Tuesday, 28 May 2024

 

 

खास खबरें हाई-एंड टेक्नोलॉजी, हाई-एंड विज्ञान की नींव पर ही काम करती है: प्रो. अनिल कुमार त्रिपाठी, निदेशक, आईआईएसईआर, मोहाली बिकाऊ विधायकों ने भाजपा का कमल ही खरीद लिया : मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ग्रामीण टी10 क्रिकेट टूर्नामेंट ने अपने तीसरे सीजन में शानदार सफलता का जश्न मनाया पंजाब में मतदान से पूर्व शिअद (बादल) को मिला बल पंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने वोटिंग प्रतिशत बढ़ाने वाले बी. एल. ओज़ के लिए 5000 रुपए की इनामी राशि का किया ऐलान पंजाब की मंडियों में अब तक पहुंचे गेहूं की हुई 100 प्रतिशत खरीद : हरचंद सिंह बरसट आम आदमी पार्टी के नेता हीरा लाल कुंद्रा अपने समर्थकों सहित भाजपा में शामिल मोदी सरकार ने छोटे उद्यमियों को बनाया सशक्त : हरदीप सिंह पुरी लोकतंत्र की हत्या करने वाले दे रहे हैं संविधान बचाने की दुहाई : संजय टंडन कांग्रेस का आंतरिक कलह हुआ सार्वजनिक : शक्ति प्रकाश देवशाली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजा वड़िंग ने फिरोजपुर लोकसभा उम्मीदवार शेर सिंह घुबाया के लिए समर्थन जुटाया लुधियाना में केजरीवाल ने कहा - भाजपा वाले आपकी मुफ्त बिजली को बंद करने की साजिश रच रहे हैं अपने बेटे मीत हेयर को संसद में भेजो, वह केंद्र सरकार में मंत्री बनेगा, फिर सारी जिम्मेदारी हमारी होगी : भगवंत मान आप सांसद राघव चड्ढा ने फतेहगढ़ साहिब से आप उम्मीदवार गुरप्रीत जीपी के लिए किया प्रचार केजरीवाल और मान ने गृह मंत्री अमित शाह पर किया पलटवार, कहा - शाह ने तीन करोड़ पंजाबियों को धमकी दी है मुख्यमंत्री मान ने गिद्दड़बाहा और रामपुरा फूल में फरीदकोट से उम्मीदवार करमजीत अनमोल के लिए किया चुनाव प्रचार मैंने बिजली फ्री की, भाजपा शासित राज्यों में सबसे महंगी बिजली है, फिर भी भाजपा वाले मुझे भ्रष्टाचारी कहते हैं : अरविंद केजरीवाल नैना देवी रोड को चार लेन का बनाना और गुरुद्वारा साहिब के आसपास सौंदर्यीकरण सर्वोच्च प्राथमिकता: विजय इंदर सिंगला आप का 13-ज़ीरो 4 जून को ज़ीरो-13 में बदल जाएगा : गुरजीत सिंह औजला प्रधानमंत्री से सिख धार्मिक संस्थानों को आर.एस.एस के कब्जे से आजाद कराने की अपील की : सुखबीर सिंह बादल प्रधानमंत्री जीरकपुर में स्थापित करवाएंगे अंतर्ऱाष्ट्रीय वित्तीय केंद्र - परनीत कौर

 

एलपीयू के इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों को इसरो समर्थित राष्ट्रीय प्रतियोगिता में टॉप स्पेस इन्नोवेटरज़ के रूप में चुना

प्रतियोगिता बहुत ही महत्वपूर्ण रही जिसमें इसरो के चेयरमैन डॉ. एस. सोमनाथ भी शामिल हुए

Lovely Professional University, Jalandhar, Phagwara, LPU, LPU Campus, Ashok Mittal, Rashmi Mittal
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

जालंधर , 22 Apr 2024

दो दिवसीय 'इन-स्पेस कैनसैट इंडिया स्टूडेंट कॉम्पिटिशन' अहमदाबाद में संपन्न हुआ, जिसमें लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी (एलपीयू) की टीम "विहंगा" को इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाइजेशन (भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन) (इसरो) द्वारा शीर्ष विजेता घोषित किया गया। यह अपनी तरह का प्रथम राष्ट्रीय आयोजन था जहाँ  देश भर की 28 टीमों को पछाड़ते हुए, एलपीयू के सात असाधारण इंजीनियरिंग के स्टूडेंट्स  ने एक कैन (CAN) आकार के उपग्रहों को डिजाइन, विकसित और लॉन्च करके अपनी प्रतिभा का बेहतरीन प्रदर्शन किया।

भारतीय राष्ट्रीय अंतरिक्ष संवर्धन और प्राधिकरण केंद्र (आईएन-स्पेस) और एस्ट्रोनॉटिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया (एएसआई), इसरो द्वारा पहली बार आयोजित इस प्रतियोगिता का उद्देश्य भविष्य के अंतरिक्ष इन्नोवेटर्स  को पोषित करना और सशक्त बनाना है। इस कार्यक्रम ने स्टूडेंट्स  को उपग्रह निर्माण के विभिन्न पहलुओं का पता लगाने के लिए एक मंच प्रदान किया और भारत में इनोवेशन और वैज्ञानिक अन्वेषण की संस्कृति को बढ़ावा दिया।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते  हुए, इसरो के अध्यक्ष, डॉ. एस. सोमनाथ ने इनोवेशन  और वैज्ञानिक अन्वेषण के प्रति भारत की प्रतिबद्धता को मजबूत करने में इस  प्रतियोगिता के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने एलपीयू की टीम के प्रयासों की सराहना की और इसकी उल्लेखनीय उपलब्धि को स्वीकार किया। डॉ. सोमनाथ ने भारत की अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी प्रगति में महत्वपूर्ण योगदानकर्ताओं के रूप में विश्वविद्यालय के एयरोस्पेस कार्यक्रम और अत्याधुनिक उपग्रह प्रयोगशाला का हवाला देते हुए, अंतरिक्ष अन्वेषण के लिए एलपीयू की प्रतिबद्धता को भी मान्यता दी।

एक अग्रणी विकास में, इनस्पेस के अध्यक्ष, डॉ. पवन गोयनका ने उपस्थित लोगों को सूचित किया कि एएसआई अब निजी क्षेत्र और शिक्षाविदों को सदस्यता प्रदान करता है, जिससे अंतरिक्ष विज्ञान विकास में उनकी भागीदारी बढ़ जाती है। यह कदम विभिन्न हितधारकों की क्षमता को  बढ़ाने  में एक सहयोगात्मक दृष्टिकोण का प्रतीक है, जो अंततः भारत के अंतरिक्ष प्रयासों को नई ऊंचाइयों तक ले जाएगा।

एलपीयू के संस्थापक चांसलर और राज्यसभा सदस्य डॉ. अशोक कुमार मित्तल ने एलपीयू के इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स  को हार्दिक बधाई दी। डॉ. मित्तल ने अंतरिक्ष अन्वेषण के लिए एलपीयू की प्रतिबद्धता की पुष्टि की, और भारत की अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी प्रगति में महत्वपूर्ण योगदानकर्ताओं के रूप में एलपीयू द्वारा निर्मित विभिन्न पेलोड डिजाइनों के लिए अत्याधुनिक ग्राउंड स्टेशन और उपग्रह एकीकरण प्रयोगशाला सहित विश्वविद्यालय के अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र को हाईलाइट भी किया |

इन-स्पेस कैनसैट इंडिया स्टूडेंट  प्रतियोगिता में अपनी उल्लेखनीय जीत के साथ, एलपीयू की "विहंगा" टीम ने भविष्य के अंतरिक्ष नवाचार के अग्रदूत के रूप में अपनी क्षमता साबित कर दी है। यह जीत न केवल उनकी असाधारण इंजीनियरिंग कौशल को दर्शाती है बल्कि अंतरिक्ष अन्वेषण के क्षेत्र में एक अग्रणी संस्थान के रूप में एलपीयू की प्रतिष्ठा को भी मजबूत करती है।

एलपीयू के अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र के प्रोफेसर डॉ. सुमित कुमार की देखरेख में विजेता टीम में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग और सीएसई कार्यक्रमों के सात स्टूडेंट्स -चैतन्य खन्ना, विनय रेड्डी, रिषिका अवस्थी, रिद्धि मल्होत्रा, अदियंती, मल्लिकार्जुन और आशुतोष शामिल थे जिन्होनें देश के आई आई टीज़ , बिट्स पिलानी जैसे कई टॉप संस्थानों के विद्यार्थियों को पीछे छोड़ दिया |  

LPU Engineering Students adjudged as Top Future Space Innovators by ISRO in National Competition

A very significant competition where the ISRO Chairman Dr. S. Somanath also attended the on-goings

Jalandhar 

The two-day 'IN-SPACe CANSAT India Student Competition' concluded in Ahmedabad, with the team "VIHANGA" from Lovely Professional University (LPU) being declared the top winners by the Indian Space Research Organisation (ISRO), in this first of its kind esteemed national event. Outshining 28 teams from across the country, the seven exceptional engineering students from LPU displayed their ingenuity by designing, developing, and launching CAN-sized satellites.

The IN-SPACe CANSAT India Student Competition, organized for the first time by the Indian National Space Promotion and Authorization Centre (IN-SPACe) and the Astronautical Society of India (ASI), ISRO, aimed to nurture and empower future space innovators. This event provided a platform for students to explore various aspects of satellite building, and fostered a culture of innovation & scientific exploration in India.

Speaking at the event, Chairman ISRO, Dr. S. Somanath emphasized the significance of the CANSAT competition in bolstering India's commitment to innovation and scientific exploration. He praised the efforts of LPU's team and acknowledged its remarkable achievement. Dr. Somanath also recognized LPU's commitment to space exploration, citing the university's aerospace program and state-of-the-art satellite lab as pivotal contributors to India's space technology advancements.

In a pioneering development, the Chairman of InSpace, Dr. Pawan Goenka informed attendees that the ASI now grants membership to the private sector and academia, furthering their involvement in astronautics development. This move signifies a collaborative approach in harnessing the potential of various stakeholders, ultimately propelling India's space endeavours to new heights.

The Founder Chancellor of LPU & distinguished Rajya Sabha Member Dr. Ashok Kumar Mittal expressed his heartfelt congratulations to LPU’s outstanding engineering students. Dr. Mittal reaffirmed LPU's commitment to space exploration, and highlighted the university's Centre for Space Research facility comprising the state-of-the-art ground station and satellite integration lab for different payload designs built by LPU as vital contributors to India's space technology advancements.

With their remarkable victory in the IN-SPACe CANSAT India Student Competition, LPU's "VIHANGA" team has proved their mettle as the frontrunners of future space innovation. This triumph not only showcases their exceptional engineering prowess but also solidifies LPU's reputation as a leading institution in the field of space exploration.

LPU’s winning-students team included seven students of Aerospace Engineering and CSE programs-Chaitnya Khanna, Vinay Reddy, Rishik Awasthi, Riddhi Malhotra, Adiyanthi, Mallikarjun and Ashutosh-under the mentorship of Prof Dr Sumit Kumar, Centre for Space Research at LPU.

ਐਲਪੀਯੂ ਇੰਜਨੀਅਰਿੰਗ ਦੇ ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ ਨੂੰ ਇਸਰੋ ਸਮਰਥਿਤ ਰਾਸ਼ਟਰੀ ਪ੍ਰਤੀਯੋਗਿਤਾ ਵਿੱਚ ਭਵਿੱਖ ਦੇ ਪੁਲਾੜ ਇਨੋਵੇਟਰਾਂ ਵਜੋਂ ਚੁਣਿਆ ਗਿਆ

ਇਹ ਇੱਕ ਬਹੁਤ ਹੀ ਮਹੱਤਵਪੂਰਨ ਮੁਕਾਬਲਾ ਸੀ ਜਿੱਥੇ ਇਸਰੋ ਦੇ ਚੇਅਰਮੈਨ ਡਾ. ਐਸ. ਸੋਮਨਾਥ ਨੇ ਵੀ ਹਾਜ਼ਰੀ ਭਰੀ

ਜਲੰਧਰ

ਹਾਲ ਹੀ 'ਚ ਅਹਿਮਦਾਬਾਦ 'ਚ ਆਪਣੀ ਕਿਸਮ ਦੇ  ਦੋ ਰੋਜ਼ਾ ਸਨਮਾਨਯੋਗ ਰਾਸ਼ਟਰੀ ਸਮਾਗਮ  'ਇਨ-ਸਪੇਸ ਕੈਨਸੈਟ ਇੰਡੀਆ ਸਟੂਡੈਂਟ ਮੁਕਾਬਲੇ 'ਚ  ਲਵਲੀ ਪ੍ਰੋਫੈਸ਼ਨਲ ਯੂਨੀਵਰਸਿਟੀ (ਐੱਲ. ਪੀ. ਯੂ.) ਦੀ ਟੀਮ 'ਵਿਹੰਗਾ' ਨੂੰ ਭਾਰਤੀ ਪੁਲਾੜ ਖੋਜ ਸੰਗਠਨ (ਇਸਰੋ) ਵੱਲੋਂ ਚੋਟੀ ਦੀ  ਜੇਤੂ ਐਲਾਨੀ ਗਈ। ਇਸ ਵਿਚ  ਦੇਸ਼ ਭਰ ਦੀਆਂ 28 ਟੀਮਾਂ ਨੂੰ ਪਿੱਛੇ ਛੱਡਦੇ ਹੋਏ, ਐਲਪੀਯੂ ਦੇ ਸੱਤ ਬੇਮਿਸਾਲ ਇੰਜੀਨੀਅਰਿੰਗ ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ ਨੇ ਕੈਨ (CAN)-ਆਕਾਰ ਦੇ ਸੈਟੇਲਾਈਟਾਂ ਨੂੰ ਡਿਜ਼ਾਈਨ ਕਰਨ, ਵਿਕਸਤ ਕਰਨ ਅਤੇ ਲਾਂਚ ਕਰਕੇ ਆਪਣੀ ਚਤੁਰਾਈ ਦਾ ਪ੍ਰਦਰਸ਼ਨ ਕੀਤਾ।

ਇਹ ਇੰਡੀਅਨ ਨੈਸ਼ਨਲ ਸਪੇਸ ਪ੍ਰਮੋਸ਼ਨ ਐਂਡ ਆਥੋਰਾਈਜ਼ੇਸ਼ਨ ਸੈਂਟਰ (IN-SPACE) ਅਤੇ ਐਸਟ੍ਰੋਨਾਟਿਕਲ ਸੋਸਾਇਟੀ ਆਫ ਇੰਡੀਆ (ASI), ਇਸਰੋ  ਦੁਆਰਾ ਪਹਿਲੀ ਵਾਰ ਆਯੋਜਿਤ IN-SPACE CANSAT ਇੰਡੀਆ ਸਟੂਡੈਂਟ ਮੁਕਾਬਲਾ ਸੀ , ਜਿਸਦਾ ਉਦੇਸ਼ ਭਵਿੱਖ ਦੇ ਪੁਲਾੜ ਖੋਜਕਾਰਾਂ ਨੂੰ ਪੋਸ਼ਣ ਅਤੇ ਸ਼ਕਤੀ ਪ੍ਰਦਾਨ ਕਰਨਾ ਹੈ। ਇਸ ਇਵੈਂਟ ਨੇ ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ ਨੂੰ ਸੈਟੇਲਾਈਟ ਬਿਲਡਿੰਗ ਦੇ ਵੱਖ-ਵੱਖ ਪਹਿਲੂਆਂ ਦੀ ਪੜਚੋਲ ਕਰਨ ਲਈ ਇੱਕ ਪਲੇਟਫਾਰਮ ਪ੍ਰਦਾਨ ਕੀਤਾ, ਅਤੇ ਭਾਰਤ ਵਿੱਚ ਨਵੀਨਤਾ ਅਤੇ ਵਿਗਿਆਨਕ ਖੋਜ ਦੇ ਸੱਭਿਆਚਾਰ ਨੂੰ ਉਤਸ਼ਾਹਿਤ ਕੀਤਾ।

ਈਵੈਂਟ 'ਤੇ ਬੋਲਦੇ ਹੋਏ, ਇਸਰੋ ਦੇ ਚੇਅਰਮੈਨ, ਡਾ. ਐਸ. ਸੋਮਨਾਥ ਨੇ ਨਵੀਨਤਾ ਅਤੇ ਵਿਗਿਆਨਕ ਖੋਜ ਲਈ ਭਾਰਤ ਦੀ ਵਚਨਬੱਧਤਾ ਨੂੰ ਮਜ਼ਬੂਤ ਕਰਨ ਲਈ ਕੈਨਸੈਟ ਮੁਕਾਬਲੇ ਦੀ ਮਹੱਤਤਾ 'ਤੇ ਜ਼ੋਰ ਦਿੱਤਾ। ਉੰਨਾਂ  ਐਲਪੀਯੂ ਦੀ ਟੀਮ ਦੇ ਯਤਨਾਂ ਦੀ ਸ਼ਲਾਘਾ ਕੀਤੀ ਅਤੇ ਇਸਦੀ ਸ਼ਾਨਦਾਰ ਪ੍ਰਾਪਤੀ ਨੂੰ ਸਵੀਕਾਰ ਕੀਤਾ। ਡਾ. ਸੋਮਨਾਥ ਨੇ ਯੂਨੀਵਰਸਿਟੀ ਦੇ ਏਰੋਸਪੇਸ ਪ੍ਰੋਗਰਾਮ ਅਤੇ ਅਤਿ-ਆਧੁਨਿਕ ਸੈਟੇਲਾਈਟ ਲੈਬ ਦਾ ਹਵਾਲਾ ਦਿੰਦੇ ਹੋਏ ਪੁਲਾੜ ਖੋਜ ਲਈ ਐਲਪੀਯੂ ਦੀ ਵਚਨਬੱਧਤਾ ਨੂੰ ਭਾਰਤ ਦੀ ਪੁਲਾੜ ਟੈਕਨਾਲੋਜੀ ਤਰੱਕੀ ਵਿੱਚ ਮਹੱਤਵਪੂਰਨ ਯੋਗਦਾਨ ਵਜੋਂ ਮਾਨਤਾ ਦਿੱਤੀ।

ਐਲਪੀਯੂ  ਦੇ ਸੰਸਥਾਪਕ ਚਾਂਸਲਰ ਅਤੇ ਪ੍ਰਸਿੱਧ ਰਾਜ ਸਭਾ ਮੈਂਬਰ ਡਾ. ਅਸ਼ੋਕ ਕੁਮਾਰ ਮਿੱਤਲ ਨੇ ਐਲਪੀਯੂ ਦੇ ਸ਼ਾਨਦਾਰ ਇੰਜੀਨੀਅਰਿੰਗ ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ ਨੂੰ ਦਿਲੋਂ ਵਧਾਈ ਦਿੱਤੀ। ਡਾ. ਮਿੱਤਲ ਨੇ ਪੁਲਾੜ ਖੋਜ ਲਈ ਐਲਪੀਯੂ ਦੀ ਵਚਨਬੱਧਤਾ ਦੀ ਪੁਸ਼ਟੀ ਕੀਤੀ, ਅਤੇ ਭਾਰਤ ਦੀ ਪੁਲਾੜ ਟੈਕਨਾਲੋਜੀ ਤਰੱਕੀ ਵਿੱਚ ਮਹੱਤਵਪੂਰਨ ਯੋਗਦਾਨ ਪਾਉਣ ਵਾਲੇ ਐਲਪੀਯੂ ਦੁਆਰਾ ਬਣਾਏ ਗਏ ਵੱਖ-ਵੱਖ ਪੇਲੋਡ ਡਿਜ਼ਾਈਨਾਂ ਲਈ ਅਤਿ-ਆਧੁਨਿਕ ਗਰਾਊਂਡ ਸਟੇਸ਼ਨ ਅਤੇ ਸੈਟੇਲਾਈਟ ਏਕੀਕਰਣ ਲੈਬ ਨੂੰ ਸ਼ਾਮਲ ਕਰਨ ਵਾਲੀ ਯੂਨੀਵਰਸਿਟੀ ਦੇ ਸੈਂਟਰ ਫਾਰ ਸਪੇਸ ਰਿਸਰਚ ਸੁਵਿਧਾ ਨੂੰ ਉਜਾਗਰ ਕੀਤਾ।

ਇਸ ਸਟੂਡੈਂਟ ਮੁਕਾਬਲੇ ਵਿੱਚ ਆਪਣੀ ਸ਼ਾਨਦਾਰ ਜਿੱਤ ਦੇ ਨਾਲ, ਐਲਪੀਯੂ  ਦੀ  ਟੀਮ ਨੇ ਭਵਿੱਖ ਵਿੱਚ ਸਪੇਸ ਇਨੋਵੇਸ਼ਨ ਦੇ ਮੋਹਰੀ ਹੋਣ ਦੇ ਰੂਪ ਵਿੱਚ ਆਪਣੀ ਕਾਬਲੀਅਤ ਨੂੰ ਸਾਬਤ ਕੀਤਾ ਹੈ। ਇਹ ਜਿੱਤ ਨਾ ਸਿਰਫ਼ ਉਨ੍ਹਾਂ ਦੇ ਬੇਮਿਸਾਲ ਇੰਜੀਨੀਅਰਿੰਗ ਹੁਨਰ ਨੂੰ ਦਰਸਾਉਂਦੀ ਹੈ ਬਲਕਿ ਪੁਲਾੜ ਖੋਜ ਦੇ ਖੇਤਰ ਵਿੱਚ ਇੱਕ ਪ੍ਰਮੁੱਖ ਸੰਸਥਾ ਵਜੋਂ ਐਲਪੀਯੂ ਦੀ ਸਾਖ ਨੂੰ ਵੀ ਮਜ਼ਬੂਤ ਕਰਦੀ ਹੈ।

ਐਲਪੀਯੂ ਦੀ ਜੇਤੂ-ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ ਦੀ ਟੀਮ ਵਿੱਚ ਐਰੋਸਪੇਸ ਇੰਜੀਨੀਅਰਿੰਗ ਅਤੇ ਸੀ ਐਸ ਈ  ਪ੍ਰੋਗਰਾਮਾਂ ਦੇ ਸੱਤ ਵਿਦਿਆਰਥੀ-ਚੈਤਨਯ ਖੰਨਾ, ਵਿਨੈ ਰੈੱਡੀ, ਰਿਸ਼ਿਕ ਅਵਸਥੀ, ਰਿਧੀ ਮਲਹੋਤਰਾ, ਆਦਿਯੰਤੀ, ਮੱਲਿਕਾਰਜੁਨ ਅਤੇ ਆਸ਼ੂਤੋਸ਼ ਨੇ ਐਲਪੀਯੂ ਦੇ ਸੈਂਟਰ ਫਾਰ ਸਪੇਸ ਰਿਸਰਚ ਦੇ ਪ੍ਰੋਫੈਸਰ ਡਾ: ਸੁਮਿਤ ਕੁਮਾਰ ਦੀ ਦੇਖਰੇਖ 'ਚ ਦੇਸ਼ ਦੇ ਕੀ ਟਾਪ ਸੰਸਥਾਨਾਂ ਦੇ ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ ਨੂੰ ਪਿੱਛੇ  ਛੱਡ ਦਿੱਤਾ।

 

Tags: Lovely Professional University , Jalandhar , Phagwara , LPU , LPU Campus , Ashok Mittal , Rashmi Mittal

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD