Saturday, 13 April 2024

 

 

खास खबरें राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल ने प्रदेश की प्रगति में योगदान देने वाले हाई फ्लायर्स को सम्मानित किया मलायका और नारीफर्स्ट की एकता ने डॉ. रूपिंदर और ईशा को प्रदान की ज्वेल ऑफ इंडिया ट्रॉफी ज़ी पंजाबी सितारे केपी सिंह और ईशा कलोआ टाइम्स फूड एंड नाइटलाइफ़ अवार्ड्स 2024 में अतिथि के रूप में शामिल हुए एलपीयू ने क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग-2024 में शीर्ष स्थान हासिल किये इंडस पब्लिक स्कूल में वैसाखी पर लगी रौनकें, छात्रों ने पेश किए रंगारंग प्रोग्राम किड्जी बेला ने बैसाखी का त्योहार पारंपरिक हर्षोल्लास के साथ मनाया इलेक्ट्रिक व्हीकल होंगे सस्ते, पॉवरफुल और अधिक सुरक्षित PEC स्टूडेंट्स ने सास उद्योग का जश्न मनाते हुए, भारत सास यात्रा में लिया हिस्सा डोल्से गब्बाना ड्रेस और रोलेक्स घड़ी में नजर आईं उर्वशी रौतेला ने लोगों का दिल जीता केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले की मौजूदगी में फ़िल्म "गौरैया लाइव" का शानदार प्रीमियर एआई की दुनिया मे आयी एक क्रांति! रोबॉटिक मशीन चंद मिनटों में खाना बनाकर कर देगा आपको हैरान असम में आप उम्मीदवारों के लिए मुख्यमंत्री भगवंत मान ने जनसभा करते की अपील ,1 नंबर वाला झाड़ू का बटन दबा कर असम में लाएं बदलाव बोली टप्पों के साथ मलोया में महिलाओं के जत्थे ने किया भाजपा प्रत्याशी संजय टंडन का प्रचार प्रसार बढ़ रहा है भाजपा परिवार- यह देखकर खुशी हो रही है कि पूरे पटियाला जिले से सैकड़ों लोग रोजाना हमारे साथ जुड़ रहे हैं: परनीत कौर सीजीसी लांडरां में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई बैसाखी विजीलैंस ब्यूरो ने बीडीपीओ को 30 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए किया गिरफ्तार पारंपरिक मेलों की तरह लोकतंत्र के पर्व में भी जरूर लें हिस्सा: डी.सी. हेमराज बैरवा किसानों के लिए किसी ने गारंटी दी और उस गारंटी को पूरा किया वो चौधरी देवीलाल ने किया: अभय सिंह चौटाला भाजपा को अरविंद केजरीवाल से डर लगता है, वे राष्ट्रपति शासन के जरिए दिल्ली में पिछले दरवाजे से प्रवेश चाहते हैं: आप हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने दिल्ली में श्री लाल कृष्ण आडवाणी से की मुलाकात पात्र व्यक्ति 26 अप्रैल तक बनवा सकते हैं वोट : जिला निर्वाचन अधिकारी राहुल हुड्डा

 

बांस उत्पादकों के लिए प्रदेश सरकार बनाएगी सोसायटी

घुमारवीं में जाइका वानिकी परियोजना की कार्यशाला में बोले कैबिनेट मंत्री राजेश धर्माणी

Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

घुमारवीं , 24 Feb 2024

प्रदेश में बांस उत्पादकों के लिए प्रदेश सरकार एक सहकारी सभा बनाएगी। ताकि उनके द्वारा निर्मित प्रोडक्ट्स को मार्केट में पहचान मिल सके और उनकी आर्थिकी में भी बेहतर सुधार हो सके। यह बात शनिवार को घुमारवीं में जाइका वानिकी परियोजना द्वारा आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला को संबोधित करते हुए टीसीपी, हाउसिंग एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री राजेश धर्माणी ने कही। 

उन्होंने कहा कि मन में कई वर्षों से विचार आ रहा था कि बांस उत्पादों की महनत को देखते हुए प्रदेश में उनके लिए कुछ नया करने की आवश्यकता है। बांस उत्पादकों की आर्थिकी में सुधार हो, इसके लिए प्रदेश सरकार हर संभव सहयोग करेगी। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि जाइका वानिकी परियोजना के मुख्य परियोजना निदेशक नागेश कुमार गुलेरिया के साथ एक साल से चर्चा कर रथा था कि ऐसे समुदायों को आजीविका कमाने के बेहतर अवसर प्राप्त हो इसके लिए उन्हें नई योजना बनाने के जरूरत है। 

राजेश धर्माणी ने कहा कि बांस उत्पादकों के लिए जो सहकारी सभा बनेगी उसके मालिक आप ही होंगे। उनके उत्पादों को बेचने के लिए प्रदेश के नेशनल हाइवे के समीप स्वयं सहायता समूहों के लिए स्थान चिंहित कर देंगे। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि बांस उत्पादों से रोजगार के द्वार भी खुलेंगे। उन्होंने कहा कि जाइका वानिकी परियोजना की ओर से इस प्रोजेक्ट के लिए अभी एक करोड़ का बजट प्रस्तावित है जिसे और बढ़ाया जाएगा। राजेश धर्माणी ने कहा कि मैंने बांस उत्पादकों को मेहनत करते हुए देखा है। 

मंत्री ने कहा कि बांस उत्पादकों को आईएचबीटी पानलमपुर में एक्सपोजर विजिट पर ले जा सकते हैं। उन्होंने यहां मौजूद लोगों से आहवाहन किया कि अगले दो साल में अंदर आपकी कमाई सामने दिखेगी। कार्यशाला को संबोधित करने से पहले मंत्री राजेश धर्माणी ने जाइका वानिकी परियोजना से जुड़े विभिन्न स्वयं सहायता समूहों द्वारा निर्मित उत्पादों के स्टॉल का अवलोकन किया। 

बैंबू इंडिया के फाउंडर एंड सीईओ योगेश शिंदे ने बांस निर्मित उत्पादों से लोगों को आजीविका कमाने और उनकी आर्थिकी सुदृढ़ करने बारे विस्तृत जानकारी दी। जाइका वानिकी परियोजना के प्रोग्राम मैनेजर डा. कौशल्या कपूर, विषय वस्तु विशेषज्ञ डा. उल्शिदा, एफटीयू को-ऑर्डिनेटर, विभिन्न स्वयं सहायता समूहों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

जहां-जहां मशीनें चाहिए जाइका परियोजना देगी: नागेश

जाइका वानिकी परियोजना के मुख्य परियोजना निदेशक नागेश कुमार गुलेरिया ने कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि बांस पर निर्भर उत्पादकों के लिए यह परियोजना हर संभव प्रयास करेगी। उन्होंने कि परियोजना ने पहले चरण में एक करोड़ का बजट रखा है, जिसे और बढ़ाया जाएगा। नागेश कुमार गुलेरिया ने कहा कि टीसीपी, हाउसिंग एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री राजेश धर्माणी का विजन था कि बांस का कारोबार करने वाले समुदायों की आर्थिकी में सुधार कर सकेत हैं। 

इसी दिशा में जाइका वानिकी परियोजना इन समुदायों के साथ खड़ी है। नागेश कुमार गुलेरिया ने कहा कि बांस के कार्यों में सुधार के लिए मशीनें भी दी जाएगी। ताकि उनका उत्पाद हिमाचल में ही नहीं, बल्कि देश के कोने-काने में बिक सके। उन्होंने यहां मौजूद समुदायों के लोगों के साथ सीधा संवाद भी किया और उनमें जोश भरने में कोई कमी नहीं छोड़ी। 

नागेश कुमार गुलेरिया ने कहा कि बांस पर आधारित समुदायों को आजीविका कमाने का अवसर आज से ही शुरू हो गया है। इस अवसर पर जाइका वानिकी परियोजना के जैव विविधता विशेषज्ञ डा. एसके काप्टा, सीसीएफ बिलासपुर अनिल शर्मा, समेत वन विभाग के अन्य अधिकारियों एवं कर्मचारी उपस्थित रहे। कृषि विभाग के उप निदेशक डा. शशिपाल ने बैंबू मिशन के बारे अवगत करवाया। आईएचबीटी पालमुपर से बांस के पौधे भी खरीदे।

 

Tags: Rajesh Dharmani , Himachal Pradesh , Himachal , Congress , Indian National Congress , Himachal Congress , Shimla

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD