Wednesday, 24 July 2024

 

 

खास खबरें यह आम बजट विकसित भारत के निर्माण में एक नया अध्याय लिखेगा : नायब सिंह सैनी कावड़ यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए किए गए पुख्ता इंतजाम, चप्पे चप्पे पर पुलिस की कड़ी नजर मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई एचपीपीसी और एचपीडब्ल्यूपीसी की बैठक रसिका दुगल और गुलशन देवैया की 'लिटिल थॉमस' का IFFM 2024 में वर्ल्ड प्रीमियर होगा विजिलेंस ब्यूरो ने पी.एस.आई.ई.सी. प्लॉट आवंटन घोटाले में शामिल उप-मंडल इंजीनियर को किया गिरफ्तार मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने केंद्रीय बजट को निराशाजनक और किसान विरोधी बताया गरीब कल्याण को समर्पित बजट से अर्थव्यवस्था को मिलेगी नई रफ्तार : संजय टंडन ‘सरकार बचाओ-महंगाई बढ़ाओ’ वाला है मोदी सरकार का बजट- आप मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने विद्यार्थियों की कम संख्या वाले स्कूलों के विलय की संभावनाएं तलाशने के निर्देश दिए राज्य एकल खिड़की स्वीकृति एवं अनुश्रवण प्राधिकरण की 29वीं बैठक में 2216.93 करोड़ रुपये के प्रस्तावित निवेश एवं 25 परियोजना प्रस्तावों को स्वीकृति प्रदान सी जी सी झंजेड़ी कैंपस में नए सत्र की शुरुआत के दौरान विद्यार्थियों के लिए एक सप्ताह का इंडक्शन प्रोग्राम आयोजित किया गया हरचंद सिंह बरसट ने पौधे लगाकर किया मिनी जंगल का उद्घाटन 'खतरों के खिलाड़ी' की कड़ी तैयारी के तहत निमृत कौर अहलूवालिया ने MMA, किक बॉक्सिंग की शुरुआत की धारकंडी क्षेत्र के विकास के लिए तत्परता से किया जाएगा कार्य : केवल सिंह पठानिया बेहतर भविष्य के लिए युवा नेता: लुधियाना के छात्र ‘यंग चैंपियंस फॉर क्लीन एयर प्रोग्राम’ के माध्यम से वायु गुणवत्ता वकालत में निभाएंगे अग्रणी भूमिका डेढ़ साल में 25 हज़ार करोड़ क़र्ज़ लेने वाले मुख्यमंत्री बताएं कहां खर्च किया पैसा : जयराम ठाकुर मलविंदर कंग ने पूर्व हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर को भारत रत्न देने की मांग की डिप्टी कमिश्नर कोमल मित्तल ने मासिक बैठक में अलग-अलग विभागों के कार्यो की समीक्षा की प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध : मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू डॉ. एसएस आहलूवालिया ने पटियाला क्षेत्र के अंतर्गत चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा की विकास कार्यों को जल्द पूरा करने के अधिकारियों को दिए निर्देश कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने नंद किशोर महामंत्र संकीर्तन मंडल को दिया 3 लाख रुपए का चैक

 

सफलता की कहानी : हाईकोर्ट जज के ड्राइवर की बेटी ने न्यायाधीश बनकर पूरा किया सपना

“कार्तिका गहलोत ने दिखा दिया कि अनुशासन से की गई कड़ी मेहनत व्यर्थ नहीं जाती” – डॉ. निर्मल गहलोत

Khas Khabar, Himachal Pradesh, Himachal
Listen to this article

5 Dariya News

5 Dariya News

5 Dariya News

जयपुर , 20 Sep 2022

हाल ही में आरजेएस-2021 के साक्षात्कार का परिणाम घोषित हुआ जिसने कई अभ्यर्थियों के ही नहीं अपितु उनके परिवार वालों के सपनों को भी पूरा कर उनके चेहरों पर अद्वितीय खुशी की छटा बिखेर दी। सफलता की मुस्कान लिए उन्हीं चेहरों में से एक चेहरा जोधपुर की होनहार बेटी कार्तिका गहलोत का है जिसने प्रथम प्रयास में ही इस परीक्षा में ऑल राजस्थान 66वीं रैंक हासिल कर माता-पिता सहित अपने गुरुजनों का भी मान बढ़ा दिया। उत्कर्ष क्लासेस की ऑनलाइन विद्यार्थी के रूप में उत्कर्ष एप से आरजेएस की तैयारी कर अपने सपने को पहले ही प्रयास में हकीकत की उड़ान देने वाली कार्तिका ने उत्कर्ष से साझा की अपनी सफलता की कहानी।

छोटी उम्र में ही देख लिया था काले कोट का सपना;  पिता बने सबसे बड़ी प्रेरणा

23 वर्षीय कार्तिका ने अपनी इस स्वर्णिम सफलता का श्रेय सबसे पहले अपने पिता को दिया जो स्वयं 31 वर्षों से हाईकोर्ट जजों के लिए बतौर ड्राइवर नौकरी करते हैं। जेएनवीयू से एलएलबी करते हुए वह अक्सर अपने पिता से लॉ विषय पर चर्चा करती और पिता भी बरसों से जजों के प्रत्यक्ष संपर्क में रहने के कारण प्राप्त विधि के व्यावहारिक ज्ञान एवं अनुभव से उसे प्रेरित करते रहते थे। कार्तिका के पिता राजेन्द्र गहलोत के अनुसार “उन्होंने अपनी बेटी में एक भावी न्यायाधीश तभी देख लिया था जब उसने छठी कक्षा में बालपन से ही सही मगर काला कोट पहनने का इरादा जता दिया था।”

खुद आगे ड्राइवर की सीट पर बैठते थे लेकिन सपना था बेटी को पीछे की सीट पर देखना

इस वाकिए के बाद से ही पिता राजेन्द्र गहलोत हमेशा ड्राइवर की अपनी भूमिका निभाते हुए जजों को कार से उनके गंतव्य तक लाने ले जाते समय यह अटूट विश्वास अवश्य रखते थे कि एक दिन इसी कार की पिछली सीट पर उनकी बेटी न्यायाधीश बनीं बैठी दिखेगी। उत्कर्ष से अपनी इस खुशी को व्यक्त करते हुए उन्होंने यह जाहिर किया कि उनके इस सपने को बहुत से लोगों ने हैसियत का हवाला देते हुए दबाने की कोशिश भी की मगर वे अपने इस सपने को हकीकत में बदलते देखने के लिए पूरी तरह निश्चिंत थे और न्यायाधीशों के साथ बिताए हर एक पल की सकारात्मक ऊर्जा को रोजाना सहेज कर घर ले आते जिसकी तरंगों के संपर्क में आकर दिनों-दिन कार्तिका का आत्मविश्वास परवान चढ़ता गया।

“सफलता के लिए खुद पर विश्वास रखे और निरंतर सीखते रहे”- कार्तिका गहलोत

2020 में एलएलबी के अंतिम पड़ाव से पहले ही आरजेएस प्री परीक्षा के लिए आवेदन कर दिया था लेकिन दिल और दिमाग में तैयारी साक्षात्कार तक की चल रही थी। अपनी तैयारी को मुकाम-दर-मुकाम ले जाते हुए प्री के बाद मुख्य परीक्षा और फिर आखिरकार पहले ही प्रयास में साक्षात्कार स्तर पर भी कामयाबी हासिल की। दृढ़ निश्चय और विश्वास से निरंतर प्रतिदिन कम से कम 4-5 घंटे पढ़ाई करना दिनचर्या का हिस्सा था। 

इसके अलावा परीक्षा पाठ्यक्रम की तैयारी को व्यवस्थित तरीके से विभाजित कर हिन्दी-इंग्लिश के अध्ययन को विशेष रूप से केंद्र में रखते हुए अपने लेखन स्तर को धार दी। इसके अतिरिक्त कार्तिका ने एमसीक्यू प्रश्नों व टेस्ट सीरीज के निरंतर अध्ययन को भी प्राथमिकता में रखने पर जोर दिया।

उत्कर्ष एप के लिए विशेष आभार

कार्तिका गहलोत करीब दो वर्षों से उत्कर्ष एप के माध्यम से आरजेएस का कोर्स लेकर अपनी तैयारी करती रही। एप में मौजूद कंटेंट और विषय विशेषज्ञों द्वारा उस कंटेंट को समझाने के तरीके ने उसे बेहद प्रभावित किया था। इसके अतिरिक्त लाइव क्लासेस और उनकी रिकॉर्डिंग सुविधा भी कार्तिका के लिए काफी मददगार साबित हुई। भावी न्यायाधीश ने उत्कर्ष एप के लिए अपना विशेष आभार जताया।

 

Tags: Khas Khabar , Jaipur , Rajsthan

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD