Friday, 19 July 2024

 

 

खास खबरें आईआईटी रोपड़ और आईसीईएस ने कृत्रिम बुद्धिमत्ता प्रशिक्षण और प्रमाणन कार्यक्रम के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए फल और सब्जियां हमारे जीवन का अहम हिस्सा – हरचंद सिंह बरसट जिला एवं सत्र न्यायधीश की ओर से जिला कानूनी सेवाएं अथारटीज के सदस्यों के साथ बैठक डीजीपी हरियाणा की पुस्तक ‘वायर्ड फॉर सक्सेस‘ का केन्द्रीय मंत्री श्री मनोहर लाल ने किया लोकार्पण पारदर्शी तरीके से युवाओं को मिल रही हैं सरकारी नौकरियां : नायब सिंह सैनी मां की शिक्षा और संस्कारों से ही मिल सकता है जीवन का प्रत्येक सुख : नायब सिंह सैनी हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान के सलाहकारों से मुलाकात की हरियाणा में एनडीपीएस के 2,405 मामले दर्ज कर की 3,562 की गिरफ्तारी पिछले 10 सालों में हिसार शहर के आधारभूत ढ़ांचे के विकास पर दिया गया जोर : डॉ. कमल गुप्ता आम आदमी पार्टी ने हरियाणा में फूंका चुनावी बिगुल ; मुख्यमंत्री भगवंत मान ने की घोषणा सिविल अस्पताल किसी भी निजी अस्पताल के बराबर होगा: सांसद संजीव अरोड़ा शहर वासियों को पीने वाला साफ पानी मुहैया करवाने में नहीं छोड़ी जा रही है कोई कमी : ब्रम शंकर जिंपा हृदय रोग से हर साल 4.77 मिलियन भारतीयों की मौत होती है : डॉ. राकेश शर्मा हरदीप सिंह बावा ने उप-मुख्यमंत्री से भेंट की केवल सिंह पठानिया ने सम्भाला उप-मुख्य सचेतक का पदभार मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जगत प्रकाश नड्डा से भेंट की ‘आप दी सरकार, आप दे दुआर’ अभियान के अंतर्गत टांडा के गांव मूनक खुर्द में लगा शिकायत निवारण कैंप कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने कैटल पाउंड फलाही का दौरा कर लिया व्यवस्थाओं का जायजा होशियारपुर के सर्वांगीण विकास में नहीं छोड़ी जाएगी कोई कमी : ब्रम शंकर जिंपा मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने नितिन गडकरी से रानीताल-कोटला, घुमारवीं-जाहू-सरकाघाट सड़कों को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने का आग्रह किया ब्रिटिश उप उच्चायुक्त, चंडीगढ़ ने यूटी चंडीगढ़ सचिवालय में यूटी चंडीगढ़ प्रशासन के प्रशासक के सलाहकार से मुलाकात की

 

राष्ट्रपति ने ‘दिव्य कला शक्तिः दिव्यांगता में योग्यता का दर्शन’ कार्यक्रम में भाग लेने वाले दिव्यांग बच्चों के साथ बातचीत की

Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

नई दिल्ली , 24 Jul 2019

राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने पंडित दीन दयाल उपाध्याय राष्ट्रीय दिव्यांग व्यक्ति संस्थान (पीडीडीयूएनआईपीपीडी), दिल्ली में आज ‘दिव्य कला शक्तिः दिव्यांगता में योग्यता का दर्शन’  कार्यक्रम में भाग लेने वाले दिव्यांग बच्चों के साथ बातचीत की। संसद के जीएमसी बालयोगी ऑडिटोरियम में आयोजित इस सांस्कृतिक कार्यक्रम को राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मंत्रिमंडल के सदस्यों और संसद सदस्यों ने देखा। इस कार्यक्रम का आयोजन सामाजिक न्याय और आधिकारिता मंत्रालय के अंतर्गत दिव्यांग सशक्तिकरण विभाग द्वारा किया गया था।राष्ट्रपति द्वारा बच्चों के साथ बातचीत के दौरान केन्द्रीय सामाजिक न्याय और आधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गहलोत, राज्य मंत्री श्री रामदास अठावले, सचिव श्रीमती शकुंतला डी. गामलिन उपस्थित थी।विभिन्न राज्यों और संगठनों के सयोजकों ने राष्ट्रपति को अपने दिव्यांग बच्चों के विशिष्ट गुणों के बारे में जानकारी दी। दिव्यांग युवाओं ने राष्ट्रपति के साथ अपने अनुभव साझा किए। राष्ट्रपति ने उनके रचनात्मक कला-कार्यों की सराहना की तथा उन्हें भविष्य में सफलता की शुभकामनाएं दी। राष्ट्रपति दिव्यांग युवाओं द्वारा बनाई गई पेंटिंग को देखने के लिए पेंटिंग गैलरी भी गए बाद में राष्ट्रपति ने दिव्यांग युवाओं के साथ जलपान किया।विभिन्न राज्यों, सांस्कृतिक संगठनों, संस्थाओं के 175 कलाकारों ने कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इससे कार्यक्रम की रूपरेखा में राष्ट्रीयता की भावना का समावेश हुआ।दिव्यांग सशक्तिकरण विभाग की स्थापना दिव्यांगजनों के नीतिगत मामलों पर ध्यान देने तथा उन्हें लागू करने के उद्देश्य से की गई है। संसद द्वारा पारित तीन अधिनियमों के दायरे में विभाग पुनर्वास सेवा, प्रशिक्षण, शिक्षा आदि कार्यक्रमों का संचालन कर रहा है। पूरे देश में स्थित 8 राष्ट्रीय संस्थानों के माध्यमों से दिव्यांगता के विभिन्न प्रकारों पर शोध किया जा रहा है। संस्थानों, राज्य सरकारों और एनजीओ को सहायता प्रदान करने के लिए विभिन्न केन्द्रीय योजनाएं चलाई जा रही है। लोगों के बीच जागरूकता बढ़ाना एक निरंतर प्रक्रिया है। दिव्यांगजनों के अधिकारों के बारे में जागरूकता बढ़ाने वाले संस्थानों और संगठनों को केन्द्र सरकार वित्तीय सहायता प्रदान करती है। इसके अलावा दिव्यांगजनों के कल्याण के लिए कार्यरत व्यक्तियों और संस्थानों को केन्द्र सरकार राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्रदान करती है। इस पुरस्कार की स्थापना 19 अप्रैल, 2017 को की गई थी।  

 

Tags: Ram Nath Kovind , Thaawar Chand Gehlot

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD