Saturday, 25 May 2024

 

 

खास खबरें गोल्डन टेंपल को बनाया जायेगा ग्लोबल सेंटर : राहुल गांधी पंजाब में क्राइम आउट ऑफ कंट्रोल, चिंता का विषय: विजय इंदर सिंगला विजय इंदर सिंगला ने जारी किया घोषणापत्र, क्षेत्र के लिए किये कई वादे अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने लुधियाना में चुनाव अभियान तेज किया, मुख्य मुद्दों की अनदेखी करने पर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की आलोचना की भाजपा द्वारा बिट्टू को खारिज करने पर, वड़िंग को अपने ‘मित्र’ बिट्टू के लिए बुरा लगा सीएम भगवंत मान ने राजासांसी, अजनाला और मजीठा में कुलदीप धालीवाल के लिए किया प्रचार, अमृतसर के लोगों ने भारी वोटों से आप को जीत दिलाने का किया वादा "Omjee's सिने वर्ल्ड और सरताज फिल्म्स ने नई फिल्म 'अपना अरस्तू' का फर्स्ट लुक पोस्टर किया साझा।" नई खेल नीति के आ रहे हैं अच्छे नतीजे, पेरिस ओलिंपिक में चमकेंगे पंजाबी खिलाड़ी: मीत हेयर पंजाब के कई लोकसभा क्षेत्रों में आम आदमी पार्टी को मिली मजबूती, विपक्षी पार्टियों के आधा दर्जन से ज्यादा बड़े नेता आप में शामिल आप-कांग्रेस और भाजपा जाति और साम्प्रदायिक आधार पर लोगों का ध्रुवीकरण कर रहे: सुखबीर सिंह बादल सांसद संजीव अरोड़ा ने डॉ. सुरजीत पातर के घर जाकर पीड़ित परिवार के साथ संवेदना व्यक्त की जिला वासियों के घरों की रसोई तक पहुंचा वोटर जागरूकता अभियान अनुमति मिले, तो 24 घंटे में महिलाओं को डालेंगे 1500 रुपएः सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू आप की 300 यूनिट मुफ्त वाली बिजली गुल, बिजली कटों से कराह रहे लोगः परनीत कौर बारादरी गार्डन में जयइंद्र कौर ने लोगों से मांगे भाजपा के लिए वोट अमृतपाल और सिमरनजीत सिंह मान जैसे लोग पंजाब के लिए खतरा : डॉ. सुभाष शर्मा कांग्रेस, भाजपा व आप का किसान विरोधी चेहरा बेनकाब: एन.के.शर्मा पंजाब के वोटर पोलिंग बूथों पर लगी कतार की जानकारी घर बैठे ही जान सकेंगे : सिबिन सी युवा पर्वतारोहियों ने राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल से भेंट की एलपीयू ने अपने हजारों दूरस्थ और ऑनलाइन छात्रों के लिए ऑनलाइन फ्रेशमेन इंडक्शन प्रोग्राम आयोजित किए जब मीत हेयर चुनाव प्रचार के दौरान अपने पैतृक गांव कुरड़ पहुंचे

 

भारत और इटली के वाणिज्‍य मंत्रियों ने भारत-इटली जेसीईसी के 20वें सत्र की सह-अध्‍यक्षता की

Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

नई दिल्ली , 27 Feb 2019

भारत और इटली के आर्थिक सहयोग के लिए संयुक्‍त आयोग (जेसीईसी) का 20वां सत्र नई दिल्‍ली में 26-27 फरवरी, 2019 के दौरान आयोजित किया गया। जेसीईसी दरअसल द्विपक्षीय व्‍यापार सहभागिता के लिए एक संस्‍थागत व्‍यवस्‍था है। भारतीय पक्ष की ओर से केन्‍द्रीय वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु और इतालवी पक्ष की ओर से आर्थिक विकास उप-मंत्री श्री मिशेल गेरासी ने इस बैठक की सह-अध्‍यक्षता की।दोनों पक्षों ने आपसी संवाद को सुविधाजनक बनाकर और पारस्‍परिक हित के विभिन्‍न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाकर द्विपक्षीय आर्थिक एवं व्‍यापार संबंधों को सुदृढ़ बनाने में जेसीईसी की विशेष अहमियत का फिर से उल्‍लेख किया। पारस्‍परिक हित के विभिन्‍न क्षेत्रों में मशीनरी, बुनियादी ढांचा एवं इंजीनियरिंग, डिजिटलीकरण सहित आईसीटी (सूचना व संचार प्रौद्योगिकी), कृषि और बौद्धिक संपदा अधिकार (आईपीआर) शामिल हैं।इस अवसर पर वाणिज्‍य मंत्री श्री सुरेश प्रभु ने भारत के लिए एक व्‍यापार भागीदार के रूप में इटली की विशेष अहमियत पर प्रकाश डाला। उन्‍होंने कहा कि इटली वर्ष 2017-18 के दौरान यूरोपीय संघ में भारत का पांचवां सबसे बड़ा व्‍यापार साझेदार और विश्‍व स्‍तर पर भारत का 25वां सबसे बड़ा व्‍यापार भागीदार रहा। इटली ने विनिर्माण, डिजाइन एवं नवाचार और कौशल प्रशिक्षण में विशिष्‍ट क्षमता हासिल कर रखी है। वहीं, दूसरी ओर भारत में कुशल लोग बड़ी तादाद में हैं, कामगारों को दिए जाने वाले पारिश्रमिक अत्‍यंत प्रतिस्‍पर्धी हैं और इसके साथ ही भारत को चमड़ा, रत्‍न एवं जेवरात, ऑटो कलपुर्जों और वस्‍त्र जैसे सेक्‍टरों में बढ़त हासिल है। श्री प्रभु ने कहा कि भारत एवं इटली के उद्योगों के बीच साझेदारी और सहयोग की अपार संभावनाएं हैं।श्री प्रभु ने यह भी जानकारी दी कि वर्ष 2017-18 के दौरान इटली के साथ भारत का द्विपक्षीय व्‍यापार 18.41 प्रतिशत की उल्‍लेखनीय वृद्धि के साथ 10.42 अरब अमेरिकी डॉलर के स्‍तर पर पहुंच गया। इस दौरान इटली को निर्यात 16.47 प्रतिशत बढ़कर 5.71 अरब अमेरिकी डॉलर के आंकड़े को छू गया। वहीं, इस अवधि के दौरान इटली से भारत में आयात भी 20.84 प्रतिशत की अच्‍छी-खासी वृद्धि के साथ 4.71 अरब अमेरिकी डॉलर के स्‍तर पर जा पहुंचा। चालू वित्त वर्ष के प्रथम 10 महीनों के दौरान भारत और इटली के बीच कुल द्विपक्षीय व्‍यापार 5.62 प्रतिशत बढ़कर 9.02 अरब अमेरिकी डॉलर के स्‍तर पर पहुंच गया है। इस दौरान निर्यात तो 2.73 प्रतिशत घटकर 4.53 अरब अमेरिकी डॉलर रह गया, जबकि आयात 15.61 प्रतिशत बढ़कर 4.49 अरब अमेरिकी डॉलर हो गया है। 

सुरेश प्रभु ने कहा कि दोनों पक्षों को भारत एवं इटली के बीच द्विपक्षीय व्‍यापार में और वृद्धि सुनिश्चित करने के लिए ठोस प्रयास करने चाहिए। उन्‍होंने कहा कि वर्ष 2015-16, 2016-17 और 2017-18 के दौरान इटली के साथ भारत का द्विपक्षीय व्‍यापार क्रमश: 8.30 अरब, 8.80 अरब और 10.42 अरब अमेरिकी डॉलर आंका गया। वाणिज्‍य मंत्री ने कहा कि वैश्विक स्‍तर पर आर्थिक सुस्‍ती रहने के बावजूद हाल के वर्षों में द्विपक्षीय व्‍यापार में निरंतर वृद्धि दर्ज की जा रही है।वाणिज्‍य मंत्री ने कहा कि भारत ने एक आकर्षक विदेशी निवेश नीति बनाई है और हाल के वर्षों में इस देश ने उदारीकरण से जुड़े अनेक कदम उठाए हैं। अप्रैल 2000 से दिसंबर 2018 तक की अवधि के दौरान भारत में हुए एफडीआई (प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश) के कुल प्रवाह में इटली की रैंकिंग 17वीं रही है। उन्‍होंने कहा कि इस दौरान इटली से भारत में एफडीआई का कुल प्रवाह 2.72 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ है।श्री सुरेश प्रभु ने चावल में ट्राईसाइक्लाजोल (टीसीए) पर आकलन रिपोर्ट यूरोपीय खाद्य सुरक्षा प्राधिकरण (ईएफएसए) को सौंपने और रैपेक्‍स पोर्टल से भारतीय अगरबत्तियों पर अलर्ट हटाने के लिए इतालवी पक्ष का धन्‍यवाद किया।भारत के वाणिज्‍य मंत्री ने यह बात दोहराई कि भारतीय पक्ष भारत-ईयू बीटीआईए (व्‍यापक आधार वाला द्विपक्षीय व्‍यापार एवं निवेश समझौता) वार्ताओं का जल्‍द एवं संतुलित नतीजा निकालने के लिए प्रतिबद्ध है।इटली के आर्थिक विकास उप-मंत्री श्री मिशेल गेरासी ने कहा कि इटली की कंपनियां भारत में निवेश करने की इच्‍छुक हैं और अब समय आ गया है कि कृषि पर गठित कार्यदल की तर्ज पर व्‍यावहारिक व्‍यवस्‍था की जाए। कृषि पर कार्यदल का गठन दोनों देशों के बीच कृषि क्षेत्र से जुड़े संयुक्‍त उद्यमों में निवेश को सुविधाजनक बनाने के उद्देश्‍य से किया गया है। श्री गेरासी ने यह भी कहा कि इटली वित्तीय सेवाओं, नवीकरणीय ऊर्जा, बुनियादी ढांचागत क्षेत्र, रेलवे में परिवहन संबंधी विकास, निर्माण और ऑटोमोटिव क्षेत्र में सहयोग करने को इच्‍छुक है।दोनों मंत्रियों ने यह बात दोहराई कि कारोबारियों के लिए बाजार पहुंच के साथ-साथ दोनों देशों में निवेश को भी सुविधाजनक बनाया जाएगा जिसका सकारात्‍मक असर निश्चित तौर पर दोनों देशों के व्‍यापार संबंधों पर पड़ेगा।यह बैठक सौहार्दपूर्ण माहौल में हुई जो दोनों देशों के बीच साझेदारी के रणनीतिक स्‍वरूप एवं निष्‍पक्षता तथा पारस्‍परिक लाभ के आधार पर आपसी आर्थिक व वाणिज्यिक संबंधों को और ज्‍यादा विकसित एवं सुदृढ़ करने की इच्‍छा को प्रतिबिंबित करता है।भारत और इटली के आर्थिक सहयोग के लिए संयुक्‍त आयोग (जेसीईसी) के 20वें सत्र के एजेंडे के अनुसार दोनों पक्षों ने पारस्‍परिक हित के निम्‍नलिखित विषयों की समीक्षा की:  

भारत और इटली में आर्थिक विकास

व्‍यापार (द्विपक्षीय व्‍यापार एवं व्‍यापार का विविधीकरण )

द्विपक्षीय निवेश (मेक इन इंडिया, स्‍टार्टअप इंडिया सहित)

आर्थिक एवं औद्योगिक सहयोग

भारतीय एवं इतालवी पक्षों ने संयुक्‍त आयोग की 21वीं बैठक वर्ष 2021 में इटली में आयोजित करने पर सहमति जताई।

 

Tags: Suresh Prabhu

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD