Sunday, 19 May 2024

 

 

खास खबरें मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कुरुक्षेत्र से 'आप' उम्मीदवार डॉ. सुशील गुप्ता के लिए किया प्रचार महिला सशक्तिकरण तो दूर महिलाओं का सम्मान तक नहीं करते "आप" नेता : जय इंद्र कौर वर्ल्ड क्लॉस की स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए वचनबद्ध : विजय इंदर सिंगला इलेक्शन लोकतंत्र है और यहां हथियारों की नहीं बल्कि विचारों की लड़ाई होनी चाहिए : गुरजीत सिंह औजला अकाली दल के घोषणा पत्र में पंथक और क्षेत्रीय मजबूती का आहवाहन परिवर्तन की सरकार ने किया पंजाब को कर्जदार - गुरजीत औजला डॉ. एस.पी. सिंह ओबेरॉय के प्रयासों से जालंधर जिले के युवक का शव पहुंचा भारत दो साल में हमारी सरकार और मेरे काम को देखें, फिर तय करें कि आपको क्या चाहिए: मीत हेयर सीपीआई एम.एल. (लिबरेशन) ने की गुरजीत औजला के पक्ष में चुनावी रैली सनौर में अकाली दल प्रत्याशी के कार्यालय का उदघाटन खरड़ में निर्माणाधीन श्री राम मंदिर का दौरा करने के लिए माननीय राज्यपाल पंजाब को अनुरोध पत्र परनीत कौर व गांधी पटियाला हलके के लिए कोई प्रोजैक्ट नहीं लाए:एन.के.शर्मा मलोया में 20 मई को योगी आदित्य नाथ की विशाल चुनावी जनसभा-प्रदेशाध्यक्ष जतिंदर पाल मल्होत्रा फिल्म 'करतम भुगतम ' को ऑडियंस का प्यार और बॉक्स ऑफिस पर मिली सफलता लोक सभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग की हिदायतों का पूरा पालन किया जाए: जनरल पर्यवेक्षक जिला निर्वाचन अधिकारी कोमल मित्तल की देखरेख में वोटिंग मशीनों का पूरक रैंडमाइजेशन किया गया फिल्म कुड़ी हरियाणे वल दी / छोरी हरियाणे आली के टीजर में जट्ट और जाटनी के रूप में चमके एमी विर्क और सोनम बाजवा पंजाबी सावधान रहें, आप और कांग्रेस एक ही थाली के चट्टे-बट्टे : डॉ. सुभाष शर्मा आनंदपुर लोकसभा के अंतर्गत आता गढ़शंकर ग्रीन चुनाव के लिए एक मॉडल के रूप में करेगा 2024 की दूसरी छमाही में बड़े OTT शो के सीक्वल का बेसब्री से इंतज़ार: मिर्ज़ापुर 3 से ताज़ा ख़बर 2 तक आनंदपुर साहिब संसदीय क्षेत्र देश में हरित चुनाव का मॉडल बनकर उभरेगा

 

सीईसी-सीजीसी लांडरां में एआई स्किल्स लैब का उद्घाटन किया गया

CGC Landran, Landran, Chandigarh Group Of Colleges, Satnam Singh Sandhu, Rashpal Singh Dhaliwal
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

लांडरां , 09 Apr 2024

चंडीगढ़ इंजीनियरिंग कॉलेज (सीईसी)-सीजीसी लांडरां ने इंटेल और डेल टेक्नोलॉजी के सहयोग से लांडरां में एक स्टेट-ऑफ-ऑफ-द-आर्ट आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) स्किल्स लैब स्थापित की है। जिसका मुख्य उद्देश्य छात्रों को टेक्निकल शिक्षा में मजबूती प्रदान करना है। 

यह उद्घाटन सीजीसी लांडरां के प्रेजिडेंट रशपाल सिंह धालीवाल, द्वारा इंटेल की प्रोग्राम मैनेजर मिस पूजा, डेल टेक्नोलॉजी के अकाउंट मैनेजर-नार्थ और सेंट्रल, श्री प्रीतिश गुंबर, सीजीसी लांडरां के कैम्पस डायरेक्टर डॉ. पी.एन. ऋषीकेशा, एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर - इंजीनियरिंग, डॉ. राजदीप सिंह, हेड ऑफ डिपार्टमेंट, सीएसई, सीईसी-सीजीसी लांडरां, डॉ. सुखप्रीत कौर आदि, की उपस्थिति में किया गया।

एआई फॉर यूथ की इस पहल के तहत फैकल्टी के 25 से ज़्यादा मेंबर्स को सर्टिफाइड ट्रेनर्स के रूप में प्रशिक्षित करने के साथ-साथ एआई स्किल लैब सीजीसी छात्रों को इंडस्ट्री रैडी प्रोफेशनल्स (उद्योग के लिए तैयार पेशेवर), नवीन और बेहतर तकनीकी ज्ञान और कौशल प्रदान करके भविष्य के लिए नौकरी निर्माता बनने में भी सक्षम बनाया जाएगा। 200 घंटे की ट्रेनिंग पूरी होने के बाद सीजीसी के छात्रों को इंटेल और डेल टेक्नोलॉजीज की ओर से सर्टिफिकेट दिए जाएंगे। 

डेल ऑप्टिप्लेक्स कंप्यूटर और इंटेल के न्यूरल कंप्यूट स्टिक-2 से सुसज्जित एआई स्किल्स लैब छात्रों को कंप्यूटर विज़न, प्राकृतिक भाषा प्रसंस्करण (एनएलपी), ओपनवाइनो और अन्य एआई प्रौद्योगिकियों से संबंधित परियोजनाओं पर काम करने का अवसर प्रदान करेगी। इसके साथ ही, छात्र बूटकैंप, एआई-थॉन्स, वर्चुअल शोकेस और अन्य टूल के माध्यम से एआई जैसी उभरती प्रौद्योगिकियों और दुनिया में इसके प्रभाव और परिवर्तनकारी भूमिका को समझने में सक्षम होंगे।

सीजीसी लांडरां के प्रेज़िडेंट  रश्पाल सिंह धालीवाल  ने इस पहल की प्रशंसा की। सीजीसी के संगठन में रिसर्च और इनोवेशन की संस्कृति को बढ़ावा देने के प्रति समर्पितता को दोहराते हुए उन्होंने फ्यूचर रेडी वर्कफोर्स को तैयार करने के महत्व को उजागर किया, जो देश की आर्थिक वृद्धि को प्रोत्साहित करेगा। इंडस्ट्री और अकादमिक एक्सपर्ट्स को एक मंच पर लाकर एआई स्किल लैब डिजिटल कौशल अंतर को पाटने में भी मदद करेगी, जिससे सीजीसी के छात्र भविष्य के लिए तैयार होंगे और लगातार विकसित हो रहे नौकरी बाजार में फलने-फूलने में सक्षम होंगे। 

छात्र बुनियादी स्तर के ज्ञान को विकसित करने और नवीनतम तकनीकी कौशल प्राप्त करने के लिए इनोवेशन और हैंड्स ऑन ट्रेनिंग प्राप्त कर पाएँगे  जो उन्हें यह उन्हें गंभीर सामाजिक समस्याओं के लिए प्रभावी एआई समाधान विकसित करने के लिए प्रोत्साहित करेगा और देश की आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा देने में भी योगदान देगा।

ਸੀਈਸੀ ਸੀਜੀਸੀ ਲਾਂਡਰਾਂ ਵਿਖੇ ਏਆਈ ਸਕਿੱਲ ਲੈਬ ਦਾ ਉਦਘਾਟਨ

ਲਾਂਡਰਾਂ 

ਚੰਡੀਗੜ੍ਹ ਇੰਜਨੀਅਰਿੰਗ ਕਾਲਜ (ਸੀਈਸੀ)-ਸੀਜੀਸੀ ਲਾਂਡਰਾਂ ਵਿਖੇ ਏਆਈ ਫਾਰ ਯੂਥ ਉਪਰਾਲੇ ਤਹਿਤ ਇੰਟੈਲ ਅਤੇ ਡੈਲ ਟੈਕਨਾਲੋਜੀ ਦੇ ਸਹਿਯੋਗ ਸਦਕਾ ਇੱਕ ਆਧੁਨਿਕ ਆਰਟੀਫਿਸ਼ੀਅਲ ਇੰਟੈਲੀਜੈਂਸ (ਏਆਈ) ਸਕਿੱਲ ਲੈਬ ਸਥਾਪਿਤ ਕੀਤੀ ਗਈ ਹੈ। ਇਸ ਲੈਬ ਦਾ ਉਦਘਾਟਨ ਸੀਜੀਸੀ ਲਾਂਡਰਾਂ ਦੇ ਪ੍ਰਧਾਨ ਸ.ਰਸ਼ਪਾਲ ਸਿੰਘ ਧਾਲੀਵਾਲ ਵੱਲੋਂ ਕੀਤਾ ਗਿਆ। 

ਇਸ ਮੌਕੇ ਉਨ੍ਹਾਂ ਨਾਲ ਪੂਜਾ ਜੀ, ਪ੍ਰੋਗਰਾਮ ਮੈਨੇਜਰ, ਇੰਟੇਲ, ਸ਼੍ਰੀ ਪ੍ਰੀਤਿਸ਼ ਗੁੰਬਰ, ਅਕਾਊਂਟ ਮੈਨੇਜਰ, ਉੱਤਰੀ ਅਤੇ ਕੇਂਦਰੀ, ਡੈਲ ਟੈਕਨਾਲੋਜੀ, ਡਾ.ਪੀ.ਐਨ. ਰੀਸ਼ੀਕੇਸ਼ਾ, ਕੈਂਪਸ ਡਾਇਰੈਕਟਰ, ਸੀਜੀਸੀ ਲਾਂਡਰਾਂ, ਡਾ.ਰਾਜਦੀਪ ਸਿੰਘ, ਕਾਰਜਕਾਰੀ ਨਿਰਦੇਸ਼ਕ ਇੰਜੀਨੀਅਰਿੰਗ, ਡਾ.ਸੁਖਪ੍ਰੀਤ ਕੌਰ, ਐਚਓਡੀ, ਸੀਐਸਈ, ਸੀਈਸੀ-ਸੀਜੀਸੀ ਲਾਂਡਰਾਂ, ਆਦਿ ਹਾਜ਼ਰ ਸਨ।ਏਆਈ ਫਾਰ ਯੂਥ ਉਪਰਾਲੇ ਤਹਿਤ ਇਹ ਲੈਬ 25 ਤੋਂ ਵੱਧ ਚੋਣਵੇਂ ਫੈਕਲਟੀ ਮੈਂਬਰਾਂ ਨੂੰ ਪ੍ਰਮਾਣਿਤ ਟ੍ਰੇਨਰਾਂ ਵਜੋਂ ਸਿਖਲਾਈ ਦੇਣ ਦੇ ਨਾਲ-ਨਾਲ ਸੀਜੀਸੀ ਦੇ ਵਿਿਦਆਰਥੀਆਂ ਨੂੰ ਉਦਯੋਗ ਲਈ ਤਿਆਰ ਪੇਸ਼ੇਵਰ, ਨਵੀਨਤਾਕਾਰੀ ਅਤੇ ਉੱਤਮ ਤਕਨੀਕੀ ਗਿਆਨ ਅਤੇ ਹੁਨਰ ਪ੍ਰਦਾਨ ਕਰ ਕੇ ਭਵਿੱਖ ਲਈ ਨੌਕਰੀ ਨਿਰਮਾਤਾ ਬਣਨ ਦੇ ਸਮਰੱਥ ਬਣਾਏਗੀ। 

200 ਘੰਟੇ ਦੀ ਸਿਖਲਾਈ ਪੂਰੀ ਹੋਣ ਉਪਰੰਤ ਵਿਿਦਆਰਥੀਆਂ ਨੂੰ ਇੰਟੈਲ ਅਤੇ ਡੈਲ ਟੈਕਨਾਲੋਜੀ ਵੱਲੋਂ ਸਰਟੀਫਿਕੇਟ ਦਿੱਤੇ ਜਾਣਗੇ। ਡੈਲ ਆਪਟੀਪਲੇਕਸ ਕੰਪਿਊਟਰਾਂ ਅਤੇ ਇੰਟੈਲ ਦੇ ਨਿਊਰਲ ਕੰਪਿਊਟ ਸਟਿਕ-2 ਨਾਲ ਲੈਸ ਇਹ ਲੈਬ ਵਿਿਦਆਰਥੀਆਂ ਨੂੰ ਕੰਪਿਊਟਰ ਵਿਜ਼ਨ, ਨੈਚੁਰਲ ਲੈਂਗੂਏਜ ਪ੍ਰੋਸੈਸਿੰਗ (ਐਨਐਲਪੀ), ੳਪਨਵਾਇਨੋ ਅਤੇ  ਹੋਰ ਏਆਈ ਤਕਨੀਕਾਂ ਨਾਲ ਜੁੜੇ ਪ੍ਰੋਜੈਕਟਾਂ ਤੇ ਕੰਮ ਕਰਨ ਦੀ ਇਜਾਜ਼ਤ ਦੇਵੇਗੀ। ਇਸ ਦੇ ਨਾਲ ਹੀ ਵਿਿਦਆਰਥੀ ਏਆਈ ਵਰਗੀਆਂ ਉੱਭਰਦੀਆਂ ਤਕਨੀਕਾਂ ਅਤੇ ਬੂਟਕੈਂਪਾਂ, ਏਆਈ-ਥਾੱਨਸ, ਵਰਚੁਅਲ ਸ਼ੋਅਕੇਸ ਅਤੇ ਹੋਰ ਸਾਧਨਾਂ ਰਾਹੀਂ ਵਿਸ਼ਵ ’ਤੇ ਪੈਂਦੇ ਇਸ ਦੇ ਪ੍ਰਭਾਵਾਂ ਅਤੇ ਪਰਿਵਰਤਨਸ਼ੀਲ ਭੂਮਿਕਾ ਨੂੰ ਸਮਝਣ ਦੇ ਯੋਗ ਹੋਣਗੇ।

ਸੀਜੀਸੀ ਲਾਂਡਰਾਂ ਦੇ ਪ੍ਰਧਾਨ ਸ.ਰਸ਼ਪਾਲ ਸਿੰਘ ਧਾਲੀਵਾਲ ਨੇ ਇਸ ਪਹਿਲਕਦਮੀ ਦੀ ਸ਼ਲਾਘਾ ਕੀਤੀ ਅਤੇ ਕੈਂਪਸ ਵਿੱਚ ਖੋਜ ਅਤੇ ਨਵੀਨਤਾ ਦੇ ਸੱਭਿਆਚਾਰ ਨੂੰ ਬੜਾਵਾ ਦੇਣ ਲਈ ਫਿਊਚਰ ਰੇਡੀ ਵਰਕ ਫੋਰਸ ਤਿਆਰ ਕਰਨ ਵਿੱਚ ਸਹਿਯੋਗ ਦੇਣ ਲਈ ਸੀਜੀਸੀ ਦੀ ਵਚਨਬੱਧਤਾ ਨੂੰ ਰੇਖਾਂਕਿਤ ਕੀਤਾ ਜੋ ਕਿ ਦੇਸ਼ ਦੀ ਆਰਥਿਕ ਵਿਕਾਸ ਨੂੰ ਵਧਾਏਗੀ। ਉਦਯੋਗ ਅਤੇ ਅਕਾਦਮਿਕ ਮਾਹਿਰਾਂ ਨੂੰ ਇੱਕੋ ਮੰਚ ’ਤੇ ਇਕੱਠਾ ਕਰ ਕੇ ਏਆਈ ਸਕਿੱਲ ਲੈਬ ਡਿਜੀਟਲ ਸਕਿੱਲ ਵਿਚਕਾਰਲੇ ਪਾੜੇ ਨੂੰ ਪੂਰਾ ਕਰਨ ਵਿੱਚ ਸਹਾਇਕ ਹੋਵੇਗੀ। 

ਜਿਸ ਨਾਲ ਸੀਜੀਸੀ ਦੇ ਵਿਿਦਆਰਥੀ ਰੋਜ਼ਗਾਰ ਬਾਜ਼ਾਰ ਵਿੱਚ ਵਧਣ ਫੁੱਲਣ ਵਿੱਚ ਮਾਹਰ ਹੋਣਗੇ ਅਤੇ ਭਵਿੱਖ ਵਿੱਚ ਕੰਮ ਕਰਨ ਲਈ ਤਿਆਰ ਹੋਣਗੇ। ਇਸ ਉਪਰਾਲੇ ਨਾਲ ਵਿਿਦਆਰਥੀ ਬੁਨਿਆਦੀ ਪੱਧਰ ਦਾ ਗਿਆਨ ਹਾਸਲ ਕਰਨ ਲਈ ਖੋਜ ਕਰਨ, ਇਸ ਨੂੰ ਸਮਝਣ, ਨਵੀਨਤਾਕਾਰੀ ਅਤੇ ਹੈਂਡਜ਼-ਆੱਨ (ਵਿਹਾਰਕ ਅਤੇ ਕਰਿਆਸ਼ੀਲ) ਟ੍ਰੇਨਿੰਗ ਪ੍ਰਾਪਤ ਕਰਨ ਦੇ ਸਮਰੱਥ ਹੋਣਗੇ।ਇਹ ਸਿਖਲਾਈ ਉਨ੍ਹਾਂ ਨੂੰ ਸਮਾਜਿਕ ਸਮੱਸਿਆਵਾਂ ਖਤਮ ਕਰਨ ਲਈ ਪ੍ਰਭਾਵਸ਼ਾਲੀ ਏਆਈ ਹੱਲ ਵਿਕਸਿਤ ਕਰਨ ਵਿੱਚ ਸਹਾਇਕ ਹੋਵੇਗੀ।

AI Skills Lab inaugurated at CEC-CGC Landran

Landran

A state-of-the-art Artificial Intelligence (AI) Skills Lab has been set up on campus by Chandigarh Engineering College (CEC)-CGC Landran in collaboration with Intel and Dell Technologies, under the latter’s AI for Youth program. The facility was inaugurated by Rashpal Singh Dhaliwal, President, CGC Landran, in the presence of Ms. Pooja, Program Manager, Intel, Mr. Preetish Gumber, Account Manager – North and Central, Dell Technologies, Dr. P.N. Hrisheekesha, Campus Director, CGC Landran, Dr Rajdeep Singh, Executive Director-Engineering, Dr. Sukhpreet Kaur, HoD, CSE, CEC-CGC Landran, among others.

The lab, under the AI for Youth initiative, in addition to training 25-plus select faculty members as certified trainers would empower CGC students to become industry-ready professionals, innovators and job creators of tomorrow, having superior technical knowledge and skills. Students will be awarded certificates by Intel and Dell Technologies after completion of 200-hours of training. 

Equipped with Dell Optiplex computers and Intel's Neural Compute Stick 2, the lab will allow them to work on projects involving computer vision, natural language processing (NLP), OpenVINO, and other AI technologies. Students would be able to understand emerging technologies like AI and its transformative role and impact on the world through bootcamps, AI-Thons, virtual showcases and other tools.

Rashpal Singh Dhaliwal, President, CGC Landran lauded the initiative and underlined CGC’s commitment towards nurturing and promoting a culture of research and innovation in campus, helping prepare a future-ready workforce. By bringing together industry and academic experts on one platform the AI Skills Lab would also aid in bridging the digital skills gap, thereby making CGC students ready for the future and adept at flourishing in an ever-evolving job market. 

Students will be able to explore, understand, innovate and get hands-on training in developing foundation-level knowledge and in acquiring the latest technical skills. This would further encourage them to develop effective AI solutions for pressing social problems and also contribute towards fuelling the country’s economic growth.

 

Tags: CGC Landran , Landran , Chandigarh Group Of Colleges , Satnam Singh Sandhu , Rashpal Singh Dhaliwal

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD