Saturday, 20 April 2024

 

 

खास खबरें पंजाब को बी जे पी के अत्याचार के खिलाफ एकजुट होना होगा: राजा वड़िंग उपायुक्त ओलावृष्टि से खराब हुई फसलों का जल्द से जल्द सर्वे कराएं- मुख्य सचिव टीवीएसएन प्रसाद गुरजीत सिंह औजला ने चुनाव अभियान की शुरूआत गुरुद्वारा बाबा छज्जोजी में माथा टेक कर की निजी फायदे के लिए गेहूं की बर्बादी कर रही सरकार 1 मई को सुबह 11 बजे कुरूक्षेत्र में अपना नामांकन करेंगे अभय सिंह चौटाला एलपीयू के स्कूल ऑफ लिबरल एंड क्रिएटिव आर्ट्स ने 'वन इंडिया-2024' फैस्ट की चैंपियनशिप ट्रॉफी जीती स्वास्थ्य मंत्री पंजाब ने आर्यन्स फार्मेसी सम्मेलन का उद्घाटन किया पंजाब की महिलाओं को आज भी एक-एक हजार मासिक भत्ते का इंतजार: एन.के.शर्मा सीजीसी लांडरां के एप्लाइड साइंस डिपार्टमेंट ने वर्कशॉप का आयोजन किया लोकायुक्त ने राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल को वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की पलवल जिले के 118 वर्ष के धर्मवीर हैं प्रदेश में सबसे बुजुर्ग मतदाता मानव को एकत्व के सूत्र में बांधता - मानव एकता दिवस श्री फ़तेहगढ़ साहिब में बोले मुख्यमंत्री भगवंत मान: रात कितनी भी लंबी हो सच का सूरज चढ़ता ही चढ़ता है, 2022 में जनता ने चढ़ाया था सच का सूरज भारी बारिश और तूफान के बावजूद भगवंत मान ने श्री फतेहगढ़ साहिब में जनसभा को किया संबोधित जुम्मे की नमाज पर मुस्लिम भाईचारे को बधाई देने पहुंचे गुरजीत सिंह औजला आवश्यक सेवाओं में तैनात व्यक्तियों को प्राप्त होगी डाक मतपत्र सुविधा: मुख्य निर्वाचन अधिकारी मनीष गर्ग शहर के 40 खेल संगठनों के प्रतिनिधियों ने की घोषणा,भाजपा प्रत्याशी संजय टंडन को दिया समर्थन भाजपा ने कांग्रेस प्रत्याशी मनीष तिवारी को 12 जून 1975 के ऐतिहासिक तथ्य याद दिलाई रयात बाहरा यूनिवर्सिटी में 'फंडिंग के लिए अनुसंधान परियोजना लिखने' पर वर्कशॉप सफेद कुर्ती में इहाना ढिल्लों का चुंबकीय अवतार सरफेस सीडर के साथ गेहूं की खेती को अपनाए किसान: कोमल मित्तल

 

'आप' पंजाब ने केन्द्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव के संसद में पंजाब पर दिए बयान की निंदा की

पार्टी के पंजाब के मुख्य प्रवक्ता मलविंदर सिंह कंग ने कहा - फसल विविधीकरण पंजाब की जरूरत, केंद्र सरकार पंजाब को दोष देने के बजाय स्पेशल पैकेज दे

Malwinder Singh Kang, Malvinder Singh Kang, AAP, Aam Aadmi Party, Aam Aadmi Party Punjab, AAP Punjab
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

चंडीगढ़ , 08 Dec 2023

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब ने केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव के संसद में पंजाब पर दिए बयान की निंदा की और कहा कि उन्होंने संसद में पंजाब संबंधी झूठे तथ्य पेश किए। उनका बयान पंजाब को बदनाम और अपमान करने वाला है।  शुक्रवार को चंडीगढ़ पार्टी मुख्यालय में मीडिया को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी पंजाब के मुख्य प्रवक्ता मलविंदर सिंह कंग ने पत्रकारों को भूपेंद्र यादव का बयान सुनाया और कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार की नीति है कि पंजाब को कुछ देना नहीं है, उल्टे बदनाम करना है और बुरा भला कहना है।

कंग ने कहा कि ‌फसल विविधीकरण पंजाब की जरूरत है। इससे पंजाब में पानी और पराली दोनों समस्या खत्म होगी। इसलिए केंद्र सरकार फसल विविधीकरण को प्रोत्साहित करने के लिए पंजाब को स्पेशल पैकेज दे। कंग ने कहा कि भूपेंद्र यादव ने संसद में हरियाणा और पंजाब की तुलना की जबकि पंजाब में हरियाणा के मुकाबले करीब 3 गुणा ज्यादा क्षेत्र में धान की खेती होती है। पंजाब में करीब 32 लाख हेक्टेयर में धान की खेती होती है। वहीं हरियाणा में सिर्फ 12 लाख हेक्टेयर में ही होती है।

इसके बावजूद मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के प्रयासों की बदौलत पंजाब में पराली जलाने के मामले में पिछले साल की तुलना में 56 प्रतिशत की कमी आई है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने पराली की समस्या से निपटने के लिए किसानों को प्रति एकड़ ₹2500 देने का मसौदा केंद्र सरकार को सौंपा है, जिसमें  पंजाब सरकार 1000 रु देगी और 1500 केंद्र सरकार से मांग की है।

इसमें दिल्ली सरकार भी 500 देने को तैयार है। इस हिसाब से केन्द्र को सिर्फ 1000 ही देने है। फिर भी वह इस मांग को जानबूझकर खारिज कर रही है। जबकि यह स्कीम लागू होने के बाद पंजाब में काफी हद तक पराली की समस्या खत्म हो जाएगी। फसल विविधीकरण पर भूपेंद्र यादव के जवाब पर कंग ने कहा कि उन्होंने इसके लिए 2440 करोड़ रुपए केन्द्रीय फंड का जिक्र किया जबकि सिर्फ पंजाब में ही इस साल  करीब 39000 करोड़ रुपए की धान की खरीद हुई है।

मंत्री का यह बयान देश के किसानों के साथ मजाक है।कंग ने कहा कि चावल पंजाब का भोजन नहीं है फिर भी देश का खाद्य भंडार भरने के लिए पंजाब के किसान धान की खेती करते हैं। इसके कारण पंजाब का पानी काफी नीचे चला गया है। कई जगहों पर तो पानी की गंभीर समस्या उत्पन्न हो गई है।  चूंकि धान के फसल पर ही ठीक-ठाक एमएसपी मिलती है, इसलिए पंजाब के किसानों को मजबूरन धान ही उपजाना पड़ता है।

जबकि पंजाब की मिट्टी में सभी फसल उपज सकती है और यहां के किसान गेहूं चावल से लेकर सब्जी और फल भी उपजाने में सक्षम हैं। इसलिए केंद्र सरकार को पंजाब को दोष देने के बजाय फसल विविधीकरण के लिए स्पेशल पैकेज देना चाहिए।

 

Tags: Malwinder Singh Kang , Malvinder Singh Kang , AAP , Aam Aadmi Party , Aam Aadmi Party Punjab , AAP Punjab

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD