Wednesday, 29 May 2024

 

 

खास खबरें अरविंद केजरीवाल ने कहा - आम हमें 13 सांसद जीता दो, हमारे सभी सांसद पंजाब के हकों के लिए केंद्र सरकार से कहेंगे-साडा हक, एत्थे रक्ख मुख्यमंत्री भगवंत मान ने किया पटियाला से उम्मीदवार डॉ. बलबीर सिंह के लिए प्रचार, पातड़ां में विशाल रैली को किया संबोधित आपने सभी पार्टियों को मौका दिया, लेकिन किसी ने आपके लिए संसद में आवाज नहीं उठाई : अरविंद केजरीवाल लहरागागा और दिड़बा में भगवंत मान का मेगा रोड शो, आप उम्मीदवार मीत हेयर के लिए मांगे वोट मोदी के राज में पंजाब और देश के बॉर्डर सुरक्षित: राजनाथ सिंह वरिष्ठ नेता बिक्रम सिंह सोढ़ी के शिरोमणी अकाली दल में शामिल होने से राज्य में आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका लगा भाजपा का धर्म सिर्फ सत्ता और संपत्ति : प्रियंका गांधी भाजपा पार्षदों के वार्डवासियों को परेशान कर रहे हैं आप मेयर : नरेश अरोड़ा होशियारपुर पहुंचे भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री तरुण चुग मोदी सरकार जो कहती है वह करती है : डा. सुभाष शर्मा मोहाली में पीने वाला पानी लाने के लिए 1983 के कजौली जल वितरण समझौते पर पुनबातचीत: विजय इंदर सिंगला मोहाली के लोगों के प्यार ने दिल जीत लिया : डा सुभाष शर्मा वड़िंग ने 2019 में कांग्रेस की बढ़त में सुधार का भरोसा जताया अकाली दल प्रत्याशी एन.के.शर्मा ने जारी किया विजन डाक्यूमेंट मनीष तिवारी विकास में नहीं पलायन में रखते हैं विश्वास : संजय टंडन शिरोमणी अकाली दल की सरकार बनने पर नशा तस्करों और गैंगस्टरों को मौत की सजा देने का कानून लाया जाएगा: सुखबीर सिंह बादल लोगों ने गुरजीत औजला की जीत पर मुहर लगा दी है, केवल घोषणा बाकी है - हरप्रताप अजनाला डोमेस्टिक एयरपोर्ट का निर्माण कार्य जल्द पूरा किया जाए ताकि नागरिकों को उड़ान सेवा का लाभ मिल सके : पूर्व गृह मंत्री अनिल विज जल्द ही पंजाब की महिलाओं को ₹1000 की जगह ₹1100 प्रति माह मिलेंगे, धूरी चुनाव रैली के दौरान सीएम भगवंत मान ने किया बड़ा ऐलान मीत हेयर के पक्ष में बरनाला में मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के रोड शो में भारी भीड़ उमड़ी इंडिया अलाइंस की सरकार में जीएसटी मुक्त होगा खेती का सामान – मल्लिकार्जुन खड़गे

 

Amarnath Yatra: बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए 30 जून से यात्रा शुरू, 2 साल बाद दर्शन देंगे भगवान

 Religious , Jammu & Kashmir , Pahalgam , Amarnath Yatra , Amarnathji Yatra , Lord Shiva , Amarnath Yatra 2022 , Amarnath Cave , Holy Cave , Amarnath Yatra Timings , Amarnath Yatra Registeration
Listen to this article

5 Dariya News

पहलगाम , 27 Jun 2022

Amarnath Yatra 2022 :30 जून 2022 से बाबा अमरनाथ की यात्रा प्रारंभ हो जाएगी जो 11 अगस्त 2022 यानी कि रक्षाबंधन तक रहेगी भारतीय संस्कृति में तीर्थस्थलों में सबसे महतत्वपूर्ण है ये स्थल. 

Amarnath Yatra 2022 :  अमरनाथ यात्रा  (Amarnath Yatra) को भारत में शिव के दर्शन करने के लिए जाना जाता है यह हमारी भारतीय संस्कृति में सभी तीर्थस्थलों में सबसे महतत्वपूर्ण है. माना जाता है इसके पीछे मान्यता है कि इसी स्थान पर भगवान शिव (Lord Shiva) ने माता पर्वती (Maa Parvati) को अपने अमर होने की कथा के बारे में बताया था. जिसके बाद से धार्मिक मान्यता के अनुसार अब ये कहा जाता की यदि भगवान शिव का कोई सच्चा भगत इस यात्रा को कर अमरनाथ गुफा (Amarnath cave) में बने शिवलिंग (Shivling) का दर्शन करता है तो वह जन्म-मरण के इस बंधन से मुक्ति पा लेता है. इसलिए इसे अमरनाथ गुफा कहा जाता है. इस गुफा से जुडी एक खास बात ये भी है की इसमें बर्फ से बना शिवलिंग का निर्माण अपने आप ही होता है. 

 ये भी पढ़ें: अमरनाथ यात्रा 2022: चलो बुलावा आया है.. 3 साल बाद बाबा बर्फानी के दर्शन को बेताब भक्त

दो साल बाद होगी शिव भक्तों की ये यात्रा  

हर साल अमरनाथ यात्रा शुरू की जाती है लेकिन इस बार ये कोरोना माहमारी के चलते 2 साल बाद शुरू होकर 30 जून से लेकर 11 अगस्त 2022 तक यानी कि रक्षाबंधन तक रहेगी. इस यात्रा को करने के लिए पहले इसमें रेजिस्ट्रेशन करवाना पढ़ता है इस साल ये यात्रा कड़ी सुरक्षा के साथ शुरू हो रही है इस साल इस यात्रा में कम से कम 3 लाख लोगों की रेजिस्ट्रेशन हो चुकी है.  

 ये भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर एलजी ने अमरनाथ यात्रा मार्गों पर सुविधाओं का निरीक्षण किया

30 जून से रवाना होगा पहला जत्था 

अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू से रवाना होगा पहला जत्था इसमें यात्रीयों की कड़ी सुरक्षा पर पूरी निगरानी राखी जाएगी इसके अलावा सुरक्षा एजेंसियों द्वारा “त्रिनेत्र सुरक्षा कवच” बनाया गया है, जो हर खतरे को नाकाम करने में सक्षम है। अमरनाथ यात्रा के दौरान चप्पे-चप्पे पर ड्रोन और CCTV से निगरानी की जाएगी और कंट्रोल रूम भी बनाया गया है और अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले के खतरे पर मद्देनजर रखते हुए पूरी व्यवस्था की गई है।

मुस्लिम परिवार ने खोजी थी ये गुफ़ा 

कहा जाता है की इस अमरनाथ गुफा की खोज जम्मू-कश्मीर के पहलगाम गांव में एक मुस्लिम परिवार ने 1850 में की थी लेकिन मान्यता ये भी है की अमरनाथ गुफा की खोज सबसे पहले भृगु ऋषि ने की थी. कहा जाता है कि किसी समय कश्मीर घाटी पानी में डूब गई थी तो ऋषि कश्यप ने नदियों और नालों के जरिए पानी बाहर निकाला. उस वक्त ऋषि भृगु तपस्या के लिए उचित स्थान की तलाश कर रहे थे. तभी उन्हें बाबा अमरनाथ के पवित्र गुफा के दर्शन हुए. 

क्या कहती है पुराणिंक कथा 

पुराणिक कथा के अनुसार एक बार माता पार्वती ने भगवान शिव से पूछा,कि आप अजर-अमर हैं और मुझे हर जन्म के बाद नए स्वरूप में आकर फिर से वर्षों की कठोर तपस्या के बाद आपको प्राप्त करना होता है और आपके कंठ में पड़ी यह नरमुण्ड माला तथा आपके अमर होने का रहस्य क्या है? भगवान शिव ने माता पार्वती से एकांत और गुप्त स्थान पर अमर कथा सुनने को कहा जिससे कि अमर कथा कोई अन्य जीव ना सुन पाए क्योंकि जो कोई भी इस अमर कथा को सुन लेता है वह अमर हो जाता। इसलिए पौराणिक मान्यताओं के अनुसार अमरनाथ एक ऐसा स्थान है जहाँ जहां भोलेनाथ ने पार्वती को अमर होने के गुप्त रहस्य के बारे में बताया था. 

अमर है कबूतरों का जोड़ा 

कहा जाता है की अमरनाथ में कबूतरों का जोड़ा भी अमर हो गया था दरसअल जब भगवान शिव माता पार्वती को गहरे रहस्य के बारे में बता रहे थे तो कथा को सुनते सुनते देवी पार्वती को नींद आ गई जब भोलेनाथ ने कथा ख़त्म कर पार्वती को देखा तो वे सो चुकी थी। लेकिन वहाँ उस कथा को दो कबूतरों ने सुन लिया था  भगवान शिव ने उन्हें क्रोध से देखा तो शिव ने सोचा की अब में इन्हें मार दूंगा तो मेरी ये कथा झूठी साबित हो जाएगी ऐसे में भगवान शिव ने उन कबूतरों को वरदान दे दिया कि वो सदैव उस स्थान पर शिव और पार्वती के प्रतीक के रूप में रहेंगे। बाबा बर्फानी के दर्शन करने वाले भक्तों को आज भी उन कबूतरों के दर्शन हो जाते हैं।

 

Tags: Religious , Jammu & Kashmir , Pahalgam , Amarnath Yatra , Amarnathji Yatra , Lord Shiva , Amarnath Yatra 2022 , Amarnath Cave , Holy Cave , Amarnath Yatra Timings , Amarnath Yatra Registeration

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD