Thursday, 18 July 2024

 

 

खास खबरें आम आदमी पार्टी ने हरियाणा में फूंका चुनावी बिगुल ; मुख्यमंत्री भगवंत मान ने की घोषणा सिविल अस्पताल किसी भी निजी अस्पताल के बराबर होगा: सांसद संजीव अरोड़ा शहर वासियों को पीने वाला साफ पानी मुहैया करवाने में नहीं छोड़ी जा रही है कोई कमी : ब्रम शंकर जिंपा हृदय रोग से हर साल 4.77 मिलियन भारतीयों की मौत होती है : डॉ. राकेश शर्मा हरदीप सिंह बावा ने उप-मुख्यमंत्री से भेंट की केवल सिंह पठानिया ने सम्भाला उप-मुख्य सचेतक का पदभार मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जगत प्रकाश नड्डा से भेंट की ‘आप दी सरकार, आप दे दुआर’ अभियान के अंतर्गत टांडा के गांव मूनक खुर्द में लगा शिकायत निवारण कैंप कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने कैटल पाउंड फलाही का दौरा कर लिया व्यवस्थाओं का जायजा होशियारपुर के सर्वांगीण विकास में नहीं छोड़ी जाएगी कोई कमी : ब्रम शंकर जिंपा मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने नितिन गडकरी से रानीताल-कोटला, घुमारवीं-जाहू-सरकाघाट सड़कों को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने का आग्रह किया ब्रिटिश उप उच्चायुक्त, चंडीगढ़ ने यूटी चंडीगढ़ सचिवालय में यूटी चंडीगढ़ प्रशासन के प्रशासक के सलाहकार से मुलाकात की सांसद गुरजीत सिंह औजला से मिलने पहुंचे किसान, दिया मांग पत्र मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भेंट की कन्याकुमारी से सियाचिन तक साइकिल यात्रा पर निकली बेटी का राज्यपाल ने बढ़ाया हौसला प्रत्येक जिला में एक गौशाला को नस्ल सुधार के लिए लेंगे गोद : कंवर पाल कैंट के पास बन रहे वेलकम गेट से हिसार की बनेगी एक अलग पहचान : डॉ कमल गुप्ता हरियाणा में हिट-एंड-रन दुर्घटना के पीड़ितों को मिलेगी कैशलेस उपचार की सुविधा मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी ने एचसीएस-2023 के उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को किया सम्मानित नितिन गडकरी ने हरियाणा से संबंधित सड़क परियोजनाओं की नई दिल्ली में की समीक्षा मुख्यमंत्री ने पंचकूला के पिंजौर में एशिया की सबसे बड़ी आधुनिक सेब, फल एवं सब्जी मंडी के प्रथम चरण का किया उद्घाटन

 

शिमला, चंबा, सिरमौर, मंडी और कुल्लू में स्थापित होंगी एनडीआरएफ की छोटी टुकड़ियां

मानसून सीजन की तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक में मुख्य सचिव ने दिए निर्देश

Chief Secretary Himachal Pradesh, Prabodh Saxena, Himachal Pradesh, Shimla, Chief Secretary Himachal
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

शिमला , 13 Jun 2024

प्रदेश में आगामी मानसून सीजन की तैयारियों को लेकर आज यहां मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना ने समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में सभी जिलों के उपायुक्त और सभी विभागों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए। सभी उपायुक्तों ने आगामी सीजन को लेकर जिला स्तर पर की गई तैयारियों की वर्चुअल माध्यम से जानकारी दी। 

बैठक में निर्णय लिया गया कि शिमला, चंबा, सिरमौर, मंडी और कुल्लू में इस बार एनडीआरएफ की छोटी टुकड़ियां स्थापित की जाएंगी। इसके लिए उपायुक्तों को स्थान चिन्हित करने के निर्देश दिए गए हैं। मुख्य सचिव ने कहा कि नदी किनारे रह रहे प्रवासी मजदूरों को अन्य स्थानों पर बसाया जाए ताकि जानमाल की हानि न हो। 

उन्होंने खाद्य आपूर्ति विभाग को भी पर्याप्त खाद्यान्न सामग्री का भंडारण करने के निर्देश दिए ताकि आपदा की स्थिति में प्रभावित लोगों को अनाज की कमी न हो। बैठक में बांधों और नदियों में पानी का स्तर मापे जाने की ओर भी ध्यान आकर्षित किया गया। इसके लिए बांध प्राधिकरणों और केंद्रीय जल आयोग को साथ मिलकर समन्वय स्थापित करने और अग्रिम चेतावनी प्रणाली को और सुदृढ़ करने पर बल दिया गया। 

इसके लिए बांध प्राधिकरणों और केंद्रीय जल आयोग के साथ बैठकें आयोजित की जाएंगी। मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि बांध प्राधिकरण अपनी मशीनरी और बाढ़ की स्थिति से निपटने की पूरी तैयारी रखें। मुख्य सचिव ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि आपदा के दौरान उपयोग की जाने वाली सामग्री जैसे तिरपाल इत्यादि के दाम में बढ़ौतरी न हो।

विशेष सचिव आपदा प्रबंधन डीसी राणा ने कहा कि सभी उपमंडलों को सैटेलाइट फोन उपलब्ध करवाने की तैयारी की जा रही है। भारत संचार निगम लिमिटेड जल्द ही सैटेलाइट फोन उपलब्ध करवाने जा रहा है। उन्होंने कहा कि उपायुक्त गत वर्ष कांगड़ा, मंडी, कुल्लू में धंसे स्थलों का दौरा करें और यदि स्थिति चिंताजनक है तो लोगों को दूसरी जगह स्थानांतरित किया जाए। 

वहीं मानसून सीजन में पहाड़ों की कटाई करने पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक सुरेंद्र पाल ने अवगत करवाया कि 84 प्रदेश में इस वर्ष जून से सिंतबर तक मानसून सामान्य रहेगा।

Chief Secretary Prabodh Saxena directs DCs to find a suitable place to establish NDRF units in five districts before onset of monsoon

Shimla 

Chief Secretary Prabodh Saxena while reviewing the preparedness of ensuing monsoon meeting here today, directed Deputy Commissioners to find a suitable place to set up small units of National Disaster Response Force (NDRF) at Shimla, Mandi, Sirmaur, Chamba and Kullu for which necessary direction have been issued to the Deputy Commissioners of the concerned districts to find a suitable place to set up the NDRF Units.

He also directed to shift the migrant's labourers residing along with the river banks so that in case of adversity as did happen last year the precious lives could be saved well in time.  He also directed the Civil Supplies Corporation to ensure stocking adequate food grains to meet the demands of the people during any disaster, if it occurs. 

 Apart from this it should also be ensured that the rates of tarpaulin, blankets and other essentials are sold at the nominal rates and to keep check on vendors so that they may not charge higher price for essential products. Directions were issued to coordinate with the Central Water Commission (CWC) and the dam authorities in the State to keep monitoring the rise in water level during the monsoons and strengthen the early monitoring system. 

He directed to convene a meeting with the officers and officials of the CWC and the representatives of the power projects viz: Bhakra Beas Management Board (BBMB), National Hydel Power Corporation (NHPC), Himachal Power Corporation Limited (HPCL) and HPSEBL etc at the earliest.  The dam authorities must test-check the functioning of their machinery and be prepared to mitigate any flood type situation.

Satellite phones will also be provided to all the subdivisions, he stated, adding that the state government has asked BSNL to provide the equipment much before the onset of monsoons which will prove handy for communication in emergent situations. Directions were issued to the Deputy Commissioners of those districts particularly of Mandi, Kullu and Kangra, which suffered the major brunt during the last rains which created havoc during the last monsoon and asked them to visit the sinking sites and the spots most vulnerable to the floods, landslips etc. 

He stated that if the situation seems to cause any threat to the habitants of such areas, they may be advised to shift to safer places. Apart from this, strict instructions were issued to ban the excavation of slopes and to keep a close eye on illegal mining. Director Meteorological Department, Surender Paul Shimla, stated that the monsoon spell was expected to be normal this year from June to September.  

Earlier, all the line departments, including the officers and officials of the SDRF, NDRF, PWD, Electricity Board, Food and Civil Supplies, Jal Shakti, BSNL, were present during the occasion amongst others.  

 

Tags: Chief Secretary Himachal Pradesh , Prabodh Saxena , Himachal Pradesh , Shimla , Chief Secretary Himachal

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD