Monday, 04 March 2024

 

 

खास खबरें राज्यपाल के भाषण से भाग जाने पर विरोधी पक्ष पर जम कर बरसे मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान कैबिनेट मंत्री जिंपा ने ‘मुख्य मंत्री तीर्थ यात्रा स्कीम’ के अंतर्गत होशियारपुर से बस को दिखाई हरी झंडी भाजपा का किसान विरोधी चेहरा एक बार फिर उजागर, किसान के हत्यारे के पिता अजय मिश्रा को फिर से दिया टिकट: आप सांसद मनीष तिवारी ने की पार्टी कार्यकर्ताओं से बैठक सीजीसी लांडरां में रेणुकारमा वूमेन एचीवर अवार्ड का हुआ आयोजन पीईसी में ड्रोन अनुप्रयोगों पर 6 दिवसीय कार्यशाला का उद्घाटन चेयरमैन हरचंद सिंह बरसट ने गांव मेहमदपुर में नई फल एवं सब्जी मंडी स्थापित की पर्यटन की दृष्टि से होशियारपुर में असीमित संभावनाएं: कोमल मित्तल भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष जय इंदर कौर ने भारत सरकार की महिला समर्पित योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए पटियाला में नारी शक्ति वंदन मैराथन का आयोजन किया एलपीयू के विद्यार्थी सकारात्मक और खुशहाल जीवन जीने के लिए हुए प्रेरित प्रीत बाठ, किरण शेरगिल, सब्बी सूरी स्टारर फिल्म 'मजनू' का ट्रेलर जारी भाजपा ने देश को सिर्फ धोखा दिया: सांसद मनीष तिवारी शिमला के त्रिदेव और पंच परमेश्वर सम्मेलन में बोल नेता प्रतिपक्ष डॉ. बलजीत कौर ने शुभकरन सिंह के परिवार के साथ दुख किया सांझा पोलियो जैसी ना-मुराद बीमारी को ख़त्म करना सभी की प्राथमिक जिम्मेदारी: ब्रम शंकर जिम्पा पंजाब के विवेकशील वित्तीय प्रबंधन स्वरूप जी. एस. टी में 16 प्रतिशत और आबकारी राजस्व में 12 प्रतिशत की बढ़ोतरी : हरपाल सिंह चीमा पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय में आयोजित स्प्रिंट कार्यक्रम के दौरान पांच स्टार्टअप उद्यमियों को 23 लाख की फंडिंग प्रदान की गई स्वास्थ्य मंत्री ने किया पोलियो टीकाकरण अभियान का शुभारम्भ नर्सिंग एसोसिएशन और पुका पंजाब में नर्सिंग काउंसिल अध्यक्ष का स्वागत किया भगवंत मान और अरविन्द केजरीवाल ने पंजाब के 13 स्कूल ऑफ एमिनेंस लोगों को किये समर्पित ’आप’ को लोक सभा की सभी 13 सीटें देकर पंजाब और पंजाबियों के अपमान का बदला लो : अरविन्द केजरीवाल

 

परमात्मा से जुड़कर मानवीय गुणों से युक्त जीवन जियें : सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज

मानवीयता का दिव्य संगम - 75वां वार्षिक निरंकारी संत समागम

Nirankari, Satguru Mata Sudiksha ji Maharaj, Sant Nirankari charitable Foundation, Sant Nirankari Mission
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

समालखा (हरियाणा) , 19 Nov 2022

‘‘परमात्मा को प्रतिपल स्मरण करते हुए मानवीय गुणों से युक्त जीवन जियें’’ उक्त उद्गार निरंकारी सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज ने समालखा (हरियाणा) में आयोजित 75वें वार्षिक निरंकारी संत समागम में 18 नवंबर को सत्संग के मुख्य सत्र में उपस्थित विशाल मानव परिवार को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए।

सत्गुरु माता जी ने आगे प्रतिपादन किया कि ब्रह्मज्ञान की प्राप्ति के उपरान्त जब संत विवेकपूर्ण जीवन जीते हैं तभी वास्तविक रूप में वह वंदनीय कहलाते हैं। फिर वह पूरे संसार के लिए उपयोगी सिद्ध हो जाते हैं। ऐसे संत महात्मा ब्रह्मज्ञान की दिव्य ज्योति का स्वरूप बन जाते हैं और अपने प्रकाशमय जीवन से समाज में व्याप्त भ्रम-भ्रांतियों के अंधकार से मुक्ति प्रदान करते हैं। ज्ञान के दिव्य चक्षु से संत महात्माओं को संसार का हर एक प्राणी उत्तम एवं श्रेष्ठ दिखाई देता है और समदृष्टि के भाव को अपनाते हुए हृदय में किसी के प्रति नकारात्मक भाव उत्पन्न नहीं होता। 

जीवन की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए सत्गुरु माता जी ने कहा कि जीवन का हर एक क्षण अमूल्य है जिसे व्यर्थ में न गंवाकर उसका सदुपयोग करते हुए सकारात्मक भावों से युक्त जीवन जीयें। अपने परिवार एवं समाज के प्रति कर्तव्यों का निर्वाह करते हुए एक कदम आगे बढ़कर स्वयं का आत्मविश्लेषण करे और अपने आपको और बेहतर बनायें। 

हम जहां अपना जीवन सुखमय करें वहीं दूसरों के जीवन में भी हमारा सकारात्मक योगदान हो। वास्तव में हम एक आध्यात्मिकता से युक्त जीवन जीने के लिए मनुष्य तन में आये हैं इस बात को प्रमाणित करते ‘रूहानियत और इन्सानियत संग संग’ वाला सार्थक जीवन जियें।मिशन के इतिहास का जिक्र करते हुए सत्गुरु माता जी ने कहा कि सच्चाई का यह दिव्य संदेश युगों युगों से संतों द्वारा दिया जा रहा है जिसका वर्तमान स्वरूप यह मिशन है। 

संत निरंकारी मिशन केवल एक रातोरात का सफर नहीं अपितु गुरुओं और संत महात्माओं के बरसों बरस के तप-त्याग का ही परिणाम है कि आज इसका इतना विस्तृत स्वरूप दृष्टिगोचर हो रहा है।ब्रह्मज्ञान की दिव्य रोशनी को जिसने भी प्राप्त किया उसका जीवन उज्ज्वल होता चला गया। 

जिस प्रकार सूर्यमुखी का पुष्प सूर्य की ओर ही उन्मुख रहता है उसी प्रकार ब्रह्मज्ञानी संत ज्ञान की दिव्य ज्योति में स्वयं को प्रकाशित रखते हैं और दूसरों के लिए भी प्रेरणा का स्रोत बनते हैं। सत्गुरु माता जी ने सभी श्रद्धालुओं को अपना पावन आशीर्वाद प्रदान करते हुए सबके लिए यही मंगल कामना की कि सबका जीवन सत्संग, सेवा, सुमिरण करते हुए निर्मल, स्वच्छ एवं सुंदर रूप में व्यतीत होता चला जायें।

कायरोप्रैक्टिक शिविर

निरंकारी संत समागम की विभिन्न झलकियों में कायरोप्रैक्टिक शिविर श्रद्धालुओं के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। कायरोप्रैक्टिक थेरेपी के अंतर्गत विशेष रूप में मांसपेशियों एवं जोड़ों से सम्बन्धित दर्द का उपचार किया जाता है। पिछले करीब 10 वर्षों से निरंकारी सन्त समागम में इस शिविर का आयोजन किया जा रहा है जिसमें प्रतिदिन सैंकड़ों की संख्या में लोग उपचार करवाकर लाभान्वित हो रहे हैं।

इस शिविर में विभिन्न देशों से लगभग 55 डॉक्टरों की टीम अपनी निष्काम सेवाओं द्वारा लोगों का उपचार कर रही है जिसमें कनाडा, यूएसए, ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस, स्पेन, जर्मनी, चीन, ताईवान एवं स्विज़रलैन्ड इत्यादि देशों के विशेषज्ञ डॉक्टरों का समावेश है। इंडियन कायरोप्रैक्टिक असोसिएशन के अध्यक्ष माननीय जिम्मी नंदा ने इस शिविर में पिछले दो दिनों से मिल रही सफलता पर अति प्रसन्नता व्यक्त की है। 

जिस गति से श्रद्धालुओं द्वारा इसका लाभ उठाया जा रहा है उसे देखते हुए यही अनुमान लगाया जा रहा है कि पूर्ण समागम के दौरान लगभग 15 हजार लोग इससे लाभ प्राप्त कर सकेंगे। संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन एवं सेवादल के क्रमशः 250 एवं 150 स्वयंसेवक इस शिविर में डॉक्टरों की सहायता कर रहे हैं।

 

Tags: Nirankari , Satguru Mata Sudiksha ji Maharaj , Sant Nirankari charitable Foundation , Sant Nirankari Mission

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD