Thursday, 25 July 2024

 

 

खास खबरें यह आम बजट विकसित भारत के निर्माण में एक नया अध्याय लिखेगा : नायब सिंह सैनी कावड़ यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए किए गए पुख्ता इंतजाम, चप्पे चप्पे पर पुलिस की कड़ी नजर मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई एचपीपीसी और एचपीडब्ल्यूपीसी की बैठक रसिका दुगल और गुलशन देवैया की 'लिटिल थॉमस' का IFFM 2024 में वर्ल्ड प्रीमियर होगा विजिलेंस ब्यूरो ने पी.एस.आई.ई.सी. प्लॉट आवंटन घोटाले में शामिल उप-मंडल इंजीनियर को किया गिरफ्तार मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने केंद्रीय बजट को निराशाजनक और किसान विरोधी बताया गरीब कल्याण को समर्पित बजट से अर्थव्यवस्था को मिलेगी नई रफ्तार : संजय टंडन ‘सरकार बचाओ-महंगाई बढ़ाओ’ वाला है मोदी सरकार का बजट- आप मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने विद्यार्थियों की कम संख्या वाले स्कूलों के विलय की संभावनाएं तलाशने के निर्देश दिए राज्य एकल खिड़की स्वीकृति एवं अनुश्रवण प्राधिकरण की 29वीं बैठक में 2216.93 करोड़ रुपये के प्रस्तावित निवेश एवं 25 परियोजना प्रस्तावों को स्वीकृति प्रदान सी जी सी झंजेड़ी कैंपस में नए सत्र की शुरुआत के दौरान विद्यार्थियों के लिए एक सप्ताह का इंडक्शन प्रोग्राम आयोजित किया गया हरचंद सिंह बरसट ने पौधे लगाकर किया मिनी जंगल का उद्घाटन 'खतरों के खिलाड़ी' की कड़ी तैयारी के तहत निमृत कौर अहलूवालिया ने MMA, किक बॉक्सिंग की शुरुआत की धारकंडी क्षेत्र के विकास के लिए तत्परता से किया जाएगा कार्य : केवल सिंह पठानिया बेहतर भविष्य के लिए युवा नेता: लुधियाना के छात्र ‘यंग चैंपियंस फॉर क्लीन एयर प्रोग्राम’ के माध्यम से वायु गुणवत्ता वकालत में निभाएंगे अग्रणी भूमिका डेढ़ साल में 25 हज़ार करोड़ क़र्ज़ लेने वाले मुख्यमंत्री बताएं कहां खर्च किया पैसा : जयराम ठाकुर मलविंदर कंग ने पूर्व हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर को भारत रत्न देने की मांग की डिप्टी कमिश्नर कोमल मित्तल ने मासिक बैठक में अलग-अलग विभागों के कार्यो की समीक्षा की प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध : मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू डॉ. एसएस आहलूवालिया ने पटियाला क्षेत्र के अंतर्गत चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा की विकास कार्यों को जल्द पूरा करने के अधिकारियों को दिए निर्देश कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने नंद किशोर महामंत्र संकीर्तन मंडल को दिया 3 लाख रुपए का चैक

 

तीन महीने बाद वतन पहुंचा हरदीप का मृतक शरीर, डा.ओबराय ने पोंछे पीडित परिवार के आंसू

परिवार सिर चढ़ा कर्ज़ उतारने के अलावा 3 हज़ार प्रति महीना पेंशन भी दे रहे हैं डा.ओबराय

Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

अमृतसर , 21 Jul 2020

अपने सुनहरी भविष्य के सपने दिल में सजाकर दुबई गए अमृतसर जिले के गांव चाटीविंड लेल्ह के 30 साला हरदीप सिंह, जिसकी बीती 19 अप्रैल को दुबई में अचानक मौत हो गई थी, का मृतक शरीर सरबत दा भला ट्रस्ट चैरिटेबल ट्रस्ट के सरपरस्त और प्रसिद्ध समाज सेवक डा.एसपी सिंह ओबराय के अथक प्रयासों सदका बीती आधी रात को दुबई से अमृतसर हवाई अड्डे पर पहुंचा।इस संबंधी जानकारी सांझी करते हुए सरबत दा भला चैरिटेबल ट्रस्ट के संस्थापक डा.एसपी सिंह ओबराय ने बताया कि अमृतसर जिले के गांव चाटीविंड लेल्ह का नौजवान हरदीप सिंह पुत्र स्व: लुका सिंह बीती 25 अगस्त को कर्ज़ उठा कर अपने परिवार की बेहतरी के लिए दुबई मज़दूरी करने के लिए गया था, परंतु कुछ समय बीमार रहने के बाद बीते 19 अप्रैल को उसकी मौत हो गई थी। जब हरदीप के परिवार को अपने पर टूटे इस कहर का पता लगा तो उन्होंने उनके साथ संपर्क कर अपनी गरीबी और बेबसी का हवाला देते हुए हरदीप की मृतक के वापस भारत ले कर आने कहा था। उन्होंने बताया कि उन की टीम ने हरदीप का मृतक शरीर भेजने के लिए तुरंत यत्न शुरू कर दिए थे, परंतु कोरोना महामारी के कारण बंद हुई उड़ानें फिर चालू होने के कारण बीती रात मृतक शरीर भारत पहुंचा है। 

डा: ओबराय ने बताया कि उन्होंने ट्रस्ट की अमृतसर टीम को अप्रैल महीने अंदर ही मृतक के गांव भेज कर उसके परिवार की आर्थिक स्थिति जानने उपरांत पीडित परिवार के सिर पर चढ़ा कर्ज उतारने के अलावा मृतक की पत्नी और उसके बच्चों के पालन पोषण के लिए ट्रस्ट की तरफ से पहले से ही 3 हज़ार प्रति महीना पेंशन दी जा रही है।डा. ओबराय ने यह भी बताया कि सरबत दा भला चैरिटेबल ट्रस्ट अब तक भारतीय दूतावास के सहयोग सदका 182 बदनसीब लोगों के मृतक शरीर अब तक उनके वारिसों तक पहुंचा चुका है। उन्होंने बताया कि पिछले 10 दिनों में ही ट्रस्ट की तरफ से 5 नौजवानों के मृतक शरीर दुबई से वापस लाए गए हैं, जबकि इस हफ्ते भी ट्रस्ट की तरफ से पंजाब के गुरदासपुर, श्री मुक्तसर साहिब, फरीदकोट, मोगा और श्री फतेहगढ़ साह‌िब जिलों से संबंधित 5 और नौजवानों के मृतक शरीर वापस लाए जाएंगे। इस दौरान मृतक के भाई सरबजीत सिंह, चाचा जगरूप सिंह और दूसरे पारिवारिक सदस्यों ने हरदीप की मृतक देह लेकर आने के साथ-साथ परिवार का कर्ज़ उतारने और उसकी पत्नी की महीनेवार पैंशन देने पर डा.एसपी सिंह ओबराए का तहेदिल से शुकराना करते हुए बताया कि मृतक के पिता की पहले ही मौत हो चुकी है और उसकी पत्नी और तीन छोटे -छोटे बच्चे, उसकी बुज़ुर्ग विधवा मां के साथ रहते हैं। उन्होंने बताया कि उन्होंने तो हरदीप का मृतक शरीर वापस आने की आस छोड़कर उसका भोग भी डाल दिया था, परंतु ईश्वर के फ़रिश्ते डा.ओबराय के बड़े परोपकार सदका ही वह हरदीप के अंतिम दर्शन कर सके हैं। ज़िक्रयोग्य है कि हरदीप की मृतक देह भारत भेजने में डा. ओबराय व निजी सचिव बलदीप सिंह चाहल और भारतीय दूतावास ने भी विशेष भूमिका निभाई है।

 

Tags: Sarbat Da Bhala Trust Amritsar

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD