Saturday, 20 July 2024

 

 

LATEST NEWS ALL News From Haryana Dated 19-07-24 CM Nayab Singh Saini comes to aid of debt-ridden farmer Walking on the path of harmony and brotherhood shown by Sikh Gurus is our true tribute: Nayab Singh Saini Prime Minister shows special interest in Haryana Government's scheme for Agniveers High-level Sikh delegation led by Manjinder Singh Sirsa honors CM Naib Singh Saini All News of Himachal Pradesh Dated 19-07-24 Businessman Viren Merchant Net Worth, Bio, Lifestyle, Business, and Family War against Drugs- DC Sakshi Sawhney and Khanna SSP Amneet Kondal inaugurate Football tournament Hardik Pandya Divorce News - Natasa Stankovic's Heartfelt Message on social media to Hardik Pandya, Brother Krunal, and his Son Focus on Enrolment and Mandatory Biometric Update of children - DC Showkat Ahmad Parray 357 Conductors to be appointed soon: Mukesh Agnihotri Sukhvinder Singh Sukhu emphasizes to adopt distinct norms for hilly State under AMRUT Dr Depinder Kaur takes over as new Principal of Government College of Education Despite having funds from the Centre, CM Mann is not getting the project completed LPU NCC Cadet Navneet Singh represented India in the UK for YEP 2024 Van Mahotsav 2024 Celebrations under the ''Ek Ped Maa ke Naam'' Campaign held at PEC Halwara Airport 100% complete on Civil Side, 20 days to go on IAF side : MP Sanjeev Arora visits Airport Harsha Bhogle Net Worth, Bio, Career, And Lifestyle 2024 | The Voice of Cricket Sourav Ganguly Net Worth 2024 | Know About The Former Cricketer Dada Income, Bio, Career, And Lifestyle Bela Pharmacy College Launches Mission Haryali with Plantation Drive DC Kupwara Ayushi Sudan chairs Rent Assessment Committee meeting

 

VP interacts with Indian Information Service officer trainees of 2022 & 23 batches

VP emphasizes the need to take India’s development narrative globally

Jagdeep Dhankhar, Vice President of India, BJP, Bharatiya Janata Party
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

New Delhi , 18 Jun 2024

The Vice President, Shri Jagdeep Dhankhar today underlined the need to regulate the information highlighting that unregulated information and fake news can create havoc or disaster of un-imaginable proportion. 

“Information is power, information is too dangerous a power, information is that power which has to be regulated,” he said while interacting with a group of Indian Information Service officer trainees at the Vice President’s Enclave today.

Praising social media responses by state actors for effectively countering the manipulated and false information, VP asked the young officers to act with lightning speed to neutralize misinformation. “You have to nip the fake news in the bud,” he told them.

Noting that such misinformation can be ruinous for an institution or an individual, Shri Dhankhar asked “who protects the individual if there is a fake narrative set afloat on social media about an individual?” Describing the officer trainees as information warriors, he asked them to play on the front foot and save the privacy and reputation of the affected person or institution.

Describing India as the most vibrant democracy in the world, VP said that legitimacy of a government depends on the amount of trust people have in it. “As IIS officers, you are enjoined and equipped to act as a bridge between citizens and their elected government,” he said.

Expressing concerns over the worrisome trend of floating of narratives to taint, tarnish, diminish, and demean our institutions by some “misguided souls”, VP called for neutralizing them at the earliest. “These sinister forces with pernicious agenda are operating in small number in the country and outside. 

You are the warriors,” he told the young officers. Calling for effective countering of motivated narrative set afloat by global media, VP said that we must never allow others to calibrate us. “Global media setting biased narrative has to be blunted,” he stressed.

Emphasizing the need to take India’s development narrative globally, Shri Dhankhar said that Indian Information Service is rightly placed to sculpt and promote “Brand India” globally.  “Let the world know what kind of a country we are. We are a country without a parallel; we are a country that has a rich cultural heritage and diversity. 

Our 5000 years civilization ethos required to be known to the world,” he addede. "There is a need to reach out to the world in a manner that truly reflects the immensity of the journey we have traversed over the past decade.

Noting that misinformation has emerged as a very big threat to peace, stability and is a challenge to democracy in an age of information revolution, the Vice President highlighted that such misinformation leaves great impact on our security and defence mechanism.

Describing information as the most potent weapon and the fifth dimension of war, Shri Dhankhar cautioned that “manipulative, divisive and agenda driven narrative peddled in our information space by proxies present a real danger to the sovereignty and integrity of our nation.”

Recognizing that right feedback from ground helps in formulation of right polices, VP advised the probationers to update themselves with the latest technologies. The Vice President also praised the Indian Information Service officers for their role in recent Lok Sabha elections.

“Increasing voter awareness and securing the greater participation in the world’s largest democracy by reaching out the citizen at the very last mile, you have done admirably well,” he said.

Shri Sunil Kumar Gupta, Secretary to the Vice President of India, Shri Sanjay Jaju, Secretary, Ministry of Information and Broadcasting, Dr Anupama Bhatnagar, Director General, IIMC, Delhi, Shri C Senthil Rajan, Joint Secretary, Ministry of Information & Broadcasting, senior officials and officer trainees of 2022 & 23 batches attended the event.

उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने सूचना को विनियमित करने की आवश्यकता पर जोर दिया

उपराष्ट्रपति ने 2022 और 2023 बैचों के भारतीय सूचना सेवा के प्रशिक्षुओं अधिकारियों के साथ बातचीत की

नई दिल्ली

उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने आज सूचना को विनियमित करने की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि अनियमित जानकारी और फर्जी खबरें अकल्पनीय आपदा उत्पन्न कर सकती हैं। उपराष्ट्रपति एन्क्लेव में भारतीय सूचना सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों के एक समूह से बातचीत करते हुए कहा कि “सूचना शक्ति है, सूचना बहुत खतरनाक शक्ति है, सूचना वह शक्ति है जिसको विनियमित करना आवश्यक है।”

फर्जी और झूठी जानकारी का प्रभावी रूप से मुकाबला करने के लिए राज्य के अधिकारियों द्वारा सोशल मीडिया पर दी गई प्रतिक्रियाओं की प्रशंसा करते हुए, उपराष्ट्रपति ने युवा अधिकारियों से गलत सूचना को बेअसर करने के लिए तेज गति से कार्य करने के लिए कहा। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि “फर्जी खबरों को जड़ से समाप्त करना होगा।”

इस बात को ध्यान में रखते हुए कि इस प्रकार की गलत सूचना किसी संस्थान या किसी व्यक्ति के लिए विनाशकारी साबित हो सकती है, श्री धनखड़ ने कहा कि “अगर किसी व्यक्ति के बारे में सोशल मीडिया पर कोई फर्जी कहानी फैलाई जाती है तो उस व्यक्ति की सुरक्षा कौन करेगा?” उन्होंने प्रशिक्षु अधिकारियों को सूचना योद्धा बताते हुए उनसे फ्रंट फुट पर काम करने और प्रभावित व्यक्ति या संस्था की निजता और प्रतिष्ठा की रक्षा करने के लिए कहा।

उपराष्ट्रपति ने भारत को दुनिया का सबसे जीवंत लोकतंत्र बताते हुए कहा कि सरकार की वैधता इस बात पर निर्भर करती है कि आम लोगों का उस पर कितना भरोसा है। उन्होंने कहा कि “आईआईएस अधिकारियों के रूप में आपको नागरिकों और उनकी निर्वाचित सरकार के बीच सेतु का काम करने का अधिकार प्राप्त है और आप उससे सुसज्जित हैं।”

कुछ “गुमराह लोगों” द्वारा हमारे देश की संस्थानों को कलंकित, बदनाम, नीचा दिखाने के लिए कहानियों को फैलाने की प्रवृत्ति पर चिंता व्यक्त करते हुए, उपराष्ट्रपति ने उन्हें जल्द से जल्द बेअसर करने का आह्वान किया। उन्होंने युवा अधिकारियों से कहा कि “घातक एजेंडे वाली ये कुटिल शक्तियां देश के भीतर और बाहर अल्प संख्या में काम कर रही हैं। आप योद्धा हैं।”वैश्विक मीडिया द्वारा प्रेरित कहानियों का प्रभावी मुकाबला करने का आह्वान करते हुए, उपराष्ट्रपति ने कहा कि हमें कभी भी दूसरों को हमारी जांच करने की अनुमति नहीं देनी चाहिए। उन्होंने जोर देकर कहा, "वैश्विक मीडिया की पक्षपातपूर्ण कहानियों को बेअसर करने की आवश्यकता है।

भारत के विकास की गाथा को वैश्विक स्तर पर ले जाने की आवश्यकता पर जोर देते हुए, श्री धनखड़ ने कहा कि भारतीय सूचना सेवा वैश्विक स्तर पर "ब्रांड इंडिया" को गढ़ने और बढ़ावा देने की सही दिशा में है। उन्होंने कहा, "दुनिया को बताएं कि हम किस तरह के देश हैं। हम एक ऐसे देश हैं जिसकी कोई बराबरी नहीं है; हम एक ऐसे देश हैं जिसकी सांस्कृतिक विरासत और विविधता समृद्ध है। हमारी 5000 साल पुरानी सभ्यता के सिद्धांतों को दुनिया को बताना जरूरी है।"

उपराष्ट्रपति ने कहा कि सूचना क्रांति के इस युग में गलत सूचना, शांति और स्थिरता के लिए बहुत बड़ा खतरा बन गई है और यह लोकतंत्र के लिए चुनौती है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि ऐसी गलत सूचना हमारे सुरक्षा और रक्षा तंत्र पर बहुत बुरा असर डालती है। सूचना को सबसे शक्तिशाली हथियार और युद्ध का पांचवां आयाम बताते हुए, श्री धनखड़ ने सचेत करते हुए कहा कि "हमारे सूचना क्षेत्र में छद्म लोगों द्वारा फैलाई गई जोड़-तोड़, विभाजनकारी और एजेंडा संचालित कहानी हमारे देश की संप्रभुता और अखंडता के लिए एक वास्तविक खतरा है।"

यह स्वीकार करते हुए कि जमीनी स्तर से प्राप्त सही फीडबैक ही सही नीतियों के निर्माण में मदद करती है, उपराष्ट्रपति ने परिवीक्षार्थियों को नवीनतम तकनीकों के साथ खुद को अपडेट करने की सलाह दी। उपराष्ट्रपति ने हाल के लोकसभा चुनावों में भारतीय सूचना सेवा के अधिकारियों की भूमिका की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा, "मतदाता जागरूकता बढ़ाना और अंतिम छोर पर खड़े नागरिक तक पहुंचकर दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित करते हुए आपने सराहनीय काम किया है।"

इस कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति के सचिव श्री सुनील कुमार गुप्ता, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सचिव श्री संजय जाजू, आईआईएमसी, दिल्ली की महानिदेशक डॉ. अनुपमा भटनागर, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के संयुक्त सचिव श्री सी सेंथिल राजन, वरिष्ठ अधिकारी और 2022 और 23 बैच के प्रशिक्षु अधिकारी शामिल हुए।

 

Tags: Jagdeep Dhankhar , Vice President of India , BJP , Bharatiya Janata Party

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD