Sunday, 25 February 2024

 

 

खास खबरें मुख्यमंत्री भगवंत सिंह द्वारा मुकेरियाँ से अपनी किस्म की पहली सरकार-व्यापार मिलनी की शुरुआत बांस उत्पादकों के लिए प्रदेश सरकार बनाएगी सोसायटी बीजेपी और कांग्रेस के नेता सिर्फ मेवात के लोगों के वोट लेने आते हैं, लेकिन विकास खुद का करते हैं : अभय सिंह चौटाला मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान द्वारा श्री गुरु रविदास जी का 650वां प्रकाश उत्सव व्यापक स्तर पर मनाने का ऐलान सफाई कर्मचारियों के हितों को ध्यान में रखते हुए मिलें बेहतर सुविधाएं : अंजना पंवार विकास कार्य़ो की गति में लाई जाए तेजीः सोम प्रकाश एस बी एस पब्लिक स्कूल में हुआ पैनासॉनिक “हरित उमंग- जॉय ऑफ़ ग्रीन” का सफल आयोजन PEC त्रिदिवसीय वर्कशॉप का सफलतापूर्वक समापन किया PEC स्टूडेंट निशिता ने स्वरचित रचना से जीता IGNUS 24 फेस्ट में दूसरा स्थान IIT रोपड़ के टेक्निकल फेस्ट में PEC छात्रों ने अपने नाम किये कई ईनाम 'PEC में दोबारा आना एक यादगारी अनुभव है' : कपिलेश्वर सिंह बीजेपी हम पर इंडिया गठबंधन छोड़ने का दबाव बना रही है, वे जल्द अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने की योजना बना रहें : आप पंजाब द्वारा दुबई में ‘गल्फ-फूड 2024’ के दौरान फूड प्रोसेसिंग की उपलब्धियाँ और संभावनाओं का प्रदर्शन, निवेश के लिए न्योता कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने 27 फार्मासिस्टों व 28 को क्लीनिक असिस्टेंटों को सौंपे नियुक्ति पत्र 1900 रुपए मानदेय बढ़ाने के लिए कंप्यूटर अध्यापकों ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू का आभार व्यक्त किया ब्रिटिश उच्चायोग और हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू से भेंट की 'क़ैद - नो वे आउट' - प्यार, दुर्व्यवहार और उस से बाहर निकलने की एक मनोरंजक कहानी चितकारा यूनिवर्सिटी में "चितकारा लिट फेस्ट 2024"' विद्युत जामवाल की ''क्रैक- जीतेगा तो जियेगा' एक्शन फिल्मों की सूची में सबसे ऊपर मुख्यमंत्री के नेतृत्व में पंजाब मंत्रिमंडल द्वारा एक मार्च से 15 मार्च तक बजट सत्र बुलाने की मंजूरी पंजाब में स्वास्थ्य सेवाओं में आया क्रांतिकारी बदलावः ब्रम शंकर जिंपा

 

माकपा ने 36 राफेल विमान सौदे में जेपीसी जांच की मांग की

Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

नई दिल्ली , 17 Dec 2018

मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने के लिए फ्रांस की दसॉ एविएशन के साथ हुए सौदे की संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच कराने की सोमवार को मांग की। इस 59 हजार करोड़ रुपये के सौदे को महा घोटाला करार देते हुए माकपा ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार आधा सच और आधा झूठ के पीछे छिपने का प्रयास कर रही है। पार्टी ने 10 बिंदु आगे रखे हैं, जिनकी जांच कराने की जरूरत बताई गई है। माकपा ने कहा, प्रधानमंत्री मोदी ने 10 अप्रैल, 2015 को 36 विमानों के सौदे की घोषणा कर दी थी, जबकि रक्षामंत्री की अध्यक्षता वाली रक्षा खरीद परिषद (डीएसी) ने यह बात 13 मई, 2015 को स्वीकारी थी कि भारतीय वायुसेना को 36 राफेल विमानों की जरूरत है। पार्टी ने कहा, प्रधानमंत्री की घोषणा से पहले वायुसेना और रक्षा मंत्रालय से 36 विमानों की खरीद को लेकर कोई औपचारिक संपर्क नहीं हुआ था। वायुसेना को 36 राफेल विमानों की जरूरत है, सरकार के ये स्वीकारने से पहले फैसले की घोषणा कैसे कर दी गई।

पार्टी ने यह भी जानना चाहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल को किन हालात में 12-13 जनवरी, 2016 को पेरिस में सौदे की बातचीत वाले दल का हिस्सा बनाया गया और क्यों सरकार ने बिना बैंक गारंटी के सौदे पर हस्ताक्षर किए। माकपा ने कहा, 2011 में राफेल के साथ मीडियम मल्टी रोल कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (एमएमआरसीए) परीक्षण में योग्य पाए गए यूरोफाइटर पर भारत को इसकी बोली मूल्य से 20 फीसदी की छूट दी गई थी। क्यों भारत ने राफेल के लिए भी समान छूट और इसके बजाए यूरोफाइटर के लिए जाने के विकल्प पर जोर नहीं दिया। पार्टी ने कहा कि राफेल सौदे के बारे में भारतीय बातचीत दल के तीन सदस्यों द्वारा बार-बार आपत्ति को भी प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति (सीसीएस) ने खारिज कर दिया था, जिन्हें पारदर्शिता के लिए सार्वजनिक किया जाना चाहिए।

 

Tags: CPI-M

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD