Saturday, 15 June 2024

 

 

खास खबरें ब्रम शंकर जिम्पा ने राजस्व विभाग में व्यापक स्तर पर सुधार करने के लिए उच्च अधिकारियों को सख़्त निर्देश जारी किए आप सांसद मलविंदर कंग ने शेर सिंह घुबाया के बयान की निंदा की, कहा - जनता को धमकी देना अमर्यादित और अलोकतांत्रिक मोदी 3 में केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया से मिले सुखविंदर सिंह बिंद्रा शिमला, चंबा, सिरमौर, मंडी और कुल्लू में स्थापित होंगी एनडीआरएफ की छोटी टुकड़ियां पंजाब विधान सभा के स्पीकर कुलतार सिंह संधवां ने अमृतसर हेरिटेज स्ट्रीट के नवीनीकरण की ज़रूरत पर ज़ोर दिया आने वाली पीढ़ीयों के लिए वातावरण की रक्षा करना हमारा अहम फर्ज - लाल चंद कटारूचक्क चुनाव आयोग द्वारा हरियाणा के संबंध में जारी वोटरों के आंकड़ों एवं मतगणना में ई.वी.एम. से प्राप्त वोटों में अंतर महाराजा अग्रसेन हिसार हवाई अड्डे से प्रदेश की राजधानी चंडीगढ़ समेत 5 प्रदेशों के लिए अगस्त से शुरू होगी उड़ान : नायब सिंह पुलिस महानिदेशक ने सीसीटीएनएस तथा आईसीजेएस प्रणाली को लेकर स्टेट एंपावर्ड कमेटी के सदस्यों के साथ की समीक्षा बैठक अब करनाल में डोमेस्टिक एयरपोर्ट बनाने की परियोजना पर काम करेगी सरकार - डॉ. कमल गुप्ता शहरों में कृषि भूमि की खरीद -फरोख्त में एन.डी.सी. की आवश्यकता नहीं -सुभाष सुधा असीम गोयल ने जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक में सुनी आमजन की समस्याएं डीजीपी पंजाब गौरव यादव द्वारा फील्ड अधिकारियों को राज्य से ड्रग्स और गैंगस्टर संस्कृति को खत्म करने का निर्देश मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने बल्क ड्रग पार्क के स्थापना कार्य की प्रगति की समीक्षा की कुलतार सिंह संधवां ने महान कोष को संशोधन कर पुन: प्रकाशित करने संबंधी अलग-अलग सिख संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ किया विचार-विमर्श मैं चुनौतीपूर्ण रोल्स अपनाने के लिए तैयार हूँ: ज़रीन खान विश्व बैंक की टीम ने बागवानी मंत्री जगत सिंह नेगी से भेंट की पैरिस ओलम्पिक्स में हिस्सा लेने जाने वाले प्रत्येक पंजाबी खिलाड़ी को मिलेंगे 15 लाख रुपए : मीत हेयर यूटी प्रशासक द्वारा शहरवासियों को मुफ्त पानी देने के प्रस्ताव को खारिज करना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण: डॉ. एसएस आहलूवालिया मनसुख मांडविया ने युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय का पदभार संभाला रक्षा निखिल खडसे ने युवा कार्यक्रम एवं खेल राज्यमंत्री का कार्यभार संभाला

 

केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री गिरिराज सिंह ने 'कैक्टस रोपण और इसके आर्थिक उपयोग' विषय पर बैठक की

बैठक में ब्राजील, चिली, मैक्सिको एवं मोरक्को के राजदूत और विभिन्न देशों के विशेषज्ञों ने भाग लिया

Giriraj Singh, BJP, Bharatiya Janata Party, Cactus Plantation and its Economic Usage, Cactus Plantation, Indian Council of Agricultural Research, ICAR, International Center for Agricultural Research in the Dry Areas, ICARDA, Niranjan Jyoti, Sadhvi Niranjan Jyoti, Faggan Singh Kulaste
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

नई दिल्ली , 08 Dec 2022

केंद्रीय ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री गिरिराज सिंह ने आज नई दिल्ली में 'कैक्टस रोपण और इसके आर्थिक उपयोग' विषय पर एक परामर्श बैठक आयोजित की। चिली के राजदूत श्री जुआन अंगुलो एम; मोरक्को दूतावास के मिशन उप प्रमुख श्री एराचिद अलौई मरानी; ब्राजील दूतावास के ऊर्जा प्रभाग की प्रमुख श्रीमती कैरोलिना सैटो; ब्राजील दूतावास के कृषि सहायक श्री एंजेलो मौरिसियो भी बैठक में शामिल हुए। 

वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए इन देशों के भारतीय राजदूतों ने भी बैठक में भाग लिया।बैठक में चिली, मैक्सिको, ब्राजील, मोरक्को, ट्यूनीशिया, इटली, दक्षिण अफ्रीका और भारत जैसे विभिन्न देशों के चौदह विशेषज्ञों ने भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से भाग लिया। 

भूमि संसाधन विभाग (डीओएलआर), विदेश मंत्रालय, ग्रामीण विकास विभाग के सचिव, और खाद्य एवं कृषि संगठन (एफएओ), इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) और शुष्क क्षेत्रों में अंतर्राष्ट्रीय कृषि अनुसंधान केंद्र (आईसीएआरडीए) के प्रतिनिधि और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

भारत के भौगोलिक क्षेत्र का लगभग 30 प्रतिशत हिस्सा निम्न स्तर के भूमि की श्रेणी में है। डीओएलआर को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के वाटरशेड विकास घटक (डब्ल्यूडीसी-पीएमकेएसवाई) के माध्यम से कम उर्वर भूमि में सुधार करने के लिए अधिकृत किया गया है। 

विभिन्न प्रकार के वृक्षारोपण उन गतिविधियों में से एक है जो कम उर्वर भूमि को सुधार करने में सहायता करते हैं। केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री गिरिराज सिंह ने इच्छा व्यक्त करते हुए कहा कि देश के व्यापक लाभ के लिए जैव-ईंधन, भोजन, चारा और जैव-उर्वरक उत्पादन के लिए कैक्टस के उपयोग के लाभों को साकार करने के लिए कम उर्वर भूमि पर कैक्टस के रोपण के लिए विभिन्न विकल्पों का पता लगाया जाना चाहिए। 

मंत्री महोदय ने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि जैव-ईंधन उत्पादन से इन क्षेत्रों के गरीब किसानों के लिए रोजगार और आय सृजन में योगदान के अलावा देश का ईंधन आयात का बोझ भी कम होगा।भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) और शुष्क भूमि क्षेत्रों में कृषि अनुसंधान के लिए अंतर्राष्ट्रीय केंद्र (आईसीएआरडीए) को मध्य प्रदेश में आईसीएआरडीए के अमलाहा फार्म में एक पायलट परियोजना स्थापित करने के कार्य में शामिल किया जा रहा है। 

इस उद्यम में आवश्यक तकनीकी सहायता प्रदान करने के लिए पेट्रोलियम मंत्रालय से अनुरोध किया गया है।कैक्टस एक जेरोफाइटिक पौधा है जो वैसे तो अपेक्षाकृत धीमी गति से बढ़ता है, लेकिन इसमें अपार संभावनाएं हैं , जैसा कि ऊपर बताया गया है। इसके अलावा, यह देश के लिए ‘राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान (एनडीसी)’ और ‘सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी)’ को प्राप्त करने में भी काफी मदद करेगा। 

विभाग का मानना है कि कैक्टस के पौधे परती भूमि वाले क्षेत्रों के किसानों द्वारा उगाए जाएंगे, यदि इनसे होने वाला लाभ उनकी आय के मौजूदा स्तर से अधिक रहता है। फि‍लहाल चिली, मैक्सिको, ब्राजील, मोरक्को और कई अन्य देशों के अनुभवों को परखा जा रहा है जो इस उद्देश्य की प्राप्ति में काफी मददगार साबित होंगे।

 

Tags: Giriraj Singh , BJP , Bharatiya Janata Party , Cactus Plantation and its Economic Usage , Cactus Plantation , Indian Council of Agricultural Research , ICAR , International Center for Agricultural Research in the Dry Areas , ICARDA , Niranjan Jyoti , Sadhvi Niranjan Jyoti , Faggan Singh Kulaste

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD