Monday, 27 May 2024

 

 

खास खबरें भारत आगे बढ़ रहा है और पंजाब पीछे जा रहा है: सुभाष शर्मा केंद्र के सहयोग से घग्गर की समस्या का जल्द होगा स्थाई समाधानः परनीत कौर हम आपके बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के लिए लड़ रहे हैं : भगवंत मान जब तक केजरीवाल ज़िंदा है किसी में हिम्मत नहीं की आपका आरक्षण ख़त्म कर सके : अरविंद केजरीवाल क्यों आज मुद्दों पर बात नहीं कर रही बीजेपी : सुप्रिया श्रीनाटे कांग्रेस सरकार आने पर पुरानी पेंशन होगी बहाल : गुरजीत सिंह औजला मोदी भ्रष्टाचार के केंद्र बिंदु, संविधान खत्म करने का ना देखें सपना : राहुल गांधी पीएम मोदी ने 22 लोगों के 16 लाख करोड़ का कर्ज माफ किया : राहुल गांधी वोट के अधिकार को ख़रीदना चाहती है भाजपा : ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू भाजपा वाले नकली गोरक्षक, हम कर रहे गोसंरक्षण : ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू बॉलीवुड एक्ट्रेस महिमा चौधरी ने सोहाना हॉस्पिटल का दौरा कर कैंसर मरीजों से मुलाकात की कांग्रेस संयुक्त सचिव रविंदर सिंह त्यागी हुए भाजपा में शामिल अब संजय टंडन का समर्थन करने दिव्यांग भी आये आगे तिवारी का चुनाव प्रचार भ्रामक और अराजकता का प्रतीक : रविंद्र पठानिया मुख्यमंत्री भगवंत मान ने खडूर साहिब से आप उम्मीदवार लालजीत भुल्लर के लिए किया प्रचार गोल्डन टेंपल को बनाया जायेगा ग्लोबल सेंटर : राहुल गांधी पंजाब में क्राइम आउट ऑफ कंट्रोल, चिंता का विषय: विजय इंदर सिंगला विजय इंदर सिंगला ने जारी किया घोषणापत्र, क्षेत्र के लिए किये कई वादे अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने लुधियाना में चुनाव अभियान तेज किया, मुख्य मुद्दों की अनदेखी करने पर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की आलोचना की भाजपा द्वारा बिट्टू को खारिज करने पर, वड़िंग को अपने ‘मित्र’ बिट्टू के लिए बुरा लगा सीएम भगवंत मान ने राजासांसी, अजनाला और मजीठा में कुलदीप धालीवाल के लिए किया प्रचार, अमृतसर के लोगों ने भारी वोटों से आप को जीत दिलाने का किया वादा

 

डॉ. एस.पी सिंह ओबराय की बदौलत अब 6 पकिस्तानी युवाओं को मिला जीवन दान

मैं रक्त का रंग लाल देखता हूं, नाकि जात, धर्म, रंग या नस्ल- डॉ. ओबराय

Sarbat Da Bhala Trust
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

अमृतसर , 03 Feb 2024

धर्मों, जातियों और देशों के बंटवारों को अलग रखकर अपने सरबत का भला संकल्प पर पहरा देने वाले दुबई के प्रसिद्ध सिख कारोबारी और सरबत का भला चैरिटेबल ट्रस्ट के संस्थापक डॉ. एस.पी सिंह ओबेरॉय ने अब जलंधर शहर के साथ एक युवक की हत्या के केस में सजा याफ़्ता 6 पाकिस्तानी युवाओं को बचाकर एक निवेकली मिसाल पेश की है।

इस सबंधी पत्रकारों को जानकारी देते राष्ट्रीय स्तर पर अपनी मिसाली सेवाओं के रूप में जाने जाते डॉ.एस.पी सिंह ओबेरॉय ने कहा कि 22 मई 2019 को जालंधर शहर की बस्ती बावा खेल से संबंधित  कुलदीप सिंह पुत्र रजिंदर सिंह की शारजाह (दुबई) में हत्या कर दी गई थी और इस हत्या के अंतर्गत पाकिस्तान के अली हुस्न, मुहम्मद शाकिर, आफताब गुलाम, मुहम्मद कामरान, मुहम्मद ओमीर वाहिद, सईद हसन शाह थे, को मौत की सजा सुनाई गई थी। 

उन्होंने कहा कि उक्त पाकिस्तानी युवकों के परिवारों ने उनसे संपर्क किया और मारे गए कुलदीप सिंह के परिवार से खाड़ी देशों के कानून अनुसार ब्लड मनी लेकर अपने बच्चों की जान बख्शने का अनुरोध किया। उन्होंने बताया कि जब उन्होंने कुलदीप के परिवार का पता लगाया और उनसे संपर्क किया तो पता चला कि कुलदीप की पत्नी किरणदीप कौर अपने बेटे सहित अपने ससुराल परिवार को छोड़कर अपने पैतृक गांव चली गई है और अब उनके बीच कोई आपसी संबंध नहीं रहा।

उन्होंने कहा कि दोनों परिवारों को कई बार समझाने का प्रयास किया गया, लेकिन वह मन होते हुए भी आपसी मतभेद के कारण इस संबंध में कोई निर्णय नहीं ले सके।उन्होंने कहा कि खाड़ी देशों में कुछ मामलों में मारे गए व्यक्ति का परिवार सहमत नहीं हो, लेकिन अगर पैसा अदालत में जमा कर दिया जाए तो आरोपी पाए गए व्यक्ति की सजा माफ कर दी जाती है। उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों में पीड़ित परिवार जब चाहे कोर्ट में जमा रकम ले सकता है।  

उन्होंने कहा कि इस मामले में भी उन्होंने उक्त 6 पाकिस्तानी युवकों को बचाने के लिए अपने वकीलों के माध्यम से उक्त केस लड़ा और 2 लाख 10 हजार दराम (लगभग 48 लाख भारतीय रुपये) अदालत में जमा करवाए, जिसके बाद कोर्ट ने सभी 6 पाकिस्तानी युवकों की सजा माफ कर दी है और रिहाई के कागजात जेल विभाग को भेज दिए और कुछ ही दिनों में यह युवक सुरक्षित अपने घर लौट आएंगे। 

उन्होंने कहा कि बेशक पूरा केस उन्होंने लड़ा है, लेकिन कोर्ट में जमा की गई पूरी रकम आरोपी युवकों के परिजनों ने दी है। उनके अनुसार पाकिस्तानी नागरिक शब्बीर अहमद मंज़ूर, जो अली हुसन के पिता हैं, ने भी इस मामले को अंजाम तक पहुंचाने के लिए अथक प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि अगर आज भी संबंधित पीड़ित परिवार के बीच आपसी समझौता हो जाता है तो वह कोर्ट में जमा राशि का भुगतान करने में उनकी हर संभव मदद करेंगे। 

उन्होंने यह भी कहा कि यदि संबंधित परिवार यह पैसा लेने के लिए सहमत हो जाता है, तो शरीयत कानून के अनुसार अदालत में जमा की गई राशि मृतक कुलदीप के पिता राजिंदर सिंह, मां जसविंदर कौर, पत्नी किरणदीप कौर, बेटे प्रभदीप सिंह और भाई लखवीर सिंह के बीच समान रूप से विभाजित की जाएगी। उन्होंने कहा कि वह पहले ही कोर्ट में जमा की गई ब्लड मनी 6-7 ऐसे परिवारों को दे चुके हैं, जिनके फैसले के बाद आपसी सहमति बनी थी। 

डॉ. ओबेरॉय ने एक बार फिर स्पष्ट किया कि वह पहले व्यक्ति हैं जो लाल रंग देखते हैं, कोई जाति नहीं। धर्म, रंग या नस्ल. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह हत्या करने वाले अपराधियों, ड्रग डीलरों और बलात्कारियों की मदद नहीं करते हैं। उल्लेखनीय है कि डॉ. एस. पी. सिंह ओबेरॉय के प्रयासों से अब तक 135 लोग फाँसी या 45 वर्ष की लंबी सजा से मुक्त हो चुके हैं।

 

Tags: Sarbat Da Bhala Trust Amritsar , Sarbat Da Bhala , Sarbat Da Bhala Trust , Sarbat Da BhalaTrust Patiala , S P Singh Oberoi , DR. S. P. Singh Oberoi

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD