Tuesday, 16 April 2024

 

 

खास खबरें जेल में केजरीवाल से मिल भावुक हुए भगवंत मान, बोले- मुख्यमंत्री के साथ हो रहा आतंकवादियों जैसा सलूक परनीत कौर ने जारी किया बीजेपी का संकल्प पत्र विजीलैंस ब्यूरो ने 5000 रुपये रिश्वत लेते हुए एएसआई को किया गिरफ्तार परस राम धीमान और समर्थकों ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह से की मुलाकात पद्म भूषण इंजीनियर जसपाल भट्टी सांस्कृतिक संध्या कल, 16 अप्रैल, 2024 को पीईसी में आयोजित की जाएगी सुखविंदर सिंह बिंद्रा ने कॉस्मेटोलॉजी कॉलेज आईआईएमसीबी का उद्घाटन किया जे-फॉर्म कटने के 72 घंटे के अंदर किसानों की पेमेंट सुनिश्चित की जाए : मुख्य सचिव टीवीएसएन प्रसाद आप ने 'संविधान बचाओ, तानाशाही हटाओ' के रूप में मनाया बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर जी का जन्मदिन मोदी-भाजपा की तानाशाही खत्म करने के लिए जनता तैयार दोआबा में आम आदमी पार्टी हुई और मजबूत, क़द्दावर दलित नेता और पूर्व विधायक पवन कुमार टीनू आप में शामिल गुरु रविदास विश्व महा पीठ इकाई ने फतेहगढ़ साहिब में भारत रत्न बाबा साहब डॉ. बीआर अंबेडकर जी की 133वीं जयंती के अवसर पर मुफ्त नेत्र जांच और एक्यूप्रेशर, फिजियोथेरेपी शिविर का किया आयोजन भाजपा एससी मोर्चा ने बाबा साहब की जयंती पर लगाया रक्तदान शिविर युवा शक्ति ने ही बनाया भाजपा को सबसे मजबूत और दुनिया का सबसे बड़ा राजनीतिक दल- संजय टंडन चंडीगढ़ की जनता की अपेक्षा के अनुरूप बनाया जाएगा भाजपा का संकल्प पत्र - शक्ति प्रकाश देवशाली अंबेडकर नवयुवक दल द्वारा संविधान निर्माता डा. बी.आर अंबेडकर के 133वें जन्मदिवस पर विशाल शोभा यात्रा का आयोजन हर वोट होता है कीमती, कभी-कभार मामूली अंतर से भी हो जाती है जीत: अनुराग अग्रवाल मोदी सरकार में वंचितों की सेवा सर्वोपरि : डॉ राजीव बिंदल पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज चंडीगढ़ ने डॉ. भीमराव अम्बेडकर को श्रद्धांजलि दी राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल ने डॉ. भीमराव अम्बेडकर को श्रद्धांजलि दी एसएचएम शिपकेयर ने ओएनजीसी के लिए भारत का पहला फास्ट क्रू बोट वेसल-सी स्टैलियन-I लॉन्च किया देश को एकता के सूत्र में पिरोने में बाबा साहिब की विशेष भूमिका: डिप्टी कमिश्नर कोमल मित्तल

 

कोर्ट ने सुरक्षा देने से इनकार किया तो सरकार विरोधी मार्च सभी बाधाएं लांघ जाएंगे : इमरान खान

Imran Khan, Former Prime Minister Of Pakistan, Islamabad
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

इस्लामाबाद , 31 May 2022

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष और पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि अगर सुप्रीम कोर्ट सुरक्षा देने से इनकार करता है तो उनका सरकार विरोधी लंबा मार्च हर कीमत पर निकाला जाएगा। अपनी अगली रैली के लिए वह एक अलग रणनीति बनाएंगे और सरकार द्वारा उनके सामने रखे गए किसी भी प्रतिरोध से निपटने के लिए तैयार रहेंगे। इमरान खान ने पेशावर में वकीलों के सम्मेलन के दौरान कहा कि उनकी पार्टी पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट से मार्गदर्शन मांग रही है कि क्या उन्हें शांतिपूर्ण विरोध मार्च निकालने की अनुमति है या नहीं। इमरान खान ने कहा कि शांतिपूर्ण सभा, रैली और विरोध करना देश के हर नागरिक और पार्टी का मौलिक अधिकार है। 

उन्होंने कहा, "अपने पिछले लंबे मार्च के दौरान हम शांतिपूर्ण रहे। लेकिन इस सरकार ने महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गो पर खुलेआम अत्याचार, मारपीट और आंसूगैस का इस्तेमाल करते हुए क्रूरता का विकल्प चुना।"उन्होंने कहा, "मैं सुप्रीम कोर्ट से पूछना चाहता हूं कि क्या हमें पाकिस्तान के नागरिकों के रूप में शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति है या नहीं। अगर सुप्रीम कोर्ट अगले लंबे मार्च के लिए मेरी पार्टी को सुरक्षा मुहैया नहीं कराएगा, तो हम इससे निपटने के लिए एक योजना बनाएंगे।"पेशावर से इस्लामाबाद तक अपने पहले के लंबे मार्च के बारे में बात करते हुए खान ने कहा, "उस बार हम तैयार नहीं थे और बिना तैयारी के फंस गए। इस बार, हम पूरी तरह तैयार होकर आएंगे।

"इमरान खान ने कहा कि वह अपने संघर्ष को जिहाद (धार्मिक स्वतंत्रता की लड़ाई) के रूप में लेते हैं। उन्होंने दोहराया कि वह किसी भी कीमत पर 'आयातित' सरकार को स्वीकार नहीं करेंगे। वह शहबाज शरीफ की सरकार को अवैध आयातित सरकार कहते हैं। उनका मानना है पाकिस्तान में शासन परिवर्तन की साजिश संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) के नेतृत्व में रची गई। इमरान खान ने देशभर के प्रमुख शहरों में दर्जनों बड़े पैमाने पर सार्वजनिक सभाएं करने के एक महीने के लंबे अभियान के बाद 25 मई को लंबा मार्च निकाला था, जिसे सरकार ने धारा 144 लागू कर विफल कर दिया था। प्रदर्शनकारियों को राजधानी इस्लामाबाद तक पहुंचने से रोकने के लिए पुलिस और रेंजर्स सुरक्षा कर्मियों सहित कंटेनरों, ट्रकों व सैनिकों की भारी तैनाती की गई थी।

हालांकि, इमरान खान और उनके समर्थक बाधाओं को पार करते हुए राजधानी पहुंचे, लेकिन धरना नहीं दिया। इमरान खान ने कहा था कि वह कम से कम 20 लाख लोगों के साथ इस्लामाबाद की ओर मार्च करेंगे। जब तक देश में जल्द चुनाव कराने की तारीख की घोषणा नहीं की जाती, तब तक वह राजधानी नहीं छोड़ेंगे। इमरान खान ने अपनी मांगों को पूरा करने के लिए सरकार को छह दिनों का अल्टीमेटम दिया है और फिर एक लंबा मार्च निकालने की धमकी दी है। उनका कहना है कि बाधाओं को दूर करने और देश के अन्य प्रमुख शहरों के साथ राजधानी इस्लामाबाद को जाम करने के लिए वे अच्छी तरह तैयार होकर आएंगे।

 

Tags: Imran Khan , Former Prime Minister Of Pakistan , Islamabad

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD