Friday, 22 September 2023

 

 

खास खबरें हॉकी कप्तान हरमनप्रीत सिंह बने एशियाई खेलों में भारतीय खेल दल के ध्वजवाहक पंजाब के स्वास्थ्य विभाग द्वारा राज्य भर में लिंग निर्धारण करने वाले तीन अवैध रैकेटों का किया पर्दाफाश सलमान खान ने अपने दबंग स्टाइल में गिप्पी ग्रेवाल स्टारर फिल्म 'मौजां ही मौजां' का ट्रेलर लॉन्च किया इंटरनेशनल सिख मार्शल आर्ट काउंसिल द्वारा दुनिया भर में गतके को बढ़ावा देने का फ़ैसला गृह मंत्री अनिल विज ने अपने आवास पर सरकारी फाइलों का निपटान किया दिमाग से जुड़े किसी भी लक्षण को नजरअंदाज करना हो सकता है घातक: डा. संदीप शर्मा राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल ने ‘प्रथम स्वतंत्रता संग्राम’ पुस्तक का विमोचन किया 'मेरी माटी मेरा देश' के तहत- नेहरू युवा केंद्र के स्वयंसेवकों ने अमृत कलश यात्रा निकालकर मिट्टी एकत्रित की ऐतिहासिक बैंटनी कैसल आम जनता के लिए खुला उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने स्कास्ट-जम्मू के 25वें स्थापना दिवस समारोह को संबोधित किया किश्तवाड़ प्रशासन वरवान महोत्सव-2023 की मेजबानी हेतु तैयार उपायुक्त कठुआ राकेश मन्हास ने ग्रामीण विकास क्षेत्र के कार्यों, योजनाओं की स्थिति की समीक्षा की मुख्य सचिव डॉ. अरुण कुमार मेहता ने अक्तूबर तक कचरे का 100 प्रतिषत पृथक्करण करने पर बल दिया जम्मू-कश्मीर निवेश हेतु सूर्योदय क्षेत्र के रूप में उभर रहा है, नए व्यवसाय स्थापित हो रहे हैं : राजीव राय भटनागर रामबन में ईद मिलाद-उन-नबी की तैयारियों पर चर्चा की गई उपायुक्त विशेष महाजन ने खलैनी ब्लॉक का दौरा किया सरकारी गांधी नगर अस्पताल में डॉक्टर ड्यूटी से अनुपस्थित पाए गए, उपायुक्त जम्मू ने दिए जांच के आदेश पंजाब में भाजपा को लगा बड़ा झटका, अबोहर से पूर्व भाजपा विधायक अरुण नारंग आप में हुए शामिल जीसीडब्ल्यू एमए रोड पर विज्ञान कार्यक्रम आयोजित, सौरभ भगत ने विजेता छात्रों को सम्मानित किया राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल ने राज्य स्तरीय सायर मेले के समापन समारोह की अध्यक्षता की विजीलैंस ब्यूरो द्वारा 5000 रुपए रिश्वत लेने के दोष में ए. एस. आई. गिरफ्तार

 

‘गुरुजन’ 15वीं-16वीं सदी के असमिया महापुरुष श्रीमंत शंकरदेव को एक संगीतमय श्रद्धांजलि है

मुझे ऐसा लगा कि मुझे शंकरदेव के संदेश का प्रचार-प्रसार न केवल भारत, बल्कि पूरी दुनिया में करने की जरूरत है: निर्देशक सुदीप्तो सेन

Bollywood, IFFI Table Talks, 53rd International Film Festival of India, Panaji, Goa, #IFFIWood, 53rd IFFI, Sankardeva, Gurujana, Srimanta Sankardeva, Sudipto Sen
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

पणजी, गोवा , 27 Nov 2022

‘गुरुजन 15वीं-16वीं शताब्दी के असमिया महापुरुष श्रीमंत शंकरदेव को एक संगीतमय श्रद्धांजलि है।’ निर्देशक सुदीप्तो सेन ने कहा, ‘असम के साथ-साथ पूर्वोत्तर भारत के अन्य हिस्सों के लोग भी शंकरदेव को गुरुजन (बड़े भाई) कहते हैं।’ वह आज गोवा में आईएफएफआई 53 में पीआईबी द्वारा मीडिया और महोत्सव प्रतिनिधियों के साथ आयोजित संवाद में बोल रहे थे।

सुदीप्तो सेन ने कहा कि शंकरदेव न केवल एक भक्ति संत के रूप में, बल्कि एक अभूतपूर्व लेखक और संगीतकार के रूप में भी उभर कर सामने आए। उन्होंने ‘ब्रजवली’ नामक एक नई साहित्यिक भाषा को विकसित करने में भी मदद की।प्रसिद्ध फिल्म निर्माता ने कहा कि उन्होंने महसूस किया कि इस बारे में जागरूकता की भारी कमी है कि यहां तक कि यूरोपीय पुनर्जागरण से कुछ सदी पहले ही हमारे देश में ‘भक्ति’ आंदोलन के रूप में सुधारवादी पुनरुत्थान देखने को मिल गया था।

‘गुरुजन’ बनाने के पीछे की प्रेरणा को साझा करते हुए सुदीप्तो सेन ने कहा, ‘मुझे ऐसा लगा कि मुझे शंकरदेव के संदेश का प्रचार-प्रसार न केवल भारत, बल्कि पूरी दुनिया में करने की जरूरत है। मैंने इस गैर-फीचर फिल्म के जरिए उन्हें एक संगीतमय श्रद्धांजलि दी है।’ गोवा में फि‍लहाल जारी 53वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के भारतीय पैनोरमा खंड के तहत ‘गुरुजन’ दिखाई गई। 

सारांश:

15वीं-16वीं सदी के वैष्णव संत, श्रीमंत शंकरदेव एक धार्मिक नेता और सुयोग्य समाज सुधारक थे। उन्होंने समाज को जाति व्यवस्था और कठोर धार्मिक प्रथाओं के चंगुल से मुक्त करने के लिए अथक संघर्ष किया। अपने स्वभाव से बेहद प्रगतिशील एवं दूरदर्शी, श्रीमंत शंकरदेव भारतवर्ष में एक समतावादी समाज का निर्माण करना चाहते थे। 

फिल्म गुरुजन, जैसाकि उनके अनुयायी उन्हें मानते हैं, में उनकी जीवनी को संगीतमय रूप में प्रस्तुत किया गया है। इस फिल्म के माध्यम से अक्सर भगवान विष्णु के अवतार के रूप में माने जाने वाले इस महान व्यक्तित्व को समझना एक अनूठा अनुभव है।

कलाकार एवं निर्माण:

निर्देशक: सुदीप्तो सेन

निर्माता: इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र

पटकथा: सुदीप्तो सेन, रिया मुखर्जी

छायांकन: आशीष कुमार, शोभिक मल्लिक

संपादन: हिमाद्री शेखर भट्टाचार्य

2022 | अंग्रेजी | रंगीन | 50 मिनट

निर्देशक के बारे में:

सुदीप्तो सेन एक भारतीय फिल्मकार हैं, जो द अदर वेल्थ (1996), द लास्ट मोंक (2007), अखनूर (2007), लखनऊ टाइम्स (2015) और आसमा (2018) जैसी फिल्मों के सफल अंतरराष्ट्रीय सह-निर्माण और विभिन्न फिल्म महोत्सवों में उनको प्रदर्शित करने में संलग्न रहे हैं।

 

Tags: Bollywood , IFFI Table Talks , 53rd International Film Festival of India , Panaji , Goa , #IFFIWood , 53rd IFFI , Sankardeva , Gurujana , Srimanta Sankardeva , Sudipto Sen

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2023 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD