Thursday, 30 May 2024

 

 

खास खबरें सुखबीर सिंह बादल ने पवित्र शहर में एक विशाल रोड शो की अगुवाई की जिसने पिछले सारे रिकार्ड तोड़ दिए देश की सुरक्षा के लिए दमदार नेता और पूर्ण विकास के लिए स्थिर सरकार जरूरी : अनुराग ठाकुर मोदी राम को अयोध्या लाए हैं, अब हमे मोदी को लाना है : मनोज तिवारी दो निर्दलीय प्रत्याशी विवेक शर्मा व महंत श्री रविकांत मुनि ने दिया टंडन को अपना समर्थन भाजपा के पक्ष में करेंगे प्रचार स्वाति मालीवाल को लेकर हुआ प्रदर्शन, युवा मोर्चा ने केजरीवाल से किये सवाल चंडीगढ़ और हिमाचल के सहजधारी सिखों ने किया भाजपा को समर्थन चंडीगढ़ में बोले अरविंद केजरीवाल - अच्छे दिन आने वाले हैं, मोदी जी जाने वाले हैं भाजपा की मजबूत चुनावी रणनीति से पहली जून को चित होंगे तिवारी : संजय टंडन लोगों ने फैसला कर लिया है, सर्वे आ चुका है कि आप 13-0 से जीत रही है : भगवंत मान पंजाब के लोग 1 जून को अमित शाह की धमकी का जवाब देंगे, भाजपा की जमानत जब्त कराएंगे : अरविंद केजरीवाल आप सरकार में पहली बार पंजाब में बिना किसी सिफारिश और रिश्वत के नौजवानों को सरकारी नौकरी मिली - अरविंद केजरीवाल पंजाब के लोग जब नादिर शाह के सामने नहीं झुके तो अमित शाह क्या चीज है - संजय सिंह पंजाब की शांति किसी भी कीमत पर भंग नही होने दूंगा : सुखबीर सिंह बादल राहुल गांधी ने किसानों के लिए कर्ज माफी; एमएसपी पर कानूनी गारंटी की घोषणा की गरीब परिवारों के लिए 8500 रुपये मासिक नकद सहायता कांग्रेस अच्छे दिन नहीं बल्कि पुराने दिन वापस लाएगी : गुरजीत सिंह औजला गुरजीत सिंह औजला ने किया सिद्धू मूसेवाले को याद पंजाब में क्राइम कंट्रोल होता तो आज सिद्धू मूसेवाला जिंदा होता: विजय इंदर सिंगला मुरझाए हुए फूल से चुनाव लड़ रहे बिकाऊ विधायक : मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू वड़िंग को मिली और बढ़त; लुधियाना दक्षिणी से भाजपा के दूसरे स्थान पर रहे ताजपुरी कांग्रेस में शामिल केंद्र में यदि कांग्रेस की बनी सरकार तो पत्रकारों की सुरक्षा व पेंशन के लिये बनाई जाएगी नई नीति ,हिमाचल के पत्रकारों को भी मिलेगी पेंशन- पवन खेड़ा मीत हेयर ने कैबिनेट मंत्री के तौर पर किए गए काम पर वोट मांगे

 

अध्यादेश के खिलाफ उद्धव ठाकरे की शिवसेना ने अरविंद केजरीवाल को दिया समर्थन

Arvind Kejriwal, Thackeray slam Centre for 'arrogance of Ordinance'

Arvind Kejriwal, AAP, Aam Aadmi Party, Uddhav Thackeray, Maharashtra Chief Minister, Chief Minister of Maharashtra, Shiv Sena
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

मुंबई , 24 May 2023

केंद्र के अध्यादेश के खिलाफ विपक्षी दलों को साथ लाने की आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल की मुहिम अब एक कदम और आगे बढ़ गई है। बुधवार को उद्धव ठाकरे की शिवसेना ने भी दिल्ली सरकार का साथ देने का एलान कर दिया। इससे पहले, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, बिहार के सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव इस अध्यादेश का राज्यसभा में विरोध करने का एलान कर चुके हैं।

उद्धव ठाकरे की शिवसेना का समर्थन हासिल करने के लिए बुधवार को केजरीवाल ने मुम्बई में उनसे मुलाकात की। मुलाकात के दौरान अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के लोगों को शिवसेना और उद्धव ठाकरे का भी साथ मिल गया है। हम सभी मिलकर जन विरोधी और दिल्ली विरोधी कानून को राज्यसभा में पास नहीं होने देंगे। 

वहीं, उद्धव ठाकरे ने कहा कि दिल्ली के अधिकारों को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिया गया फैसला लोकतंत्र के लिए बहुत जरूरी था, लेकिन केंद्र ने अध्यादेश लाकर इसे पलट दिया। लोकतंत्र विरोधी लोगों से देश के संविधान को बचाने के लिए हम सभी साथ हैं। आप के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का धन्यवाद करते हुए कहा कि सभी जानते हैं कि दिल्ली के लोगों ने अपने अधिकारों के लिए बहुत लंबी लड़ाई लड़ी। 

2015 में जैसे ही दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी, वैसे ही केंद्र सरकार ने एक अधिसूचना पारित कर हमारी सारी शक्तियां छीन ली। हमारी फरवरी 2015 में सरकार बनी और मई में (तीन महीने के अंदर) मोदी सरकार ने अधिसूचना जारी कर हमारी शक्तियां हमसे छीन ली। इसके बाद दिल्ली के लोगों ने 8 साल तक सुप्रीम कोर्ट में अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ी।

मुख्यमंत्री केजरीवाल का कहना है कि इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली की चुनी हुई सरकार के पक्ष में फैसला सुनाया। आठ साल की लंबी लड़ाई के बाद जिस दिन सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया, उसके मात्र 8 दिन के अंदर ही केंद्र सरकार ने अध्यादेश लाकर दोबारा हमसे हमारी सारी शक्तियां छीन ली। जनतंत्र में तो चुनी हुई सरकार के पास शक्तियां होनी चाहिए, ताकि वो जनता के हित में कार्य कर सके। 

क्योंकि जनतंत्र में चुनी हुई सरकार ही जनता के प्रति जवाबदेह होती है। मगर केंद्र सरकार ने हमने सारी शक्तियां छीन ली। ये लोग साफ कह रहे हैं कि हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले को नहीं मानते हैं। केजरीवाल ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में हमने यह भी देखा कि कैसे इनके मंत्रियों और नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट के दूसरे न्यायाधीशों को अपशब्द कहे हैं। 

देश की न्यायपालिका और न्यायाधीशों के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभियान चलाते हैं। इनके लोग सेवानिवृत न्यायाधीशों को देशद्रोही बोलते हैं। यानी इनका देश की न्यायपालिका को नहीं मानते। अब अध्यादेश लाकर इन्होंने ये साफ कर दिया कि सुप्रीम कोर्ट चाहे जो मर्जी फैसले ले, हम उसे नहीं मानते हैं। हम कभी भी अध्यादेश लाकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलट देंगे।

 इस प्रकार तो देश नहीं चल पाएगा। ये लोग देश के लोकतंत्र को भी नहीं मानते। इसकी शिवसेना सबसे बड़ी भुक्तभोगी है। महाराष्ट्र में जनता द्वारा बहुमत से चुनी हुई सरकार को इन्होंने ईडी-सीबीआई और पैसे के बल पर विधायकों को तोड़कर गिरा दी। यह सबने देखा है।

 

Tags: Arvind Kejriwal , AAP , Aam Aadmi Party , Uddhav Thackeray , Maharashtra Chief Minister , Chief Minister of Maharashtra , Shiv Sena

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD