Monday, 27 May 2024

 

 

खास खबरें भारत आगे बढ़ रहा है और पंजाब पीछे जा रहा है: सुभाष शर्मा केंद्र के सहयोग से घग्गर की समस्या का जल्द होगा स्थाई समाधानः परनीत कौर हम आपके बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के लिए लड़ रहे हैं : भगवंत मान जब तक केजरीवाल ज़िंदा है किसी में हिम्मत नहीं की आपका आरक्षण ख़त्म कर सके : अरविंद केजरीवाल क्यों आज मुद्दों पर बात नहीं कर रही बीजेपी : सुप्रिया श्रीनाटे कांग्रेस सरकार आने पर पुरानी पेंशन होगी बहाल : गुरजीत सिंह औजला मोदी भ्रष्टाचार के केंद्र बिंदु, संविधान खत्म करने का ना देखें सपना : राहुल गांधी पीएम मोदी ने 22 लोगों के 16 लाख करोड़ का कर्ज माफ किया : राहुल गांधी वोट के अधिकार को ख़रीदना चाहती है भाजपा : ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू भाजपा वाले नकली गोरक्षक, हम कर रहे गोसंरक्षण : ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू बॉलीवुड एक्ट्रेस महिमा चौधरी ने सोहाना हॉस्पिटल का दौरा कर कैंसर मरीजों से मुलाकात की कांग्रेस संयुक्त सचिव रविंदर सिंह त्यागी हुए भाजपा में शामिल अब संजय टंडन का समर्थन करने दिव्यांग भी आये आगे तिवारी का चुनाव प्रचार भ्रामक और अराजकता का प्रतीक : रविंद्र पठानिया मुख्यमंत्री भगवंत मान ने खडूर साहिब से आप उम्मीदवार लालजीत भुल्लर के लिए किया प्रचार गोल्डन टेंपल को बनाया जायेगा ग्लोबल सेंटर : राहुल गांधी पंजाब में क्राइम आउट ऑफ कंट्रोल, चिंता का विषय: विजय इंदर सिंगला विजय इंदर सिंगला ने जारी किया घोषणापत्र, क्षेत्र के लिए किये कई वादे अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने लुधियाना में चुनाव अभियान तेज किया, मुख्य मुद्दों की अनदेखी करने पर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की आलोचना की भाजपा द्वारा बिट्टू को खारिज करने पर, वड़िंग को अपने ‘मित्र’ बिट्टू के लिए बुरा लगा सीएम भगवंत मान ने राजासांसी, अजनाला और मजीठा में कुलदीप धालीवाल के लिए किया प्रचार, अमृतसर के लोगों ने भारी वोटों से आप को जीत दिलाने का किया वादा

 

पंजाब के राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनौर द्वारा ‘‘द फ्लूट एंड द स्वौर्ड’’ मीरा और जैमल की कहानी और मीरा के जीवन के उतार-चढ़ाव संबंधी किताब जारी

पुस्तक में मीरा और जैमल की कहानी और 16वीं शताब्दी के राजपूताना इतिहास को दिखाया गया है

Listen to this article

5 Dariya News

5 Dariya News

5 Dariya News

चंडीगढ़ , 14 Dec 2019

पंजाब के राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनौर द्वारा आज मेजर जनरल रणधीर सिन द्वारा लिखी किताब ‘द फ्लूट एंड द सवौर्ड’ मीरा और जैमल की कहानी और मीरा के जीवन के उतार-चढ़ाव संबंधी पुस्तक जारी की गई। इस पुस्तक में मीरा और जैमल की कहानी और 16वीं शताब्दी के राजपूताना इतिहास संबंधी दिखाया गया है। यह किताब मिलिट्री लिटरेचर फेस्टिवल के मौके पर करवाए गए एक विशेष सैशन के दौरान जारी की गई। इस सैशन के दौरान ऐतिहासिक तथ्यों और काल्पनिक कहानियों को इक्कठा दिखाने के लिए लेखक को आने वाली चुनौतियां और विभिन्न पहलुओं संबंधी विचार-विमर्श किया गया।इस मौके पर संबोधन करते हुए लेखक मेजर जनरल रणधीर सिन (सेवामुक्त) ने बताया कि उन्होंने मीरा के योगदान, बलिदान की भावना और मीरा की भूमिका को संत की बजाय एक औरत के तौर पर पेश करने की कोशिश की है। पुस्तक एक ऐतिहासिक कल्पना है जिसमें मीरा के बहुत से भजन भी शामिल किये गए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि आज के समाज में देश के प्रति वफ़ादारी और बलिदान की भावना ख़त्म हो रही है जबकि पहले के समय में आदमी अन्यत वफ़ादार थे और अपनी कौम के लिए किसी भी बलिदान के लिए हमेशा तैयार रहते थे। औरतें अपने पति, बच्चों और पोतों को देश के प्रति प्यार और उनके वापस न आने के बारे में भी जानते हुए उनको जंग के मैदान में भेजती थीं।

पुस्तक चाहे काल्पनिक है, परन्तु एक प्रामाणिक समय को बयान करती है। मीरा एक होनहार बच्ची थी और बचपन से ही अपनी बौद्धिक प्रतिभा और धार्मिकता के लिए जानी जाती थी। भगवान कृष्ण के प्रति उसकी श्रद्धा तीव्र थी और उसका विवाह महाराणा सांगा के पुत्र भोजराज के साथ होने के बावजूद भी उसकी श्रद्धा भगवान कृष्ण के प्रति प्रबल रही। पुस्तक उसके द्वारिका पहुँचने और अपने प्रभु के नाम में लीन होने तक मीरा के जीवनकाल को बयान करती है।पुस्तक में लेखक ने दिखाया है कि दूसरे तरफ़ जैमल किस तरह लगातार युद्ध में बना रहा और शक्तिशाली ताकतों के विरुद्ध अपनी सल्तनत को बचाने के लिए युद्ध करता रहा। यह किताब इतिहास के प्रसिद्ध किरदारों समेत करुणामयी शूरवीरता की जानकारी पेश करती है।पुस्तक पर विचार-विमर्श के दौरान माहिर जस्टिस कमलजीत सिंह गरेवाल ने कहा कि लेखक ने जैमल और मीरा संबंधी तथ्यों और कल्पनाओं के मिश्रण को पुस्तक में संजोने का महान कार्य किया है। उन्होंने कहा कि लेखक ने मीरा के औरत रूपी चेहरे को उभारा है जबकि लोग मीरा को हमेशा संत के तौर पर जानते थे। मीरा के कीमती योगदान संबंधी बात करते हुए जस्टिस कमलजीत ने कहा कि दसवें सिख गुरू गोबिन्द सिंह जी ने भी मीरा संबंधी कविता लिखी है। प्रसिद्ध इतिहासकार रीमा हुज्जा ने पुस्तक रिलीज़ सैशन की मेज़बानी की और लेखक की विलक्षण पहलकदमी संबंधी अपने विचार भी पेश किये। इस मौके पर पंजाब विधान सभा के स्पीकर श्री राणा के.पी. सिंह भी मौजूद थे।

 

Tags: VP Singh Badnore , Miltary

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD