Monday, 22 July 2024

 

 

खास खबरें तापसी पन्नू के लिए क्यों खास है अगस्त महीना नगर निकायों में पार्किंग, फुटपाथ तथा शौचालय बनाने पर करें फोक्स: हेमराज बैरवा प्लानिंग के तहत विकास कार्यों के यूसी पोर्टल पर करें अपलोड : हेमराज बैरवा शहीद स्मारक में निरीक्षण को पहुंचे पूर्व मंत्री अनिल विज ने तालियां बजाते हुए स्टैच्यू डिजाइन कर रहे कारीगरों का उत्साह बढ़ाया पार्क हॉस्पिटल में पार्किंसनिज़्म उपचार में नवाचार डीबीएस का इस्तेमाल शुरू हरियाणा में सरकारी स्कूलों के प्रति बढ़ रहा है आमजन का विश्वास : शिक्षा मंत्री सीमा त्रिखा प्रदेश की समृद्धि व खुशहाली के लिए जनता की समस्याएं दूर होनी जरूरी : महिपाल ढांडा केजरीवाल की हरियाणा को पांच गांरटी, सरकार बनी तो मुफ्त और 24 घंटे मिलेगी बिजली हरियाणा में कचरे के निस्तारण की दिशा में अहम कदम, राज्य में स्थापित होंगे वेस्ट-टू-चारकोल के दो प्लांट मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी ने हिसार में महाराजा दक्ष प्रजापति जयंती राज्य स्तरीय समारोह में लगाई घोषणाओं की झड़ी राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय से पैरा क्रिकेटर आमिर हुसैन लोन ने राजभवन में की मुलाकात मुख्यमंत्री नायब सिंह ने हिसार से मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत बस को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना मुख्यमंत्री सुख-आश्रय कोष में 1.5 करोड़ रुपये का अंशदान कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने जनता दरबार में सुनी लोगों की शिकायतें हर घर तक पीने वाला स्वच्छ पानी मुहैया करवाना सरकार की मुख्य प्राथमिकता : ब्रम शंकर जिंपा होशियारपुर वासियों की हर समस्या का समयबद्ध तरीके से किया जा रहा है समाधान : ब्रम शंकर जिंपा मनजिंदर सिंह सिरसा के नेतृत्व में एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल ने हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी का सन्मान श्री गुरु साहिबान द्वारा सद्भाव और भाईचारे के दिखाए मार्ग पर चलना ही गुरुओं के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धा का प्रतीक : नायब सिंह सैनी अग्निवीरों के कल्याण के लिए हरियाणा सरकार द्वारा चलाई योजना पर प्रधानमंत्री ने दिखाई विशेष रूचि मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी ने फिर किसान हितैषी होने का दिया परिचय नवनिर्वाचित विधायक हरदीप सिंह बावा ने मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू से की भेंट

 

कुम्भ मेला सकुशल सम्पन्न होने पर श्रीमहंत हरिगिरि महाराज ने किया विशेष गोपनीय अनुष्ठान

 Dharmik, Religious, Haridwar, Uttarakhand, Haridwar News, Uttarakhand News
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

हरिद्वार , 28 Apr 2021

कुम्भ मेला 2021 के सफलतापूर्वक निर्विघ्न व शांतिपूर्ण सम्पन्न हो जाने पर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री एवं श्रीपंचदशनाम जूना अखाड़ा के अन्र्तराष्ट्रीय संरक्षक श्रीमहंत हरि गिरी ने बीती रात्रि विशेष गोपनीय अनुष्ठान किया। इस विशेष अनुष्ठान में मात्र तीन संतो ने भाग लिया। जिसमें मातृशक्ति के रूप में अखाड़े की निर्माण मंत्री सहज योगिनी माता शैलजा गिरि व किन्नर अखाड़े की आचार्य महामण्डलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी उपस्थित थी। मंगलवार की रात्रि कुम्भ मेला के सफल, शांतिपूर्ण समापन होने पर हरिद्वार की अधिष्ठात्री मायादेवी मन्दिर के प्रांगण में स्थित बरगद के पेड के नीचे तीनो संतो ने समवेत स्वर में श्रीमहंत हरिगिरि महाराज के बीज मंत्रों के उच्चारण के साथ हवन कुण्ड में आहूतियां डाली। अनुष्ठान समापन के बाद श्रीमहंत हरिगिरि महाराज ने बताया वैश्विक महामारी कोरोना के चलते राष्ट्र तथा विश्व के साथ साथ कुम्भ मेला 2021 की सफलता पर भी अनिष्ट के बादल मंडरा रहे थे, इसके शमन के लिए ही उन्होने इस अत्यन्त गोपनीय तथा विशिष्ट यज्ञ अनुष्ठान का संकल्प लिया था। उन्हे पूर्ण विश्वास था कि कुम्भ मेला निर्विघ्न सम्पन्न होगा। कहा कि अब कोरोना का प्रभाव भी शीघ्र ही क्षीण होता जायेगा। 

श्रीमहंत हरिगिरि ने बताया कि सनातन वैदिक परम्परा में यज्ञों का अत्यन्त महत्वपूर्ण स्थान है। वैदिक काल से ही विभिन्न मनोरथों की सिद्वि के लिए विशेष यज्ञ, पुत्रयेष्टि यज्ञ, मेघवर्षा यज्ञ, राजसूय यज्ञ, अश्वमेघ यज्ञ के साथ साथ राजा परीक्षित के पुत्र जन्मेजय का सर्पो के विनाश के लिए किया गया सर्पयज्ञ आदि वर्तमान में भी जाने जाते है। उन्होने कहा कि हालांकि इस बार कुम्भ मेले का आयोजन कराना किसी कठिन चुनौती से कम नही था।वैश्विक महामारी के इस दौर में तमाम कठिनाईयॉ सामने आ रही थी।लेकिन शासन के निर्देश के साथ ही मेला प्रशासन के अधिकारियों की लगनशीलता के चलते मेला सकुशल सम्पन्न हो गया। अखाड़ा परिषद पहले ही मुख्यमंत्री को आश्वश्त कर चुकी थी कि कोरोना नियत्रण को लेकर शासन, सरकार जो भी नियम, निर्देश जारी करेगी। उसका समस्त संत समाज पालन करेगा। सनातन धर्म में कुम्भ मेले का विशेष महत्व है। चाहे स्थिति कठिन हो, लेकिन कुम्भ की सनातन परम्परा को नही छोड़ा जा सकता। उन्हे खुशी है कि सभी के सहयोग से वैश्विक महामारी के बावजूद मेला निर्विघ्न रूप से सफलतापूर्वक सकुशल सम्पन्न हो गया। उन्होंने कहा कि 1938 में जब आपदा आई थी। तब मेले को बीच में ही निरस्त कर दिया गया था और यह पहली बार है कि मेला अच्छे तरीके से संपन्न हुआ है। अन्तिम शाही स्नान में प्रतीकात्मक स्नान के कारण अखाडों से संतो ने सीमित संख्या में स्नान किया। लेकिन स्नान का निर्विघ्न सम्पन्न होना सनातन धर्म के साथ साथ सभी के लिए अत्यन्त महत्पूर्ण उपलब्धि है। उन्हे पूर्ण विश्वास है कि आने वाले समय में कोरोना का संक्रमण भी क्षीण होता जायेगा।

 

Tags: Dharmik , Religious , Haridwar , Uttarakhand , Haridwar News , Uttarakhand News

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD