Sunday, 25 February 2024

 

 

खास खबरें कैबिनेट मंत्री कुलदीप सिंह धालीवाल ने अजनाला हलके में दो संपर्क सड़कों का शिलान्यास किया चितकारा लिट फेस्ट- साहित्य, संस्कृति और विचारों की विजय मुख्यमंत्री भगवंत सिंह द्वारा मुकेरियाँ से अपनी किस्म की पहली सरकार-व्यापार मिलनी की शुरुआत बांस उत्पादकों के लिए प्रदेश सरकार बनाएगी सोसायटी बीजेपी और कांग्रेस के नेता सिर्फ मेवात के लोगों के वोट लेने आते हैं, लेकिन विकास खुद का करते हैं : अभय सिंह चौटाला मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान द्वारा श्री गुरु रविदास जी का 650वां प्रकाश उत्सव व्यापक स्तर पर मनाने का ऐलान सफाई कर्मचारियों के हितों को ध्यान में रखते हुए मिलें बेहतर सुविधाएं : अंजना पंवार विकास कार्य़ो की गति में लाई जाए तेजीः सोम प्रकाश एस बी एस पब्लिक स्कूल में हुआ पैनासॉनिक “हरित उमंग- जॉय ऑफ़ ग्रीन” का सफल आयोजन PEC त्रिदिवसीय वर्कशॉप का सफलतापूर्वक समापन किया PEC स्टूडेंट निशिता ने स्वरचित रचना से जीता IGNUS 24 फेस्ट में दूसरा स्थान IIT रोपड़ के टेक्निकल फेस्ट में PEC छात्रों ने अपने नाम किये कई ईनाम 'PEC में दोबारा आना एक यादगारी अनुभव है' : कपिलेश्वर सिंह बीजेपी हम पर इंडिया गठबंधन छोड़ने का दबाव बना रही है, वे जल्द अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने की योजना बना रहें : आप पंजाब द्वारा दुबई में ‘गल्फ-फूड 2024’ के दौरान फूड प्रोसेसिंग की उपलब्धियाँ और संभावनाओं का प्रदर्शन, निवेश के लिए न्योता कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने 27 फार्मासिस्टों व 28 को क्लीनिक असिस्टेंटों को सौंपे नियुक्ति पत्र 1900 रुपए मानदेय बढ़ाने के लिए कंप्यूटर अध्यापकों ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू का आभार व्यक्त किया ब्रिटिश उच्चायोग और हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू से भेंट की 'क़ैद - नो वे आउट' - प्यार, दुर्व्यवहार और उस से बाहर निकलने की एक मनोरंजक कहानी चितकारा यूनिवर्सिटी में "चितकारा लिट फेस्ट 2024"' विद्युत जामवाल की ''क्रैक- जीतेगा तो जियेगा' एक्शन फिल्मों की सूची में सबसे ऊपर

 

दिल्ली के ग्रेटर कैलाश का अस्पताल खतरनाक : डॉक्टरों की पोल खुली, अवैध सर्जरी ने कई लोगों की जान ली, डॉक्टरों समेत 4 गिरफ्तार

Crime News India, Police, Crime News
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

नई दिल्ली , 15 Nov 2023

दिल्ली पुलिस ने दो डॉक्टरों समेत चार लोगों की गिरफ्तारी के साथ एक रैकेट का भंडाफोड़ किया है, जिसमें ऐसे डॉक्टर शामिल थे, जो दक्षिणी दिल्ली के ग्रेटर कैलाश इलाके में अग्रवाल मेडिकल सेंटर में जरूरी डिग्री और अनुमति के बिना सर्जरी कर रहे थे।सूत्रों के अनुसार, पुलिस को इस अस्पताल में ऑपरेेशनके बाद कई मौतों की सूचना मिली।

पुलिस के मुताबिक, 10 अक्टूबर 2022 को संगम विहार की एक महिला ने शिकायत दर्ज कराई थी कि उसके पति ने 19 सितंबर 2022 को अग्रवाल मेडिकल सेंटर में पित्ताशय की पथरी निकलवाई थी। शुरुआत में डॉ. नीरज अग्रवाल ने दावा किया था कि एक प्रसिद्ध सर्जन डॉ. जसप्रीत सिंह सर्जरी करेंगे। हालांकि, सर्जरी से ठीक पहले उन्हें बताया गया कि कुछ आपात स्थिति के कारण डॉ. जसप्रीत सिंह ऑपरेशन नहीं करेंगे।

इसे डॉ. महेंद्र सिंह के साथ डॉ. नीरज अग्रवाल और डॉ. पूजा ने किया। महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि बाद में पता चला कि डॉ. महेंद्र सिंह और डॉ. पूजा फर्जी डॉक्टर हैं। महिला ने अपनी शिकायत में कहा कि उसके पति को सर्जरी के बाद तेज दर्द हुआ और वह बेहोश हो गया। उसे सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) चंदन चौधरी ने कहा कि जांच से पता चला है कि डॉ. जसप्रीत सिंह सर्जरी के दौरान मौजूद नहीं थे और उन्होंने फर्जी दस्तावेज बनाए थे।लापरवाही से मरीजों की मौत के लिए अग्रवाल मेडिकल सेंटर के खिलाफ दिल्ली मेडिकल काउंसिल में सात शिकायतें दर्ज की गईं।27 अक्टूबर, 2023 को एक अन्य मरीज जय नारायण की सर्जरी के बाद मौत हो गई। एक मेडिकल बोर्ड ने 1 नवंबर, 2023 को मेडिकल सेंटर में कमियां पाईं। आगे की जांच में डॉ. नीरज अग्रवाल द्वारा बार-बार फर्जी दस्तावेज तैयार करने का खुलासा हुआ।

डीसीपी ने कहा, "मृतक असगर अली की पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण लेप्रोस्कोपिक कोलेसिस्टेक्टोमी की जटिलताओं के कारण रक्तस्रावी आघात बताया गया है।"पुलिस ने मंगलवार को डॉ. नीरज अग्रवाल, उनकी पत्‍नी पूजा अग्रवाल, जो कथित तौर पर खुद को डॉ. पूजा अग्रवाल बता रही थीं, सहायक थीं, महेंद्र (पूर्व लैब टेक्नीशियन) और डॉ. जसप्रीत, जिन्होंने सर्जरी के नोट तैयार किए थे, को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारियां अयोग्य व्यक्तियों द्वारा नियोजित सर्जरी के पर्याप्त सबूतों पर आधार पर की गईं।

पुलिस ने 414 प्रिस्क्रिप्शन पर्चियां भी बरामद कीं और जब्त कर ली हैं। इन पर्चियों के शीर्ष पर काफी जगह छोड़ने के बाद केवल डॉक्टरों के हस्ताक्षर थे, दो रजिस्टरों में उन मरीजों का विवरण था, जिनका गर्भपात अस्पताल में किया गया था।डीसीपी ने कहा, "कई प्रतिबंधित दवाएं बरामद की गईं, साथ ही कई इंजेक्शन और एक्सपायर हो चुके सर्जिकल ब्लेड और विभिन्न मरीजों के मूल नुस्खे की पर्चियां भी बरामद की गईं।"

 

Tags: Crime News India , Police , Crime News

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD