakumari , Chennai , Secular Progressive Alliance , SPA

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD