Saturday, 24 February 2024

 

 

खास खबरें मुख्यमंत्री भगवंत सिंह द्वारा मुकेरियाँ से अपनी किस्म की पहली सरकार-व्यापार मिलनी की शुरुआत बांस उत्पादकों के लिए प्रदेश सरकार बनाएगी सोसायटी बीजेपी और कांग्रेस के नेता सिर्फ मेवात के लोगों के वोट लेने आते हैं, लेकिन विकास खुद का करते हैं : अभय सिंह चौटाला मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान द्वारा श्री गुरु रविदास जी का 650वां प्रकाश उत्सव व्यापक स्तर पर मनाने का ऐलान सफाई कर्मचारियों के हितों को ध्यान में रखते हुए मिलें बेहतर सुविधाएं : अंजना पंवार विकास कार्य़ो की गति में लाई जाए तेजीः सोम प्रकाश एस बी एस पब्लिक स्कूल में हुआ पैनासॉनिक “हरित उमंग- जॉय ऑफ़ ग्रीन” का सफल आयोजन PEC त्रिदिवसीय वर्कशॉप का सफलतापूर्वक समापन किया PEC स्टूडेंट निशिता ने स्वरचित रचना से जीता IGNUS 24 फेस्ट में दूसरा स्थान IIT रोपड़ के टेक्निकल फेस्ट में PEC छात्रों ने अपने नाम किये कई ईनाम 'PEC में दोबारा आना एक यादगारी अनुभव है' : कपिलेश्वर सिंह बीजेपी हम पर इंडिया गठबंधन छोड़ने का दबाव बना रही है, वे जल्द अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने की योजना बना रहें : आप पंजाब द्वारा दुबई में ‘गल्फ-फूड 2024’ के दौरान फूड प्रोसेसिंग की उपलब्धियाँ और संभावनाओं का प्रदर्शन, निवेश के लिए न्योता कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने 27 फार्मासिस्टों व 28 को क्लीनिक असिस्टेंटों को सौंपे नियुक्ति पत्र 1900 रुपए मानदेय बढ़ाने के लिए कंप्यूटर अध्यापकों ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू का आभार व्यक्त किया ब्रिटिश उच्चायोग और हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू से भेंट की 'क़ैद - नो वे आउट' - प्यार, दुर्व्यवहार और उस से बाहर निकलने की एक मनोरंजक कहानी चितकारा यूनिवर्सिटी में "चितकारा लिट फेस्ट 2024"' विद्युत जामवाल की ''क्रैक- जीतेगा तो जियेगा' एक्शन फिल्मों की सूची में सबसे ऊपर मुख्यमंत्री के नेतृत्व में पंजाब मंत्रिमंडल द्वारा एक मार्च से 15 मार्च तक बजट सत्र बुलाने की मंजूरी पंजाब में स्वास्थ्य सेवाओं में आया क्रांतिकारी बदलावः ब्रम शंकर जिंपा

 

पंजाब सरकार द्वारा हरे चारे के आचार की गांठे बनाने वाली मशीन पर 40 प्रतिशत सब्सिडी दी जायेगी : तृप्त रजिन्दर सिंह बाजवा

मशीन खरीदने वाले उद्यमी किसान को 5.60 लाख रुपए की सहायता मिलेगी

Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

चंडीगढ़ , 13 Aug 2020

पंजाब सरकार द्वारा डेयरी के धंधे को और विकसित और लाभदायक बनाने के लिए पंजाब डेयरी विकास बोर्ड के द्वारा हरे चारे से आचार की गांठे बनाने वाली मशीन की लागत पर 40प्रतिशत की दर से सब्सिडी किसानों को दी जायेगी। आज यहाँ से जारी बयान में पशु पालन, मछली पालन और डेयरी विकास मंत्री, पंजाब श्री तृप्त रजिन्दर सिंह बाजवा, ने बताया कि हरे चारे की पैदावार और देखभाल का मशीनीकरन करने के लिए सरकार की तरफ से निरंतर यत्न किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि हरे चारे के तहत क्षेत्रफल बढ़ा कर न सिफऱ् दूध की पैदावार में विस्तार होगा बल्कि गेहूँ, धान के तहत क्षेत्रफल भी घटेगा, जिससे न सिफऱ् भूजल की बचत होगी बल्कि रिवायती फसलों के मंडीकरण की समस्या से भी निपटा जा सकेगा। उन्होंने बताया कि इस स्कीम के लागू होने से मशीन खरीदने वाले उद्यमी किसान को 5.60 लाख रुपए तक की वित्तीय सहायता सरकार की तरफ से मिलेगी।इस सम्बन्धी और जानकारी देते हुये मंत्री ने बताया कि डेयरी धंधे के लिए सारा साल हरे चारे की उपलब्धता बहुत ज़रूरी है। परन्तु यह आम देखा गया है कि पंजाब में कई महीनों में हरा चारा फ़ाल्तू हो जाता है और कई महीनों में कमी आ जाती है। फ़ाल्तू हरे चारे से साइलेज या आचार बनाया जाता है। उन्होंने बताया कि पंजाब में हर प्रगतिशील डेयरी फार्मर अपनी ज़रूरत के मुताबिक चारे वाली मकई और जवी का आचार बना रहा है। परन्तु गड्ढे या बंकर में बने इस आचार को एक से दूरी जगह ले जाना संभव नहीं होता क्योंकि इसमें नमी की मात्रा अधिक होने के कारण आचार खऱाब होने का ख़तरा रहता है।श्री बाजवा ने बताया कि प्रगतिशील मुल्कों की तरह अब पंजाब में भी इस मुश्किल का हल निकाल लिया गया है, अब नवीनतम मशीनों के द्वारा तैयार किये साइलेज को बैगों, ट्यूबों और गांठों में तैयार करके छोटे, भूमिहीन किसानों, शहरी डेरियों और हरे चारे की कमी वाले राज्यों को भेजा जा सकेगा। इससे छोटे और शहरी डेयरी फार्मरों को वाजिब कीमत पर सारा साल संतुलित आहार उपलब्ध होगा। इसके साथ-साथ बेरोजग़ार नौजवान जो मकई के आचार की गांठे बनाने का काम शुरू करेंगे, को रोजग़ार हासिल होगा।डेयरी विकास विभाग के डायरैक्टर श्री इन्द्रजीत सिंह ने बताया कि साइलेज बेलर मशीनों के लिए अखबारों में ऐकसपरैशन ऑफ इंट्रस्ट देने के उपरांत कारनैस्ट एग्री प्रोडक्ट प्राईवेट लिमिटड (हैदराबाद), नव भारत फार्मरज़ प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटड (आंध्रा प्रदेश), मैस. बखसीश इंडस्ट्रीज (बस्सी पठाना), डायनामिक मशीनरी एंड इक्यूपमैंट कंपनी (लुधियाना), उज्ज्वला हारवैस्टर कारपोरेशन (आंध्रा-प्रदेश) की तरफ से इनपैनलमैंट के लिए रूची प्रकट की गई थी। उन्होंने बताया कि गठित माहिरों की एक्सपर्ट कमेटी की तरफ से कंपनियों की प्रस्तावों का मूल्यांकन किया गया और इन मशीनों का फील्ड ट्रायल लिया गया था। जिसके उपरांत तीन ही कंपनियाँ मैस. उज्ज्वला हारवैस्टर कारपोरेशन, डायनामिक मशीनरी और इक्यूपमैंट और मैस. बखशीश इंडस्ट्रीज को म्मानकों के अनुसार पाया गया, जोकि 100 किलो और 500 किलो की गांठे बनाती हैं।उन्होंने समूह दूध उत्पादकोंं, उद्यमियों को विनती की कि इस स्कीम का भरपूर लाभ लेने के लिए उनके जि़ला स्तरीय या राज्य स्तरीय दफ़्तर के साथ संपर्क रखा जाये। इस सम्बन्धी और ज्यादा जानकारी के लिए विभाग के हेल्पलाइन नंबर 0172 -5027285 पर संपर्क किया जा सकता है।

 

Tags: Tript Rajinder Singh Bajwa , Punjab , Punjab Pradesh Congress Committee , Congress , Chandigarh , Punjab Congress , Punjab Government , Government of Punjab , Punjab Dairy Development Board , Animal Husbandry , Fisheries and Dairy Development

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD