Monday, 04 March 2024

 

 

खास खबरें डॉ. बलजीत कौर ने शुभकरन सिंह के परिवार के साथ दुख किया सांझा पोलियो जैसी ना-मुराद बीमारी को ख़त्म करना सभी की प्राथमिक जिम्मेदारी: ब्रम शंकर जिम्पा पंजाब के विवेकशील वित्तीय प्रबंधन स्वरूप जी. एस. टी में 16 प्रतिशत और आबकारी राजस्व में 12 प्रतिशत की बढ़ोतरी : हरपाल सिंह चीमा पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय में आयोजित स्प्रिंट कार्यक्रम के दौरान पांच स्टार्टअप उद्यमियों को 23 लाख की फंडिंग प्रदान की गई स्वास्थ्य मंत्री ने किया पोलियो टीकाकरण अभियान का शुभारम्भ नर्सिंग एसोसिएशन और पुका पंजाब में नर्सिंग काउंसिल अध्यक्ष का स्वागत किया भगवंत मान और अरविन्द केजरीवाल ने पंजाब के 13 स्कूल ऑफ एमिनेंस लोगों को किये समर्पित ’आप’ को लोक सभा की सभी 13 सीटें देकर पंजाब और पंजाबियों के अपमान का बदला लो : अरविन्द केजरीवाल व्यापारियों/ उद्योगपतियों द्वारा ‘सरकार-व्यापार मिलनी’ के द्वारा सरकार को उनके द्वार पर लाने के लिए मुख्यमंत्री की सराहना उद्यमियों द्वारा भगवंत सिंह मान सरकार की तरफ से पंजाब के सर्वपक्षीय विकास के लिए किये जन हितैषी प्रयासों की सराहना लुधियाना में सरकार व्यापार मिलनी के दौरान भगवंत मान और अरविन्द केजरीवाल द्वारा उद्योगपतियों के साथ विस्तृत विचार- विमर्श कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने गांव बजवाड़ा व किला बरुन में सीवरेज सिस्टम प्रोजेक्ट की करवाई शुरुआत स्थानीय निकाय विभाग और संसदीय मामलों के कैबिनेट मंत्री बलकार सिंह द्वारा धर्मकोट के नये बस स्टैंड का उद्घाटन भगवंत सिंह मान और अरविन्द केजरीवाल द्वारा पंजाब में 165 और आम आदमी क्लीनिक लोगों को समर्पित मुख्यमंत्री की नौजवानों से अपील : पंजाब के सामाजिक-आर्थिक विकास में सक्रिय हिस्सेदार बनने के लिए नये विचारों और खोजों का प्रयोग करें हिमाचल प्रदेश मंत्रिमंडल के निर्णय प्रधानमंत्री ने पश्चिम बंगाल के नादिया जिले के कृष्णानगर में 15,000 करोड़ रुपये की विविध विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया अमित शाह ने नेशनल अर्बन कोऑपरेटिव फाइनेंस एंड डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NUCFDC) का उद्घाटन किया कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने गांव बजवाड़ा व किला बरुन में सीवरेज सिस्टम प्रोजेक्ट की करवाई शुरुआत आईवीवाई ग्रुप ने ओबेसिटी हेल्पलाइन नंबर लॉन्च किया क्रिकेटर दिलीप वेंगसरकर ने किया "जिगरबाज खेल महासंग्राम" का पोस्टर लॉन्च

 

मिलिट्री लिटरेचर फेस्टिवल -2019 : द ब्यूगल कॉल्स: ए लाईफ़ इन द इंडियन आर्मी ’ किताब पर विचार-विमर्श

किताब के द्वारा फ़ौज में भर्ती होने से जुड़े जज़्बों को उजागर करने समेत रेजिमेंटल प्रणाली और 1965 की आसल -उताड़ की लड़ाई पर डाला गया प्रकाश

Listen to this article

5 Dariya News

5 Dariya News

5 Dariya News

चंडीगढ़ , 13 Dec 2019

यहाँ के लेक क्लब में आज शुरू हुए मिलिट्री लिटरेचर फेस्टिवल में फ़ौज से सम्बन्धित साहित्य से लोगों को जोडऩे की कड़ी के अंतर्गत द ब्यूगल कॉल्स-ए लाईफ़ इन द इंडियन आर्मी किताब पर विचार -विमर्श किया गया। विचार-विमर्श सैशन का मुख्य बिंदू रही यह किताब फ़ौज में भर्ती होने वाले अफ़सर के जज़्बात को उजागर करने समेत अन्य विभिन्न पहलूओं को रूपमान करती है।विचार-विमर्श सैशन के दौरान पैनल में मुख्य लेखक लेफ्टिनेंट कर्नल (सेवा मुक्त) नरेश रस्तोगी, सह लेखक किरण दोषी और लेफ्टिनेंट जनरल (सेवा मुक्त) हरभजन सिंह शामिल हुए जबकि विचार-विमर्श की कार्यवाही लेफ्टिनेंट जनरल (सेवा मुक्त) विजय ओबराए ने निभाई।फ़ौज में कैडिट और एक अधिकारी के तौर पर अपने दिनों को याद करते हुये लेफ्टिनेट कर्नल रस्तोगी ने कहा कि किताब का पहला हिस्सा फ़ौज में नौकरी करते हुये उनके जज़्बात के साथ जुड़ा हुआ है जबकि दूसरा भाग 1950 और 1960 के दशक के भारत के साथ सम्बन्ध रखता है, जो आज की अपेक्षा बिल्कुल अलग था।अपने विचार प्रकट करते हुये लेफ्टिनेंट जनरल (सेवा मुक्त) हरभजन सिंह ने कहा कि किताब का सबसे अहम हिस्सा सन 1965 की आसल -उताड़ जंग से सम्बन्धित है जिसका लेखक 1971 की जंग समेत हिस्सा रहा है। उन्होंने याद किया कि कैसे आसल -उताड़ की जंग के दौरान पाकिस्तानी हथियारबंद कार्यवाहियों को बेकार कर दिया गया था।इसके अलावा अन्य पहलू पर प्रकाश डालते हुये लेफ्टिनेंट जनरल हरभजन सिंह ने कहा कि फ़ौज में स्थापित रेजिमेंटल प्रणाली जीवन जीने का ढंग और इस संस्था की रीढ़ की हड्डी है। हालाँकि इस में मामूली सी कमियां हैं, जिनको दूर करने की ज़रूरत है। 

 

Tags: Miltary , Book

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD