Saturday, 24 February 2024

 

 

खास खबरें एस बी एस पब्लिक स्कूल में हुआ पैनासॉनिक “हरित उमंग- जॉय ऑफ़ ग्रीन” का सफल आयोजन PEC त्रिदिवसीय वर्कशॉप का सफलतापूर्वक समापन किया PEC स्टूडेंट निशिता ने स्वरचित रचना से जीता IGNUS 24 फेस्ट में दूसरा स्थान IIT रोपड़ के टेक्निकल फेस्ट में PEC छात्रों ने अपने नाम किये कई ईनाम 'PEC में दोबारा आना एक यादगारी अनुभव है' : कपिलेश्वर सिंह बीजेपी हम पर इंडिया गठबंधन छोड़ने का दबाव बना रही है, वे जल्द अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने की योजना बना रहें : आप पंजाब द्वारा दुबई में ‘गल्फ-फूड 2024’ के दौरान फूड प्रोसेसिंग की उपलब्धियाँ और संभावनाओं का प्रदर्शन, निवेश के लिए न्योता कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने 27 फार्मासिस्टों व 28 को क्लीनिक असिस्टेंटों को सौंपे नियुक्ति पत्र 1900 रुपए मानदेय बढ़ाने के लिए कंप्यूटर अध्यापकों ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू का आभार व्यक्त किया ब्रिटिश उच्चायोग और हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू से भेंट की 'क़ैद - नो वे आउट' - प्यार, दुर्व्यवहार और उस से बाहर निकलने की एक मनोरंजक कहानी चितकारा यूनिवर्सिटी में "चितकारा लिट फेस्ट 2024"' विद्युत जामवाल की ''क्रैक- जीतेगा तो जियेगा' एक्शन फिल्मों की सूची में सबसे ऊपर मुख्यमंत्री के नेतृत्व में पंजाब मंत्रिमंडल द्वारा एक मार्च से 15 मार्च तक बजट सत्र बुलाने की मंजूरी पंजाब में स्वास्थ्य सेवाओं में आया क्रांतिकारी बदलावः ब्रम शंकर जिंपा डाइट मनी में पांच गुणा बढ़ोतरी पर मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू का आभार व्यक्त किया PEC के विद्यार्थियों ने IGNUS 2024 में दिखाए अपने जौहर मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने ‘हिमाचल प्रदेश लैंड कोड’ के नवीन संस्करण का अनावरण किया पीईसी चंडीगढ़ के गणित विभाग ने हालिया प्रगति पर दो दिवसीय कार्यशाला आयोजित की गई ऑनलाइन जॉब फ्रॉड रैकेट: पंजाब पुलिस की साईबर क्राइम डिवीजऩ ने असम से चार साईबर धोखेबाज़ों को किया गिरफ़्तार एलपीयू, आईआईटी और अन्य विश्वविद्यालयों को पछाड़ते हुए भारत में अग्रणी पेटेंट फाइलर के रूप में उभरा

 

भाषा विभाग द्वारा 18 अलग-अलग वर्गों के लिए साहित्य रत्न और शिरोमणि पुरस्कारों का ऐलान

साल 2015, 2016, 2017, 2018, 2019 और 2020 के लिए दिए जाएंगे पुरस्कार

Listen to this article

5 Dariya News

चंडीगढ़ , 03 Dec 2020

भाषा विभाग, पंजाब द्वारा साहित्य और कला के 18 अलग-अलग वर्गों के लिए साहित्य रत्न और शिरोमणि पुरुस्कारों का ऐलान कर दिया गया है। पंजाब के उच्च शिक्षा और भाषा मंत्री स. तृप्त राजिन्दर सिंह बाजवा की अध्यक्षता में आज पंजाब भवन चण्डीगढ़ में हुई राज्य सलाहकार बोर्ड की मीटिंग में इन पुरुस्कारों का फ़ैसला किया गया।उच्च शिक्षा मंत्री स. तृप्त बाजवा ने मीटिंग के शुरू में बोर्ड के सदस्यों से अपील की कि इन पुरस्कारों का चयन निष्पक्षता और इमानदारी के साथ किया जाये जिससे इन पुरुस्कारों की प्रतिष्ठा और शान कायम रहे। उन्होंने समूह पुरुस्कार विजेताओं को बधाई देते हुए कहा कि साहित्यकार और लेखक हमारे समाज का सरमाया हैं। उन्होंने आशा अभिव्यक्ति कि साहित्यकार समाज को दिशा प्रदान करने और नरोए समाज के निर्माण के लिए अपना कीमती योगदान निरंतर जारी रखेंगे।पंजाबी साहित्य रत्न साल 2015 के लिए ओम प्रकाश गाशो, 2016 के लिए गुरभजन भुल्लर, 2017 के लिए गुलजार सिंह संधू, 2018 के लिए फख़ऱ ज़मान, 2019 के लिए डॉ. तेजस्वी मान और 2020 के लिए डॉ. बरजिन्दर सिंह हमदर्द को चुना गया है।शिरोमणि पंजाबी साहित्यकार साल 2015 के लिए जोगिन्द्र सिंह कैरों, 2016 के लिए तारन गुलज़ार, 2017 के लिए के एल गर्ग, 2018 के लिए अतरजीत सिंह, 2019 के लिए किरपाल कज़ाक और 2020 के लिए डॉ. मनमोहन को चुना गया है।शिरोमणि हिंदी साहित्यकार साल 2015 के लिए विनोद शाही, 2016 के लिए सुखविन्दर कौर बाठ, 2017 के लिए राज़ी सेठ, 2018 के लिए बली सिंह चीमा, 2019 के लिए अजय शर्मा और 2020 के लिए डॉ. कीर्ति केसर को चुना गया है।शिरोमणि उर्दू साहित्यकार साल 2015 के लिए मुहम्मद फयाज़ फारूकी, 2016 के लिए नदीम अहमद नदीम, 2017 के लिए टी एन राज, 2018 के लिए बी. डी. कालिया हमदम, 2019 के लिए मुहम्मद बशीर और 2020 के लिए रहमान अख्तर को चुना गया है।शिरोमणि संस्कृत साहित्यकार साल 2015 के लिए रमा कांत अंगरीश, 2016 के लिए वेद प्रकाश उपाघ्याय, 2017 के लिए दामोदर झा, 2018 के लिए कन्हैया लाल प्राशर, 2019 के लिए वरिन्दर अलंकार और 2020 के लिए डॉ. शरण कौर को चुना गया है।शिरोमणि पंजाबी कवि साल 2015 के लिए संतोख सिंह शहरयार, 2016 के लिए मनजीत इंद्रा, 2017 के लिए डॉ. रवीन्द्र बटाला, 2018 के लिए जसवंत ज़फर, 2019 के लिए बलविन्दर सिंह संधू और 2020 के लिए श्री राम अर्श को चुना गया है।शिरोमणि पंजाबी आलोचक/खोज साहित्यकार साल 2015 के लिए डॉ. सतीन्द्र सिंह, 2016 के लिए बलदेव सिंह चीमा, 2017 के लिए अमरजीत ग्रेवाल, 2018 के लिए डॉ धनवंत कौर, 2019 के लिए डॉ. सुखदेव सिंह सिरसा और 2020 के लिए सुरिन्दर कुमार दवेश्वर को चुना गया है।शिरोमणि पंजाबी ज्ञान साहित्यकार पुरुस्कार साल 2015 के लिए डॉ. मदन लाल हसीजा, 2016 के लिए हरपाल सिंह पन्नू, 2017 के लिए डॉ. अनूप सिंह, 2018 के लिए डॉ. ज्ञान सिंह, 2019 के लिए डॉ. गुरशरन कौर जग्गी और 2020 के लिए निन्दर घुग्याणवी को चुना गया है।शिरोमणि पंजाबी साहित्यकार (विदेशी) साल 2015 के लिए साधु सिंह बिग, 2016 के लिए इकबाल माहिल, 2017 के लिए हरजीत अटवाल, 2018 के लिए रवीन्द्र सहराय, 2019 के लिए सुखविन्दर कम्बोज़ और 2020 के लिए एस. बलवंत को चुना गया है।

शिरोमणि पंजाबी साहित्यकार (पंजाब से बाहर) साल 2015 के लिए डॉ. जसपाल सिंह, 2016 के लिए डॉ. जगबीर सिंह, 2017 के लिए जी डी चौधरी, 2018 के लिए स्वर्ण सिंह विर्क, 2019 के लिए बरजिन्दर चौहान और 2020 के लिए डॉ. रवि रवीन्द्र को चुना गया है।शिरोमणि पंजाबी बाल साहित्य लेखक साल 2015 के लिए अवतार सिंह दीपक, 2016 के लिए हरबंस सिंह चावला, 2017 के लिए करनैल सिंह सोमल, 2018 के लिए कुलबीर सिंह सूरी, 2019 के लिए तेजिन्दर हरजीत और 2020 के लिए बलजिन्दर मान को चुना गया है।शिरोमणि पंजाबी पत्रकार साल 2015 के लिए कुलदीप सिंह बेदी, 2016 के लिए हरबीर सिंह भँवर, 2017 के लिए सुरिन्दर सिंह तेज, 2018 के लिए चरनजीत सिंह भुल्लर, 2019 के लिए दविन्दर पाल और 2020 के लिए जगीर सिंह जगतार को चुना गया है।शिरोमणि पंजाबी साहित्यक पत्रकार साल 2015 के लिए गुरबचन (फि़लहाल), 2016 के लिए बलबीर परवाना, 2017 के लिए पूनम प्रीतलड़ी, 2018 के लिए डॉ. हरजिन्दर वालिया, 2019 के लिए कंवरजीत भ_ल और 2020 के लिए दर्शन ढिल्लों को चुना गया है।शिरोमणि रागी साल 2015 के लिए भाई रणधीर सिंह, 2016 के लिए भाई नरिन्दर सिंह, 2017 के लिए भाई रवीन्द्र सिंह, 2018 के लिए भाई मनिन्दर सिंह श्रीनगर वाले, 2019 के लिए डॉ. जसबीर कौर और 2020 के लिए भाई गुरमेल सिंह को चुना गया है।शिरोमणि ढाडी/गीतकार साल 2015 के लिए हंस सिंह मानीखेड़ा, 2016 के लिए जगदेव सिंह छाजली, 2017 के लिए मुखत्यार सिंह जफर, 2018 के लिए फज़लदीन लोहटबद्धी, 2019 के लिए भाई बलबीर सिंह बीहला और 2020 के लिए दलबारा सिंह उभ्भा को चुना गया है।शिरोमणि पंजाबी टैलिविजऩ /रेडियो /फि़ल्म पुरुस्कार साल 2015 के लिए विजय टंडन, 2016 के लिए कुलविन्दर बुट्टर, 2017 के लिए गिरिजा शंकर, 2018 के लिए सुरेश पंडित, 2019 के लिए बी एन शर्मा और 2020 के लिए पुनीत सहगल को चुना गया है।शिरोमणि पंजाबी नाटक /थीएटर पुरुस्कार साल 2015 के लिए प्राण सबरवाल, 2016 के लिए कैलाश कौर, 2017 के लिए नवनिन्दर बहल, 2018 के लिए जसवंत कौर दमन, 2019 के लिए डॉ. सतीश कुमार वर्मा और 2020 के लिए डॉ. साहिब सिंह को चुना गया है।शिरोमणि पंजाबी गायक /संगीतकार साल 2015 के लिए चरनजीत आहूजा, 2016 के लिए रणजीत कौर, 2017 के लिए सरदूल सिकंदर, 2018 के लिए हरभजन मान, 2019 के लिए पाली देतवालिया और 2020 के लिए मेजर सिंह को चुना गया है।इस मीटिंग में उच्च शिक्षा और भाषा मंत्री, प्रशासनिक सचिव उच्च शिक्षा विभाग, प्रशासनिक सचिव संस्कृतिक मामले, प्रशासनिक सचिव वित्त विभाग, वाइस चांसलर पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला, वाइस चांसलर गुरू नानक देव यूनिवर्सिटी, अमृतसर, प्रधान पंजाब कला परिषद, चण्डीगढ़, प्रधान पंजाबी साहित्य अकादमी लुधियाना, डायरैक्टर पंजाबी साहित्य अकादमी हरियाणा, प्रधान पंजाबी साहित्य अकादमी दिल्ली, प्रधान पंजाबी साहित्य सभा दिल्ली, प्रधान केंद्रीय पंजाबी लेखक सभा (रजि.), प्रधान केंद्रीय पंजाबी लेखक सभा (सेखों), प्रधान केंद्रीय साहित्य अकादमी नयी दिल्ली, प्रधान संगीत नाटक अकादमी नयी दिल्ली, डायरैक्टर भाषा विभाग पंजाब ने भाग लिया।

 

Tags: Tript Rajinder Singh Bajwa Tript Rajinder Singh Bajwa , Chandigarh , Punjab Pradesh Congress Committee , Congress , Punjab Congress , Government of Punjab , Punjab Government , Punjab , Sahitya Ratna and Shormani Awards , Punjab Bhawan Chandigarh

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD