Sunday, 14 April 2024

 

 

खास खबरें फिल्म "शायर" में सतिंदर सरताज और नीरू बाजवा अभिनीत सुपरहिट रोमांटिक जोड़ी सत्ता और सीरो को देखना न भूलें! असम के सोनितपुर लोकसभा क्षेत्र के आप उम्मीदवार के पक्ष में मान ने किया रोड शो राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल ने प्रदेश की प्रगति में योगदान देने वाले हाई फ्लायर्स को सम्मानित किया मलायका और नारीफर्स्ट की एकता ने डॉ. रूपिंदर और ईशा को प्रदान की ज्वेल ऑफ इंडिया ट्रॉफी ज़ी पंजाबी सितारे केपी सिंह और ईशा कलोआ टाइम्स फूड एंड नाइटलाइफ़ अवार्ड्स 2024 में अतिथि के रूप में शामिल हुए एलपीयू ने क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग-2024 में शीर्ष स्थान हासिल किये इंडस पब्लिक स्कूल में वैसाखी पर लगी रौनकें, छात्रों ने पेश किए रंगारंग प्रोग्राम किड्जी बेला ने बैसाखी का त्योहार पारंपरिक हर्षोल्लास के साथ मनाया इलेक्ट्रिक व्हीकल होंगे सस्ते, पॉवरफुल और अधिक सुरक्षित PEC स्टूडेंट्स ने सास उद्योग का जश्न मनाते हुए, भारत सास यात्रा में लिया हिस्सा डोल्से गब्बाना ड्रेस और रोलेक्स घड़ी में नजर आईं उर्वशी रौतेला ने लोगों का दिल जीता केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले की मौजूदगी में फ़िल्म "गौरैया लाइव" का शानदार प्रीमियर एआई की दुनिया मे आयी एक क्रांति! रोबॉटिक मशीन चंद मिनटों में खाना बनाकर कर देगा आपको हैरान असम में आप उम्मीदवारों के लिए मुख्यमंत्री भगवंत मान ने जनसभा करते की अपील ,1 नंबर वाला झाड़ू का बटन दबा कर असम में लाएं बदलाव बोली टप्पों के साथ मलोया में महिलाओं के जत्थे ने किया भाजपा प्रत्याशी संजय टंडन का प्रचार प्रसार बढ़ रहा है भाजपा परिवार- यह देखकर खुशी हो रही है कि पूरे पटियाला जिले से सैकड़ों लोग रोजाना हमारे साथ जुड़ रहे हैं: परनीत कौर सीजीसी लांडरां में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई बैसाखी विजीलैंस ब्यूरो ने बीडीपीओ को 30 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए किया गिरफ्तार पारंपरिक मेलों की तरह लोकतंत्र के पर्व में भी जरूर लें हिस्सा: डी.सी. हेमराज बैरवा किसानों के लिए किसी ने गारंटी दी और उस गारंटी को पूरा किया वो चौधरी देवीलाल ने किया: अभय सिंह चौटाला भाजपा को अरविंद केजरीवाल से डर लगता है, वे राष्ट्रपति शासन के जरिए दिल्ली में पिछले दरवाजे से प्रवेश चाहते हैं: आप

 

कांग्रेस का उम्मीदवार भी उधार का और चुनाव प्रभारी भी : शांता कुमार

दिल्ली में लोकसभा है पौता-सभा नहीं, सुख राम परिवार बन गया हिमाचल की भजन-मण्डली, पूर्व मुख्यमंत्री ने वीरभद्र, सुखराम सहित कांग्रेस पर साधा निशाना

Listen to this article

5 Dariya News

पालमपुर , 05 May 2019

हिमाचल प्रदेश के भूतपूर्व मुख्यमंत्री और कांगडा-चम्बा से वर्तमान लोकसभा सदस्य शांता कुमार पिछले पांच दिन चम्बा जिला में सब भाई-बहनों से मिल कर आये है।उन्होने कहा कि पिछले 30 वर्षों से कांगड़ा-चम्बा के लोग उन्हें लोकसभा में भेजते रहे। इसके लिए उन्होने उनका धन्यवाद किया और सासंद के रूप में अब वह विदा ले रहे है। चम्बा के भटियात विधानसभा क्षेत्र ने एक इतिहास बनाया था।वह कभी चुनाव हारते भी थे परन्तु वहां से सदा उन्हें कांग्रेस से अधिक वोट मिलते थे।उन्होने कहा है कि हिमाचल में राजनीति का स्तर सदा ऊंचा रहा है।इस बार कुछ अपवाद अच्छे नहीं लग रहे है। वीरभ्रद सिंह द्वारा जयराम ठाकुर के संबंध में कुछ कड़वे शब्द कहे गये। उन्होने जयराम ठाकुर को शातिर कहा, सत्ता का नशा और अपने आप से बाहिर होने की बात की है। मुझे विश्वास नही हो रहा कि वीरभद्र सिंह ने  जयराम ठाकुर जैसे एक शालीन मुख्यमंत्री के संबंध में ऐसे शब्द कहे होगें। उन्हें लगता है कि यह सब वीरभ्रद सिंह ने दिल से नहीं कहा, गुस्से से उनसे कहा गया होगा।शांता कुमार ने कहा कि जयराम ठाकुर ने थोडे ही समय में अपनी अच्छी पहचान बनाई है। एक सर्वेक्षण में पूरे भारत में बडे-2 दिग्गज 27 मुख्यमन्त्रियों में लोकप्रियता में जयराम ठाकुर दूसरे स्थान पर आये है। यदि वीरभद्र सिंह अपने कहे गये शब्दों पर विचार करेगें तो उन्हें लगेगा कि वे गुस्से में बहुत कुछ गलत कह गये। उन्होने हिमाचल के सभी नेताओं से अपील की है कि हम विरोध करे परन्तु लोकतंत्र की मर्यादाओं को भंग न होने दे।

उन्होने कहा है कि वे वीरभद्र सिंह के मन की स्थिति को समझ रहे हैं। वे एक मजबूरी में मण्डी क्षेत्र में कांग्रेस का प्रचार कर रहे है। उन्होने मंच पर कहा कि वे आयाराम गयाराम के खिलाफ है। उन्होने यह भी कहा कि सुख राम ने उन्हें धोखा दिया था वे उसे भी कभी नही भूल सकते। यह सब कुछ उन्होने दिल से कहा था परन्तु वे बहुत अधिक समझदार है। उन्हे पता था कि पार्टी अनुशासन की मजबूरी में उन्हें प्रचार करना पडेगा। इसलिए उन्होने पहले ही कह दिया था कि ‘अकलमंद को तो इशारा ही काफी होता है।’ अब वे जो कह रहे है वो दिल से नही कह रहे और मण्डी की अकलमंद जनता को इशारा तो उन्होने पहले ही कर दिया है।शांता कुमार ने कहा है कि जो मण्डी में हुआ वह शायद कांग्रेस ने पूरे भारत में कभी नहीं किया होगा। जिस पौते ने अभी राजनीति में जन्म भी नहीं लिया था।किसी पार्टी का सदस्य भी नहीं था वह जन्म से पहले ही दल-बदलू बन गया। सुख राम उसे लेकर भाजपा के दरवाजे पर गये। टिकट नहीं मिला तो कांग्रेस के दरवाजे पर पहुंचे।सच्चाई तो यह है कि कांग्रेस से कोई भी चुनाव नहीं लड़ना चाहता था। सभी को लगता था यदि कांग्रेस के सबसे बडे नेता वीरभद्र सिंह की धर्मपत्नी रामस्वरूप के सामने नहीं जीत सकी तो अब तो कोई भी नहीं जीत सकता। कोई चुनाव नहीं लड़ना चाहता था।इसलिए सुख राम के पौते को टिकट दे दिया। यदि वीरभद्र सिंह अपने आपको कांग्रेस में इतने बडे नेता समझते है तो मण्डी के चुनाव मे स्वंय क्यों नही उतरे।रामस्वरूप जैसे एक साधारण कार्यकर्ता के मुकावले उनकी धर्मपत्नी की हार उन पर हमेशा के लिए एक प्रश्नचिन्ह रहेगा। उन्हे चाहिए था कि वे स्वयं चुनाव लड कर इस निशान को मिटा देते। मंडी में तो कांग्रेस का उम्मीदवार भी उधार का है और अब चुनाव प्रभारी  सुरेश चंदेल भी उधार के है। हमारे सभी नेता उधार के नही परिवार के है।लोकसभा में अनुभवी नेताओं को भेजा जाता है। ऐसे अनुभवहीनों को नही।दिल्ली में लोकसभा है पौता-सभा नहीं। सुख राम परिवार हिमाचल की भजन-मण्डली बन गया।

 

Tags: Shanta Kumar

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD