Tuesday, 05 March 2024

 

 

खास खबरें राज्यपाल के भाषण से भाग जाने पर विरोधी पक्ष पर जम कर बरसे मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान कैबिनेट मंत्री जिंपा ने ‘मुख्य मंत्री तीर्थ यात्रा स्कीम’ के अंतर्गत होशियारपुर से बस को दिखाई हरी झंडी भाजपा का किसान विरोधी चेहरा एक बार फिर उजागर, किसान के हत्यारे के पिता अजय मिश्रा को फिर से दिया टिकट: आप सांसद मनीष तिवारी ने की पार्टी कार्यकर्ताओं से बैठक सीजीसी लांडरां में रेणुकारमा वूमेन एचीवर अवार्ड का हुआ आयोजन पीईसी में ड्रोन अनुप्रयोगों पर 6 दिवसीय कार्यशाला का उद्घाटन चेयरमैन हरचंद सिंह बरसट ने गांव मेहमदपुर में नई फल एवं सब्जी मंडी स्थापित की पर्यटन की दृष्टि से होशियारपुर में असीमित संभावनाएं: कोमल मित्तल भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष जय इंदर कौर ने भारत सरकार की महिला समर्पित योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए पटियाला में नारी शक्ति वंदन मैराथन का आयोजन किया एलपीयू के विद्यार्थी सकारात्मक और खुशहाल जीवन जीने के लिए हुए प्रेरित प्रीत बाठ, किरण शेरगिल, सब्बी सूरी स्टारर फिल्म 'मजनू' का ट्रेलर जारी भाजपा ने देश को सिर्फ धोखा दिया: सांसद मनीष तिवारी शिमला के त्रिदेव और पंच परमेश्वर सम्मेलन में बोल नेता प्रतिपक्ष डॉ. बलजीत कौर ने शुभकरन सिंह के परिवार के साथ दुख किया सांझा पोलियो जैसी ना-मुराद बीमारी को ख़त्म करना सभी की प्राथमिक जिम्मेदारी: ब्रम शंकर जिम्पा पंजाब के विवेकशील वित्तीय प्रबंधन स्वरूप जी. एस. टी में 16 प्रतिशत और आबकारी राजस्व में 12 प्रतिशत की बढ़ोतरी : हरपाल सिंह चीमा पंजाब केंद्रीय विश्वविद्यालय में आयोजित स्प्रिंट कार्यक्रम के दौरान पांच स्टार्टअप उद्यमियों को 23 लाख की फंडिंग प्रदान की गई स्वास्थ्य मंत्री ने किया पोलियो टीकाकरण अभियान का शुभारम्भ नर्सिंग एसोसिएशन और पुका पंजाब में नर्सिंग काउंसिल अध्यक्ष का स्वागत किया भगवंत मान और अरविन्द केजरीवाल ने पंजाब के 13 स्कूल ऑफ एमिनेंस लोगों को किये समर्पित ’आप’ को लोक सभा की सभी 13 सीटें देकर पंजाब और पंजाबियों के अपमान का बदला लो : अरविन्द केजरीवाल

 

अल्पसंख्य छात्रवृत्ति निधि में धोखाधड़ी : सज्जाद लोन ने जांच का आश्वासन दिया

Listen to this article

Rouf Pampori

Rouf Pampori

5 Dariya News

जम्मू , 09 Feb 2018

समाज कल्याण मंत्री सज्जाद गनी लोन ने विधान सभा को आश्वासन दिया कि सरकार केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्रालय द्वारा जारी छात्रवृत्तियों के वितरण में कथित गबन की अच्छी तरह से जांच करेगी।छात्रवृत्ति निधि जारी करने में कथित गबन के बारे में मंत्री जी एम सरुरी के ध्यानाकर्शण प्रस्ताव का जवाब दे रहे थे।लोन ने कहा ‘हालांकि धन सीधे लाभार्थियों को स्थानांतरित कर दिया जाता है लेकिन अगर विधानसभा द्वारा आरोप लगाए गए गबन को साबित किया जाता है, तो सरकार जांच करेगी और अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री को राज्य को यह बताने के लिए भी अनुरोध करते हैं कि क्या अल्पसंख्यक समुदाय के लिए किसी भी छात्रवृत्ति राशि को किसी अन्य संस्था में स्थानांतरित कर दिया गया है।’’उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के अनुसार, आवेदक अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय के राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल (एनएसपी 2.0) पर सीधे आवेदन करते हैं और उसके बाद आवेदन की संबंधित संस्थान द्वारा ऑनलाइन और बाद में जिला/ राज्य स्तर के नोडल अधिकारी द्वारा जांच की जाती है और फिर डीबीटी/ पीएफएमएस मोड के माध्यम से विचार या चयन और छात्रवृत्ति प्रदान करने के लिए अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय, भारत सरकार (ऑनलाइन) पात्र उम्मीदवारों को सीधे स्थानांतरित कर दिया जाता है। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्रालय द्वारा चयनित आवेदकों के बैंक खातों में सीधे छात्रवृत्ति राशि डाली जाती है।

लोन ने कहा कि पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन है और ऐसे में राज्य स्तर पर निजी संस्थान को अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति हस्तांतरण के लिए कोई गुंजाइश नहीं है। हालांकि, अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय, भारत सरकार से अनुरोध किया जाएगा कि वह राज्य को अवगत कराएं कि अल्पसंख्यक समुदाय के लिए जिसका कोई छात्रवृत्ति राशि, विधायक द्वारा उल्लिखित संस्थान के पक्ष में सीधे जारी किया गया है।मंत्री ने सदन को सूचित किया कि केंद्री अल्पसंख्यक मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई मेरिट-वी मीन आधारित छात्रवृत्ति के अंतर्गत, छात्रवृत्ति क्वालीफाइंग परीक्षा में 50 प्रतिषत या उससे अधिक अंक प्राप्त करने वाले भारत के भीतर विभिन्न व्यावसायिक / तकनीकी डिग्री पाठ्यक्रमों और जिनके माता-पिता/ अभिभावकों की वार्षिक आय 2.50 लाख से अधिक नहीं है, के माध्यम से छात्र को दी जाती है।उन्होंने कहा कि पोस्ट-मैट्रिक अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति के तहत, छात्रवृत्ति उन छात्रों को दी जाती है जो पिछले शैक्षणिक वर्ष में 50 प्रतिषत या उससे अधिक अंक प्राप्त करने वाले भारत के भीतर कई शैक्षणिक/ तकनीकी और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के माध्यम से गुजरे जाते हैं और जिनकी माता-पिता/ अभिभावक की वार्षिक आय 2 लाख रुपये से अधिक नहीं हैं, योजनाओं के अंतर्गत हैं। उन्होंने सूचित कियर कि पूर्व-मैट्रिक अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति के तहत, भारत में कक्षा 1 से 10 वीं कक्षा तक पढ़ाई करने वाले छात्र पिछले कक्षा में 50 प्रतिषत या उससे अधिक अंक प्राप्त कर चुके हैं और जिनके माता-पिता/ अभिभावकों की वार्षिक आय 1 लाख रुपये से अधिक नहीं है उन्हें इस योजना के तहत छात्रवृत्ति दी जाती है।

 

Tags: Sajad Gani Lone

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD