Sunday, 21 April 2024

 

 

खास खबरें 5000 रुपए रिश्वत लेता सब-इंस्पेक्टर विजीलैंस ब्यूरो द्वारा काबू मार्कफैड के एम.डी. द्वारा खन्ना की अनाज मंडी में गेहूँ के खरीद कार्यों का निरीक्षण कांग्रेस की नैय्या दिनोंदिन डूबती जा रही है: डा. सुभाष शर्मा होशियारपुर में चुनावी जनसभा के दौरान केंद्र सरकार पर जमकर बरसे भगवंत मान पंजाब को बी जे पी के अत्याचार के खिलाफ एकजुट होना होगा: राजा वड़िंग उपायुक्त ओलावृष्टि से खराब हुई फसलों का जल्द से जल्द सर्वे कराएं- मुख्य सचिव टीवीएसएन प्रसाद गुरजीत सिंह औजला ने चुनाव अभियान की शुरूआत गुरुद्वारा बाबा छज्जोजी में माथा टेक कर की निजी फायदे के लिए गेहूं की बर्बादी कर रही सरकार 1 मई को सुबह 11 बजे कुरूक्षेत्र में अपना नामांकन करेंगे अभय सिंह चौटाला एलपीयू के स्कूल ऑफ लिबरल एंड क्रिएटिव आर्ट्स ने 'वन इंडिया-2024' फैस्ट की चैंपियनशिप ट्रॉफी जीती स्वास्थ्य मंत्री पंजाब ने आर्यन्स फार्मेसी सम्मेलन का उद्घाटन किया पंजाब की महिलाओं को आज भी एक-एक हजार मासिक भत्ते का इंतजार: एन.के.शर्मा सीजीसी लांडरां के एप्लाइड साइंस डिपार्टमेंट ने वर्कशॉप का आयोजन किया लोकायुक्त ने राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल को वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की पलवल जिले के 118 वर्ष के धर्मवीर हैं प्रदेश में सबसे बुजुर्ग मतदाता मानव को एकत्व के सूत्र में बांधता - मानव एकता दिवस श्री फ़तेहगढ़ साहिब में बोले मुख्यमंत्री भगवंत मान: रात कितनी भी लंबी हो सच का सूरज चढ़ता ही चढ़ता है, 2022 में जनता ने चढ़ाया था सच का सूरज भारी बारिश और तूफान के बावजूद भगवंत मान ने श्री फतेहगढ़ साहिब में जनसभा को किया संबोधित जुम्मे की नमाज पर मुस्लिम भाईचारे को बधाई देने पहुंचे गुरजीत सिंह औजला आवश्यक सेवाओं में तैनात व्यक्तियों को प्राप्त होगी डाक मतपत्र सुविधा: मुख्य निर्वाचन अधिकारी मनीष गर्ग शहर के 40 खेल संगठनों के प्रतिनिधियों ने की घोषणा,भाजपा प्रत्याशी संजय टंडन को दिया समर्थन

 

मीडिया बाल अपराधों पर अधिक ध्यान दे : कैलाश सत्यार्थी

कैलाश सत्यार्थी
कैलाश सत्यार्थी
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

नई दिल्ली , 20 Mar 2018

नोबल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी की संस्था कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रन्स फाउंडेशन (केएससीएफ) की ओर से यहां पत्रकारिता क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए बाल अधिकारों पर एक कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में भाग लेने आए पत्रकारों को बाल अधिकारों, बाल श्रम, बच्चों के साथ यौन अपराध, शिक्षा व पोषण से दूर बच्चों के आंकड़ों और उनके कारणों व समाधान पर चर्चा की गई। इसके साथ ही बाल यौन अपराध संरक्षण अधिनियम पर भी चर्चा हुई। कार्यशाला की शुरुआत केएससीएफ की निदेशक ज्योति माथुर ने की। उन्होंने पॉवर पॉइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से बाल अपराध के आंकड़ों और उससे जुड़े कानूनों पर चर्चा की। ज्योति ने नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्यूरो के हवाले से बताया, "वर्ष 2015 की तुलना में 2016 में बच्चों के साथ अपराधों के मामलों में 14 फीसदी वृद्धि हुई है। यह मामलों की रिपोर्टिग में सुधार के कारण हो सकता है, क्योंकि अभी भी हमारे यहां बच्चों से जुड़े अधिकांश मामले सामने नहीं आते हैं। वहीं, वर्ष 2014-15 में पांच फीसदी की वृद्धि हुई थी। 2016 में भारतीय दंड संहिता और पॉक्सो के तहत बच्चों से जुड़े अपराध के 1,06,958 मामले दर्ज हुए।"उन्होंने बताया, "2016 में पॉक्सो अधिनियम 2012 के तहत देश में कुल बाल यौन शोषण के केवल चार फीसदी (36,022 मामलों में 1,620) मामले दर्ज हुए।" कार्यशाला में मौजूद पत्रकारों को संबोधित करते हुए केएससीएफ के संस्थापक कैलाश सत्यार्थी ने कहा, "हम इस कार्यशाला के माध्यम से पत्रकारिता क्षेत्र के लोगों को बाल अधिकारों के प्रति अपने विजन व मिशन की जानकारी दे रहे हैं और साथ ही हम चाहते हैं कि मीडिया इस गंभीर मुद्दे पर अधिक से अधिक ध्यान दे। 

बच्चों से जुड़े अपराधों पर नीति निर्माताओं, न्यायपालिका, पुलिस और मीडिया को संवेदनशील होने और उन्हें गंभीरता से लेने की सख्त जरूरत है, ताकि किसी पीड़ित बच्चे और विशेषकर यौन अपराधों से पीड़ित बच्चों की गरिमा को ठेस पहुंचे बगैर उन्हें न्याय मिल सके।" सत्यार्थी ने कहा, "हमारी संस्थान का विजन और मिशन है कि दुनिया के हर बच्चे के पास सुरक्षित व स्वतंत्र वातावरण और शिक्षा व पोषण के मूलभूत अधिकार हों और समाज से बाल मजदूरी, अपराध, यौन शोषण की बुराइयां दूर हों और इसके लिए हम शहरों के साथ ही गांवों में भी इस तरह की कार्यशाला आयोजित करेंगे।"कार्यशाला में मौजूद बाल अधिकार कानूनों के जानकार भुवन ऋभु ने कहा, "कानूनों के क्रियान्वयन के लिए सरकार, न्यायपालिका, मीडिया, सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ ही आम लोगों को भी जागरूक होने की जरूरत है। बच्चों के साथ अपराध की स्थिति में समाज के हर वर्ग की यह जिम्मेदारी बनती है कि वह उसके खिलाफ आवाज उठाए, अपराध पर चुप्पी तोड़े।"उन्होंने कहा, "इसके साथ ही मीडिया को किसी भी अपराध पर अपनी रिपोर्ट का फॉलो-अप करने की बहुत जरूरत है। अगर किसी मामले पर आरोपी की गिरफ्तारी की खबर छपी है तो मीडिया को उस मामले पर नजर रखनी चाहिए जब तक कि अदालत उस पर अपना अंतिम फैसला नहीं दे देती है।"

 

Tags: Kailash Satyarthi

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD