Tuesday, 21 May 2024

 

 

खास खबरें श्री आनंदपुर साहिब में पर्यटन की अपार संभावनाएं : विजय इंदर सिंगला मुख्यमंत्री भगवंत मान ने गुरमीत खुड्डियां के लिए किया चुनाव प्रचार हम बांटने की नहीं जोड़ने की राजनीति कर रहे हैं: मीत हेयर मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सुनाई किकली-2, किकली कलीर दी बुरी हालत सुखबीर दी शिरोमणी अकाली दल सत्ता में आने पर राजस्थान और हरियाणा के साथ सभी जल बंटवारा समझौते को रदद कर देगा : सुखबीर सिंह बादल अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने लुधियाना में भाजपा और आप पर साधा निशाना; पंजाब के लिए असली समाधान का वादा किया एलन चंडीगढ़ के छात्रों ने जूनियर साइंस ओलंपियाड 2024 में रचा इतिहास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों से करतारपुर कॉरिडोर खुला जोकि कांग्रेस की गलती के कारण बंद था : पूर्व गृह मंत्री अनिल विज तपती दोपहर में गुरजीत सिंह औजला ने की दुकानदारों से मुलाकात आप सरकार ने कर्मचारियों की बकाया राशी और 12% डीए का नहीं किया भुगतान - गुरजीत औजला कंग और सिंगला बताएं राहुल और केजरीवाल दोस्त हैं की दुश्मन : डॉ.सुभाष शर्मा गुजरात के विधायक ने मोहाली में बीजेपी उम्मीदवार के लिए प्रचार किया सुनील जाखड़ द्वारा यादविंदर सिंह बुट्टर प्रदेश प्रवक्ता नियुक्त हरियाणा में प्रवर्तन एजेंसियों द्वारा की जा रही सख्त कार्रवाई बिकाऊ पूर्व विधायक लखनपाल की जुबान मीठी, दिल काला : मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू भारत की संगीत विरासत को दुनिया के मंच पर ऊंचाइयों तक ले जाने के लिए तैयार : डेविड अंगु किसानों को देख गाड़ी से उतरे पूर्व गृह मंत्री अनिल विज आप ने बठिंडा में शिरोमणि अकाली दल और फिरोजपुर में भाजपा को दिया बड़ा झटका सी जी सी झंजेडी कैंपस और अमेरिकी यूनिवर्सिटी के साथ रणनीतिक शिक्षा साझेदारी अनिल कुमार चूना ने अमृतसर में भाजपा उम्मीदवार तरनजीत सिंह संधू के समर्थन में युवा बैठक का आयोजन किया राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल ने डॉ. भरत बरोवालिया की पुस्तक का विमोचन किया

 

'अनुच्छेद 370' कश्मीर एवं जम्मू को बांटता है

Listen to this article

5 Dariya News

श्रीनगर , 24 Jul 2019

संविधान के 'अनुच्छेद 370' के जिक्र करने भर से लगता है यह जम्मू एवं कश्मीर को क्षेत्रीय आधार पर बांटता है। हालांकि जम्मू के लोग अभूतपूर्व रूप से इस अनुच्छेद को संविधान से हटाने की मांग करते हैं जबकि कश्मीर घाटी केन्द्रित पार्टियां चेतावनी देती रही हैं कि अगर इस विशेष प्रावधान से छेड़छाड़ की गई तो यह बर्रे के छत्ते को छेड़ने जैसा होगा जिसके दुष्परिणामों पर काबू पाना मुश्किल होगा। कश्मीर केंद्रित नेताओं का तर्क है कि इन 70 सालों में अनुच्छेद 370 का काफी क्षरण हुआ है लेकि न संविधान से इसे पूरी तरह हटा देने से मुश्किलात बढ़ेंगे। नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी जैसे दलों का इससे भी आगे का विचार है कि 'अनुच्छेद 370' में 'स्वायत्तता' और 'स्वशासन' के उपाय के रूप में दी गई गारंटी को लागू करने का है।दूसरी ओर भाजपा और जम्मूा की अन्य पार्टियां इस अनुच्छेद को हटाने पर आमादा हैं। उनका तर्क है कि यह भारतीय संघ के साथ राज्य के पूर्णत: एकीकरण को रोकता है। जम्मू एवं कश्मीर का चार बार मुख्यमंत्री रहे और नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष डॉ. फारूक अब्दुला ने कहा 'अनुच्छेद 370' को हटाने का कोई सपना भी नहीं देख सकता। यह अनुच्छेद तब तक मौजूद रहेगा जब तक कि कश्मीर समस्या का पूर्ण रूपेण हल नहीं हो जाता।"डॉ. फारूक अब्दुला का मनाना है कि अनुच्छेद को हटाना या इसके साथ किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ भारत के साथ जम्मू एवं कश्मीर के संवैधानिक संबंध को खत्म कर देगी। एनसी अध्यक्ष का दावा है कि हम भारत में सम्मिलित हुए न कि हमारा भरत संघ में विलय हुआ है। हमारे विशेष संबंध का संचालन अनुच्छेद 370 द्वारा होता है और जैसे ही आप इस अनुच्छेद को हटा देते हैं, जम्मू एवं कश्मीर का भारत के साथ संबंध खत्म हो जाएगा। पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स पार्टी पीडीपी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती का मानना है कि अनुच्छेद 370 को हटा देने से कश्मीर में अलगाववादी भावना की बाढ़ आ जाएगी।उन्होंने कहा कि अगर अनुच्छेद 370 को हटा दिया जाता है तो भारत के साथ राज्य के सम्मिलन का समर्थन कोई नहीं करेगा।सीपीआई (एम) के युसूफ तरगामी जैसे लोगों का कहना है कि यह भाजपा का राजनैतिक कार्ड है जिसे वह राष्ट्रीय अखंडता के नाम पर चलाना चाहती है। प्रत्यक्ष रूप से अलगाववादी नेताओं को इस बात की चिंता नहीं है कि अनुच्छेद मौजूद रहता है या खत्म हो जाता है लेकिन निजी तौर पर वे अनुच्छेद 370 को खत्म करने के प्रयासों से नारज हैं। अनुच्छेद 370 पर बहस के मुद्दे पर कांग्रेस पार्टी चुप ही रहना पसंद करती है जबकि भाजपा इसकी समाप्ति की मांग के लिए काफी मुखर है। भाजपा के वरिष्ठ नेता निर्मल सिंह ने आईएएनएस से कहा, "हां, हमें विश्वास है और हम चाहते हैं कि अनुच्छेद 370 जरूर हटा दिया जाए और साथ ही हमें यह विश्वास है कि अनुच्छेद को समाप्त करने की प्रक्रिया पूरी तरह सांवैधनिक और कानूनी होगी।" उन्होंने खुलासा किया कि जनसंघ के समय से ही अनुच्छेद को समाप्त करने की मांग भाजपा की रही है। 

 

Tags: Protest Jk

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD