Saturday, 24 February 2024

 

 

खास खबरें मुख्यमंत्री भगवंत सिंह द्वारा मुकेरियाँ से अपनी किस्म की पहली सरकार-व्यापार मिलनी की शुरुआत बांस उत्पादकों के लिए प्रदेश सरकार बनाएगी सोसायटी बीजेपी और कांग्रेस के नेता सिर्फ मेवात के लोगों के वोट लेने आते हैं, लेकिन विकास खुद का करते हैं : अभय सिंह चौटाला मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान द्वारा श्री गुरु रविदास जी का 650वां प्रकाश उत्सव व्यापक स्तर पर मनाने का ऐलान सफाई कर्मचारियों के हितों को ध्यान में रखते हुए मिलें बेहतर सुविधाएं : अंजना पंवार विकास कार्य़ो की गति में लाई जाए तेजीः सोम प्रकाश एस बी एस पब्लिक स्कूल में हुआ पैनासॉनिक “हरित उमंग- जॉय ऑफ़ ग्रीन” का सफल आयोजन PEC त्रिदिवसीय वर्कशॉप का सफलतापूर्वक समापन किया PEC स्टूडेंट निशिता ने स्वरचित रचना से जीता IGNUS 24 फेस्ट में दूसरा स्थान IIT रोपड़ के टेक्निकल फेस्ट में PEC छात्रों ने अपने नाम किये कई ईनाम 'PEC में दोबारा आना एक यादगारी अनुभव है' : कपिलेश्वर सिंह बीजेपी हम पर इंडिया गठबंधन छोड़ने का दबाव बना रही है, वे जल्द अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने की योजना बना रहें : आप पंजाब द्वारा दुबई में ‘गल्फ-फूड 2024’ के दौरान फूड प्रोसेसिंग की उपलब्धियाँ और संभावनाओं का प्रदर्शन, निवेश के लिए न्योता कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने 27 फार्मासिस्टों व 28 को क्लीनिक असिस्टेंटों को सौंपे नियुक्ति पत्र 1900 रुपए मानदेय बढ़ाने के लिए कंप्यूटर अध्यापकों ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू का आभार व्यक्त किया ब्रिटिश उच्चायोग और हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू से भेंट की 'क़ैद - नो वे आउट' - प्यार, दुर्व्यवहार और उस से बाहर निकलने की एक मनोरंजक कहानी चितकारा यूनिवर्सिटी में "चितकारा लिट फेस्ट 2024"' विद्युत जामवाल की ''क्रैक- जीतेगा तो जियेगा' एक्शन फिल्मों की सूची में सबसे ऊपर मुख्यमंत्री के नेतृत्व में पंजाब मंत्रिमंडल द्वारा एक मार्च से 15 मार्च तक बजट सत्र बुलाने की मंजूरी पंजाब में स्वास्थ्य सेवाओं में आया क्रांतिकारी बदलावः ब्रम शंकर जिंपा

 

पंजाब सरकार द्वारा दूध उत्पादकों को लाभप्रद मूल्य देने और दूध के उपभोग संबंधी व्यापक योजना बनाई जाएगी

दूध उत्पादकों को लाभप्रद मूल्य दिया जाएगा-तृप्त बाजवा

Listen to this article

5 Dariya News

5 Dariya News

5 Dariya News

चंडीगढ़ , 19 May 2020

पंजाब सरकार अक्तूबर में दूध के बढऩे वाले उत्पादन को संभालने, उपयुक्त मंडीकरण करने और दूध की क्रय राशि को स्थिर रखने के लिए एक व्यापक योजना बना रही है, जिससे दूध उत्पादकों को लाभप्रद मूल्य मिलने के साथ-साथ उपभोक्ताओं को शुद्ध दूध मिले।राज्य के पशु पालन, डेयरी विकास और मछली पालन मंत्री तृप्त राजिन्दर सिंह बाजवा की अध्यक्षता अधीन आज यहाँ हुई एक उच्च स्तरीय बैठक में यह फ़ैसला हुआ कि स्कूली बच्चों को दिए जाने वाले दोपहर के खाने और लोक वितरण प्रणाली के द्वारा बाँटें जाने वाली वस्तुओं में सूखा दूध शामिल किए जाने के मामले को सम्बन्धित विभागों के समक्ष उठाया जाए। बैठक में उपस्थित अधिकारियों, माहिरों और दूध उत्पादकों का यह मानना था कि इस फ़ैसले से मिल्कफैड के पास पड़ा सूखे दूध के स्टॉक का उपभोग होने से मिल्कफैड किसानों के लिए लाभप्रद मूल्य पर दूध खरीदने की स्थिति में आ जाएगा।सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि पशु पालन और डेयरी विकास मंत्री ने मिल्कफैड, किसान आयोग और डेयरी विकास विभाग के अधिकारियों को हिदायत दी कि वह मिल्कफैड को इस संकट और अक्तूबर में दूध के बढऩे वाले उत्पादन को संभालने के समर्थ बनाने के लिए अपेक्षित आर्थिक सहायता सम्बन्धी प्रस्ताव तैयार करने को कहा, जिससे इसको अगले सप्ताह वित्त विभाग के समक्ष विचारा जा सके। उन्होंने मिल्कफैड को बस्सी पठानां में लग रहे नए प्लांट की जल्द शुरुआत करें और पुराने प्लांटों के सामथ्र्य को बढ़ाने के लिए भी कहा।

पशु पालन मंत्री ने डेयरी विकास और सहकारी विभाग के अधिकारियों को कहा कि केंद्र सरकार के सम्बन्धित मंत्रालयों से विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत मिलने वाली निधि सम्बन्धी पड़ताल करके प्रस्ताव तैयार करने के लिए कहा, जिससे अगले सप्ताह केंद्र सरकार के सम्बन्धित मंत्रियों को मिलकर फंड हासिल किए जा सकें।मिल्कफैड के मैनेजिंग डायरैक्टर कमलदीप सिंह ने बताया कि दूध उत्पादकों को आज के संकट से उभारने के लिए मिल्कफैड को 400 करोड़ रुपए की एकमुश्त रकम सहायता के रूप में दी जा सके।पंजाब के दूध उत्पादकों के नुमायंदे और डेयरी मालिक रणजीत सिंह ने कहा कि चाहे मिल्कफैड राज्य में उत्पादित दूध का तकरीबन आठवां हिस्सा ही खऱीदता है, परन्तु इसको आर्थिक तौर पर मज़बूत करना इसलिए ज़रूरी है, क्योंकि निजी दूध प्लांट इसके द्वारा तय की गई कीमतों को ही मानते हैं।यहाँ यह वर्णनयोग्य है कि पंजाब में इस समय पर तकरीबन तीन लाख लीटर दूध उत्पादन होता है, जिसमें से तकरीबन आधा दूध घरों में इस्तेमाल किया जाता है। बिकने वाले डेढ़ लाख लीटर दूध में से तकरीबन 30 हज़ार लीटर मिल्कफैड और 70 हज़ार लीटर दूध निजी मिल्क प्लांट $खरीदते हैं। होटल, रैस्तरां और हलवाईयों की दुकानें बंद होने के कारण 50 हज़ार लीटर दूध बगैर बिके ही बच जाता है, जो दूध उत्पादकों के लिए घाटे का कारण बन रहा है। अक्तूबर में 40 हज़ार लीटर दूध का उत्पादन और बढ़ जाने के कारण सरकार के सामने दूध को संभालने और किसानों को फायदेमंद मूल्य देने की बड़ी चुनौती बन खड़ी हुई है।इस बैठक में अन्यों के अलावा किसान आयोग के सचिव डॉ. बलविन्दर सिंह सिद्धू और डेयरी विकास विभाग के डायरैक्टर डॉ. इन्दरजीत सिंह भी शामिल थे।     

 

Tags: Tript Rajinder Singh Bajwa

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD