Sunday, 21 April 2024

 

 

खास खबरें 5000 रुपए रिश्वत लेता सब-इंस्पेक्टर विजीलैंस ब्यूरो द्वारा काबू मार्कफैड के एम.डी. द्वारा खन्ना की अनाज मंडी में गेहूँ के खरीद कार्यों का निरीक्षण कांग्रेस की नैय्या दिनोंदिन डूबती जा रही है: डा. सुभाष शर्मा होशियारपुर में चुनावी जनसभा के दौरान केंद्र सरकार पर जमकर बरसे भगवंत मान पंजाब को बी जे पी के अत्याचार के खिलाफ एकजुट होना होगा: राजा वड़िंग उपायुक्त ओलावृष्टि से खराब हुई फसलों का जल्द से जल्द सर्वे कराएं- मुख्य सचिव टीवीएसएन प्रसाद गुरजीत सिंह औजला ने चुनाव अभियान की शुरूआत गुरुद्वारा बाबा छज्जोजी में माथा टेक कर की निजी फायदे के लिए गेहूं की बर्बादी कर रही सरकार 1 मई को सुबह 11 बजे कुरूक्षेत्र में अपना नामांकन करेंगे अभय सिंह चौटाला एलपीयू के स्कूल ऑफ लिबरल एंड क्रिएटिव आर्ट्स ने 'वन इंडिया-2024' फैस्ट की चैंपियनशिप ट्रॉफी जीती स्वास्थ्य मंत्री पंजाब ने आर्यन्स फार्मेसी सम्मेलन का उद्घाटन किया पंजाब की महिलाओं को आज भी एक-एक हजार मासिक भत्ते का इंतजार: एन.के.शर्मा सीजीसी लांडरां के एप्लाइड साइंस डिपार्टमेंट ने वर्कशॉप का आयोजन किया लोकायुक्त ने राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल को वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की पलवल जिले के 118 वर्ष के धर्मवीर हैं प्रदेश में सबसे बुजुर्ग मतदाता मानव को एकत्व के सूत्र में बांधता - मानव एकता दिवस श्री फ़तेहगढ़ साहिब में बोले मुख्यमंत्री भगवंत मान: रात कितनी भी लंबी हो सच का सूरज चढ़ता ही चढ़ता है, 2022 में जनता ने चढ़ाया था सच का सूरज भारी बारिश और तूफान के बावजूद भगवंत मान ने श्री फतेहगढ़ साहिब में जनसभा को किया संबोधित जुम्मे की नमाज पर मुस्लिम भाईचारे को बधाई देने पहुंचे गुरजीत सिंह औजला आवश्यक सेवाओं में तैनात व्यक्तियों को प्राप्त होगी डाक मतपत्र सुविधा: मुख्य निर्वाचन अधिकारी मनीष गर्ग शहर के 40 खेल संगठनों के प्रतिनिधियों ने की घोषणा,भाजपा प्रत्याशी संजय टंडन को दिया समर्थन

 

भारत में ई-मनी का चलन प्रणाली 21.5 फीसदी तक पहुंचा : आरबीआई

Listen to this article

5 Dariya News

नई दिल्ली , 07 Jun 2019

साल 2016 के नवंबर में 500 और 1000 रुपये के नोट बंद किए जाने से देश में ई-मनी का प्रचलन बढ़ा था, जो साल 2017 में बढ़कर 21.5 फीसदी हो गई, जबकि साल 2012 में यह महज 0.8 फीसदी था। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा तैयार नई रिपोर्ट में यह बात कही गई है।'बेंचमार्किं ग इंडियाज पेमेंट सिस्टम्स' नाम की रिपोर्ट में कहा गया, "साल 2017 में 345.9 करोड़ ई-मनी लेन-देन के साथ भारत केवल जापान और अमेरिका से पीछे है।"इस रिपोर्ट में नोटबंदी को ई-मनी के लिए 'गेमचेंजर' करार दिया गया है, जिससे देश में ई-मनी को बढ़ावा मिला। रिपोर्ट में कहा गया, "नोटबंदी से जहां जरूरी प्रोत्साहन मिला। वहीं, मोबाइल अवसंरचना और वैकल्पिक भुगतान प्रणालियों ने सुनिश्चित किया कि जब नकदी का संकट हो तो भुगतान प्रणालियां प्रभावित नहीं हों।"रिपोर्ट में बताया गया कि जहां मध्यम से उच्च मूल्य वाले लेनदेन अभी भी डिजिटल बैंकिंग चैनल और चेकों के माध्यम से हो रहे हैं, वहीं, कम मूल्य के दैनिक लेन-देन ई-मनी से होने लगे हैं। इस अध्ययन में पाया गया कि बात जब ऑनलाइन लेनदेन के लिए ई-मनी की आती है, तो भारत अन्य विकसित देशों से मीलों पीछे है। रिपोर्ट में कहा गया, "भारत हालांकि चीन से पीछे है, लेकिन ई-मनी के प्रयोग से 26 फीसदी ऑनलाइन लेनदेन हुए, जो एक अच्छी संख्या है।"

 

Tags: RBI

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD