Sunday, 21 July 2024

 

 

खास खबरें प्लानिंग के तहत विकास कार्यों के यूसी पोर्टल पर करें अपलोड : हेमराज बैरवा शहीद स्मारक में निरीक्षण को पहुंचे पूर्व मंत्री अनिल विज ने तालियां बजाते हुए स्टैच्यू डिजाइन कर रहे कारीगरों का उत्साह बढ़ाया पार्क हॉस्पिटल में पार्किंसनिज़्म उपचार में नवाचार डीबीएस का इस्तेमाल शुरू हरियाणा में सरकारी स्कूलों के प्रति बढ़ रहा है आमजन का विश्वास : शिक्षा मंत्री सीमा त्रिखा प्रदेश की समृद्धि व खुशहाली के लिए जनता की समस्याएं दूर होनी जरूरी : महिपाल ढांडा केजरीवाल की हरियाणा को पांच गांरटी, सरकार बनी तो मुफ्त और 24 घंटे मिलेगी बिजली हरियाणा में कचरे के निस्तारण की दिशा में अहम कदम, राज्य में स्थापित होंगे वेस्ट-टू-चारकोल के दो प्लांट मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी ने हिसार में महाराजा दक्ष प्रजापति जयंती राज्य स्तरीय समारोह में लगाई घोषणाओं की झड़ी राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय से पैरा क्रिकेटर आमिर हुसैन लोन ने राजभवन में की मुलाकात मुख्यमंत्री नायब सिंह ने हिसार से मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत बस को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना मुख्यमंत्री सुख-आश्रय कोष में 1.5 करोड़ रुपये का अंशदान कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने जनता दरबार में सुनी लोगों की शिकायतें हर घर तक पीने वाला स्वच्छ पानी मुहैया करवाना सरकार की मुख्य प्राथमिकता : ब्रम शंकर जिंपा होशियारपुर वासियों की हर समस्या का समयबद्ध तरीके से किया जा रहा है समाधान : ब्रम शंकर जिंपा मनजिंदर सिंह सिरसा के नेतृत्व में एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल ने हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी का सन्मान श्री गुरु साहिबान द्वारा सद्भाव और भाईचारे के दिखाए मार्ग पर चलना ही गुरुओं के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धा का प्रतीक : नायब सिंह सैनी अग्निवीरों के कल्याण के लिए हरियाणा सरकार द्वारा चलाई योजना पर प्रधानमंत्री ने दिखाई विशेष रूचि मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी ने फिर किसान हितैषी होने का दिया परिचय नवनिर्वाचित विधायक हरदीप सिंह बावा ने मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू से की भेंट सरकार की जन हितैषी नीतियों का आम जनता तक पहुंचाया जाए लाभः ब्रम शंकर जिंपा परिवहन निगम में 357 कंडक्टरों को जल्द मिलेगी नियुक्ति: मुकेश अग्निहोत्री

 

क्या एक तकनीकी गड़बड़ी कारण मुख्यमंत्री नायब सैनी को दोबारा पेश करना पड़ सकता है विश्वास-मत

13 मार्च 2024 को विधायक न होने कारण नियमानुसार नायब सैनी नहीं थे सदन के नेता

Hemant Kumar, Advocate Hemant Kumar, Punjab & Haryana High Court Chandigarh, Chandigarh
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

चंडीगढ़ , 23 Jun 2024

ऐसे में जबकि हरियाणा में  नायब सिंह  सैनी  सरकार के नेतृत्व वाली  भाजपा सरकार, जिसने इसी  20 जून को ही अपने कार्यकाल के  100 दिन पूर्ण किये हैं, के बीते करीब डेढ़-दो  माह से पहले एक-एक कर दो विधायकों के त्यागपत्र, फिर  तीन विधायकों द्वारा समर्थन वापसी और तत्पश्चात एक विधायक के निधन फलस्वरूप  सदन में अल्पमत में आने  बारे प्रदेश की प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस पार्टी द्वारा राज्यपाल को दो बार ज्ञापन सौंपकर राज्य सरकार को तुरन्त बर्खास्त करने की मांग की गई है, इसी बीच  मुख्यमंत्री नायब सैनी द्वारा मुख्यमंत्री बनने  के अगले ही दिन सदन में प्राप्त  किये गये विश्वास-मत के प्रस्ताव पर भी रोचक परन्तु महत्वपूर्ण  सवाल उठ गया है.

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के एडवोकेट और संसदीय मामलों के जानकार हेमंत कुमार ने शनिवार 22 जून को प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय और  विधानसभा अध्यक्ष (स्पीकर) ज्ञानचंद गुप्ता को लिखा है कि  करीब सवा तीन माह पूर्व 13 मार्च 2024 को हरियाणा विधानसभा के एक दिन के  विशेष  सत्र में  नायब  सैनी, जो उससे एक दिन पूर्व  12 मार्च 2024 को ही प्रदेश के  मुख्यमंत्री बने थे, द्वारा  सदन के नेता के तौर पर विधानसभा  सदन में विश्वास-मत का  प्रस्ताव पेश किया गया  कि सदन मंत्रिपरिषद में अपना विश्वास व्यक्त करता है -- जो अन्तोत्गत्वा ध्वनिमत से स्वीकृत हुआ.

 हरियाणा विधानसभा की 13 मार्च 2024 को सम्पन्न हुई समस्त कार्रवाही (कनफर्म्ड) का अधिकृत विवरण  हरियाणा विधानसभा की आधिकारिक वेबसाइट पर भी उपलब्ध है जिसमें    नायब  सैनी, मुख्यमंत्री हरियाणा को सदन के नेता के तौर पर संबोधित एवं उल्लेखित किया गया है. हेमंत ने  हरियाणा विधान सभा के प्रक्रिया तथा कार्य संचालन सम्बन्धी नियमावली के नियम 2 का हवाला देते हुए बताया कि उसमें अन्य परिभाषाओं के साथ साथ सदन के नेता को भी परिभाषित किया गया है जिसके अनुसार सदन का नेता से अभिप्राय है मुख्यमंत्री, यदि वह सदन का सदस्य हो, अथवा कोई मंत्री, जो सदन का सदस्य हो और सदन के नेता के रूप में कार्य करने के लिए मुख्यमंत्री द्वारा नाम-निर्दिष्ट किया गया हो.

अब चूँकि 13 मार्च 2024 को  नायब  सैनी हरियाणा विधानसभा सदन के सदस्य (विधायक) नहीं थे अत: इस कारण  उनके द्वारा उक्त दिवस को  सदन के नेता के तौर पर हरियाणा  विधानसभा में प्रस्तुत  किये गये विश्वास-मत के प्रस्ताव पर तकनीकी परन्तु गंभीर प्रश्न उठता है कि क्या अमुक विश्वास मत का प्रस्ताव उनके द्वारा  स्वयं सदन में प्रस्तुत किया जा सकता था जबकि वो सदन के नेता ही नहीं थे.

सनद रहे कि श्री नायब सिंह सैनी  इसी माह  4 जून 2024 को करनाल विधानसभा सीट के  उपचुनाव में निर्वाचित होकर विधायक बने जिसके बाद  उन्होंने 6 जून 2024 को मौजूदा 14वी हरियाणा विधानसभा के सदस्य के तौर शपथ ली, इस प्रकार उसी तिथि अर्थात 6 जून 2024 से ही वह हरियाणा विधानसभा सदन के नेता बने हैं. 

हेमंत ने यह भी बताया  कि 13 मार्च 2024

को हरियाणा विधानसभा के  एक दिन के विशेष  सत्र में  नायब  सैनी, मुख्यमंत्री द्वारा उनके मंत्रिमंडल के पांच तत्कालीन कैबिनेट मंत्रियों नामत: श्री कँवर पाल, श्री मूल चंद शर्मा, श्री रणजीत सिंह, श्री जय प्रकाश दलाल और डॉ. बनवारी लाल, जो सभी उपरोक्त दिवस को  अर्थात 13 मार्च 2024 को  मौजूदा 14वीं हरियाणा विधानसभा के सदस्य थे (एवं आज भी हैं)  में से किसी को भी सदन के नेता के तौर पर नॉमिनेट (नाम निर्दिष्ट) नहीं किया गया था. 

 

Tags: Hemant Kumar , Advocate Hemant Kumar , Punjab & Haryana High Court Chandigarh , Chandigarh

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD