Sunday, 19 May 2024

 

 

खास खबरें मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कुरुक्षेत्र से 'आप' उम्मीदवार डॉ. सुशील गुप्ता के लिए किया प्रचार महिला सशक्तिकरण तो दूर महिलाओं का सम्मान तक नहीं करते "आप" नेता : जय इंद्र कौर वर्ल्ड क्लॉस की स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए वचनबद्ध : विजय इंदर सिंगला इलेक्शन लोकतंत्र है और यहां हथियारों की नहीं बल्कि विचारों की लड़ाई होनी चाहिए : गुरजीत सिंह औजला अकाली दल के घोषणा पत्र में पंथक और क्षेत्रीय मजबूती का आहवाहन परिवर्तन की सरकार ने किया पंजाब को कर्जदार - गुरजीत औजला डॉ. एस.पी. सिंह ओबेरॉय के प्रयासों से जालंधर जिले के युवक का शव पहुंचा भारत दो साल में हमारी सरकार और मेरे काम को देखें, फिर तय करें कि आपको क्या चाहिए: मीत हेयर सीपीआई एम.एल. (लिबरेशन) ने की गुरजीत औजला के पक्ष में चुनावी रैली सनौर में अकाली दल प्रत्याशी के कार्यालय का उदघाटन खरड़ में निर्माणाधीन श्री राम मंदिर का दौरा करने के लिए माननीय राज्यपाल पंजाब को अनुरोध पत्र परनीत कौर व गांधी पटियाला हलके के लिए कोई प्रोजैक्ट नहीं लाए:एन.के.शर्मा मलोया में 20 मई को योगी आदित्य नाथ की विशाल चुनावी जनसभा-प्रदेशाध्यक्ष जतिंदर पाल मल्होत्रा फिल्म 'करतम भुगतम ' को ऑडियंस का प्यार और बॉक्स ऑफिस पर मिली सफलता लोक सभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग की हिदायतों का पूरा पालन किया जाए: जनरल पर्यवेक्षक जिला निर्वाचन अधिकारी कोमल मित्तल की देखरेख में वोटिंग मशीनों का पूरक रैंडमाइजेशन किया गया फिल्म कुड़ी हरियाणे वल दी / छोरी हरियाणे आली के टीजर में जट्ट और जाटनी के रूप में चमके एमी विर्क और सोनम बाजवा पंजाबी सावधान रहें, आप और कांग्रेस एक ही थाली के चट्टे-बट्टे : डॉ. सुभाष शर्मा आनंदपुर लोकसभा के अंतर्गत आता गढ़शंकर ग्रीन चुनाव के लिए एक मॉडल के रूप में करेगा 2024 की दूसरी छमाही में बड़े OTT शो के सीक्वल का बेसब्री से इंतज़ार: मिर्ज़ापुर 3 से ताज़ा ख़बर 2 तक आनंदपुर साहिब संसदीय क्षेत्र देश में हरित चुनाव का मॉडल बनकर उभरेगा

 

इंसानी साहस और सच का तानाबाना हैं पुरबाशा घोष की बुक 'एनाटोमी ऑफ़ ए हाफ ट्रुथ'

Book, Purbasha Ghosh, Anatomy of a Half Truth, Anatomy of a Half Truth Purbasha Ghosh, Mumbai
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

मुंबई , 18 Apr 2024

लीडस्टार्ट द्वारा प्रकाशित पुरबाशा घोष की "एनाटॉमी ऑफ ए हाफ ट्रुथ" एक मास्टरपीस हैं, जो इंसानी सोच, जीवन, और प्रेम की जटिलताओं की परते खोलती हैं और हमारा सामना सच से करवाती हैं। घोष ने अपनी भाषा और कल्पना से एक अद्भुत तानाबान बुना हैं, जिसमे किरदार अपने भीतरी तनाव, रिश्तो की जटिलता और सामाजिक अपेक्षाओं की उथल पुथल से जूझ रहे होते हैं। 

इस उपन्यास की सबसे बड़ी ताकत है इसकी भाषा या कहे बात को कहने का तरीका, जिससे रीडर्स ना सिर्फ कहानी और पात्रो से रिलेट कर पाते हैं, बल्कि वह इसके बारे में सोचने पर भी मजबूर हो जाते हैं. घोष अपने शब्दों के साथ एक ऐसी दुनिया को जीवंत करती हैं, जिसके बारे में हम सभी जानते हैं, लेकिन कभी उसके बारे में कभी सोचा नहीं हैं, कहानी का हर किरदार अपने आंतरिक संघर्ष से जूझ रहा हैं, और कुछ पन्ने पढ़ने के बाद हम भी उसी संघर्ष का हिस्सा बन जाते हैं, और यही इस बुक की खासियत हैं, इसकी सरलता और सच्चाई! 

इस उपन्यास का प्लाट बेहद रोमांचक हैं, जो परत-दर-परत खुलता चला जाता हैं, प्रत्येक पृष्ठ के पलटने के साथ कुछ नया और रहसमयी खुल कर सामने आता हैं, घोष अपने शब्दो  के साथ ना सिर्फ हमारे प्रेजेंट बल्कि अतीत के बारे में कुछ खुलासे करती हैं, जिससे हम अपनी और किरदारों की पीड़ा, हमारे अस्तित्व और माता-पिता के प्रभाव को हमारे जीवन पर समझ पाते हैं, बुक में दो अहम् किरदार जिनका नाम कृति और चाहेक हैं, और हम इन दोनों के जरिये अनाचार और मानसिक बीमारी जैसे कलंकित विषयों के बारे में अच्छे से जान पाते है।

यह उपन्यास कॉर्पोरेट और सामाजिक नीतियों पर भी शक्तिशाली व्यंग्य करता है, जो शिष्ट समाज के पाखंड और धोखे पर प्रकाश डालती हैं, जिसे हम अक्सर अनदेखा कर जाते हैं. लेकिन घोष ने इन मुश्किल विषय को बहुत चतुराई, कुशलता और सटीकता के साथ अपनी कहानी में बुना है। "एनाटॉमी ऑफ ए हाफ ट्रुथ" कहानी की एक शुरुवात हैं, यह एक मनोरंजक और विचारोत्तेजक उपन्यास है जो पाठकों को उनकी सोच पर सवाल उठाने को मजबूर करती हैं!

Anatomy of a Half Truth" by Purbasha Ghosh; Unveiling the Layers of Truth

Mumbai

Purbasha Ghosh's "Anatomy of a Half Truth" published by Leadstart is a literary masterpiece that delves deep into the human psyche, unraveling the complexities of life, love, and the pursuit of truth. Through a rich tapestry of language and imagery, Ghosh brings to life a cast of characters grappling with their inner demons and navigating the tumultuous waters of relationships and societal expectations.

One of the novel's greatest strengths lies in its use of language, which is both elastic and evocative. Ghosh paints vivid pictures with her words, infusing the narrative with livid imagery that brings each character's interior conflict to life. This skillful use of language creates a visceral reading experience, immersing the reader in the emotional landscape of the story.

At the heart of the novel is a gripping plot that unfolds like a strip-tease, revealing secrets and hidden truths with each turn of the page. Ghosh illuminates the psychological chains that bind us to our past, exploring themes of trauma, survival, and the enduring impact of parental influence. Through the characters of Kruti and Chahek, she shines a light on stigmatized topics like incest and mental illness, challenging readers to confront the uncomfortable realities of the human condition.

The novel also serves as a powerful satire of corporate and social norms, exposing the hypocrisy and deceit that often lurk beneath the surface of polite society. Ghosh deftly navigates these complex themes, weaving them into the fabric of her narrative with skill and precision.

Overall, "Anatomy of a Half Truth" is a tour de force of storytelling, a gripping and thought-provoking novel that challenges readers to question their assumptions and confront the darker aspects of the human experience. Ghosh's narrative is a testament to the power of language and the enduring quest for truth in a world filled with half-truths.

 

Tags: Book , Purbasha Ghosh , Anatomy of a Half Truth , Anatomy of a Half Truth Purbasha Ghosh , Mumbai

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD